छत्तीसगढ़ » रायपुर

Previous123456789...1314Next
02-Jul-2020 9:29 PM

रायपुर, 2 जुलाई। राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक 1 जून से अब तक 289.0 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में आज सुबह रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार सरगुजा में 5.7 मिमी, सूरजपुर में 3.1 मिमी, बलरामपुर में 1.1 मिमी, जशपुर में 1.5 मिमी, कोरिया में 1.0 मिमी, गरियाबंद में 1.4 मिमी, महासमुन्द में 6.8 मिमी, धमतरी में 1.4 मिमी, बिलासपुर में 5.7 मिमी, मुंगेली में 4.3 मिमी, रायगढ़ में 0.5 मिमी, जांजगीर-चांपा में 0.5 मिमी और कोरबा में 5.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है।

इसी प्रकार गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 0.2 मिमी, राजनांदगांव में 1.2 मिमी, बस्तर में 13.2 मिमी, कोण्डागांव में 32.0 मिमी, कांकेर में 6.8 मिमी, नारायणपुर में 42.6 मिमी, दंतेवाड़ा में 8.4 मिमी, सुकमा में 7.3 मिमी और बीजापुर में 5.9 मिमी, औसत वर्षा आज रिकार्ड की गई।
 


02-Jul-2020 9:28 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 2 जुलाई।
विप्र कला वाणिज्य एवं शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय में शारीरिक शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित  तीन दिवसीय नेशनल वेबीनार में कोरोना महामारी से खिलाडिय़ों पर पडऩे वाले मनोवैज्ञानिक एवं शारीरिक प्रभाव की चर्चा हुई। प्रथम दिवस विषय विशेषज्ञ डॉ सी डी अगाशे प्राध्यापक, शारीरिक शिक्षा विभाग पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर ने बताया कोरोना महामारी के कारण प्रतियोगिता और प्रशिक्षण से वंचित होने के कारण खिलाड़ी निराश हो रहे हैं। 

उन्होंने खिलाडिय़ों के मानसिक दशा ,कौशल प्रदर्शन एवं वित्तीय दशा इत्यादि पर प्रकाश डाला। द्वितीय सत्र में विषय विशेषज्ञ डॉ सुबीर देवनाथ ने उच्च प्रदर्शन हेतु काम की तैयारी विषय पर सारगर्भित व्याख्यान दिया। वेबीनार के द्वितीय दिवस विषय विशेषज्ञ डॉ सुनीता गुप्ता द्वारा खेल आहार कोरोना के दौरान विषय पर व्याख्यान दिया गया। द्वितीय सत्र में विनोद जैकब ने ड्रीप ट्रेनिंग विषय पर प्रस्तुति में रक्त कण , हृदय ,स्वसन तंत्र, ऊर्जा तंत्र पर व्यायाम से पडऩे वाले प्रभाव का वर्णन किए।

तृतीय दिवस सुजय शरद घाग फिटनेस का विज्ञान पर व्याख्यान देते हुए कोरोना महामारी में अपने अनुभव साझा किए। अंतिम वक्ता प्रोफेसर रीता वेणु गोपाल ने कोविड-19 के कारण खिलाडिय़ों पर पडऩे वाले प्रभाव का व्याख्या दिए ।अंत में वेविनर का सारांश प्रस्तुत करते हुए प्राचार्य  डॉ मेघेश तिवारी ने कहा अवसाद से बचने के लिए शारीरिक गतिविधियां बंद ना करें। संसाधन उपलब्ध हो तो, घर में ही प्रैक्टिस करें। योग, प्राणायाम एवं ध्यान का सहारा लेकर शारीरिक एवं मानसिक रूप से खुद को फिट रखें।

विभागाध्यक्ष डॉ कैलाश शर्मा ने आभार प्रदर्शन करते हुए विशेष रूप से अंतरराष्ट्रीय कोच संजय शर्मा के योगदान का वर्णन करते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ में बॉडी बिल्डर्स को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने का श्रेय उन्हें ही है । डॉ उषा दुबे (पूर्व विभागाध्यक्ष अर्थशास्त्र विभाग पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर) के मार्गदर्शन में आयोजित वेबीनार के आयोजन सचिव डॉ मिलिंद भानदेव एवं सहयोगी ज्ञानेंद्र भाई थे।


02-Jul-2020 9:27 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 2 जुलाई।
स्वशासी शासकीय नागार्जुन स्नातकोत्तर विज्ञान महाविद्यालय रायपुर में रक्षा अध्ययन विभाग द्वारा भविष्य में भारत चीन संबंध बलवान घटना के बाद विषय पर नेशनल वेबीनार आयोजित किया गया।वेबीनार मे विषय विशेषज्ञ डॉ हर्ष सिन्हा (प्राध्यापक, रक्षा अध्ययन विभाग पंडित दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय गोरखपुर उत्तर प्रदेश )ने बताया कि भविष्य में चीन के साथ संबंधों पर राजनीतिक, आर्थिक व सैन्य सहयोग किस प्रकार प्रभावित होगा? हमें इस दिशा में कदम बढ़ाते हुए कैसे आत्मनिर्भर होना होगा। चीन के साथ व्यापार को कम करते हुए चीन पर दबाव बनाना होगा। 

द्वितीय विषय विशेषज्ञ डॉ गिरीश शर्मा (प्राध्यापक ,रक्षा अध्ययन विभाग ,शासकीय विज्ञान महाविद्यालय ग्वालियर मध्य प्रदेश )ने अपने वक्तव्य में कहा कि सेना की शक्ति किसी भी राष्ट्र को सशक्त नहीं बनाती अपितु आर्थिक संपन्नता के साथ उन्नत तकनीक मे राष्ट्र की शक्ति निहित होती है। आज 100 अरब भारत चीन का व्यापार है ।चीन की 75 से अधिक कंपनी भारत में क्रियाशील है । 

