इतिहास

इतिहास में आज 3 फरवरी
इतिहास में आज 3 फरवरी
Date : 03-Feb-2020

3 फरवरी को उस समय डॉयचे लुफ्ट हांसा इन्कॉर्पोरेटड के कर्मचारियों को हवाई जहाज से बर्लिन से आर्जेंटीना की राजधानी बुएनोस आयरेस पहुंचाना था. इसके लिए तैयारी आसान नहीं थी. जर्मनी उस वक्त चाहता था कि इस नई सर्विस के जरिए दक्षिण अमेरिका में जर्मनी नए बाजारों की खोज कर सके.
3 फरवरी 1934 को बर्लिन से पहले हाइंकेल हे नाम के विमान से 70 किलो चिट्ठियां और पार्सेल श्टुटगार्ट लाए गए. फिर वहां से उन्हें फ्रांसीसी शहर मार्से से होते हुए स्पेन के सेविया पहुंचाया गया.
सेविया में युंकर्स यू 2 नाम के विमान ने पार्सेल उठाकर अप्रीका में उस वक्त ब्रिटिश उपनिवेश गैंबिया पहुंचाया. फिर इन्हें गैंबिया के तट पर एक जहाज में डाला गया जो दक्षिण अमेरिका जा रहा था. इस जहाज में एक विमान के टेक ऑफ करने की सुविधा थी. गैंबिया से निकलने के बाद विमान को गुलेल की तरह जहाज से टेक ऑफ कराया गया. ब्राजील के नाटाल पहुंचकर वहां एक पानी में तैरने वाले हवाई जहाज ने पार्सेल संभाले और उन्हें ब्राजीली शहर रियो डे जानेरो और बुएनोस आयरेस तक पहुंचाया.
इस पूरी प्रक्रिया में छह दिन लगे. इसकी तैयारी भी काफी मुश्किल थी. अधिकारियों ने यात्रा के अलग अलग पड़ावों की योजना बनाई और देशों के साथ समझौते किए ताकि वहां जर्मन जहाज लैंड कर सकें. एयरमेल के पहले साल में कंपनी ने 5,000 किलो से ज्यादा सामान पहुंचाया, लेकिन इसमें 47 विमानों को काम पर लगाना पड़ा. आजकल एयरमेल मं 48 घंटों से ज्यादा समय नहीं

  • 1503 - पुर्तग़ाली तथा उस्मानों (उस्मानी साम्राज्य (1299 - 1923) (या ऑटोमन साम्राज्य या तुर्क साम्राज्य) के बीच दीव की लड़ाई भारत के दीव (अब एक केन्द्र शासित प्रदेश) में हुई 
  • 1916 - बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय की शुरुआत।
  • 1925 - भारत की पहली बिजली संचालित ट्रेन सेवा मुम्बई से कुर्ला के बीच शुरू।
  • 1943-जर्मनी और पूर्व सोवियत संघ के बीच इस्टेलिनग्राड नामक रक्तरंजित युद्ध समाप्त हुआ। इसमें सोवियत संघ की सेना को विजय प्राप्त हुई। 
  • 1954 - इलाहाबाद कुम्भ मेले में हुए हादसे में 500 से अधिक की मौत।
  • 1966-मानव-रहित अंतरिक्ष यान लूना-9 सुरक्षित रूप से चांद की सतह पर उतरा। इसने मानव के चांद पर जाने का मार्ग प्रशस्त किया।
  • 1969 - तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री सी.एन. अन्नादुरई का निधन।
  • 1970 - भारत के पहले और दुनिया के सबसे बड़े कोयला आधारित उर्वरक संयंत्र की तलचर में आधारशिला रखी गई।
  • 1984- कैलिफोर्निया के एक अस्पताल ने भ्रूणप्रत्यारोपण के जरिए बच्चे के जन्म की घोषणा की।
  • 1988 - पहली परमाणु पनडुब्बी (आईएनएस चक्र) भारतीय सेना में शामिल।
  • 2006 - मिस्र का जहाज़ अल सलाम-98 लाल सागर में डूबा।
  • 2007-चीन ने मल्टीपरपज नेविगेशन सैटेलाइट को अंतरिक्ष की कक्षा में स्थापित किया।
  • 2008 -कवि गुरु रविन्द्र नाथ टैगोर के चोरी हुए नोबल पुरस्कार बांग्लादेश में होने के संकेत मिले।  ईरान के तटीय क्षेत्रों में भारतीय कंपनी की 11 खरब क्यूबिक फीट गैस का भंडार मिला। 
  • 2000 - सुविख्यात तबला वादक अल्ला रक्खा ख़ां का निधन हुआ। 
  • 1853-अमेरिकी विस्फोटकों के आविष्कारक हडसन मैक्सिम का जन्म हुआ,  जिनके विस्फोटक प्रथम विश्वयुद्ध में इस्तेमाल हुए।  उन्होंने अखबार में रंगीन छपाई का तरीका ढूंढा, और 1901 में उन्होंने डायनामाइट से भी घातक विस्फोटक पाउडर मैक्सिमाइट का आविष्कार किया। (निधन- 6 मई 1927)
  • 1821-एंग्लो-अमेरिकी चिकित्सक  ऐलिज़ाबेथ ब्लैक्वेल का जन्म हुआ, जो आधुनिक चिकित्सा की पहली महिला डॉक्टर थीं। वे पहली महिला थीं जिन्होंने अमेरिका के चिकित्सकीय स्कूल से एम.डी. की डिग्री प्राप्त की। (निधन-31मई 1910)
  • 1925- अंग्रेज़ भौतिकशास्त्री ओलिवर हीविसाइड का निधन हुआ, जिन्होंने आयनोस्फीयर की उपस्थिति का अनुमान लगाया। वर्ष 1902 में हीविसाइड और केनेली ने पता लगाया कि ऊपरी वायुमंडल में एक आयनीकृत परत है जो रेडियो तरंगों को मोड़ देती है तथा यह दूर-संचार में सहायक हो सकती है। (जन्म-18 मई 1850)
  • 1994-फ्रांसीसी रसायनज्ञ एडमन्ड फ्रेमी का निधन हुआ, जो मुख्य रूप से हाइड्रोजन फ्लोराइड और अन्य फ्लोराइड यौगिकों के आविष्कारक के रूप में जाने जाते हैं। जिन्होंने ओस्मिक अम्ल, ओज़ोन, लोहा, टिन आदि पर भी कार्य किया। (जन्म-28 फरवरी 1814)।
     

 

Related Post

Comments