अंतरराष्ट्रीय

Previous1234Next
Posted Date : 21-Sep-2018
  • नैरोबी/फीनिक्स, 21 सितंबर । तंजानिया की विक्टोरिया झील में गुरुवार को एक नौका के पलट जाने से 40 से अधिक लोगों की मौत हो गई। उधर अमरीका में एरीजोना राजमार्ग पर दो वाहनों की आमने-सामने की टक्कर में नौ लोगों की मौत हो गई।    
    राष्ट्रपति जॉन मैगुफली के प्रवक्ता गेर्सन सिगवा ने सरकारी टेलीविजन पर कहा कि खबरों के अनुसार हादसे में 40 से अधिक लोगों की मौत हुई है। विक्टोरिया झील अफ्रीका की सबसे बड़ी झील है। नौका में 100 से अधिक लोग सवार थे।    
    उधर, अमरीका में एरीजोना राजमार्ग पर दो वाहनों की आमने-सामने की टक्कर में देश में गैरकानूनी रूप से रह रहे सात लोगों समेत नौ लोगों की मौत हो गई। एरीजोना के जनसुरक्षा विभाग ने बताया कि यह हादसा फीनिक्स से करीब 60 मील दूर दक्षिण पूर्व में फ्लोरेंस के समीप बुधवार को देर रात में हुआ। एक वाहन की नौ लोगों को लेकर आ रही एसयूवी से टक्कर हो गई।    (एपी/एएफपी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 21-Sep-2018
  • अमरीका के फ्लोरिडा में एक आदमी ने अपने-आपको एक पोर्नों वेबसाईट बनाकर एक घरेलू महिला बताया, और फिर महिला के हुलिए में उसने ऐसे फंसाए हुए डेढ़ सौ लोगों के साथ अपने सेक्स की वीडियो फिल्म भी बना ली। बाद में उसने इन फिल्मों को पोर्नों वेबसाईट्स को बेच दिया, और उसके जाल में फंसे हुए लोग अब सामाजिक शर्मिंदगी झेल रहे हैं। बाद में अदालत तक पहुंचे इस मामले में 32 बरस के इस आदमी ने अपना कुसूर मान लिया है और इस जुर्म उसे 10 बरस तक की कैद हो सकती है। जो लोग पोर्नों वेबसाईटों के रास्ते ऐसे संबंध बनाते हैं, वे इस किस्म के खतरे झेलते भी हैं।

    ...
  •  


Posted Date : 20-Sep-2018
  • मलेशिय, 20 सितंबर। मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री नजीब रजाक को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन पर कई अरब डॉलर के गबन का आरोप है। भ्रष्टाचार निरोधक एजेंसी ने नजीब रजाक को उनके ऑफिस से गिरफ्तार किया। आगे की कार्रवाई के लिए उन्हें गुरुवार को अदालत में पेश किया जाएगा।
    इसके पहले नजीब रजाक पर कई बार आपराधिक विश्वासघात, भ्रष्टाचार और मनी लॉन्डरिंग के आरोप लगाए जा चुके हैं। कहा जाता है कि उन्होंने एक सरकारी कंपनी से 68.1 करोड़ डॉलर (करीब 4,425 करोड़ रुपये) अपने निजी अकाउंट में ट्रांसफर किए। हालांकि वे इन आरोपों से इंकार करते आए हैं।
    इसी साल नौ मई को मलेशिया में चुनाव हुए थे। इस चुनाव में नजीब रजाक के नेतृत्व वाला गठबंधन हार गया था। इस हार के बाद ही मलेशियाई पुलिस ने उनके खिलाफ एक बार फिर कार्रवाई शुरू कर दी थी। हाल में उनके कई ठिकानों पर छापामारी की गई थी। मलेशियाई मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो 64 साल के नजीब को 20 साल की कैद की सजा हो सकती है। (एएफपी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 20-Sep-2018
  • टोक्यो, 20 सितंबर। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे एक बार फिर अपनी पार्टी के नेता चुने गए हैं। गुरुवार को लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के सर्वोच्च नेता के चुनाव में उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी और देश के पूर्व रक्षा मंत्री शिगेरु इशिबा को 254 के मुकाबले 553 वोटों से हराया। इस चुनाव में कुल 810 वोट डाले गए थे जिनमें से तीन वोटों को अमान्य कर दिया गया था।
    इस जीत के साथ शिंजो अबे ने बतौर प्रधानमंत्री अपना अगला कार्यकाल तय कर लिया है। इसके साथ ही वे जापान के इतिहास में सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री पद पर रहने वाले नेता भी बन सकते हैं। फिलहाल इस लिहाज से वे पांचवें स्थान पर हैं। जापान में सबसे ज्यादा समय तक प्रधानमंत्री पद पर रहने का रिकॉर्ड कत्सारू तारो के नाम है वे 2883 दिन तक इस पद पर रहे थे।
    खबरों के मुताबिक इस जीत के बाद शिंजो अबे के सामने प्रमुख चुनौती अपने प्रमुख सहयोगी देश अमेरिका के साथ द्विपक्षीय व्यापार में संतुलन लाने की है। इसके अलावा जापान के आर्थिक विकास को बढ़ाने के लिए भी उन्हें चुनौतियों को सामना करना पड़ सकता है। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 19-Sep-2018
  • इस्लामाबाद, 19 सितम्बर  : एवनफील्ड केस में इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ, उनकी पुत्री मरियम नवाज़ तथा दामाद मोहम्मद सफदर की सज़ा पर रोक लगा दी है, और रिहाई के आदेश दिए हैं. सभी आरोपी अपील के पेंडिंग रहने तक रिहा रहेंगे.
    बता दें कि बीते दिनों पाकिस्तान के रावलपिंडी स्थित अदियाला जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, बेटी मरियम और दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) मोहम्मद सफदर को बेगम कुलसुम नवाज के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए 12 घंटे का परोल मिला था. जिसके बाद तीनों बुधवार तड़के लाहौर पहुंच गए. शरीफ की पत्नी कुलसुम का 68 साल की उम्र में मंगलवार को लंदन में निधन हो गया. वह कैंसर से पीड़ित थीं. उनका पार्थिव शरीर यहां लाया जाएगा और शरीफ परिवार के निवास जाटी उमरा में दफनाया जाएगा. (ndtv)a

