छत्तीसगढ़ » बस्तर

Previous123456789...8283Next
30-Jul-2021 9:16 PM (20)

   गोल बाजार काम्पलेक्स के पुनर्निर्माण पर कलेक्टर ने ली कारोबारियों की बैठक    

जगदलपुर, 30 जुलाई। कलेक्टर रजत बंसल ने जगदलपुर शहर के पुराने एवं प्रमुख व्यापारिक केन्द्र गोल बाजार काम्पलेक्स के पुनर्निर्माण के संबंध में आज कलेक्टोरेट के आस्था कक्ष में गोल बाजार के व्यापारियों एवं चेम्बर ऑफ कॉमर्स के पदाधिकारियों की बैठक लेकर सुझाव लिये। बैठक में इस स्थान पर पार्किंग व्यवस्था, दुकानों की आकार एवं लागत आदि के संबंध में चर्चा की गई।

श्री बंसल ने व्यापारियों की सहमति से तथा पूरी पारदर्शिता के साथ काम्पलेक्स के पुनर्निर्माण के कार्य को पूरा करने का आश्वासन भी दिया। उन्होंने गोल बाजार के व्यापारियों को इस कार्य को पूरा कराने में आपसी समन्वय बनाने तथा एक सप्ताह के भीतर आर्किटेक्ट के साथ बैठक आयोजित कर अपना सुझाव देने को कहा। बैठक में सहायक कलेक्टर सुरूचि सिंह, आयुक्त नगर निगम प्रेम पटेल, एसडीएम जीआर मरकाम सहित चेम्बर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधि एवं गोल बाजार के व्यापारीगण उपस्थित थे।

कलेक्टर ने कहा कि सभी के सहमति से गोल बाजार में सर्वसुविधायुक्त व्यापारिक काम्पलेक्स  का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रशासन की मंशा है कि निर्माण कार्य के कारण व्यापारिक गतिविधियां प्राभावित न हो। निर्माण के दौरान भी व्यापारियों का कारोबार चलता रहे, इसकी भी व्यवस्था की जाएगी। इस दौरान कलेक्टर ने बैठक में उपस्थित व्यापारियों से निर्माण कार्य के संबंध में राय ली एवं उनकी जिज्ञासाओं का समाधान भी किया।


30-Jul-2021 9:15 PM (19)

   कलेक्टर ने निशक्त बच्चों के आवासीय विद्यालय का किया निरीक्षण    

जगदलपुर, 30 जुलाई। कलेक्टर  रजत बंसल ने आज जगदलपुर शहर के आड़ावाल में स्थित अस्थि बाधित, श्रवण बाधित एवं दृष्टि बाधित बच्चों के लिए संचालित आवासीय विद्यालय का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कलेक्टर ने निशक्त बच्चों के लिए संचालित इस आवासीय विद्यालय में अधिकारी-कर्मचारियों की समुचित उपलब्धता के संबंध में भी जानकारी ली।

 उन्होंने मौके पर उपस्थित अधिकारियों को स्टॉफ की कमी को दूर करने हेतु शीघ्र भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने इस आवासीय विद्यालय में फिजियोथेरेपी की सुविधा के संबंध में भी जानकारी ली। उन्होंने इस संस्था के अलावा सभी विकासखण्डों में भी फिजियोथेरेपी की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए।

श्री बंसल ने अस्थि बाधित बालिका छात्रावास में जगह की कमी को देखते हुए अस्थि बाधित बालिकाओं को श्रवण बाधित बालिका छात्रावास में शिफ्ट करने के निर्देश भी दिए। इसके साथ ही श्रवण बाधित बालिका छात्रावास के बच्चों को पास के अन्य सुरक्षित भवन में शिफ्ट कराने को कहा।

 इस दौरान जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋ चा प्रकाश चैधरी, सहायक कलेक्टर सुरूचि सिंह, एसडीएम जीआर मरकाम एवं उप संचालक समाज कल्याण विभाग वैशाली मरड़वार एवं अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।


30-Jul-2021 9:12 PM (21)

   सभी छात्रों की कोरोना जांच, क्वारंटीन   

जगदलपुर, 30 जुलाई। मेडिकल कॉलेज डिमरापाल के 5 एमबीबीएस स्टूडेंट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद पूरे प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं का कोरोना टेस्ट कराया गया, जिसमें सभी का निगेटिव आने के बाद उन्हें सुरक्षा के लिए हॉस्टल में क्वारंटीन कर दिया गया है।

एमबीबीएस स्टूडेंट्स के पॉजिटिव आने की जानकारी देते हुए डॉ. नवीन दुल्हानी ने बताया कि ये सभी एमबीबीएस 2019 के प्रथम श्रेणी के स्टूडेंट हैं, अचानक से कुछ दिनों से इनका स्वास्थ्य खराब चल रहा था, जिसके बाद एक-एक करके कुछ छात्र अपना इलाज के लिए आये, जहाँ 5 छात्रों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के कारण उन्हें कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया, जबकि अन्य 40 से 50 स्टूडेंट्स का भी टेस्ट कराया गया, जहाँ सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन सभी स्टूडेंट्स को क्वारंटीन कर दिया गया है, साथ ही सभी छात्रों को रोजाना अपना रिपोर्टिंग करने के बाद सीनियर डॉक्टरों को सलाह लेने की बात भी कही गई है।


30-Jul-2021 9:11 PM (22)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 30 जुलाई। मारडूम थाना क्षेत्र में रहने वाली नाबालिग को एक युवक शादी का झांसा देकर अपने साथ भागाकर अपने साथ ले गया, जहाँ नाबालिक के साथ एक वर्ष तक रेप करता रहा। पुलिस ने परिजनों के रिपोर्ट पर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए नाबालिग की खोजबीन के लिए बीजापुर पहुंची, जहां से आरोपी व नाबालिग को बरामद किया गया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए उसे न्यायालय में पेश किया।

एसडीओपी मिलिंद पांडेय ने बताया कि थाना मारडूम के धारा 363 भादवि के नाबालिग व संदेही दयाराम यादव निवासी कुथर का पता तलाश हेतु 29 जुलाई को थाना मारडूम से सउनि दिलीप ठाकुर आर. महेन्द्र कुमार शोरी आर. दीपक बखला, थाना लोहण्डीगुड़ा की महिला आर. पुनिता मण्डावी की टीम गठित कर जिला बीजापुर पता तलाश हेतु भेजा गया था। थाना कोतवाली बीजापुर स्टाफ के सहयोग से नाबालिग एवं संदेही आरोपी दयाराम यादव को बीजापुर में महेश समरिते के घर से 30 जुलाई की सुबह बरामद किया गया। नाबालिग व संदेही को साथ लेकर पुलिस थाना मारडूम आये। महिला अधिकारी सउनि योग्यवती कश्यप थाना लोहण्डीगुड़ा के द्वारा नाबालिग से पूछताछ किया गया।