पूरे विश्व में चीन का निवेश और सामान ने अपना स्थान बना रखा था परंतु कोविड-19 महामारी के बाद अमेरिका ने 60त्न चीनी निवेश को रोक दिया है। चीन की सबसे बड़ी चिंता विश्व में उसकी आर्थिक गतिविधि रुकने की है। सीमा विवाद इसी बौखलाहट का नतीजा है।भारत आत्मनिर्भरता की दिशा में बढक़र और तकनीकी रूप से सक्षम होकर ही चीन का सामना कर सकता है।

इस अवसर पर विषय विशेषज्ञ डॉ गिरीश कांत पांडेय ने अपने व्याख्यान में भारत और चीन की सैन्य शक्ति और राजनीतिक स्थिति का तुलनात्मक विवरण प्रस्तुत करते हुए बताया कि चीन में कम्युनिस्ट शासन, सैन्य बल के सहारे अपने जनता को भी दबा कर रखती है। चीन का सैन्य बल भारत से ज्यादा है पर वह सारा सैन्य बल भारत के सीमा में नहीं लगा सकता। आंतरिक गतिविधियों में सैन्य के सहयोग के साथ अन्य पड़ोसी देशों से भी विवाद के कारण वहां से सैन्य बल को नहीं हटा सकता। आज चीन के साथ विवाद की स्थिति में चीन की सैन्य क्षमता को देखते हुए हमें अपने नीति में परिवर्तन की आवश्यकता है।
 


02-Jul-2020 9:26 PM

राज्यपाल से खादी-ग्रामोद्योग आयोग के अफसर त्रिभुवन ने भेंट की

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 2 जुलाई।
राज्यपाल अनुसुईया उइके से राजभवन में खादी और ग्रामोद्योग आयोग, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार के छत्तीसगढ़ के राज्य कार्यालय के उपमुख्य कार्यकारी अधिकारी एस.एस. त्रिभुवन ने सौजन्य मुलाकात की। 

राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आत्मनिर्भर अभियान की शुरूआत की है। उन्होंने इसके लिए आवश्यक है कि युवा स्वरोजगार से जुड़े, इससे वे स्वयं अपने पैरों पर खड़े होंगे और दूसरों को भी रोजगार देंगे। ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्रों में महिलाएं भी स्वयंसहायता समहू बनाकर स्वयं का उद्यम शुरू कर सकते हैं। इससे महिलाएं जागरूक और सशक्त होंगी। इस कोरोना काल में बड़ी संख्या में श्रमिक प्रदेश में आए हैं। उन्हें खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग द्वारा संचालित योजना सहित अन्य योजनाओं से जोड़ा जाना चाहिए, ताकि वे अपना जीवनयापन कर सके। श्रमिकों एवं किसी भी व्यक्ति को स्वरोजगार का ऋण देने से पहले उन्हें संबंधित रोजगार का प्रशिक्षण देना चाहिए, जिससे तकनीकी रूप से दक्ष होने पर वह व्यक्ति योजना के तहत दिये जाने वाले सहयोग का सदुपयोग कर सकेगा।

सुश्री उइके ने कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार की एक अति महत्वपूर्ण योजना है, प्रदेश के बेरोजगार युवक-युवती इसका लाभ उठाएं। श्री त्रिभुवन ने बताया कि इस कार्यक्रम के तहत इस योजना के तहत स्वयं के उद्यम शुरू करने के लिए रू. 25 लाख तक का ऋण बैंक के माध्यम से उपलब्ध कराया जाता है, जिसमें 35 प्रतिशत तक सब्सिडी हितग्राही को प्राप्त होता है। एस.टी.एस.सी. एवं महिला वर्ग को ग्रामीण क्षेत्रों में 35 प्रतिशत और शहरी क्षेत्रों में 25 प्रतिशत तक छूट दी जाती है तथा 5 प्रतिशत तक स्वयं का अंशदान होता है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि 1 लाख रू. पर एक व्यक्ति को रोजगार देना अनिवार्य होता है। इच्छुक युवक-युवतियां खादी ग्रामोद्योग के कार्यालय के संपर्क कर सकते हैं और इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। उन्होंने बताया कि हमारे कार्यालय का दूरभाष क्रमांक 07712886428 है और वेबसाईट www.pmegpeportal.gov.in है।

इस अवसर पर राज्यपाल ने खादी और ग्रामोद्योग आयोग के निर्देशिका का विमोचन किया। आयोग की तरफ से राज्यपाल को कोसे की बनी शाल और साड़ी भेंट की गई।
 


02-Jul-2020 9:25 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 2 जुलाई।
सोशल मीडिया पर फर्जी आईडी बनाकर एक महिला बैंक कर्मी को परेशान करने वाला पंजाब में पकड़ा गया। पुलिस का कहना है कि आरोपी फर्जी सोशल मीडिया में महिला की निजी फोटो डालकर उसे लगातार परेशान कर रहा था। जांच जारी है। 

लोधीपारा चौक रायपुर अनिता वर्मा ने सिविल लाईन में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि वह स्टेट बैंक ऑफ इंडिया शिवानंद नगर ब्रांच में काम करती है। उसकी शादी परिवार के माध्यम से गुरूमुख सिंह सैनी पंजाब (होशियारपुर) से होना तय हुआ था। लेकिन सोशल साइड्स पर फर्जी आईडी बनाकर किसी ने फेसबुक एवं इंस्टाग्राम में उसकी एवं गुरूमुख सिंह सैनी की फोटो अपलोड कर दिया। इससे उसकी शादी टूट गई। और वह मानसिक रूप से परेशान होती रही। 