    ...
  •  


Posted Date : 19-Sep-2018
  • वाशिंगटन, 19 सितंबर । अमरीका की निजी अंतरिक्ष एजेंसी स्पेस एक्स ने मंगलवार को चंद्रमा पर जाने वाले पहले ऐसे यात्री के नाम की घोषणा की जो वहां पर्यटक बनकर जाएगा। स्पेस एक्स के प्रमुख एलन मस्क ने एक ट्वीट में ऐलान किया कि यह यात्री जापान के अरबपति कारोबारी युसाकू माइजावा हैं। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि युसाकू माइजावा चंद्रमा में अकेले नहीं जाएंगे। उनके साथ आठ अन्य यात्री भी चांद की सैर करेंगे। स्पेस एक्स अपने खास रॉकेट बिग फाल्कन के जरिये इन लोगों को चांद पर भेजेगी। यह अभियान 2023 तक अमल में आ सकता है।
    उधर, युसाकू माइजावा का कहना है, मैं इस चंद्र अभियान के लिए अपने साथ दुनियाभर से छह से आठ कलाकारों को आमंत्रित करना चाहूंगा। युसाकू माइजावा ने कहा कि इन कलाकारों को पृथ्वी पर लौटने पर कुछ कलाकृतियां बनाने को कहा जाएगा। इनकी कलाकृतियां सबको प्रेरित करेंगी। जापानी कारोबारी युसाकू माइजावा ने इस यात्रा के लिए स्पेस एक्स को कितनी कीमत चुकाई है इसके बारे में कुछ भी नहीं बताया है। हालांकि, उन्होंने यह साफ किया कि उनके साथ जाने वाले कलाकार चांद की सैर मुफ्त में करेंगे।
    आखिरी बार कोई इंसान 1972 में चांद पर गया था। यह नासा के अपोलो 17 मिशन के जरिये हुआ था। तब से कोई अभियान चांद के पास तक नहीं गया है।(सत्याग्रह)

     