नाबालिग ने बताया कि दयाराम यादव शादी करने की बात कहकर बहला फुसलाकर अपने साथ भगाकर बीजापुर ले गया था। नाबालिग होने की जानकारी मालूम होने के बाद भी मेरे साथ पिछले 1 वर्ष से शारीरिक संबंध बना रहा था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 366, 376 भादवि 06 पाक्सो एक्ट दर्ज किया गया। प्रकरण के आरोपी दयाराम यादव (25) कुथर चांदोपारा को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया।


30-Jul-2021 9:10 PM (27)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 30 जुलाई । बीजापुर से जगदलपुर नकली नोट खपाने के लिए 2 युवक आये हुए थे, जिसकी जानकारी लगते ही पुलिस टीम ने घेराबंदी करके दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया।

मामले के बारे में एसडीओपी ऐश्वर्य चंद्राकर ने बताया कि 29 जुलाई को थाना कोडेनार में 2 आरोपियों के कब्जे से नकली नोट 78,500 रूपये जब्त कर धारा 489 (ए) (सी) (डी) पंजीबद्ध किया गया है।

पुलिस ने बताया कि मुखबिर द्वारा कोड़ेनार पुलिस को सूचना मिली कि एक मो.सा. क्रमांक सीजी 20 जे 2801 में दो व्यक्ति नकली नोट रख कर, बीजापुर से जगदलपुर खपाने ले जा रहे हैं। थाना के सामने नाकाबंदी करने पर मुखबीर द्वारा बताये हुलिया के दो व्यक्ति बीजापुर गीदम रोड तरफ से उक्त मो.सा. में आते मिले। उन्होंने अपना नाम संतोष कुमार मिच्चा (21) व मनकू हेमला  (25) दोनों निवासी ग्राम गुदमा गुबालपारा जिला बीजापुर बताया। उनके कब्जे से नकली नोट 500, 200, 100 के कुल 78500 रूपये, असली नोट 1480 रूपये मिले।  पूछताछ करने पर दोनों आरोपियों ने उक्त नकली नोट को अपने घर गुदमा जिला बीजापुर में कम्प्युटर के रंगीन प्रिंटर से असली नोट का फोटो कांपी कर नकली नोट तैयार करना बताया तथा उक्त नकली नोट को खपाने जगदलपुर शहर ले जा रहे थे।

पुलिस ने बताया दोनों आरोपियों के कब्जे से  रकम तथा एक मोसा सीजी 20 जे 2801 मोबाईल, एटीएम कार्ड जब्त किया गया। आरोपियों द्वारा बताये आधार पर उसके सकुनत ग्राम गुदमा जिला बीजापुर जाकर नकली नोट बनाने की सामग्री रंगीन प्रिंटर, लेपटाप बगैरह जब्त किया गया। आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया।

इस कार्यवाही में थाना प्रभारी संतोष सिंह, उनि राम प्यारा पटेल, प्रआर  प्रकाश मनहर, आर  बलराम साहू आर  राज कुमार मौर्य, सीएएफ आर  सुरज कुमार ध्रुव, सीएएफ आर यालम नागैया की भूमिका रही।


30-Jul-2021 9:05 PM (17)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 30 जुलाई। चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल चिकित्सा महाविद्यालय में अध्ययनरत छात्रों और उनके पालकों ने राज्य के मुखिया भूपेश बघेल से मुलाकात की। मेडिकल कॉलेज के अधिग्रहण के निर्णय पर उनका स्वागत करते हुए आभार जताया और कहा कि सरकार ने न सिर्फ ऐतिहासिक निर्णय लिया है बल्कि राजधर्म का भी पालन किया है। कांग्रेस की भूपेश सरकार ने बच्चों के भविष्य को ध्यान में रखकर उनके भविष्य को बेहतर बनाने के लिए जो साहसिक कदम उठाया वह सराहनीय और छात्रों के भविष्य के लिए उज्जवल व कारगर है। उक्त बातें बस्तर जिला कांग्रेस कमेटी शहर अध्यक्ष राजीव शर्मा ने कही।

आगे उन्होंने बताया कि चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल चिकित्सा महाविद्यालय दुर्ग में 2017 बैच के 180 छात्र चतुर्थ वर्ष में अध्ययनरत हैं। मान्यता रद्द होने की वजह से इन बच्चों का अध्यापन कार्य काफी प्रभावित हो रहा है जिसकी चिंता करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर चिकित्सा शिक्षा विभाग ने बच्चों को अन्य मान्यता प्राप्त मेडिकल कॉलेज में पुन: आबंटन किए जाने का आदेश जारी किया है। हॉस्पिटल बोर्ड के राज्य अध्यक्ष और आईएमए मेडिकल स्टूडेंट नेटवर्क के राज्य संयोजक डॉ. राजेश गुप्ता के कथन अनुसार राजीव शर्मा ने बताया कि 2017 के पूर्व बेंच के लगभग 300 मेडिकल छात्र इंटर्नशिप पूरा कर रहे हैं, अब वे पीजी नीट की परीक्षा में बैठेंगे छत्तीसगढ़ सरकार की इस पहल एवं संवेदनशीलता से 480 छात्रों का भविष्य सुरक्षित हुआ है जिसके लिए मुख्यमंत्री बधाई के पात्र हैं।

 छत्तीसगढ़ के सियासी उथल पुथल के बीच एमबीबीएस कोर्स कर रहे छत्तीसगढिय़ा बच्चों के भविष्य के साथ किए गए आपके न्याय के बावजूद इस मानवीय न्याय के खिलाफ जो भी खबर चल रही है, वह वास्तव में बेहद आक्रोशित करने वाली है।

श्री शर्मा ने कहा कि चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल मेडिकल कॉलेज का सरकार द्वारा अधिग्रहण बेहद प्रशंसनीय कदम है। न केरियर के अधर में लटक रहे कॉलेज में अध्यनरत 600 से ज्यादा एमबीबीएस विद्यार्थियों के लिए, बल्कि शिक्षाधानी भिलाई के लिए, जो भाजपा सरकार के दौर से एक अदद शासकीय मेडिकल कॉलेज के लिए पिछले 15 सालों से भीख मांग रहा था मेडिकल कॉलेज की मान्यता रद्द होने से जिस तरह से 35 से 40 लाख की अपनी जमा पूंजी लगाए हमारे छत्तीसगढ़ के सैकड़ों विद्यार्थियों और उनके मां-बाप की जान गले में अटकी हुई थी।

ऐसी कठिन परिस्थितियों में सरकार का आगे आकर मेडिकल कॉलेज को अधिग्रहण करने के ऐलान को सेल्यूट करना चाहिए ना कि आरोप-प्रत्यारोप।