बैंक कर्मी महिला की शिकायत पर पुलिस ने सायबर सेल के माध्यम से एक विशेष टीम बनाकर जांच शुरू की। इस दौरान आरोपी गुरूमुख सिंह (29) शेरगढ़ होशियारपुर पंजाब पकड़ लिया गया। वह दुबई में किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। सिविल लाइन पुलिस मामले की जांच में लगी है। 
 


02-Jul-2020 9:24 PM

रायपुर, 2 जुलाई। नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया 3 जुलाई को आरंग विकासखण्ड के दस गांवों में 3 करोड़ 36 लाख 28 हजार रूपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन एवं लोकार्पण करेंगे। इनमें 2 करोड़ 40 लाख रूपए के कार्यों का भूमिपूजन और 96 लाख रूपए के विकास कार्यों का लोकार्पण शामिल है। मंत्री डॉ. डहरिया आंरग विकासखण्ड के ग्राम देवदा में 10 लाख रूपए, कुकरा में 19 लाख 50 हजार रूपए, नारा में 37 लाख 97 हजार रूपए, भानसोज में 35 लाख रूपए, फरफौद में 65 लाख रूपए, परसकोल में 22 लाख 47 हजार रूपए, कोसरंगी में 33 लाख 97 हजार रूपए, मनरसी में 15 लाख 40 हजार रूपए, विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण करेंगे।
 


02-Jul-2020 9:23 PM

रायपुर, 2 जुलाई। सभापति प्रमोद दुबे ने सेवानिवृत्त होने पर नगर निगम के 9 कर्मियों का आज सम्मान किया। इसमें जोन-4 के 4 एवं जोन 2 के 5 कर्मी शामिल हैं। 


02-Jul-2020 9:22 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 2 जुलाई।
कोरोना लॉकडाउन के दौरान सप्रे स्कूल स्थित बैडमिंटन बुधवार को खुला। शासन के निर्देशों का पालन करते हुए अर्से बाद बैडमिंटन की प्रेक्टिस करते हुए खिलाड़ी खासे सोमांचित रहे। उन्होंने बताया कि 3 महीने के बाद कोर्ट में पे्रेक्टिस स्कूल, कॉलेज में पहली बार जाने जैसी खुशी रही। 

कोरोना, लॉकडाउन के कारण वे अपने दूसरे घर (बैडमिंटन हॉल) को मिस कर रहे थे। रायपुर जिला बैडमिंटन संघ के सचिव अनुराग दीक्षित ने बताया कि साढ़े 3 माह के बाद बुधवार को बैडमिंटन हॉल के खोले जाने से खिलाडिय़ों में खासा उत्साह रहा। निर्देश अनुसार खिलाडिय़ों को थर्मल स्क्रीनिंग के बाद हॉल में प्रवेश दिया गया। इस दौरान सैनेटाइजिंग और सोशल डिस्टेसिंग का पूरा-पूरा पालन किया गया। पहले दिन खिलाडिय़ों वार्मअप, स्टोक और फ्लोर एक्सरसाइज किए। 

तीन महीने बाद बैडमिंटन हॉल खुलने बैडमिंटन खिलाड़ी खासे उत्साहित रहे। खिलाड़ी प्रखर दीक्षित खुशी जाहिर करते हुए कहा टे्रेनिंग, प्रेक्टिस करते हुए बैडमिंटन हॉल हमें दूसरा घर लगता है। 3 महीनों से बैडमिंटन से बिछडऩे के कारण मायूसी थी लेकिन बैडमिंटन हॉल खुलने पर एक बार फिर खुद को ऊर्जावान महसूस कर रहा हूं। पहले दिन तो वार्मअप, स्टैडिंग स्ट्रोक की प्रेक्टिस ही की। खिलाडिय़ां अभी हफ्ते दिन तो फिटनेस में ही लग जाएंगे। 

अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन खिलाड़ी दीक्षा चौधरी खुशी जाहिर करते हुए कहती है साढ़े तीन महीने के बाद बैडमिंटन कोर्ट में जाना, प्रेक्टिस करने का खासा रोमांच रहा। पहली बार स्कूल या कॉलेज जाने जैसी खुशी महसूस हो रही थी। हम वहां चप्पल पहनकर गए थे। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद हमें हॉल में एंट्री मिली। यहां हम अलग-अलग बेंच में बैठे थे। सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो करते हुए हमने प्रेक्टिस की, दोस्तों से मिले। 
 


02-Jul-2020 9:20 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 2 जुलाई।
पुलिस ने गुढिय़ारी से बच्चन नगर स्थित सूने मकान में करीब 3 हफ्ते पहले चोरी का खुलासा किया है। इस मामले में आरोपी महिला पकड़ी गई है। उसके कब्जे से सोने की 2 हार, 1  मंगलसूत्र एवं 1 झुमका बरामद किया गया है, जिसकी कीमत करीब 3 लाख रुपये बताई जा रही है, पूछताछ जारी है। 

शुक्रवारी बाजार गुढिय़ारी निवासी ट्रक ड्राइवर सोहन लाल जंघेल ने पुलिस को बताया कि 10 जून को उसके घर में चोरी हो गई। दो मंजिला मकान में उसकी पत्नी व परिवार अन्य लोग रहते हैं, लेकिन घटना के समय ये सभी कहीं गए थे, तभी स्टेशन रोड लोधीपारा थाना गंज थाना की महिला गीता जंघेल (36) यहां घुस गई। वह आलमारी के लाकर में रखे लाखों के नगदी जेवर पार कर फरार हो गई।