    ...
  •  


Posted Date : 19-Sep-2018
  • वाशिंगटन, 19 सितंबर। पॉर्न स्टार स्टॉर्मी डैनियल्स ने अपनी नई किताब में अमरीका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के साथ अपने निजी संबंधों का खुलासा किया है। डैनियल्स ने अपनी किताब में लिखा है कि उसने अब तक जितने लोगों से संबंध बनाए, उसमें ट्रंप के साथ बनाया संबंध सबसे कम प्रभावित करने वाला था। डैनियल्स की नई किताब का नाम फुल डिस्कलोजर है जिसकी एक प्रति गार्जियन को हाथ लगी है। 
    डैनियल्स ने साल 2007 में ट्रंप के साथ बिताए हुए पल के एक अहम घटना का भी उल्लेख किया है। उसने लिखा है कि वह एक होटल रूम में केबल टेलिविजन पर ट्रंप के साथ शार्क वीक देख रही थीं। उसी समय ट्रंप के पास हिलरी क्लिंटन का फोन आया और चुनाव को लेकर बातचीत की। हिलरी क्लिंटन डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए बराक ओबामा के खिलाफ खड़ी थीं। 
    डैनियल्स ने ट्रंप से जुड़ा एक और अहम खुलासा किया है। उन्होंने अपनी किताब में लिखा है कि ट्रंप का पीनिस मशरूम जैसा है। उन्होंने लिखा है कि ट्रंप का पीनिस औसत से भी छोटा है और मशरूम जैसा है।
    डैनियल्स ने इससे पहले भी ट्रंप पर आरोप लगाए थे। एक टीवी कार्यक्रम में स्टॉर्मी ने कहा था कि ट्रंप संग संबंधों पर मुंह बंद रखने के लिए उन्हें धमकी दी गई थी। स्टॉर्मी ने बताया कि एक शख्स अचानक उनके सामने आया और कहा कि ट्रंप को अकेला छोड़ दो। सीबीएस के 60 मिनट्स में स्टॉर्मी ने बताया था कि साल 2011 यानी 7 साल पहले लास वेगस में यह वाकया हुआ था। स्टॉर्मी जिनका असली नाम स्टेफनी क्लिफर्ड है, अपनी छोटी सी बेटी के साथ फिटनेस क्लास जा रही थीं और तभी एक आदमी उनके सामने आया। स्टॉर्मी ने बताया, एक शख्स मेरे पास आया और कहा ट्रंप को अकेला छोड़ दो। पूरी कहानी भूल जाओ। उस शख्स को मैं जानती नहीं थी, उसने मेरी बेटी की तरफ देखा और कहा कितनी प्यारी बच्ची है। 

    अगर इसकी मां के साथ कुछ होता है तो शर्म की बात होगी। डैनियल्स के मुताबिक, यह बोलने के बाद वह शख्स वहां से चला गया। नवंबर 2016 में हुए राष्ट्रपति चुनाव से कुछ दिन पहले ही डैनियल्स ने ट्रंप के वकील के साथ एक समझौता किया था, जिसके मुताबिक उन्हें ट्रंप के साथ संबंधों पर अपना मुंह बंद रखना था और इसके एवज में स्टॉर्मी को 1 लाख 30 हजार डॉलर्स दिए गए थे। इस समझौते को लेकर स्टॉर्मी ने कहा, मैं यह समझौता करने के लिए इसलिए सहमत हो गई थी क्योंकि मुझे मेरे परिवार और उनकी सुरक्षा की चिंता थी।  (नवभारत टाईम्स)

    ...
  •  


Posted Date : 19-Sep-2018
  • इस्लामाबाद, 19 सितंबर । पाकिस्तान के लोगों पर अब अपने देश की आर्थिक तंगी की भारी मार सीधे-सीधे पडऩे लगी है। प्रधानमंत्री इमरान खान की अगुवाई वाली पाकिस्तान की नई सरकार ने गैस की कीमतों में 143 फीसदी यानी करीब-करीब डेढ़ गुना तक की वृद्धि कर दी है। ये बढ़ी हुई कीमतें अगले महीने से लागू होंगी। पाकिस्तान की सरकार ने व्यावसायिक और घरेलू गैस पर दी जाने वाली सब्सिडी घटाने का फैसला किया है और इसके चलते दामों में यह बढ़ोत्तरी होने जा रही है। पाकिस्तान के पेट्रोलियम मंत्री गुलाम सरवर खान के अनुसार यह फैसला कैबिनेट की आर्थिक समन्वय समिति (ईसीसी) ने सरकारी गैस कंपनियों के बढ़ते घाटे की वजह से लिया है।
    इस फैसले के तहत पाकिस्तान की सरकार ने गैस के दामों में बढोत्तरी दो स्लैब के आधार पर की है। निचले स्लैब में आने वाले लोगों के लिए दाम में दस फीसदी और ऊपरी स्लैब में आने वाले लोगों के लिए 143 फीसदी तक कीमत बढ़ाई गई है। एक अनुमान है कि गैस के दामों में इस बढ़ोतरी से सरकार को 9 हजार करोड़ रुपये से ऊपर की कमाई होगी। इससे पैसे की तंगी से जूझ रही पाकिस्तानी सरकार को एक सहारा मिलेगा। दूसरी तरफ इस फैसले से करीब 94 लाख घरेलू उपभोक्ता प्रभावित होंगे। इनमें से 30 लाख लोग सबसे कम आय वर्ग से आते हैं। इसके अलावा गैस कीमतों में वृद्धि के कारण उर्वरक, बिजली, सीमेंट आदि की कीमतों में भी बढ़ोत्तरी देखने को मिल सकती है। (इंडियन एक्सप्रेस)

