सोशल मीडिया

‘नितेश राणे को देखकर अब यह कहा जा सकता है कि नेताओं की दूसरी पीढ़ी तीसरे दर्जे की है!’
‘नितेश राणे को देखकर अब यह कहा जा सकता है कि नेताओं की दूसरी पीढ़ी तीसरे दर्जे की है!’
Date : 05-Jul-2019

दो हफ्ते पहले मध्य प्रदेश के भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय एक सरकारी कर्मचारी के साथ मारपीट करने के मामले में सोशल मीडिया पर चर्चा में थे तो आज कांग्रेस के महाराष्ट्र के एक विधायक नितेश राणे कुछ ऐसे ही मामले में यहां सुर्खियां बटोर रहे हैं। नितेश राणे महाराष्ट्र के कणकवली विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। आज मुंबई-गोवा हाइवे पर उनके समर्थकों द्वारा एक सरकारी इंजीनियर पर कीचड़ उड़ेलने की घटना सामने आई है और इस दौरान राणे इस इंजीनियर को डांटते-डपटते और धकियाते भी दिखे हैं। सोशल मीडिया पर इस घटना से जुड़ा वीडियो कई लोगों ने शेयर किया है और इसके साथ राणे की जमकर आलोचना की गई है।
कई लोगों ने इस घटना को लेकर कांग्रेस को भी घेरने की कोशिश की है, लेकिन वहीं इसके जवाब में इन्हें याद दिलाया गया है कि नितेश के पिता नारायण राणे भाजपा में शामिल हो चुके हैं और फिलहाल पार्टी की तरफ से राज्यसभा सांसद हैं। वहीं आकाश विजयवर्गीय के पिता कैलाश विजयवर्गीय भी भाजपा के नेता हैं। सागर ने आकाश विजयवर्गीय और नितेश राणे को निशाने पर लेते हुए तंजभरा ट्वीट किया है, ‘(नेताओं की) दूसरी पीढ़ी तीसरे दर्जे की है!’
सोशल मीडिया में नितेश राणे से जुड़े इस मामले को लेकर आईं कुछ और प्रतिक्रियाएं :
विशाल वी शितोले- नीतेश राणे, अगर आप में हिम्मत है तो कीचड़भरी बाल्टी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री या लोकनिर्माण मंत्री के ऊपर उड़ेलकर दिखाएं... एक निर्दोष अधिकारी को अपनी मर्दानगी न दिखाएं।
राजदीप सरदेसाई- कोंकण इलाके का प्रतिनिधित्व एक जमाने में बहुत ही सज्जन नेता किया करते थे - मधु दंडवते। लेकिन आज राणे (पिता-पुत्र) इस इलाके का चेहरा हैं। महाराष्ट्र की राजनीतिक संस्कृति में गिरावट डराने और दुखी करने वाली है।
ऐसी-तैसी डेमोक्रेसी- भाजपा के पास अब तीन विकल्प हैं :
1. नितेश को गिरफ्तार करवाना।
2. नितेश की उपेक्षा करना।
3. नितेश को पार्टी में शामिल करना।
...आपके हिसाब से भाजपा क्या करेगी?
केतकी परब- यह गुंडागर्दी है। नितेश राणे आप एक राजनीतिक परिवार से आते हैं और सिर्फ इसलिए आपको यह हक नहीं मिल जाता कि ऐसी हरकत करें। एक इंजीनियर बनने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है, उसे आपकी तरह पिता से तोहफे में कुछ नहीं मिला! (सत्याग्रह)
 

 

 

Related Post

Comments