घटना की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज कराने के बाद जांच शुरू हुई। आसपास के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले गए। इस दौरान वह आरोपी महिला पकड़ी गई। उससे चोरी के जेवर बरामद किए गए हैं। पुलिस का कहना  है कि घटना के बाद पकड़ी गई महिला से पूछताछ चल रही है। फिलहाल उसके और किसी घटना में शामिल होने की खबर नहीं है। 
 


02-Jul-2020 9:18 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 2 जुलाई।
मंदिर हसौद थाना क्षेत्र स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के एटीएम मशीन को गैस कटर से काटकर कर चोरी का प्रयास करने वाले दो अंतर्राज्यीय आरोपी पकड़े गए। पेट्रोलिंग पार्टी की तत्परता एवं सूझबूझ से आरोपी चोरी नहीं कर पाए। 

आरोपियों में प्रशांत पाठक एवं विजय तिवारी दोनों निवासी गौरा पोष्ट महेवार अमानगंज पन्ना मध्यप्रेदश शामिल हैं। पुलिस के मुताबिक बीती रात मंदिर हसौद की पेट्रोलिंग टीम को सेरीखेड़ी स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के एटीएम मशीन के पास एक व्यक्ति खड़ा दिखाई दिया जो पेट्रोलिंग टीम को देखकर भागने लगा। टीम द्वारा तत्काल एटीएम मशीन के शटर में लगे ताले को चेक किया गया जिस पर ताला टूटा हुआ था। शटर को उठाकर देखने पर मौके पर एक व्यक्ति गेलेण्डर कटर मशीन के साथ एटीएम सेंटर के अंदर चोरी की नियत से एटीएम मशीन को काटते रंगे हाथ पकड़ा गया। पूछताछ करने पर उसने अपना नाम प्रशांत पाठक तथा अपने साथी का नाम विजय तिवारी बताया। 

विजय तिवारी के बारे में पूछने पर कहा कि वह बाहर निगरानी कर रहा था। गस्त टीम द्वारा आसपास क्षेत्र की घेराबंदी से फरार आरेापी विजय तिवारी पकड़ा गया। आरोपी के पास से मौके से गैलेण्डर कटर मशीन, वायर, पेंचिस अन्य औजार एवं घटना में प्रयुक्त मोटर सायकल बरामद किया गया। पुलिस मामला दर्जकर पूछताछ में लगी है। 
 


02-Jul-2020 9:14 PM

31 लघु वनोपजों की समर्थन मूल्य पर खरीदी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 2 जुलाई।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व और वन मंत्री मोहम्मद अकबर के मार्गदर्शन में राज्य में लघु वनोपजों के संग्रहण का आंकड़ा दिनों-दिन बढ़ रहा है। यही वजह है कि देश में चालू सीजन के दौरान वनोपजों के संग्रहण के मामले में छत्तीसगढ़ लगातार पहले नम्बर पर बना हुआ है। 

छत्तीसगढ़ में पिछले छह माह में 104 करोड़ रूपए की राशि के लगभग डेढ़ लाख क्विंटल लघु वनोपजों का संग्रहण हो चुका है, जो चालू सीजन के दौरान देश में अब तक संग्रहित कुल लघु वनोपजों का 73.71 प्रतिशत है। इस तरह छत्तीसगढ़ में 100 करोड़ रूपए से अधिक राशि के लघु वनोपजों के वार्षिक संग्रहण लक्ष्य को छह माह पहले अर्थात् छह माह में ही हासिल कर लिया गया है, जो राज्य के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। 

वन मंत्री श्री अकबर ने बताया कि वर्तमान में राज्य सरकार द्वारा वनवासी ग्रामीणों के हित को ध्यान में रखते हुए खरीदी जाने वाली लघु वनोपजों की संख्या बढ़ाकर अब 31 तक कर दी गई है। इसके पहले प्रदेश में वर्ष 2015 से 2018 तक मात्र सात वनोपजों की समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा रही थी। इस संबंध में प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी ने बताया कि राज्य में चालू वर्ष में न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना के अंतर्गत संग्रहित लघु वनोपजों में इमली (बीज सहित), पुवाड़ (चरोटा), महुआ फूल (सूखा), बहेड़ा, हर्रा, कालमेघ, धवई फूल (सूखा), नागरमोथा, इमली फूल, करंज बीज तथा शहद शामिल हैं। 

इसके अलावा बेल गुदा, आंवला (बीज रहित), रंगीनी लाख, कुसुमी लाख, फुल झाडु, चिरौंजी गुठली, कुल्लू गोंद, महुआ बीज, कौंच बीज, जामुन बीज (सूखा), बायबडिंग, साल बीज, गिलोय तथा भेलवा लघु वनोपजें भी इसमें शामिल हैं। साथ ही हाल ही में वन तुलसी बीज, वन जीरा बीज, ईमली बीज, बहेड़ा कचरिया, हर्रा कचरिया तथा नीम बीज को भी शामिल किया गया है। 

छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ के प्रबंध संचालक संजय शुक्ला ने बताया कि राज्य में 3 हजार 500 ग्रामों तथा 866 हाट बाजारों में महिला स्व-सहायता समूहों के माध्यम से लघु वनोपजों के समर्थन मूल्य पर क्रय करने की व्यवस्था की गई है। इसी तरह राज्य में लघु वनोपजों के प्राथमिक प्रसंस्करण कार्य के लिए 139 वन धन केन्द्र स्थापित किए गए हैं। 
राज्य में चालू सीजन के दौरान अब तक लघु वनोपजों में 61 करोड़ रूपए की राशि के 3 लाख 4 हजार 242 क्विंटल साल बीज तथा 20 करोड़ रूपए की राशि के 63 हजार 676 क्विंटल ईमली (बीज सहित) का संग्रहण हो चुका है। इसी तरह 8 करोड़ रूपए की राशि के 28 हजार 158 क्विंटल महुआ फूल (सूखा), 87 लाख रूपए की राशि के 5 हजार 107 क्विंटल बहेड़ा, 70 लाख रूपए की राशि के 5 हजार क्विंटल पुवाड (चरोटा) का संग्रहण किया गया है।
 


