इतिहास

इतिहास में 30 जून
इतिहास में 30 जून
Date : 30-Jun-2019

अंतरराष्ट्रीय समुदाय इसे सौंपना और वापसी करार देता है जबकि चीन के लोग एकीकरण, नाम कुछ भी दें पर हुआ यह कि 1997 में आज ही के दिन हांगकांग पर से ब्रिटिश हुकूमत खत्म हो गई.

1842 से 1898 के बीच तीन संधियों के जरिए ब्रिटेन के कब्जे में आया हांगकांग और उसके आस पास का इलाका करीब डेढ़ सौ सालों तक अंग्रेजी राज के अधीन रहा. मार्च 1979 में हांगकांग के गवर्नर मर्रे मैक्लेहोज पहली बार आधिकारिक दौरे पर चीन गए और वहां डेंग जियाओपिंग के साथ हांगकांग की संप्रभुता के मामले पर चर्चा की. तब हांगकांग को अपने देश में बड़े निर्माण के लिए कर्ज हासिल करने में दिक्कत हो रही थी. डेंग ने मौका अच्छा देख कर हांगकांग को वापस चीन के साथ आने का प्रस्ताव दिया और उसके लिए विशेष दर्जे की बात की.
मैक्लोहेज के चीन दौरे ने उसकी संप्रभुता के सवाल पर पड़ा पर्दा हटा दिया. ब्रिटेन उसकी इच्छाओं को जान सक्रिय हो गया उसने इलाके में अपने हितों की रक्षा के लिेए कदम उठाने शुरू कर दिए साथ ही आपातकाल में वहां से निकलने के लिए भी इंतजाम किए जाने लगे. तीन साल बाद ब्रिटेन की प्रधानमंत्री मार्गरेट थैचर ने एडवर्ड हीथ को अपना दूत बना कर चीन भेजा और हांगकांग के मुद्दे पर चीन के विचार के बारे में एक समझ बनाने की कोशिश की. इस बातचीत में डेंग ने पहली बार साफ साफ कहा कि उनका देश ब्रिटेन के साथ औपचारिक बातचीत के जरिए संप्रभुता के मसले को सुलझाना चाहता है.
इसके साथ ही लंबी बातचीत और समझौता की कोशिश का एक लंबा दौर शुरू हुआ और आखिरकार 19 दिसंबर 1984 को बीजिंग में ब्रिटेन और चीन ने इस हांगकांग की संप्रभुता के बारे में एक संयुक्त घोषणा पत्र पर दस्तखत किए. इसके जरिए यह फैसला लिया गया कि हांगकांग में चीन जैसी सोशलिस्ट सरकार नहीं बनेगी और यहां अगले 50 साल तक शासन का वही पूंजीवादी तौर तरीका रहेगा जो फिलहाल चल रहा है. यह घोषणापत्र भी इलाके के लोगों के मन से अनिश्चितता को दूर नहीं कर सका और बड़े पैमाने पर लोगों ने यहां से जाने में अपनी भलाई समझी. ब्रिटेन, कनाडा, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया से लेकर जांबिया और इक्वेडोर जैसे देशों तक में भी बड़ी संख्या में लोग यहां से गए.
इसके बाद करीब 13 साल तक कई और स्तरों पर लंबी बातचीत और कूटनीतिक प्रयासों के बाद आखिरकार हांगकांग को 30 जून 1997 की आधी रात को संप्रभुता मिली और 1 जुलाई से वह ब्रिटिश हुकूमत की कैद से पूरी तरह आजाद हो गया. हैंडओवर के जलसे में ब्रिटेन की ओर से प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर, प्रिंस चार्ल्स और तमाम दूसरे बड़े अधिकारी थे तो चीन की ओर से राष्ट्रपति जियांग जेमीन और हांगकांग में चीन के पहले चीफ एग्जिक्यूटिव तुंग ची-ह्वा मौजूद थे.