    ...
  •  


Posted Date : 19-Sep-2018
  • वाशिंगटन, 19 सितंबर । अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन से चल रहे व्यापार युद्ध के तहत 200 अरब डॉलर (करीब 14,503 अरब रुपये) के चीनी आयात पर 10 प्रतिशत शुल्क लगा दिया है। सोमवार को इसकी घोषणा करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी भी दी कि उनके इस कदम की प्रतिक्रिया में अगर चीन ने अमरीकी किसानों या कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई की तो अमरीका तुरंत 267 अरब डॉलर (करीब 19,362 अरब रुपये) के अतिरिक्त चीनी सामानों पर शुल्क लगा देगा। इससे पहले ट्रंप ने चीन से आयात होने वाले 50 अरब डॉलर (करीब 3 लाख 62 हजार करोड़ रुपये) के सामान पर 25 प्रतिशत शुल्क लगा दिया था।
    खबर के मुताबिक 200 अरब डॉलर का नया शुल्क 24 सितंबर से प्रभाव में आएगा। यानी अगले हफ्ते से 200 अरब डॉलर वाली सूची के सामान पर 10 प्रतिशत शुल्क लगना शुरू होगा। हालांकि एपल और फिटबिट कंपनियों की स्मार्ट घडिय़ों व साइकिल हेल्मेट जैसे कुछ उत्पादों को शुल्क के दायरे से बाहर रखा गया है। कहा जा रहा है कि साल के अंत तक यह शुल्क बढ़कर 25 प्रतिशत कर दिया जाएगा। इस बीच अमरीकी कंपनियों को अपना सामान दूसरे देशों में भेजने का थोड़ा समय मिल जाएगा। वहीं, अगर अमरीका ने 267 अरब डॉलर के अतिरिक्त सामान पर भी शुल्क लगा दिया तो चीन से अमरीका को निर्यात होने वाले 517 अरब डॉलर (करीब 37,500 अरब रुपये) के सामान पर शुल्क लग जाएगा।
    हाल में व्यापार युद्ध को लेकर अमरीका और चीन के बीच बातचीत हुई थी। लेकिन उसका कोई नतीजा नहीं निकला। पिछले हफ्ते अमरीकी वित्त मंत्री स्टीवन म्युचिन ने चीन के शीर्ष अधिकारियों को बातचीत का न्यौता दिया था लेकिन, अभी तक इस बारे में कोई कार्यक्रम तय नहीं हो पाया है। बताया जा रहा है कि इसी के परिणामस्वरूप अमरीका ने चीन से आयात किए जाने वाले और सामानों पर शुल्क लगा दिया है। (टाईम्स ऑफ इंडिया)

     

    ...
  •  


Posted Date : 19-Sep-2018
  • इस्लामाबाद, 19 सितंबर। पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपनी पहली विदेश यात्रा पर सऊदी अरब पहुंच रहे हैं। इसमें यह दिलचस्प इत्तिफाक है कि लंबे समय बाद बुधवार को ही एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट के एक अहम मैच में भारत-पाकिस्तान की टीमें आमने-सामने हैं। खबरों की मानें तो इमरान खान भी खास तौर पर यह मैच देखने के लिए जा सकते हैं।
    वैसे इमरान खान अपनी इस पहली विदेश यात्रा में सऊदी अरब के साथ संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) भी जाएंगे। इन देशों के साथ विभिन्न द्विपक्षीय मसलों पर बातचीत के दौरान वे पाकिस्तान के साथ इनकी साझेदारी बेहतर करने की कोशिश करेंगे। इस यात्रा पर इमरान खान के साथ पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी, वित्त मंत्री असद उमर, सूचना मंत्री फवाद चौधरी और सरकार के वाणिज्यिक सलाहकार अब्दुल रजक दाऊद भी हैं।
    खबरों के मुताबिक इमरान खान के शपथ ग्रहण के बाद उन्हें सऊदी अरब के राष्ट्र प्रमुख किंग सलमान बिन अब्दुल अजीज और उनके पुत्र तथा शासन प्रमुख मोहम्मद बिन सलमान ने अपने देश की यात्रा का न्यौता दिया था। इस न्यौते का स्वीकार करते हुए बुधवार शाम सऊदी अरब पहुंच रहे इमरान खान अपनी दो दिनी यात्रा में मक्का भी जाएंगे। इस बीच वे इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) के महासचिव यूसुफ बिन अहमद अल-ओथैमीन से मिलने वाले हैं।
    इमरान खान चूंकि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के मुख्य संरक्षक भी हैं। इस नाते वे एशिया कप में भारत-पाकिस्तान का अहम मुकाबला देखने भी पहुंच सकते हैं। हालांकि यह खबर अभी पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से ही सामने आई है। गौरतलब है कि भाारत और पाकिस्तान की टीमें 2006 के बाद से पहली बार दुबई में एक-दूसरे के सामने हैं।  (सत्याग्रह)