02-Jul-2020 7:06 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। इस बार विशेष संयोग के साथ सावन सोमवार की शुरूआत हो रही है। छह जुलाई सोमवार से शुरू हो रहे सावन मास में इस बार 5 सावन सोमवार शामिल होंगे। पं. मनोज शुक्ला द्वारा प्राप्त जानकारी अनुसार इस बार 6 जुलाई सोमवार से सावन माह की शुरूआत होगी। पहला सोमवार 6 जुलाई को, दूसरा सोमवार 13 जुलाई को, तीसरा सोमवार 20 जुलाई, चौथा सोमवार 27 जुलाई और पांचवा सोमवार 3 अगस्त को पड़ेगा। सावन माह के प्रतिपदा तिथि का आरंभ उत्तराषाढ़ा नक्षत्र, वैधृत योग तथा कौलव करण में हो रहा है। इसके प्रभाव से पूरे जुलाई भर वृष्टि योग संतोषप्रद तथा कृषि कार्य के लिए लाभदायक रहेगा। शिवालयों में सावन माह में भोलेशंकर का विशिष्ट अभिषेक श्रृंगार होगा।


02-Jul-2020 7:05 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। समाजसेविका तेजी ग्रोवर की मदद से गाजियाबाद लॉकडाउन में फंसी मनीषा की अपने माता-पिता, पति बच्चों सहित यात्री टे्रन से छत्तीसगढ़ वापसी हुई। छह महीने बाद घर वापसी से प्रसन्न मनीषा का कहना है कि गांव में अब वह सब्जी बेचने का धंधा करेगी और अपने बच्चों को पढ़ाएगी। इनके अलावा कसडोल के 6 मजदूर अपने खर्चे पर बुधवार को राजधानी पहुंचे।

बलौदाबाजार जिले की मनीषा ने बताया कि कुछ दिनों पहले गाजियाबाद से छत्तीसगढ़ के कुछ मजदूरों की वापसी हुई थी, लेकिन उस वक्त उनका संपर्क बंदोबस्त करने वालों से नहीं हो पाया था। गाजियाबाद से आज कुल 7 लोग वापस लौटे। उनका पति हमाली का काम करता था जहां उसे 250 रुपए रोजी मिल जाया कती थी। माता-पिता मिर्ची छांटने का काम करते थे। उन्हें 150 रुपए रोजी मिल जाती थी। उनके दो छोटे बच्चे हैं। लडक़ी साढ़े चार साल की है। उसे स्कूल में भर्ती करना है।

मनीषा कहती है पहली बार रोजी मजदूरी करने परदेस गए और कोरोना के चक्कर में फंस गए। गाजियाबाद से हमें टैक्सी से मैडम ने दिल्ली तक पहुंचाने का इंतजाम किया। मंगलवार सुबह निकले थे। अब यहां से गांव जाएंगे। वहीं सब्जी बेचने का धंधा करेंगे और बच्ची को स्कूल में भर्ती कराएंगे।

गाजियाबाद से लौटने वालों में बलौदाबाजार की सुमित्रा भी शामिल रही। सुमित्रा गाजियाबाद में रह रहे बहन, जीजा के साथ मजदूरी कर रही थी। उसने बताया कि उसकी बहन फिलहाल वहीं काम कर रही है लेकिन उसे गांव लौटना तय किया।

यात्री टे्रन से बलौदाबाजार के 6 और मजदूरों की वापसी हुई। दिनेश ने बताया वह अपने साथियों के साथ दिल्ली में मिस्त्री का काम कर रहा था। दिल्ली में फैली कोरोना महामारी के बाद उन्होंने गांव लौटने में भलाई समझी। दिनेश कहते हैं पहली बार कमाने खाने गए थे, लेकिन वहां लॉकडाउन के कारण काम बंद हो गया और खाने के भी हम मोहताज हो गए। काम खुलने पर थोड़ी बहुत कमाई हुई और उससे टिकट लेकर हम वापस आ गए। एक आदमी की टिकट तीन हजार की लगी। दिनेश कहते हैं गांव में अब खेती किसानी करेंगे।


02-Jul-2020 7:04 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव सुश्री प्रियंका गांधी वाड्रा को सरकारी बंगला खाली करने का नोटिस का मामला तूल पकड़ रहा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सुश्री प्रियंका गांधी वाड्रा के समर्थन में आ गए हैं। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार को निशाने पर लिया। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा- तुम्हारे माथे का पसीना, हकीकत का बयां है।

मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट किया है। इसमें उन्होंने लिखा- 

भले कहते रहो कि तुमको डर नहीं लगता

तुम्हारे माथे का पसीना, हकीकत का बयां है

एक महीने में खाली करना है दिल्ली का घर

उल्लेखनीय है कि दिल्ली के लुटियन जोन स्थित लोदी एस्टेट के सरकारी बंगले को केंद्र सरकार ने वापस लेने का नोटिस प्रियंका गांधी को भेजा हैं। केंद्र सरकार का कहना है कि एसपीजी सिक्योरिटी मिलने की वजह से उनको यह बंगला अलॉट किया गया था, लेकिन अब सुरक्षा वापस ले ली गई है।


02-Jul-2020 7:04 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। सार्वजनिक क्षेत्र की एल आई सी के आईपीओ की बोली जारी करने के पूर्व लेन देन  सलाहकार नियुक्त करने निर्माण निमंत्रण प्रक्रिया का विरोध करते हुए बीमा कर्मचारी कल देश भर में विल्ला धारण कर विरोध दर्ज करेंगे।