 श्री शर्मा ने कहा कि वैसे भी सरकार ने ऐसे ही एकदम से आकर इस निजी मेडिकल कॉलेज को अधिग्रहित नहीं किया बल्कि केंद्र द्वारा कुछ स्कोरिंग की कमी से इस कॉलेज की मान्यता रद्द करने के चलते पिछले 2 वर्षों से हमारे यह छत्तीसगढिय़ा बच्चे और उनके मां-बाप हाईकोर्ट से लेकर सरकार की चौखट तक बार-बार दस्तक दे रहे थे सरकार इस कॉलेज को अधिग्रहित कर ले, जिस साल इस निजी मेडिकल कॉलेज कि केंद्र ने मान्यता रद्द की थी उसी साल इसी केंद्र सरकार ने यूपी में और कर्नाटक में कई निजी मेडिकल कॉलेज को इससे भी कम ही स्कोरिंग में मान्यता दी गई थी एक मेडिकल कॉलेज खोलने की लागत कम से कम 500 करोड़ तक की राशि की आवश्यकता होती है लेकिन जिस तरह से कांग्रेस की भूपेश सरकार ने इस निजी कॉलेज का अधिग्रहण किया तो आज कम से कम भिलाई, दुर्ग क्षेत्र में आम लोगों के लिए एक शासकीय मेडिकल कॉलेज मिल गया वरना यहां के प्रतिभाशाली बच्चों को या तो रायपुर, बिलासपुर या जगदलपुर जाना होता या  रुपये 50 लाख खर्च कर निजी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस कोर्स में दाखिला लेना पड़ता केंद्र की मोदी सरकार ने इस साल भी तीन प्रस्तावित शासकीय मेडिकल कॉलेज की मान्यता आखिरी समय में अमान्य कर दी, प्रदेश में एमबीबीएस करने के इच्छुक लाखों विद्यार्थी इस बात को भलीभांति जानते हैं कि 150 सीटों वाले इस शासकीय मेडिकल कॉलेज से उन्हें कितना ज्यादा लाभ मिलेगा क्या आप पिछले 15 वर्षों को भूल सकते हैं जब निजी शैक्षणिक संस्थानों में विद्यार्थियों से लेकर शिक्षकों तक का बेहद पीड़ादायक उत्पीडऩ और शोषण किया जाता रहा और पूर्व सरकार की हमेशा की तरह इस मामले में भी अपनी आंखें मुंदी रही।

 श्री शर्मा ने कहा कि छत्तीसगढिय़ा बच्चों के भविष्य को बचाने और उनके अनुरोध पर जब इस निजी मेडिकल कॉलेज को सरकार ने अधिग्रहित किया है तो इसमें बुरा क्या है यह राज्य सरकार की उपलब्धि होगी वैसे देश में सरकारी प्रतिष्ठानों या कॉलेज किसी निजी घरानों को बेचती है जैसा आजकल देश में हो रहा है या इस निजी मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थियों ने इसके साथ शासकीयकरण का कभी अनुरोध नहीं किया होता तो आरोपों के विश्लेषण की कोई बात बनती, यहां तो उल्टा छत्तीसगढिय़ा बच्चों के भविष्य को बचाने और उनके अनुरोध पर जब इस निजी मेडिकल कॉलेज को राज्य सरकार ने अधिग्रहित किया तो भाजपा को दर्द क्यों, वैसे सरकारी प्रतिष्ठानों को निजी हाथों में बेचकर उल्टी गंगा बहाने वाले मुनाफाखोरों को अपने बच्चों के भविष्य को बचाने की सुध ही कब रहती है।


30-Jul-2021 6:53 PM (15)

जगदलपुर, 30 जुलाई। एकलव्य आदर्श विद्यालय में प्रवेश के लिए मेरिट सूची जारी कर दी गई है। आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त ने बताया कि करपावंड, बेसोली, तोकापाल, लोहण्डीगुड़ा, बास्तानार और दरभा में संचालित एकलव्य आदर्श विद्यालय में कक्षा छटवीं में प्रवेश हेतु आयोजित परीक्षा परिणाम के आधार पर अंतिम मेरिट सूची जारी कर दी गई है। यह सूची आदिवासी विकास विभाग के कार्यालय के साथ ही सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों के कार्यालय में भी उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि एकलव्य विद्यालय में प्रवेश के लिए पांचवीं कक्षा की अंकसूची, शाला स्थानांतरण प्रमाण पत्र, छत्तीसगढ़ का मूल निवासी प्रमाण पत्र, अनुसूचित जनजाति होने का स्थायी जाति प्रमाण पत्र, जिला मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी मेडिकल प्रमाण पत्र, आधार कार्ड की छायाप्रति, दिव्यांगता की स्थिति में मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी प्रमाण पत्र एवं चार पासपोर्ट फोटो उपलब्ध कराना होगा।
 


29-Jul-2021 8:59 PM (47)

जगदलपुर, 29 जुलाई। परपा पुलिस ने आज एक व्यक्ति को अवैध तरीके से अंग्रेजी शराब का परिवहन करते गिरफ्तार किया।

थाना प्रभारी बीआर नाग ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि एक व्यक्ति अवैध तरीके से अंग्रेजी शराब का परिवहन कर रहा है। जिस पर पुलिस अधीक्षक जितेंद्र सिंह मीणा के मार्गदर्शन में पुलिस की एक टीम तैयार कर सूचना स्थल पर टीम को रवाना किया गया। मुखबिर के बताए अनुसार उक्त व्यक्ति को रोककर पूछताछ करने पर अपना नाम विजय यादव (32 ) कोयपाल का होना बताया। जिसके कब्जे से पुलिस ने शराब को जब्त कर आरोपी के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध कर आरोपी को गिरफ्तारी के बाद न्यायिक रिमांड पर भेजा।


29-Jul-2021 8:58 PM (65)

   मुंडन के लिए देवड़ा मंदिर जा रहा था परिवार    

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 29 जुलाई। बकावंड ब्लॉक के टलनार का एक परिवार बच्चे के मुंडन संस्कार के लिए देवड़ा मंदिर निकले थे, इस बीच ऑटो अनियंत्रित होकर पलटने से डेढ़ वर्षीय बच्ची की मौके पर मौत व 3 वर्षीय एक बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं बच्ची के नाना व बच्ची के माता को भी चोटें आई है।

 बुधवार को बकावंड ब्लॉक के ग्राम टलनार का एक परिवार अपने बच्चे के मुंडन संस्कार के लिए ऑटो में देवड़ा मंदिर निकले थे। दोपहर बाद थाने के समीप जैसे ही ऑटो पहुंचा, तभी अनियंत्रित होकर पलट गया। ऑटों में सवार एक डेढ़ वर्षीय बच्ची की मौके पर मौत हो गई, वहीं 3 वर्षीय एक बच्चा भी घायल हुआ, साथ ही बच्ची के नाना व बच्ची के माता को भी चोटें आई है।

बच्ची के नाना सुरेंद्र नाथ सेठिया ने बताया कि बच्चे के मुंडन के लिए देवड़ा मंदिर ले जा रहे थे, तभी एक पुलिस वाले की वाहन तेज रफ्तार से ओवरटेक करते हुए अपनी गाड़ी को थाने के अंदर ले जा रहा था, जिस वजह ऑटो अनियंत्रित होकर पलट गया। कार चालक की लापरवाही से हमारी डेढ़ वर्षीय बच्ची की मौके पर मौत हो गई।

वहीं इस मामले में नगरनार थाना प्रभारी शिव शंकर गेंदले ने बताया कि इसमें मर्ग इंटीमेशन कायम करके अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है। ऑटो चालक के लापरवाही पूर्वक गाड़ी चलाने की वजह से यह घटना हुई, जिसमें बच्ची की मौत हो गई है। जिस पर ऑटो चालक के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है।