     

    ...
  •  


Posted Date : 18-Sep-2018
  • काबुल/ वॉशिंगटन, 18 सितंबर। अफगानिस्तान से तालिबान को मुक्त कराने के लिए अमेरिका ने बड़ा सैन्य अभियान चलाया। साल 2014 में अमेरिका ने अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को जब वापस बुलाया तो उसे लेकर कुछ सवाल भी उठे थे। अफगानिस्तान से सैन्य बल हटाने का अमेरिका का फैसला मानवीय आधार पर था या फिर यह क्षेत्र में तालिबान के प्रभाव के खत्म हो जाने के आधार पर लिया गया? पिछले कुछ समय में तालिबान ने अफगानिस्तान में कई बड़ी साजिश अंजाम दी हैं। सोमवार को भी तालिबानी हमले में 27 सुरक्षा बलों के जवान की मौत हो गई। इस घटना के बाद पूरे विश्व में ऐसे सवाल उठ रहे हैं कि क्या अमेरिका ने तालिबान को लेकर सही तस्वीर पेश नहीं की थी?  
    अफगान संघर्ष में अब तक 2,200 अमेरिकी नागरिकों की मौत हो चुकी है और तालिबान को खत्म करने के लिए अमेरिका ने 840 बिलियन (60,954 करोड़) रुपए तक खर्च किया है। अफगानिस्तान में तालिबान को नष्ट करने और पुनर्वास और विकास कार्यों में यह बड़ी रकम खर्च की गई है। अमेरिका ने अफगानिस्तान में बड़ी संख्या में अपने सैन्य बल तैनात किए और बड़ी रकम भी खर्च की। इस पूरी कवायद के पीछे उद्देश्य था कि दुनिया में यह संदेश जाए कि आतंक के खिलाफ अमेरिका की प्रतिबद्धता है और वह आतंक प्रभावित देश के नागरिकों के कल्याण के लिए समर्पित है। 
    2017 के बाद से अब तक के हालात देखे जाएं तो तालिबान के पूरी तरह से खत्म होने के आसार दूर-दूर तक नहीं दिख रहे हैं। तालिबान का प्रभाव आज अफगानिस्तान के जितने बड़े क्षेत्र में है, उतना इससे पहले कभी नहीं रहा। पिछले एक सप्ताह में तालिबान के अलग-अलग हमलों में 200 से अधिक पुलिस और सुरक्षा बलों के जवान मारे जा चुके हैं। इसी महीने में अफगानिस्तान के प्रमुख सैन्य ठिकानों पर तालिबान ने हसले किए और गजनी शहर में दहशतगर्दी मचाई। 
    अमेरिकी सेना की तरफ से जारी बयान में दावा किया जा रहा है कि अफगान सरकार का देश के 56 फीसदी हिस्से पर प्रभावी नियंत्रण है। हालांकि, आंकड़ों के इस खेल में न उलझा जाए तो स्पष्ट है कि तालिबान अभी भी मजबूत है और अपने खतरनाक मंसूबों में कामयाब भी है। अफगानिस्तान के बहुत से जिले ऐसे हैं जहां सरकार का नियंत्रण सिर्फ सरकारी दफ्तरों और सैन्य बैरक तक है। शहर के पूरे जनजीवन और गतिविधि पर तालिबान का नियंत्रण है।  (टाईम्स ऑफ इंडिया)

     

    ...
  •  


Posted Date : 18-Sep-2018
  • इस्लामाबाद, 18 सितंबर। पैसे की कमी से जूझ रही पाकिस्तान की नई सरकार कार किफायत बचाने लक्जरी कारों से लेकर भैंस तक की नीलामी कर रही है। नए प्रधानमंत्री इमरान खान की किफायत बरतने की मुहिम के तहत प्रधानमंत्री आवास की 102 लग्जरी कारों में से 70 कारें सोमवार को नीलाम की गयीं। मीडिया की रिपर्टों के मुताबिक, इन कारों के लिए बाजार से ऊंचा दाम मिला। अब प्रधानमंत्री आवास की आठ भैंसें बेचने की योजना है। खान के एक करीबी सहयोगी ने पिछले सप्ताह बताया था कि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने प्रधानमंत्री आवास में आठ भैंसें पाल रखी थीं। इन्हें भी नीलाम किया जाएगा। 
    पाकिस्तान सरकार पर कर्ज और देनदारियों का भारी बोझ है। प्रधानमंत्री के विशेष सहायक (राजनीतिक मामले) नईम-उल-हक ने कहा कि सरकार मंत्रिमंडल के उपयोग के लिए रखे गए चार हेलीकॉप्टर भी नीलाम करेगी। इनका इस्तेमाल नहीं हो रहा है। पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि 70 कारों की पहली खेप बेची जा चुकी है। चौधरी ने दावा किया, इन कारों को बाजार मूल्य अधिक दर पर बेचा गया है।
    इनमें मर्सिडीज बेंज के चार नये मॉडल, आठ बुलेट प्रूफ बीएमडब्ल्यू, तीन 5000 सीसी एसयूवी और दो 3000 सीसी एसयूवी शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान का कुल कर्ज बढ़कर पिछले वित्त वर्ष के अंत तक करीब 30 हजार अरब रुपये पर पहुंच गया है। यह पाकिस्तान के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 87 प्रतिशत है।  (भाषा)