संगठन के अखिल भारतीय सहसचिव धर्मराज महापात्र ने प्रेस वक्तव्य में उक्त जानकारी देते हुए कहा कि एल एल आई सी ने देश के औद्योगिक विकास और राष्ट्र निर्माण में अतुलनीय भूमिका अदा की है जो आज भी जारी है । पलिसिधरको की संख्या के मामले में देश के सबसे बड़े बीमाकर्ताओं के रूप में उभरने और विकास करना पूरी तरह से आंतरिक संसाधनों को पैदा करने के माध्यम से किया गया है । 1956 में केवल 5 करोड़ की प्रारम्भिक पूंजी से यह संस्था बनी इसे सरकार ने  बढ़ाकर 2011 में 100 करोड़ कर दिया लेकिन उसके लिए कोई अतिरिक्त पूंजी नहीं दी गई  बावजूद इसके इस अल्प पूंजी पर एल आई सी ने आज 32 लाख करोड़ रुपए की संपत्ति का निर्माण किया है ।यह विस्तार बीमा धारक के पैसे से हुए है  अर्थात एल आई सी ने आपसी लाभ वाले समाज की तरह काम किया है , जिसकी एल आई सी के एक हिस्से को बाजार में बेचने का निर्णय लेते समय अनदेखी की जा रही है ।

महापात्र ने कहा कि 245 निजी बीमा कंपनियों को समाहित कर जब जीवन बीमा व्यवसाय का राष्ट्रीयकरण किया गया तो उसका उद्देश्य था जनता की छोटी बचत को एकत्र कर देश के विकास के लिए दीर्धकाल निवेश जुटाना और आम जनता के वंचित तबके तक बीमा कनविस्तर कर  बीमा धारक को जोखिम की सुरक्षा के साथ उनके निवेश पर एक अच्छा लाभांश उपलब्ध कराना। एल आई सी ने इसे बखूबी निभाया। जनता का पैसा जनता के लिए की अवधारणा पर उसने काम किया।

लेकिन सरकार द्वारा इसके हिस्से को बाजार में बेचने जो अंतत: निजीकरण को जन्म दे सकती है इससे यह उद्देश्य ही खत्म हो जाएगा । उसका सामाजिक उद्देश्य बदलकर निजी शेयर धारकों को अधिकतम लाभ पहुंचाना होंजाएगा जो 40 करोड़ बीमा धारक या राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था के लिए नुकसानदायक होगा ।

महापात्र ने कहा कि यह व्यापक रूप से स्वीकृत तथ्य है कि घरेलू बचत राष्ट्रीय अर्थव्यवस्थाओं में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और दुनिया भर में बड़े अर्थशास्त्रियों का यही मानना है कि विदेशी पुजी घरेलू बचत का खराब विकल्प है । ऐसी स्थिति में जहां देश के विकास के लिए भारी संसाधन की आवश्यकता है यह और अधिक महत्वपूर्ण हों जाता है कि घरेलू बचत पर सरकार का पूर्ण नियंत्रण हो । प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत की जो परिकल्पना  दी है वह भी तभी सफल होगी जब हर साल अत्यधिक निवेश योग्य अधिशेष उत्पन करने वालीं संस्था पर सौ प्रतिशत सरकारी नियंत्रण हो । एल आई सी की इक्विटी को बेचने का कदम भारतीय अर्थव्यवस्था और समाज के कमजोर वर्गो के हितों को बुरी तरह से प्रभावित करेगा । कमजोर वर्गो तक बीमा की पहुंच का सामाजिक उद्देश्य पीछे चला जाएगा और लाभहीन ग्रामीण क्षेत्रों में बीमा का विस्तार का लक्ष्य बाधित होगा । एल आई सी के मूल स्वरूप को छेडऩे से देश की गरीब आबादी और गरीब तबके के हितों का अकल्पनीय नुकसान होगा । संगठन ने केंद्र सरकार से इसे रोकने की मांग करते हुए वित्त मंत्री को भी अन्य यूनियनों के साथ पत्र लिखा है । कल देशव्यपी प्रदर्शन के जरिए बीमा कर्मी कोयला सहित सार्वजनिक उद्योग का निजीकरण रोकने, ढ्ढक्कह्र का फैसला वापस लेने, साधारण बीमा कंपनियों में विनिवेश रोकने, बीमा क्षेत्र में एफ डी आई वृद्धि वापस लेने, बीमा प्रीमियम पर जी एस टी समाप्त करने, पेंशन क्षेत्र में एफ डी आई रोकने, शर्म कानून में परिवर्तन वापस लेने की मांग करते हुए सभी कार्यालयों में बिल्ला धारण कर कार्य करेंगे और कोवीड नियमों का पालन कर विरोध प्रदर्शन आयोजित करेंगे । संगठन ने ट्रेड यूनियनों के देशव्यापी विरोध और कोयला मजदूरों के हड़ताल के साथ भी एकजुटता व्यक्त की है ।


02-Jul-2020 7:00 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। राजधानी रायपुर के आरडीए कालोनी राजेन्द्र नगर में बीती देर रात मामूली विवाद पर सब्जी बेचने वाले एक नाबालिग युवक की चाकू मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस 2 नाबालिग समेत 5 युवकों को गिरफ्तार कर जांच में लगी है। आरोपियों के कब्जे से चाकू एवं हॉकी स्टीक जब्त की गई है। पुलिस का कहना है कि घटना में शामिल बाकी आरोपी भी जल्द पकड़ लिए जाएंगे।