29-Jul-2021 8:54 PM (32)

मध्यान्ह भोजन भी मिलेगा,  स्वच्छता पर रहे विशेष ध्यान

विशेष ग्रामसभा ने दी शाला संचालन की अनुमति

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 29 जुलाई। बस्तर ब्लॉक के ग्राम पंचायत महुपालबरई में विशेष ग्राम सभा का आयोजन किया गया, जिसमें सर्वसम्मति से लक्ष्मीधर नायक को ग्राम सभा का अध्यक्ष चुना गया।

 ग्राम सभा में उपस्थित शिक्षा विभाग से संकुल समन्वयक एवं मध्यान्ह भोजन नोडल अधिकारी शैलेंद्र तिवारी ने छत्तीसगढ़ शासन के आदेश के तहत 2 अगस्त से शालाओं का संचालन आरंभ हो सके, इसको लेकर शाला समिति एवं ग्राम सभा से अनुमति को लेकर दिए गए निर्देशों की जानकारी दी। जिस पर सभी उपस्थित सदस्यों ने सर्वसम्मति से यह प्रस्ताव पारित किया कि प्रतिदिन शाला में दर्ज बच्चों के अनुसार आधे बच्चों को शाला भेजा जाएगा।

इस अवसर पर सरपंच लक्ष्मण सूर्यवंशी ने कहा कि मध्यान्ह भोजन का नियमित संचालन कोरोना गाइड लाइन का पालन के साथ किया जाए।  किसी भी स्थिति में सर्दी खांसी से पीडि़त बच्चों को स्कूल में न आने की सलाह भी उन्होंने दी। सरपँच ने सभी बच्चों को बिना मास्क के शाला में प्रवेश नहीं मिलेगा इसको लेकर भी अपनी बात रखी व कोटवार को मुनादी करने का निर्देश दिया।

शतप्रतिशत टीकाकरण का प्रस्ताव पारित

ग्रामीणों के द्वारा कोरोना टीकाकरण को लेकर जो भय बना हुआ है, उसको लेकर ग्राम सभा में उपस्थित सदस्यों ने प्रस्ताव पारित किया कि आने वाले समय में पंचायत में कोई भी ग्रामीण कोरोना टीका लगाने से वंचित न रहे, इसको लेकर सभी ने अपनी सहमति दी।

इस अवसर पर सरपंच लक्ष्मण सूर्यवंशी सचिव पूनम नेताम नोडल अधिकारी सुधा श्रीवास्तव, प्रधानाध्यापक बामदेव अस्वनी, प्रिया ठाकुर, गोमती ठाकुर, शांति बघेल, राधेलाल नागेश, हरि कश्यप, मनोहर सिंह भंवर, मोहन सिंह चौरसिया, महेश लाल महेश्वरी, जितेंद्र सिंह ठाकुर, बेनू राम, धनी राम नेताम, कोटवार मनचित, शैलेंद्र ठाकुर, गणेश यादव, मोहनी ठाकुर, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता प्रेमवती ठाकुर मालती ठाकुर सहित ग्रामीण जन उपस्थित थे।


29-Jul-2021 7:46 PM (32)

छत्तीसगढ़ बंगाली समाज के फाउंडर मेंबर व आजीवन सदस्यों की बैठक 

जगदलपुर, 29 जुलाई। छत्तीसगढ़ बंगाली समाज के सदस्यों ने 27 जुलाई को बैठक आयोजित की थी, जिसमें बंगाली समाज में चल रहे उथल-पुथल को लेकर चर्चा की गई और सर्व सहमति से कथित अध्यक्ष श्रीनिवास पाल के विरुद्ध कलेक्टर को पत्र लिखा गया है।

ज्ञात हो कि  विगत दिनों श्रीनिवास पाल द्वारा समाज के पदाधिकारियों को मनोनयन करने के बाद अवैधानिक तरीके से निरस्तीकरण करने के विरोध के संबंध में भी चर्चा हुई है। साथ ही मिथ्या आचरण कर श्रीनिवास पाल द्वारा प्रेस विज्ञप्ति जारी कर आजीवन सदस्यों को संगठन से बाहर का रास्ता दिखाए जाने की बात पर भी गंभीर चर्चा की गई है। जिस पर समाज के सभी सदस्यों ने कलेक्टर के नाम पत्र लिखकर हस्ताक्षर किया है।

बैठक के बाद समाज के सभी सदस्य बस्तर का नियाग्रा फॉल कहा जाने वाला चित्रकोट जलप्रपात गए और वहां की खूबसूरती का आनंद लिया।   बैठक में जशपुर जिले से रेनू विश्वास , बस्तर जिले से सुब्रतो विश्वास छत्तीसगढ़ बंगाली समाज के फाउंडर मेंबर उपस्थित थे।

नारायण दास प्रदेश महासचिव, अजीत समदार संभागीय अध्यक्ष सूरजपुर, अमृत ठाकुर संभागीय अध्यक्ष सरगुजा, परितोष सूत्रधर , बिजली बैद, संजीव कर्मकार, उत्तम कुमार मंडल सुकमा जिला, देवाशीष पाल दंतेवाड़ा, आजीवन सदस्य मौजूद थे।
 


29-Jul-2021 7:25 PM (28)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 29 जुलाई। बस्तर अंचल में उपजाई जाने वाली फसलों के स्वाद और खुशबू की मिसाल सभी देते हैं, मगर पिछले कुछ सालों से इस अंचल में भी अधिक उपज की भावना से किसानों ने धड़ल्ले से रासायनिक खाद का उपयोग प्रारंभ कर दिया था।

रासायनिक खाद से की जाने वाली खेती से पहले तो किसानों की उपज बढ़ती हुई महसूस हो रही थी, मगर समय के साथ बंजर होती जमीन ने अधिक खाद की मांग शुरु कर दी। परिणाम यह हुआ कि किसानों की लागत लगातार बढ़ती चली गई और फसल की स्वाद और खुशबू भी गायब हो गई। और तो और रासायनिक खाद से उत्पन्न फसल के कारण शरीर में पडऩे वाले दुष्प्रभाव भी दिखाई देने लगे हैं और अब तक मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों से अनजान रहने वाले आदिवासी भी इसके शिकार हो रहे हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा खेतों को आवारा मवेशियों से बचाने के लिए गौठानों को दोबारा बसाने के साथ ही मानव शरीर, भूमि और पर्यावरण पर पडऩे वाले दुष्प्रभावों को देखते हुए इन्हीं गौठानों में गोबर से बनने वाले खाद के निर्माण को प्रोत्साहन देने का कार्य प्रारंभ किया गया, जिसके कारण बस्तर जिले में एक बार फिर से जैविक खेती का प्रचलन बढऩे लगा है।