     

    ...
  •  


Posted Date : 18-Sep-2018
  • ईरान, 18 सितंबर। ईरान के परमाणु विभाग के प्रमुख अली अकबर सालेही ने कहा है कि ईरान परमाणु समझौते से अमरीका का पीछे हटना मध्य पूर्व एशिया में शांति और सुरक्षा के लिए खतरा बन सकता है। यह बात अली अकबर सालेही ने अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी की जनरल कॉन्फ्रेंस में कही। उन्होंने कहा कि इससे क्षेत्रीय ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा भी खतरे में पड़ेगी
    अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस साल मई में ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से हटने की घोषणा की थी। इसके तुरंत बाद अमरीका ने ईरान की परमाणु गतिविधियों के चलते उस पर कुछ प्रतिबंध लगा दिए थे। अब दबाव बढ़ाने के लिए अमरीका ईरान के तेल निर्यात पर पूरी तरह रोक लगाना चाहता है और इसके लिए चार नवंबर से उस पर और कड़े प्रतिबंध लगाने जा रहा है। इस बीच अमरीकी प्रतिबंधों के चलते ईरानी मुद्रा रियाल लगातार गिर रही है। इस साल डॉलर के मुकाबले रियाल के मूल्य में दो-तिहाई तक की गिरावट आ चुकी है।  (सत्याग्रह)

     

