इतिहास

इतिहास में 3 जनवरी
02-Jan-2021 10:15 PM 53
इतिहास में 3 जनवरी
  • 1894 - रवीन्द्र नाथ टैगोर ने शांति निकेतन में  पौष मेला का उद्घाटन किया।
  • 1901 - शांति निकेतन में ब्रह्मचर्य आश्रम खुला।
  • 1926 - स्वामी श्रद्धानंद की हत्या।
  • 1929 - महात्मा गांधी लॉर्ड इरविन से मिले।
  • 1968 - देश का पहला मौसम विज्ञान राकेट मेनका का प्रक्षेपण।
  • 1993 - अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज बुश एवं रूस के राष्ट्रपति बोरिस येल्तसिन द्वारा  स्टार्ट द्वितीय  संधि पर हस्ताक्षर किया गया।
  • 1995 - हरियाणा के डबवाली में एक स्कूल में लगी भीषण आग में 360 लोगों की मौत।
  • 1998 - अल्जीरियाई इस्लामी विद्रोह में 412 लोगों की हत्या।
  • 2000 - कलकत्ता का नाम आधिकारिक रूप से कोलकाता रखा गया।
  • 2002 - काठमाण्डू में दक्षेस विदेश मंत्रियों की बैठक में पाकिस्तान बेनकाब, भारत ने आतंकवादियों व अपराधियों के खिलाफ सबूत सार्वजनिक किए।
  • 2004 - 12वें सार्क सम्मेलन में भाग लेने प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी इस्लामाबाद पहुंचे।
  • 2005 - यूएसए ने तमिलनाडु में सुनामी पीडि़तों को साफ पेयजल उपलब्ध कराने के लिए 6.2 करोड़ रुपये की सहायता की घोषणा की।
  • 2007 - चीन की मारग्रेट चान ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक पद की कमान सम्भाली।
  • 2008 -   बिजली उपकरण इंडो एशियन फ्युजगीयर लिमिटेड ने उत्तराखण्ड में हरिद्वार में 40 करोड़ रुपये के निवेश से नया अत्याधुनिक विचारगियर संयंत्र खोलने की घोषणा की। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 15 सदस्यीय टीम में लीबिया, वियतनाम, क्रोएशिया, कोस्टारिका और बुर्किनाफासो का पांच नए अस्थायी सदस्यों के रूप में चयन किया गया। 
  • 1831 -सामाजिक कार्यकर्ता सावित्रीबाई फुले का जन्म हुआ।   
  • 1915- प्रसिद्ध फि़ल्म निर्माता-निर्देशक -चेतन आनंद का जन्म हुआ। 
  • 1972-लेखक व नाटककार मोहन राकेश का निधन हुआ। 
  • 2002-भारत के प्रसिद्ध रॉकेट वैज्ञानिक सतीश धवन का निधन हुआ।
  • 1698 -इटली के लेखक और कवि पीटर मेताज़ताजिय़ो का जन्म हुआ। उन्होंने अपनी पहली ट्रेजडी 14 वर्ष की आयु में लिखी। ख्याति मिलने के बाद वे वियना जाकर आस्ट्रिया के दरबारी शायर बन गये। सन 1782 में उनका निधन हो गया। 
  • 1875- फ्रांस  के साहित्यकार और शब्दकोष विशेषज्ञ पियरलारोस का निधन हो गया। वे 1817 ईसवी में जन्में। लारोस शिक्षा प्राप्ति के साथ ही अपने पिता के कारख़ाने में भी काम करते थे और उसी समय से उन्होंने शब्दकोष का संकलन आरंभ कर दिया। लारोस उन लोगों में से थे जिन्होंने फ्रांसीसी विद्यालयों की शिक्षा पद्धति को अच्छा बनाया और पुस्तकों को सरल भाषा में लिखा।
  • महत्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव-   राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा सप्ताह। 

 

अन्य पोस्ट

Comments