धीरे-धीरे जैविक खाद की निरंतर कम होती गई उपलब्धता के कारण कृषक जैविक खेती से परस्पर दूर होते जा रहे थे, परंतु शासन की महत्वाकांक्षी गोधन न्याय योजना अंतर्गत जिले के गोठान ग्रामों की महिला समितियों के अथक प्रयास से वर्मी कम्पोस्ट निर्माण कर विक्रय किया गया, जिसके उपयोग से कृषक एक बार फिर से जैविक एवं टिकाऊ खेती की ओर अग्रसर हो रहे हैं। गोधन न्याय योजना अंतर्गत आज पर्यन्त तक जिले में कुल 11,860 क्विं. वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन किया जाकर 6,158 क्विं वर्मी कम्पोस्ट का वितरण किया जा चुका है, साथ ही कृषि, उद्यानिकी, वन एवं अन्य विभागों द्वारा विभागीय योजना अंतर्गत वर्मी कम्पोस्ट खरीदकर कृषकों को वितरित किया जा रहा है। जिले में अब तक लगभग 61 लाख 85 हजार रूपए का वर्मी कम्पोस्ट गोठान समितियों द्वारा विक्रय किया गया है, जिसके कारण गोठानों में कार्यरत स्व सहायता महिला समूहों की आर्थिक स्थिति भी बेहतर होती दिख रही है। स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन के साथ-साथ विभिन्न आजीविका संबंधी गतिविधियाँ-जैसे, मशरूम उत्पादन, मधुमक्खी पालन, मछली पालन एवं अन्य उत्पादों का निर्माण एवं विक्रय कर अतिरिक्त आमदनी प्राप्त की जा रही है। इसी प्रकार बस्तर जिले की प्रमुख फसलों में लघुधान्य कोदो, कुटकी, रागी आदि की विशिष्ट पहचान रही है। विदित हो कि जिले में लघुधान्य फसलों की खेती पूर्णरूप से जैविक पद्धति से की जाती है। इस कारण इनके औषधीय महत्व के कारण राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इनकी माँग दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, परंतु पूर्व वर्षों में लघुधान्य उत्पादक कृषकों को उनके उत्पाद का उचित बाजार मूल्य प्राप्त नहीं हो पाने के कारण धीर-धीरे कृषक इन फसलों की खेती से विमुख होते जा रहे थे। विगत वर्ष रबी के मौसम में शासन के मंशानुरूप जिले में पहली बार विकासखण्ड दरभा, लोहण्डीगुड़ा, बकावण्ड एवं बस्तर के कृषकों द्वारा लगभग 95 हेक्टेयर में रागी बीज उत्पादन कार्यक्रम अंतर्गत फसल प्रदर्शन आयोजित किए गए, जिसमें रागी उत्पादन की नवीन वैज्ञानिक विधि सिस्टम ऑफ रागी इन्टेन्सीफिकेशन तकनीक द्वारा रागी की रोपाई कर उचित फसल प्रबंधन किया गया, जिसके कारण प्रति हेक्टेयर उत्पादन में लगभग 15 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।

फसल प्रदर्शन में उत्पादित रागी का पंजीयन कृषि विभाग के सहयोग से छत्तीसगढ़ राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम लिमिटेड में कराया जाकर उपार्जित किया गया। जहाँ पूर्व में कृषकों द्वारा रागी स्थानीय हाट बाजारों में या व्यापारियों को ढाई हजार से तीन हजार रूपए प्रति क्विंटल की दर से विक्रय किया जाता था, वहीं वर्तमान में शासन द्वारा निर्धारित रागी बीज उपार्जन दर 5,200 रूपए प्रति क्विं. की दर से बीज उत्पादन कर कृषकों द्वारा बीज निगम को विक्रय किया जा रहा है। यहाँ पर यह भी उल्लेखनीय है कि पूर्व वर्षों में लघुधान्य बीज उत्पादन की उपार्जित दर 3,500 से 4,200 रूपए प्रति क्विं. थी, जिसे बढ़ाकर शासन द्वारा 5,200 रूपए प्रति क्विं. किया गया है, जिसके फलस्वरूप जिले के कृषकों द्वारा उत्साहपूर्वक आज पर्यन्त तक लगभग 115 क्विं. रागी बीज उत्पादन कर छत्तीसगढ़ राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम लिमिटेड को विक्रय किया जा चुका है, जो जिले में कृषकों द्वारा लघुधान्य फसल के बीज उत्पादन की आज तक उपार्जित की गई सबसे अधिक मात्रा है। इस प्रकार जहाँ एक ओर लघुधान्य फसलों का बीज उत्पादन किया जाकर कृषकों को अधिक आय प्राप्त हो रही है, वहीं दूसरी ओर लघुधान्य फसलों के उन्नत बीज की उपलब्धता हेतु न्य राज्यों पर निर्भरता भी कम हुई है।


29-Jul-2021 6:40 PM (15)

पत्रकारवार्ता में अनियमितता और भ्रष्टाचार के आरोप लगाए नेता प्रतिपक्ष ने

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
जगदलपुर, 29 जुलाई ।
सामान्य सभा के पहले नेता प्रतिपक्ष संजय पांडे ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में पत्रकारवार्ता आयोजित कर  भ्रष्टाचार का आरोप लगाया।  उन्होंने पिछले आम सभाओं की कार्यवाही पर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि कांग्रेस की नगर सरकार और महापौर विपक्ष से चर्चा करने से बच रहे हैं।

 पत्रकार वार्ता के दौरान श्री पांडे ने कहा कि कोर्णाक आल के चलते 31 मार्च को आयोजित होने वाली सामान्य सभा की बैठक स्थगित हो गई थी, अब 29 जुलाई को सामान्य सभा की बैठक आयोजित की जा रही है। उन्होंने कहा कि पहले सामान्य सभा की बैठक जो आयोजित की गई थी उस दौरान बजट पास किया गया जिसकी मिनट में चर्चा है कि सर्वसम्मति से बजट पास किया गया लेकिन विपक्ष अनुपस्थित था तो सर्वसम्मति कैसे हुआ ?

उस दौरान की कार्यवाही में अनियमितता का आरोप लगाते हुए श्री पांडे ने कहा कि न तो प्रस्ताव का कोई समर्थन किया न ही तालियां बजी, लेकिन बजट पास हो गया। कांग्रेस की नगर सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि अब नेता प्रतिपक्ष को भी फाइल देखने की अनुमति नहीं है, कर्मचारी कहते हैं कि उन पर दबाव है जिसके चलते आरटीआई लगाकर जानकारी लेनी पड़ रही है और अब तक 18 आरटीआई लगाए जाने के बावजूद केवल चार आरटीआई का ही जवाब मिल पाया है। उन्होंने पत्रकार वार्ता के दौरान ही डस्टबिन खरीदने में हुए भ्रष्टाचार की चर्चा करते हुए कहा के बस सो रुपए में मिलने वाले डस्टबिन को 7000 में खरीदा गया था और इसे वीर सावरकर भवन में रखा गया था जानकारी मिलने पर भाजपा पार्षद दल के साथ निरीक्षण करने पर पता चला कि डस्टबिन रखने का जो लोहे का ढांचा है वह 14 किलो की जगह 9 किलो का था और उसकी कचरा संग्रहण क्षमता भी काफी कम थी। इसकी फाइल भी प्रदान नहीं की जा रही है जिसे स्पष्ट है कि इस निविदा में हुए धांधली को छिपाने का प्रयास किया जा रहा है। 