पुलिस के मुताबिक गुरुमुख नगर संध्या गोस्वामी ने न्यू राजेन्द्र नगर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह आरडी बिल्डिंग न्यू राजेन्द्र नगर के पास सब्जी ठेला लगाती है।  कल दोपहर 1 बजे राजू साहू के बेटे डोमन साहू के साथ उसकी मां मोंगरा गोस्वामी का सब्जी ठेला लगाने की बात पर से विवाद हुआ था। रात करीब साढ़े 9 बजे संध्या तथा उसका भाई संजू गोस्वामी ठेले पर सब्जी बेच रहे थे, उसी समय राजू साहू के परिवार के रीतेश, आकाश, सागर, दीपक, अभिषेक समेत 4-5 अन्य लोग अपने हाथ में डंडा ,स्टीक व चाकू लेकर आए तथा एक राय होकर जान से मारने की नीयत से मारपीट करने लगे।

संजू गोस्वामी को चाकू मार डंडा, स्टीक  व हाथ मुक्का से उसकी जमकर पिटाई की गई। इससे संजू के सिर ,सीने व शरीर में गंभीर चोटें आई थी। घटना के समय संध्या एवं उसकी बहन क्षमता गोस्वामी व आसपास के लोग मौजूद थे। एंबुलेंस बुलाकर संजू को पास के एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। दूसरी तरफ घटना के बाद आरोपी युवक फरार है। न्यू राजेन्द्र नगर पुलिस मामला दर्जकर आरोपियों की तलाशी लगी रही। इस दौरान शाम तक 5 आरोपी पकड़ लिए गए।

पकड़े गए आरोपियों में सागर साहू, आकाश साहू, दीपक साहू व दो अन्य नाबालिग बालक शामिल हैं। पुलिस इन चारों से पूछताछ करते हुए घटना की जांच में लगी है।


02-Jul-2020 6:59 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। स्थानीय आवक में कमी और डीजल पेट्रोल के बढ़ हुए दाम के कारण सब्जी के भावों में इन दिनों जबरदस्त इजाफा हुआ है। सब्जी कारोबारियों के अनुसार वर्तमान में किसान बाडिय़ों में सब्जी लगाने की जगह धान की खेती में व्यस्त है जिसका असर भी सब्जी की कीमतों पर पड़ा है।

डुमरतराई थोक बाजार संघ के अध्यक्ष टी श्रीनिवास रेड्डी ने बताया कि वर्तमान में 80 प्रतिशत सब्जियां दूसरे प्रदेशों में से आ रही हैं जिसके कारण सब्जी के भाव में खासी बढ़ोत्तरी हुई है। डीजल और पेट्रोल के  दाम बढऩे का असर भी सब्जी की कीमतों पर पड़ा है। टमाटर फिलहाल बैंगलुरू से आ रहा है। 11 सौ कैरेट के भाव से थोक में टमाटर 35 रूपए किलो पड़ रहा है। चिल्हर में यह 50 रूपए किलो बिक रहा है।

श्रीनिवास रेड्डी कहते हैं हफ्तेभर पहले टमाटर 6 सौ रूपए कैरेट बिक रहा था, लेकिन हाल में आवक में आई कमी के कारण इसके रेट में तेजी आ गई है। सब्जी की कीमतें पेट्रोल-डीजल के महंगे होने के कारण भी बढ़ी है। टमाटर के भाव में हमेशा ही भारी मात्रा में उतार-चढ़ाव बना रहता है। इसका कारण राज्य में प्रसंस्करण केन्द्र की कमी है। हर पार्टी के बजट में इसके लिए प्रावधान रखा जाता है लेकिन कार्य रूप में यह परिणत नहीं हो पाता है।

वर्तमान में फूल गोभी, पत्ता गोभी छिंदवाड़ा से आ रही है। पहले 5 से 7 रुपए भाव से थोक में बिकने वाली पत्ता गोली थोक में 15 रुपए पड़ रही है। इसी तरह बैंगन, कुंदरू थोक में 15 रुपए किलो पड़ रही है। चिल्हर में 30 से 40 रुपए किलो के भाव से बिक रही है। हरी मिर्च थोक में 15 से 20 रुपए चिल्हर में 40 रुपए किलो बिक रही है। फिलहाल सब्जियां पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान और मध्यप्रदेश से आ रही है। लहसुन कोटा से आ रहा है।

शास्त्री बाजार चिल्हर सब्जी विक्रेता सुशील सोनकर कहते हैं अभी किसान सब्जी बाड़ी की जगल धान की खेती में जुटे हुए हैं। जिसके कारण सब्जी की स्थानीय आपूर्ति नहीं हो पा रही है। ट्रांसपोर्टिंग चार्ज बढऩे का असर भी सब्जी के भाव पर बढ़ा है। फिलहाल टमाटर बाहर से आ रहा है जिसके कारण इसके भाव में तेजी आई हुई है। हफ्ते दिन पहले 20 रुपए किलो के भाव से बिकने वाला टमाटर 50 रुपए के भाव से बिक रहा है।


02-Jul-2020 6:57 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। प्रदेश के सखी सेंटरों के काम-काज को और अधिक कुशलता और पारदर्शिता से करने की कवायद शुरू कर दी गई है। इसके तहत सखी सेंटरों में काम-काज को पूरी तरह डिजिटल किया जाएगा। महिला हेल्प लाइन 181 और सखी सेंटरों के कामकाज को समन्वित किया जाएगा, जिससे अधिक प्रभावी तरीके से महिलाओं को सहायता पहुंचाई जा सके। इसके लिए महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव श्री प्रसन्ना ने राजधानी के कालीबाड़ी स्थित सखी वन स्टॉप सेंटर के निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने सखी सेंटर परिसर के समीप स्थित मातृ शिशु अस्पताल में पोषण पुनर्वास केन्द्र पहुंचकर बच्चों के पोषण संबंधी जानकारी भी ली। इस अवसर पर महिला बाल विकास विभाग की संचालक दिव्या उमेश मिश्रा, सिविल सर्जन डॉ, रवि तिवारी सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