  •  1896-विलियम एस. हैडावे के नाम इलेक्ट्रिक स्टोव के लिए पेटेन्ट जारी किया गया।
  •  1948- जॉन बर्डीन तथा वाल्टर ब्रैटेन ने अपने द्वारा आविष्कृत ट्रांजि़स्टर का प्रदर्शन किया।
  •  1999 - आस्ट्रेलियाई उप-प्रधानमंत्री तथा नेशनल पार्टी के नेता टीम फि़शर का इस्तीफ़ा।
  •  2002 - ब्राजील ने जर्मनी को 2-0 से हराकर फ़ुटबाल के विश्व कप पर कब्ज़ा किया।
  •  2003 - चार आस्कर पुरस्कार प्राप्त अभिनेत्री कैथरीन हेपबर्न का निधन।
  •  2005 - ब्राजील ने कनफ़ेडरेशन फ़ुटबॉल कप जीता।
  •  2006 - विश्वकप फ़ुटबॉल में जर्मनी ने अर्जेन्टीना को हराया।
  •  2007 - संयुक्त राष्ट्र महासभा ने आम सहमति से शांति रक्षण विभाग के बंटवारे का निर्णय किया।
  •  2008 - रविकांत, उमा शंकर चौधरी व विमल चन्द्र पाण्डेय को संयुक्त रूप से भारतीय ज्ञानपीठ का नवलेखन पुरस्कार प्रदान किया गया। भारतीय पत्रकार अनीसुद्दीन अजीज को इंटरनेशनल एसोसियेशन आफ़ बुक कीपर्स (आईएबी) के न्यू बिजनेस आफ़ द ईयर अवार्ड से सम्मानित किया गया। पाकिस्तान सरकार ने कबाइली ख़ैबर दर्रा क्षेत्र में दहशत फैला रहे तीन आतंकी गुटों पर प्रतिबंध लगाया। राबर्ट मुगावे ने जिम्बाव्वे के राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली।
  •  1911 -  भारतीय साहित्यकार नागार्जुन का जन्म हुआ।
  • 1917 -  भारत के प्रसिद्ध दिग्गज राजनेता, उद्योगपति, शिक्षाविद और विचारक दादा भाई नौरोजी का निधन हुआ। 
  • 1817 -अंग्रेज़ वनस्पति वैज्ञानिक सर जोजफ़ डाल्टन हूकर का जन्म हुआ, जिन्होंने जॉर्ज बेन्थम के साथ मिलकर वनस्पतियों का एक महत्वपूर्ण वर्गीकरण दिया जो काफी मशहूर माना जाता है। (निधन-10 दिसम्बर 1911) 
  •  1926- अमेरिकी जैव रसायनज्ञ  पॉल बर्ग का जन्म हुआ, जिन्होंने जैव रसायन विज्ञान के आधारभूत सिद्धान्तों का अध्ययन किया। उन्होंने न्यूक्लिक अम्ल का अध्ययन किया, खासकर रीकम्बिनैन्ट डी.एन.ए, जिसके लिए उन्हें वॉल्टर गिल्बर्ट तथा फ्रेड्रिक सैंगर के साथ 1980 में रसायन विज्ञान का नोबेल पुरस्कार मिला।
  •  1898-जर्मनी में जन्मे ऑस्ट्रियाई अन्वेषक  सीगफ्राइड मैर्कस का निधन हुआ, जिन्होंने गैसोलीन से चलने वाले वाहनों का आविष्कार किया। सन् 1887 में उन्होंने बिजली का लैम्प भी तैयार किया। (जन्म-18 सितम्बर 1831) 
  •  1919- अंग्रेज़ वैज्ञानिक जॉन विलियम स्ट्रट का निधन हुआ,  जिन्होंने ऑप्टिक्स पर काफी कार्य किया। उन्हें आर्गन गैस को सफलतापूर्वक अलग करने के लिए 1904 में भौतिकी का नोबेल पुरस्कार मिला। (जन्म-12 नवम्बर 1842)।

Related Post

Comments