उन्होंने दलपत सागर विद हार्वेस्टर मशीन खरीदी में हुए भ्रष्टाचार के संबंध में भी चर्चा की। उन्होंने महापौर पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि जब वह प्रथम बार सदन को संबोधित कर रहे तो कहा था कि किसी तरह के नए कर की वसूली लोगों से नहीं की जाएगी, लेकिन 1000 वर्ग फीट से कम क्षेत्र में मकान बनाने वालों से भी स्वच्छता का अतिरिक्त कर वसूला जा रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार लोक लुभावने वादे कर सत्ता पर काबिज हुई है और जन विरोधी गतिविधियों में लिप्त है उन्होंने संजय बाजार में अतिक्रमण किए गए जगहों को 15 सौ रुपए समझौता शुल्क लेकर किराए में 15 फीसदी वृद्धि कर दुकानदारों को 100 पर जाने के निर्णय का भी विरोध करते हुए कहा कि शहर की जनसंख्या को देखते हुए दुकानों के सामने लोगों को आवागमन हेतु गैलरी का निर्माण किया गया था पूर्व पार्षद रामाश्रय सिंह के समय इन जगहों से दो तीन बार अतिक्रमण को हटाया भी गया था अब इसे दुकानदारों को 100 पर जाने की कवायद कांग्रेश नगर सरकार की व्यापारियों के साथ मिलीभगत कर भ्रष्टाचार को उजागर कर रही है। 

उन्होंने कहा कि सामान्य सभा में भले ही बहुमत के आधार पर मुद्दों को पारित कर दें, लेकिन जो गलत निर्णय लिए जाएंगे उसके लिए विपक्ष न्यायालय भी जा सकता है। पत्रकार वार्ता के दौरान जिला महामंत्री रामाश्रय सिंह, नगर मंडल अध्यक्ष सुरेश गुप्ता के साथ भाजपा के पार्षद गण उपस्थित थे।
 


29-Jul-2021 2:29 PM (61)

  पत्रकार वार्ता में अनियमितता और भ्रष्टाचार के आरोप लगाए नेता प्रतिपक्ष ने  
'छत्तीसगढ़' संवाददाता
जगदलपुर, 29 जुलाई ।
नगर पालिक निगम सामान्य सभा की बैठक 29 जुलाई को आयोजित हो रही है। इस बैठक में पक्ष और विपक्ष के बीच विभिन्न मुद्दों को लेकर तीखी बहस होने की उम्मीद है।

सामान्य सभा के पहले नेता प्रतिपक्ष संजय पांडे ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में पत्रकार वार्ता आयोजित कर कांग्रेस की नगर सरकार पर अनियमितता और भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। उन्होंने पिछले आम सभाओं की कार्यवाही पर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि कांग्रेस की नगर सरकार और महापौर विपक्ष से चर्चा करने से बच रहे हैं।

 पत्रकार वार्ता के दौरान श्री पांडे ने कहा कि कोर्णाक आल के चलते 31 मार्च को आयोजित होने वाली सामान्य सभा की बैठक स्थगित हो गई थी, अब 29 जुलाई को सामान्य सभा की बैठक आयोजित की जा रही है। उन्होंने कहा कि पहले सामान्य सभा की बैठक जो आयोजित की गई थी उस दौरान बजट पास किया गया जिसकी मिनट में चर्चा है कि सर्वसम्मति से बजट पास किया गया लेकिन विपक्ष अनुपस्थित था तो सर्वसम्मति कैसे हुआ ?

उस दौरान की कार्यवाही में अनियमितता का आरोप लगाते हुए श्री पांडे ने कहा कि न तो प्रस्ताव का कोई समर्थन किया न ही तालियां बजी, लेकिन बजट पास हो गया। कांग्रेस की नगर सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि अब नेता प्रतिपक्ष को भी फाइल देखने की अनुमति नहीं है, कर्मचारी कहते हैं कि उन पर दबाव है जिसके चलते आरटीआई लगाकर जानकारी लेनी पड़ रही है और अब तक 18 आरटीआई लगाए जाने के बावजूद केवल चार आरटीआई का ही जवाब मिल पाया है। उन्होंने पत्रकार वार्ता के दौरान ही डस्टबिन खरीदने में हुए भ्रष्टाचार की चर्चा करते हुए कहा के बस सो रुपए में मिलने वाले डस्टबिन को 7000 में खरीदा गया था और इसे वीर सावरकर भवन में रखा गया था जानकारी मिलने पर भाजपा पार्षद दल के साथ निरीक्षण करने पर पता चला कि डस्टबिन रखने का जो लोहे का ढांचा है वह 14 किलो की जगह 9 किलो का था और उसकी कचरा संग्रहण क्षमता भी काफी कम थी। इसकी फाइल भी प्रदान नहीं की जा रही है जिसे स्पष्ट है कि इस निविदा में हुए धांधली को छिपाने का प्रयास किया जा रहा है। 

उन्होंने दलपत सागर विद हार्वेस्टर मशीन खरीदी में हुए भ्रष्टाचार के संबंध में भी चर्चा की। उन्होंने महापौर पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि जब वह प्रथम बार सदन को संबोधित कर रहे तो कहा था कि किसी तरह के नए कर की वसूली लोगों से नहीं की जाएगी, लेकिन 1000 वर्ग फीट से कम क्षेत्र में मकान बनाने वालों से भी स्वच्छता का अतिरिक्त कर वसूला जा रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार लोक लुभावने वादे कर सत्ता पर काबिज हुई है और जन विरोधी गतिविधियों में लिप्त है उन्होंने संजय बाजार में अतिक्रमण किए गए जगहों को 15 सौ रुपए समझौता शुल्क लेकर किराए में 15 फीसदी वृद्धि कर दुकानदारों को 100 पर जाने के निर्णय का भी विरोध करते हुए कहा कि शहर की जनसंख्या को देखते हुए दुकानों के सामने लोगों को आवागमन हेतु गैलरी का निर्माण किया गया था पूर्व पार्षद रामाश्रय सिंह के समय इन जगहों से दो तीन बार अतिक्रमण को हटाया भी गया था अब इसे दुकानदारों को 100 पर जाने की कवायद कांग्रेश नगर सरकार की व्यापारियों के साथ मिलीभगत कर भ्रष्टाचार को उजागर कर रही है। 

उन्होंने कहा कि सामान्य सभा में भले ही बहुमत के आधार पर मुद्दों को पारित कर दें, लेकिन जो गलत निर्णय लिए जाएंगे उसके लिए विपक्ष न्यायालय भी जा सकता है। पत्रकार वार्ता के दौरान जिला महामंत्री रामाश्रय सिंह, नगर मंडल अध्यक्ष सुरेश गुप्ता के साथ भाजपा के पार्षद गण उपस्थित थे।


28-Jul-2021 9:05 PM (53)

जगदलपुर, 28 जुलाई। तृतीय एवं चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों की भर्ती में बस्तर के स्थानीय युवाओं को प्राथमिकता देने के लिए गठित विशेष कनिष्ठ कर्मचारी चयन बोर्ड के अध्यक्ष एवं कमिश्नर जीआर चुरेन्द्र की अध्यक्षता में आज समीक्षा की गई।