    ...
  •  


Posted Date : 18-Sep-2018
  • शिकागो, 18 सितंबर। भारतीय पैराजंपर शीतल महाजन ने सोमवार को अमरीका के शिकागो में 13 हजार फुट की ऊंचाई से एक विमान से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए जन्मदिन का बधाई संदेश हाथ में लेकर छलांग लगाई। महाजन ने सफल कारनामे के बाद अपने अनूठे जन्मदिन संदेश का वीडियो फेसबुक पर अपलोड किया।
    पद्मश्री पुरस्कार विजेता महाजन ने कहा कि वह पिछले चार साल से मोदी से मिलने का प्रयास कर रही हैं लेकिन सफलता नहीं मिली है। उन्होंने इंटरनेट पर संदेश में लिखा, मैं पिछले चार वर्षों से प्रधानमंत्री से मुलाकात का प्रयास कर रही हूं लेकिन उनके कार्यालय से कोई जवाब नहीं आया। मुझे इस कारनामे के बाद कोई जवाब मिलने की उम्मीद है।
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को 68 वर्ष के हो गए। नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को गुजरात के मेहसाणा जिला स्थित वडनगर में हुआ। उनकी मां हीराबेन मोदी और पिता दामोदरदास थे। मोदी अपने मां-बाप की छह संतानों में तीसरे नंबर के रहे।
    जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री बने, उस वक्त उन्होंने एक अदना सा चुनाव भी नहीं लड़ा था। दिल्ली में बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन स्तर का कामकाज देखने के दौरान ही उन्हें पार्टी और संघ की ओर से गुजरात का मुख्यमंत्री बनाने का फैसला हुआ था। प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेंद्र मोदी वर्ष 2001 से 2014 (पीएम बनने से पहले) तक लगातार चार बार गुजरात के मुख्यमंत्री रहे।  (एनडीटीवी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 18-Sep-2018
  • थाइलैंड, 18 सितंबर। जुलाई में थाइलैंड की गुफा में फंसे बच्चों के बचाव अभियान में हिस्सा लेने वाले ब्रिटिश गोताखोर वरनॉन अनस्वर्थ ने अरबपति इलॉन मस्क पर मानहानि का मुकदमा कर दिया है। उनका कहना है कि मस्क उन्हें बार-बार बच्चों का यौन शोषण करने वाला कह रहे थे। ये वही बचाव अभियान है जहां बाढ़ के पानी से पूरी तरह डूबी गुफा में 12 लड़के और उनके फुटबॉल कोच फंस गए थे और कई दिन की मशक्कत के बाद उन्हें बचाया जा सका था।
    वरनॉन अनस्वर्थ का आरोप है कि टेस्ला कंपनी के प्रमुख इलॉन मस्क ने बिना किसी सबूत के गोताखोर वरनॉन अनस्वर्थ के खिलाफ कई आरोप लगाए हैं, जिनमें से एक है कि वो बच्चों का बलात्कार करते हैं। दायर मुकदमे में मुआवजे के तौर पर 75 हजार डॉलर और मस्क के बयानों पर रोक लगाने के आदेश की मांग की गई है।
    अनस्वर्थ का कहना है कि वो मुआवजे और सजा दोनों की मांग कर रहे हैं ताकि इलॉन मस्क दोबारा ऐसा करने से पहले सोचें। दायर मुकदमे में कहा गया है कि मस्क ने अपने ट्विटर और ईमेल का इस्तेमाल दुनिया के सामने अनस्वर्थ के खिलाफ झूठ फैलाने और बदनामी भरे आरोप लगाने के लिए किया है। ऐसा करने के दौरान मस्क के दो करोड़ से ज्यादा फॉलोवर थे।
    किस बात का है झगड़ा?
    दोनों का टकराव पहली बार तब हुआ जब मस्क ने गुफा से लड़कों को बचाने के लिए एक छोटी पनडुब्बी इस्तेमाल करने का प्रस्ताव दिया था। मस्क ने इस पनडुब्बी की एक फोटो भी ट्विटर पर डाली और सुझाव दिया कि इसका इस्तेमाल फंसे हुए लड़कों को बचाने के लिए किया जा सकता है।
    लेकिन अनस्वर्थ ने सीएनएन चैनल से कहा कि पनडुब्बी सिर्फ एक पीआर स्टंट थी और वो काम नहीं करती। इसके अलावा उन्होंने विवादास्पद शब्दों में पनडुब्बी और मस्क को लेकर टिप्पणी की। मस्क ने इसका जवाब कई ट्विटर पोस्ट के जरिए दिया और अनस्वर्थ को पीडोफिलिया से ग्रसित (बच्चों का यौन शोषण करने की बीमारी) कहा। हालांकि बाद में उन्होंने अपने वो ट्वीट हटा दिए और अनस्वर्थ से माफी भी मांगी। बीते महीने में इलॉन मस्क ने एक बार फिर से इस मुद्दे को भड़का दिया।
    बजफीड के रिपोर्टर रयान मैक को लिखे एक ईमेल में मस्क ने दावा किया था कि अनस्वर्थ बच्चों का बलात्कार करने वाला इंसान है और रिपोर्टर से इस मामले में और पता लगाने के लिए कहा। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि अनस्वर्थ गुफा वाले मामले में शामिल ही नहीं थे। अगस्त में एक ट्वीट के उत्तर में उन्होंने लिखा कि आश्चर्य की बात है उन्होंने मुझ पर अब तक कोई मुकदमा नहीं किया।
    अनस्वर्थ ने थाईलैंड बचाव अभियान में गोताखोरी तो नहीं की थी लेकिन बचाव कार्य से पहले पूरी गुफा को उन्होंने छाना था। उन्हें पट्टाया बीच के बारे में पता था जहां लड़के और उनके फुटबॉल कोच रुके थे और उनके गुम हो जाने के कुछ ही समय बाद अनसवर्थ गुफाओं में गए थे। उन्होंने ही दो विशेषज्ञ ब्रितानी गोताखोरों को बुलाया जिन्होंने बाद में फंसे हुए लड़कों को निकाला।
    कई गोताखोरों ने बजफीड को बताया है कि अनस्वर्थ ने लगातार बचाव ऑप्रेशन में काम किया था। ब्रितानी गोताखोर रिक स्टैंटन ने कहा, वह पूरे ऑपरेशन के लिए महत्वपूर्ण थे। अनस्वर्थ ने कैलिफोर्निया की एक कोर्ट में मुकदमा दायर किया है। दायर याचिका में बताया गया है कि लंदन की एक कोर्ट में वो एक अलग मुकदमा दायर करेंगे।
    अमरीका में अनस्वर्थ के वकील एल लिनवुड ने कहा, मस्क के प्रभाव और धन से सच्चाई झूठ में नहीं बदल सकती है और ना ही ये कानून के सामने उनकी गलती के लिए उनकी जिम्मेदारी से बचा सकते हैं। (बीबीसी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 17-Sep-2018
  • वाशिंगटन, 17 सितंबर ।  अमरीकी मीडिया कंपनी मेरेडिथ कॉर्प ने दुनिया की मशहूर टाइम मैगजीन को बेच दिया है। मेरेडिथ कॉर्पोरेशन ने रविवार को इसका ऐलान करते हुए बताया कि सेल्सफोर्स के को-फाउंडर मार्क बेनॉफ और उनकी पत्नी अपनी इस मैगजीन के मालिक होंगे।
    मेरेडिथ कॉर्पोरेशन ने बताया कि टाइम मैगजीन का सौदा 190 मिलियन डॉलर (करीब 13.77 अरब रुपये) में हुआ है। 
    मेरेडिथ की घोषणा में कहा गया कि बेनॉफ दंपत्ति टाइम मैगजीन के रोजाना के पत्रकारिता संबंधी कार्यों और फैसलों में शामिल नहीं रहेंगे। ये फैसले टाइम की मौजूदा एक्जीक्यूटिव लीडरशिप ही लेगी। (न्यूज 18)

