इतिहास

इतिहास में आज 17 मार्च
इतिहास में आज 17 मार्च
17-Mar-2020

1898 -न्यूयॉर्क में पहली प्रायोगिक पनडुब्बी का प्रदर्शन जॉन हॉलैण्ड द्वारा किया गया।
1950-एक नए रेडियो सक्रिय तत्व-98 का आविष्कार कैलिफॉर्निया में हुआ जिसे बाद में कैलिफोर्नियम नाम दिया गया।
1994 - रूस द्वारा नाटो की शान्ति सहयोग योजना में शामिल होने का निर्णय।
1996 - लाहौर में सम्पन्न छठे विल्स विश्व कप का खिताब श्रीलंका ने आस्ट्रेलिया को हराकर जीता।
1998 - झू रोंगजी चीन के नये प्रधानमंत्री निर्वाचित।
2008-भारत में चीनी मिलों को ब्याज मुक्त ॠण देने के लिए  चीनी विकास निधि संशोधन विधेयक  2008 ध्वनि मत से पारित हुआ। अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन केन्द्र पर पहुंचे वैज्ञानिकों ने मशीनी मानव को तैनात किया। लोकतंत्र की बहाली के बाद पाकिस्तानी संसद का पहला सत्र शुरू। 
1990 - साइना नेहवाल, बैडमिंटन खिलाड़ी 
1962- भारतीय-अमेरिकी वैज्ञानिक तथा नासा की अंतरिक्ष यात्री  कल्पना चावला एक  का जन्म हुआ। उनका पहला अंतरिक्ष अभियान 19 नवम्बर, 1997 में शुरू हुआ। इसके पश्चात वे दोबारा वर्ष 2000 में अंतरिक्ष अभियान के लिए चुनी गईं। फरवरी  2003 को कोलम्बिया अंतरिक्ष यान एसटीएस-107 हादसे में उनकी मौत हो गईं। यह हादसा यान के पृथ्वी के वायुमण्ल में प्रवेश के दौरान हुआ। वे अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की पहली महिला थीं। (निधन-1 फरवरी 2003)
1881-स्विस शरीर क्रिया विज्ञानी  वॉल्टर रुडॉल्फ हेस का जन्म हुआ, जिन्हें मस्तिष्क के विभिन्न क्षेत्रों के महत्वपूर्ण कार्यों खासकर हाइपोथैलेमस का बाकी अंगों के कार्य निर्धारित करने और भूख लगने, नींद सुरक्षा प्रणाली आदि में महत्व का पता लगाने के लिए ऐन्टोनियो एगेस मोनिज़ के साथ 1949 का नोबेल पुरस्कार मिला। (निधन-12 अगस्त 1973)
1741- अंग्रेज़ चिकित्सक  विलियम विदरिंग का जन्म हुआ, जिन्होंने डिजिटैलिस के औषधीय इस्तेमाल का काफी अध्ययन किया। वनस्पति विज्ञान में रुचि होने के कारण इस बात पर शोध किया कि गांवों में लोग किस तरह वनस्पतियों के जरिए इलाज करते हैं। (निधन-6 अक्टूबर 1799)
1956 -फ्रांसीसी रसायनज्ञ  आइरीन जूलियट क्यूरी का निधन हुआ, जो मैरी क्यूरी तथा पियरे क्यूरी की बेटी थीं। इन्होंने अपने पति फ्रेड्रिक जूलियट क्यूरी के साथ कृत्रिम रेडियोधर्मिता की खोज की जिसके लिए उन्हें 1935 का नोबेल पुरस्कार मिला।  (जन्म-12 सितम्बर 1897)
1853-आस्ट्रियन भौतिकशास्त्री  क्रिश्चियन डॉपलर का निधन हुआ,  जिन्होंने बताया कि किस तरह ज्ञात की हुई ध्वनि तथा प्रकाश की आवृत्ति स्रोत तथा ज्ञातकर्ता के सापेक्ष गति द्वारा प्रभावित होता है। इसे डॉपलर प्रभाव कहा जाता है। (जन्म-29 नवम्बर 1803)।
 

 

अन्य खबरें

Comments