इतिहास

इतिहास में 21 जनवरी
20-Jan-2021 8:57 PM 40
इतिहास में 21 जनवरी

रास बिहारी बोस

  • 1799- ऐडवर्ड जेनर द्वारा चेचक का टीका विकसित किया गया। 
  • 1984 -ब्रिटेन में पहली बार एक दम्पत्ति को तीन परखनली-शिशुओं की प्राप्ति हुई। जिनकी मां थीं ऐनी माये।
  • 1924 - रैक्जे मैक्डोनाल्ड के नेतृत्व में पहली बार ब्रिटेन में लेबर पार्टी की सरकार बनी; ग्रीस (यूनान) की स्वतंत्रता; लेनिन का निधन।
  • 1972 - मणिपुर मेघालय और त्रिपुरा राज्य का स्थापना दिवस।
  • 1996 - स्वायत्त फिलीस्तीन के ऐतिहासिक प्रथम आम चुनाव में फिलीस्तीनी मुक्ति मोर्चा के नेता यासर अराफात 85 प्रतिशत मत प्राप्त कर निर्वाचित, एशिया का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन चीन की राजधानी बीजिंग में उद्घाटित।
  • 2000 - एशिया के प्रथम स्लिट लिवर का प्रत्यारोपण हांगकांग में हुआ, हिमतक्षेस की बैठक मस्कट में प्रारम्भ।
  • 2003 - चालक रहित अमेरिकी टोही विमान पाकिस्तान में दुर्घटनाग्रस्त।
  • 2008 - भारत ने इस्त्रायल का एक जासूसी सैटेलाइट का प्रक्षेपण कर उसे सफलतापूर्वक पोलर आर्बिट में स्थापित किया।
  • 2009- कर्नाटक के बीदर में वायुसेना का एक प्रशिक्षण विमान सूर्यकिरण दुर्घटनाग्रस्त हुआ। 
  • 1945 - प्रख्यात वकील और शिक्षाविद रास बिहारी बोस का निधन हुआ। 
  • 1912- अमेरिकी जैवरसायनज्ञ, कोनरॉड ब्लॉक का जन्म हुआ,  उन्हें कोलेस्टरॉल और वसीय अम्लों के संश्लेषण के लिए फियोडोर लाईनेन के साथ फीजिय़ोलॉजी या चिकित्सा का 1964 का नोबेल पुरस्कार प्राप्त हुआ। (निधन-15 अक्टूबर 2000)
  • 1857 -अमेरिकी भूविज्ञानी जोसफ पैक्सन एडिंग्स का जन्म हुआ,  जिन्होंने शिलाविज्ञान की समझ को और विकसित किया। शिलाविज्ञान अर्थात पत्थरों के उद्गम, सरंचना आकार तथा चट्टानों के परिवर्तन का अध्ययन। वे अमेरिका के पहले व्यक्ति थे जिन्होंने पत्थरों के महीन अनुभागों का अध्ययन किया। (निधन- 8 सितम्बर 1920) 
  • 1926 -इटली के चिकित्सक तथा कोशिका वैज्ञानिक  कैमिलो गॉल्गी का जन्म हुआ,  जिन्होंने कोशिका के नए घटक की खोज की जिसे आज हम गॉल्गी कॉम्प्लेक्स के नाम से जानते हैं। तंत्रिका तंत्र के स्पष्ट आकार की जाँच पड़ताल करने के लिए उन्हें स्पेन के वैज्ञानिक के साथ 1906 में फीजिय़ोलॉजी अथवा मेडिसिन का नोबेल पुरस्कार मिला। (निधन-7 जुलाई 1843)
  • 1892 - ब्रिटिश गणितज्ञ और खगोलशास्त्री  जॉन कॉउच एडम्स का निधन हुआ, जो उन दो लोगों में से एक जिन्होंने स्वतंत्र रूप से नेपच्यून ग्रह की खोज की। उन्होंने खगोलशास्त्र में और भी बहुत से योगदान दिए, खासकर 1866 में ल्यूनिड उल्का-वृष्टि पर किया गया उनका अध्ययन, जिसमें उन्होंने दर्शाया कि उल्का वृष्टि की कक्षा धूमकेतु की कक्षा के काफी समान होती है। (जन्म-5 जनवरी 1819)।

अन्य पोस्ट

Comments