कमिश्नर चुरेन्द्र ने रिक्त पदों की संवर्गवार और वर्गवार जानकारी लेते हुए भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ शासन द्वारा स्थानीय युवाओं को भर्ती में प्राथमिकता देने का निर्णय लिया गया है तथा इस कार्य को तेजी से संपादित करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए वित्त विभाग की अनुमति शीघ्र प्राप्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि भर्ती प्रक्रिया विभागीय भर्ती नियम के तहत की जाएगी। उन्होंने तकनीकी पदों की भर्ती प्रक्रिया एवं प्रशिक्षण के संबंध में भी चर्चा की। बैठक में उपायुक्त  बीएस सिदार, दिवाकर राठौर,  बिसेन एवं विभिन्न जिलों से आए प्रतिनिधि शामिल हुए।

कमिश्नर श्री चुरेन्द्र ने कार्यालयों की व्यवस्था को बेहतर बनाते हुए स्मार्ट ऑॅफिस के निर्माण पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि कार्यालय में प्रत्येक व्यवस्था दुरस्त रहे तथा कर्मचारियों के साथ ही आगंतुकों को भी बेहतर माहौल मिले, इसके लिए ऑफिसों को स्मार्ट बनाए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कर्मचारियों को कर्मठ एवं कुशल बनाए जाने पर जोर देते हुए नियमित तौर पर प्रशिक्षण प्रदान करने के निर्देश दिए। कश्मिनर ने सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों के पेंशन प्रकरण सहित अन्य स्वत्वों के भुगतान में शीघ्रता लाने के निर्देश देते हुए कर्मचारी कल्याण की भावना के साथ कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कार्यालय परिसर की स्वच्छता के लिए नियमित रुप से श्रमदान करने की आवश्यक भी बताई।


28-Jul-2021 9:04 PM (37)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 28, जुलाई। जिला प्रशासन द्वारा खेल विभाग के माध्यम से जगदलपुर शहर के दलपत सागर में ओलम्पिक खेल क्याकिंग-केनोईंग का बेसिक प्रशिक्षण प्रारंभ कर दिया गया है। प्रशासन के द्वारा प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण हेतु नाव भी उपलब्ध कराई गई है।  खेल विभाग के द्वारा इस खेल के विशेषज्ञ एवं सीनियर राष्ट्रीय प्रतियोगिता में पदक प्राप्त खिलाडिय़ों को प्रशिक्षक के रूप में नियुक्ति किया गया है।

खेल विभाग के सहायक संचालक राजेन्द्र डेकाटे ने बताया कि प्रशिक्षकों के द्वारा प्रतिदिन दलपत सागर के रानी घाट में सुबह 6 से 8.30 बजे तक एवं शाम 4 से 6.30 बजे तक प्रशिक्षणार्थियों को बेसिक प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिन खिलाडिय़ों को तैरना आता है वे इस प्रशिक्षण में शामिल हो सकते हैं। ओलम्पिक खेल में शामिल इस खेल में राष्ट्रीय प्रतियोगिता में अधिक से अधिक पदक प्राप्त करने की संभावनाएं होती हैं। पदक प्राप्त करने वाले खिलाडिय़ों को शासन की ओर से पुरस्कार के रूप में नगद राशि, राज्य खेल पुरस्कार एवं उत्कृष्ट खिलाड़ी घोषित करने का प्रावधान है। उन्होंने बताया कि उत्कृष्ट खिलाड़ी घोषित होने पर शासकीय नौकरी प्राप्त करने के अवसर भी प्राप्त होते हैं। प्रशिक्षण प्राप्त करने के इच्छुक खिलाड़ी प्रशिक्षण केन्द्र प्रभारी सुनिल पीले के दूरभाष नम्बर 9424281132 एवं प्रशिक्षक  अशोक के दूरभाष नम्बर 9165407673 से सम्पर्क कर प्रशिक्षण में शामिल हो सकते हैं।


28-Jul-2021 8:56 PM (36)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 28, जुलाई। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रजत बंसल ने मेसर्स आर.बी. राईस इण्डस्ट्रीज बालेंगा को कस्टम मिलिंग के कार्य में रूचि नहीं लेकर क्षमता के अनुरूप कार्य नहीं करने एवं अपने कार्य में घोर लापरवाही बरतने के कारण काली सूची में डाल दिया है।

खाद्य नियंत्रक अजय यादव ने बताया कि मेसर्स आर.बी. राईस इण्डस्ट्रीज बालेंगा के प्रोप्राइटर, संचालक मोहम्मद आसिफ एवं मोहम्मद एजाज है। फर्म की मिलिंग क्षमता 4 टन प्रति घंटा है। इस प्रकार 0.6 माह में उक्त फर्म के द्वारा 96 हजार क्विंटल धान का कस्टम मिलिंग किया जा सकता था, परंतु उक्त फर्म के द्वारा वर्तमान में केवल 64 हजार क्विंटल का अनुबंध कराया गया है, एवं अनुबंध के विरूद्ध केवल 15 हजार 751 क्विंटल धान का उठाव किया गया है। जो कि मिलिंग क्षमता का मात्र 16 प्रतिशत है।

उक्त फर्म के द्वारा अंतिम बार 11 जून 2021 को छोटेदेवड़ा से डीओ के माध्यम से धान उठाव किया गया था। विगत 01 माह से उक्त फर्म के द्वारा धान का उठाव नहीं किया जा रहा है। जिससे स्पष्ट है कि उक्त फर्म के द्वारा कस्टम मिलिंग के कार्य में रूचि नहीं लेकर घोर लापरवाही की गई है।

उल्लेखनीय है कि बस्तर जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के अन्तर्गत 1 लाख 42 हजार 633 मैट्रिक टन धान की खरीदी की गई है। इसके अतिरिक्त जिले के संग्रहण केन्द्रों में कुल 1 लाख 24 हजार 232 मैट्रिक टन धान की आवक हुई है। खरीदे गए धान व संग्रहण केन्द्र में भंडारित सम्पूर्ण धान का निराकरण जिले के पंजीकृत 27 राईस मिलरों के द्वारा कस्टम मिलिंग के माध्यम से किया जा रहा है। जिले के कुछ मिलरों के द्वारा अपने अपने मिलिंग क्षमता के अनुरूप कार्य नहीं किया जा रहा है। तथा बार-बार निर्देशित करने के  वाबजूद उच्च अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना की जा रही है। इसी सिलसिले में विभाग के द्वारा बालेंगा स्थित आर.बी राईस इण्डस्ट्रीज की जांच की गई।

मेसर्स आर.बी. राईस इण्डस्ट्रीज बालेंगा का यह कृत्य छत्तीसगढ़ कस्टम मिलिंग चावल उपार्जन आदेश 2016 की कंडिका-3(2), 3-(3), 4-(5) एवं 6-(6), 6-(2), 6-(3), का  उल्लघंन है, जो कि आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3रु7 अन्तर्गत दण्डनीय हैै।

 अतएवं प्रावधानों में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए कलेक्टर द्वारा मेसर्स आर.बी. राईस इण्डस्ट्रीज बालेंगा को काली सूची में डाल दिया गया।