श्री प्रसन्ना ने वन स्टॉप सेंटर में रह रहीं पीडि़त महिलाओं से बात की और उनकी परेशानियों के बारे में जाना। उन्होंने सखी सेंटर में महिलाओं के रजिस्ट्रेशन, विभिन्न सेवाओं, भोजन व्यवस्था और मामलों के निराकरण की भी जानकारी ली। उन्होंने कर्मचारियों से काम-काज में आने वाली समस्याओं और कार्यप्रणाली में सुधार लाकर अधिक दक्ष बनाने संबंधी सुझाव लिए और सखी सेंटरों में कामकाज को पूरी तरह डिजिटल बनाने पर जोर दिया। इसके लिए उन्होंने सॉफ्टवेयर को भारत सरकार और एनआईसी के माध्यम से अपग्रेड कर जानकारी सुलभ बनाने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही सेंटर में आने वाली घरेलू हिंसा पीडि़त महिलाओं से संबंधित कार्यवाही त्वरित और आसान बनाने के लिए उन्होंने सभी जिलों के प्रोटेक्शन अधिकारियों की बैठक व्यवस्था एक हफ्ते में सखी सेंटरों में करने के निर्देश दिए हैं। काम-काज में कसावट के लिए उन्होंने अधिकारियों को हर महीने सखी और महिला हेल्पलाइन 181 के कामकाज की समीक्षा सुनिश्चित करने कहा है।


01-Jul-2020 8:01 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 1 जुलाई।
आम आदमी पार्टी ने पेट्रोल-डीजल दामों में लगातार वृद्धि का विरोध करते हुए आज यहां बूढ़ापारा धरना स्थल पर जमकर प्रदर्शन किया। उनका कहना है कि पेट्रोल और डीजल के बढ़े दामों से आम जनता बढ़ी महंगाई से त्रस्त है। ऐसे में मोदी सरकार पेट्रोल- डीजल के बढ़े दामों को वापस लें। 

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कहा कि केंद्र सरकार को राजस्व के अन्य स्त्रोत देखना चाहिए। अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेलों की कम हुए कीमत का फायदा इस मंदी के दौर में देश के आम नागरिकों को मिलना चाहिए, इसलिए मोदी सरकार को तुरंत पेट्रोल - डीजल के बढ़े दामों को वापस लेना चाहिए।

मीडिया प्रभारी अजीम खान ने कहा कि आज पेट्रोल और डीजल के बढ़े दामों से आम जनता बढ़ी महंगाई से त्रस्त है। केंद्र सरकार की नीतियां किस हद तक दोहरी और जनता विरोधी हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जब बीजेपी विपक्ष में थी, तो पेट्रोल-डीजल के दाम बढऩे पर वह आसमान सिर पर उठा लेती थी। आज स्थिति यह है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत गिरकर 40 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर आ गई है लेकिन मोदी सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम नहीं कर रही है।


01-Jul-2020 8:00 PM

राज्यपाल ने अग्रवाल समाज द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 1 जुलाई।
राज्यपाल अनुसुईया उइके से आज राजभवन में छत्तीसगढ़ प्रांतीय अग्रवाल संगठन के प्रांतीय महामंत्री अशोक अग्रवाल के नेतृत्व में अग्रवाल समाज के प्रतिनिधिमंडल ने सौजन्य मुलाकात की। 

राज्यपाल ने कहा कि जो सकारात्मक सोच रखता है वह अच्छा कार्य करता है। जो व्यक्ति-संस्था कल्याणकारी कार्य करती है उसे ही पीढिय़ां याद रखती है। अग्रवाल समाज द्वारा देश सहित प्रदेश में वर्षो से अनेकों अच्छे कार्य किए जाते रहे है, जिससे कई लोग लांभान्वित हुए है। इसके लिए मैं अग्रवाल समाज को धन्यवाद देती हूं। इस अवसर पर राज्यपाल ने समाज की प्रमुख विभूतियों की चित्र वाली नेमप्लेट युक्त पोस्टर का विमोचन किया। राज्यपाल ने कहा कि ऐसे नेम प्लेट से बच्चों को राष्ट्र के महापुरूषों की जानकारी मिलेगी और उन्हें देश प्रेम की प्रेरणा मिलेगी।

श्री अग्रवाल ने बताया कि समाज के द्वारा छत्तीसगढ़ में समाज सेवा के अनेक कार्य किए जा रहे है। लॉकडाउन के दौरान उनके द्वारा करीब 36 हजार लोगों को सूखा राशन और मास्क का वितरण किया गया। समाज द्वारा निर्धन लोगों को मोहल्ला क्लिनिक के माध्यम से नि:शुल्क चिकित्सा सहायता दी जाती है। साथ ही न्यूनतम दरों पर सभी चिकित्सकीय परीक्षण उपलब्ध कराएं जा रहे है। उन्होंने बताया कि समाज के द्वारा निर्धन विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा के लिए स्कूल व छात्रावास भी संचालित किए जा रहे है। अग्रवाल समाज के द्वारा राज्यपाल को शॉल-श्रीफल, महाराजा अग्रसेन का दुपट्टा व माला पहनाकर आभार व्यक्त किया तथा भगवान श्री अग्रसेन एवं माता माधवी का चित्र भेंट की गई। इस अवसर पर राज्यपाल के विधिक सलाहकार आर.के. अग्रवाल, अखिल भारतीय अग्रवाल समाज के अध्यक्ष  सियाराम अग्रवाल, प्रांतीय अध्यक्ष रामदास अग्रवाल,  चतुर्भुज अग्रवाल, सुनील अग्रवाल उपस्थित थे।
 


Previous123456789...1314Next