उल्लेखनीय है कि जिले के ऐसे मिलर्स जो अपनी मिलिंग क्षमतानुसार कस्टम मिलिंग कार्य नहीं कर रहे है उन्हें चेतावनी पत्र जारी कर कस्टम मिलिंग कार्य में तेजी लाने निर्देशित किया गया है। शासन के द्वारा जारी दिशा-निर्देश अनुसार सभी मिलरों को मिलिंग क्षमता अनुसार कस्टम मिलिंग का कार्य करने के निर्देश दिए गए हैं। कस्टम मिलिंग कार्य में लापरवाही बरतने वाले मिलर्स पर आगे भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।


27-Jul-2021 9:06 PM (36)

जगदलपुर, 27 जुलाई। आम आदमी पार्टी की जिला अध्यक्ष तरुणा साबे बेदरकर ने जारी विज्ञप्ति में कहा कि विधायक बृहस्पति सिंह के कार में तोडफ़ोड़ की गई व उनके द्वारा आरोप लगाए गए कि टी.एस. सिंहदेव मुख्यमंत्री बनने के लिए उनकी हत्या करवाना चाहते हैं। इस पर जब गृह मंत्री द्वारा इस घटना के जांच का वक्तव्य दिया जा रहा था। जिस पर विधायक बृहस्पति सिंह को बिना जांच जेड प्लस सेक्यूरिटी देना व गृहमंत्री के वक्तव्य से एक तरफा झुकाव देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव भावुक होकर सदन से निकल गए हैं।

छत्तीसगढ़ के इतिहास की यह एक बड़ी घटना है, जिसमें कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेताओं के इस नूराकुश्ती में प्रदेश की जनता पीस रही है। छत्तीसगढ़ की जनता ने बहुत ही आशाओं के साथ इस सरकार का चयन किया कांग्रेस को बढ़-चढ़ कर वोट किया, लेकिन उनके द्वारा किये गए वादे को पूरा करने के बजाए यह सरकार आपस के झगड़ों में उलझी हुई है। अब तो ऐसा प्रतीत हो रहा है कि जनता ढाई साल इस सरकार को झेल चुकी है अब ढाई साल और बर्दाश्त करना होगा।

चित्रकोट प्रभारी दंति पोयम ने सीधे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर आरोप लगाते हुए कहा कि  22 विधायक मुख्यमंत्री के बगैर जानकारी के अपने ही सरकार के वरिष्ठ स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ एकजुट हुए और इसकी जानकारी मुख्यमंत्री को नहीं, यह हास्यस्पद है। अगर थोड़ी देर यह मान भी लिया जाए कि इस घटना से मुख्यमंत्री अवगत नहीं थे तो क्या छत्तीसगढ़ कांग्रेस सरकार के यह विधायक मुख्यमंत्री से संभल नहीं रहे हंै?

आगे तरुणा ने कहा कि सरकार व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बहुत कम समय में अपने योजनाओं या कार्यशैली के माध्यम से छत्तीसगढ़ की जनता के बीच से अपनी विश्वसनीयता खो चुकी है व कांग्रेस पार्टी के विधायक असमंजस में नजर आ रहे है और इस तरह से पूरे प्रदेश में शीर्ष नेताओं के झगड़े अब सार्वजनिक होने लगे है फलस्वरूप कांग्रेस पूरे प्रदेश में दो गुटों में बट चुकी है जिससे जनता भी परेशान है कि यह सरकार अपने समस्याओं को सुलझाने में समर्थ नही दिख रही तो जनता की समस्याओं को कैसे सुलझाया जाएगा।


27-Jul-2021 9:05 PM (30)

जगदलपुर, 27 जुलाई। कलेक्टर रजत बंसल ने आज जगदलपुर नगर निगम में संचालित विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए विकास कार्यों को निर्धारित समय-सीमा में गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक में नगर निगम आयुक्त प्रेम पटेल एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।


27-Jul-2021 9:05 PM (45)

जगदलपुर, 27 जुलाई। कभी बस्तर जिले को लोग शिक्षा के मामले में काफी पिछड़ा मानते थे, किन्तु आज परिस्थिति पूरी तरह बदली हुई है। जिला कलेक्टर रजत बंसल के मार्गदर्शन में कोरोना के दौरान बन्द पड़ी शालाओं में हम बच्चों को कैसे पढ़ाई से जोड़ सकें, इसको लेकर नित नए नवाचारी कार्यों के साथ बस्तर जिले में पढ़ाई का जो माहौल तैयार हुआ। वह आज भी पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय बना हुआ है।

आमचो बस्तर रेडियो लाउडस्पीकर से पढ़ाई हो या मोटरसाइकिल गुरुजी,मिस कॉल गुरुजी इन नवाचारी कार्यों को लेकर बस्तर जिले में शिक्षा का माहौल बना रहा जो आज भी देखने को मिलता है। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जनहित में शासन के निर्देश पर प्रशासन द्वारा समय-समय पर लॉकडाउन लगाया जाता रहा है। लॉकडाउन की अवधि समाप्ति उपरांत मोहल्ला क्लासों में केवल कुछ ही बच्चे अपनी उपस्थिति दर्ज कराते थे। ऐसी स्थिति को देखते हुए बस्तर जिले के विकासखण्ड-तोकापाल की शिक्षिका नीलम शोरी एवं वालिंटियर मनीषा मौर्य के द्वारा आर्गमेंटेड रियालिटी तकनीकी का प्रयोग मोहल्ला क्लास में किया, आर्गमेंटेड रियालिटी क्लास में ऐसा फोटो वीडियो जिसमें ऑब्जेक्ट उपलब्ध ना होने पर उसे आभासी तौर पर दिखाया जा सके।  नीलम ने शाला की शिक्षिका कल्पना वैध एवं वालेंटियर मनीषा मौर्य को इस तकनीकी से अवगत कराया, इस नवाचारी से मोहल्ला क्लास में जहां दस बच्चे आते थे, वहीं आज चालीस से ज्यादा बच्चे आते हैं।

 नीलम कहती हैं कि इस तकनीकी के माध्यम से बच्चों को प्रभावी शिक्षा उपलब्ध कराते हुए हम बेहतर तरीके से बच्चों को सीखने में मदद कर सकते हैं। वालिंटियर मनीषा मौर्य भी इस तकनीक से काफी प्रभावित हुई । उनका कहना है कि आज विषम परिस्थिति में भी बच्चे शतप्रतिशत मोहल्ला क्लास में आकर शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं, जो कि इसकी सफलता को बयां करती है।

 खण्ड़ स्रोत समन्वयक अजय शर्मा जहाँ इन नवाचारी कार्यों को लेकर मार्गदर्शन सहित निरन्तर संपर्क कर कार्य को गति प्रदान करने में लगे रहते हैं। जिला कलेक्टर रजत बंसल ने इस नवाचारी कार्य को लेकर  शिक्षिकाओ सहित वालिंटियर की प्रसंशा करते हुए कहा कि बस्तर में प्रतिभाओं की कोई कमी नही है। बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने का कार्य प्रशंसनीय है।


Previous123456789...8283Next