    ...
  •  


Posted Date : 17-Sep-2018
  • वॉशिंगटन, 17 सितंबर। अमेरिका के उत्तर कैरोलिना में आए फ्लोरेंस तूफान ने घातक रूप ले लिया है। ये भयानक तूफान अबतक 11 लोगों की जान ले चुका है। उत्तर कैरोलिना में 10 और दक्षिण कैरोलिना में एक की जान गई है। शनिवार को नेवी, कोस्टगार्ड और वालंटियरों ने हेलिकॉप्टर, नाव और भारी वाहनों से पानी में फंसे सैकड़ों लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया है।
    तेज तूफान, मूसलधार बारिश और उफनती नदियों ने हालात को मुश्किल बना दिया है। वहीं,145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। यहां बारिश ने 20 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। तूफान के चलते कैरोलिना में अब तक की सबसे भयंकर बाढ़ का खतरा बना हुआ है। हजारों लोगों को घर छोडऩे के आदेश दिए गए हैं। कई क्षेत्रों में भारी बाढ़ आने का आशंका जताई जा रही है, जबकि न्यू बर्न शहर में सैकड़ों लोगों को मदद की जरुरत है।
    उत्तर कैरोलिना के गवर्नर रॉय कूपर ने बताया कि न्यू हैनोवर काउंटी में एक घर पर पेड़ गिरने से मां-बच्चे की मौत हो गई। वहीं, बिजली के तारों को जोडऩे की कोशिश करते वक्त लेनोइर काउंटी में 78 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई। यहां एक अन्य 77 वर्षीय व्यक्ति की भी जान चली गई। वहीं, हम्प्स्टेड शहर में कार्डियक अरेस्ट से एक महिला की मौत हो गई। वहीं, दक्षिण कैरोलिना में 62 वर्षीय महिला की कार पर पेड़ गिरने से मौत हो गई। इस बीच आशंका जताई जा रही है कि मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हो सकती है। इस बीच मेयर डाना आउटलॉ ने बताया कि 400 लोगों को बचाया गया है। करीब 100 लोग और फंसे हैं, जिन्हें बचाने की कोशिश हो रही है। बारह सौ लोग पहले से ही राहत शिविरों में पहुंच गए हैं। उन्होंने तूफान से 4,200 घरों के क्षतिग्रस्त होने की बात कही है।
    व्हाइट हाउस का कहना है कि स्थिति सामान्य होने के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तूफान प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगे। ट्रंप ने ट्वीट करके बचावकर्मियों की तारीफ की है। नेशनल हरिकेन सेंटर (एनएचसी) के मुताबिक, तूफान की गति घटकर 80 किमी प्रति घंटा हो गई है। हालांकि खतरा अभी बरकरार है। नागरिकों को सतर्क रहने और बाहर नहीं निकलने का निर्देश दिया गया है। एनएचसी का कहना है कि फ्लोरेंस तूफान के कारण उत्तर और दक्षिण कैरोलिना में कुछ जगहों पर 40 इंच (एक मीटर) तक की भारी बारिश हो सकती है। कुछ क्षेत्रों में बवंडर का भी खतरा है। उत्तर कैरोलिना, दक्षिण कैरोलिना और वर्जीनिया में करीब 17 लाख लोग तूफान और भयानक बाढ़ के खतरे की जद में हैं। (एजेंसी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 17-Sep-2018
  • नई दिल्ली, 17 सितंबर। प्रचंड तूफान मांगखुट उत्तरी फिलीपीन में तबाही मचाने के बाद अब घनी आबादी वाले हांगकांग और दक्षिण चीन की ओर बढ़ गया। फिलीपीन में आंधी और मूसलाधार बारिश के साथ आए तूफान के कारण भूस्खलन तथा मकान गिरने की घटनाओं में कम से कम 64 लोग मारे गए।
    सरकारी मीडिया ने खबर दी है कि दक्षिण चीन के गुआंगडोंग प्रांत में रविवार की शाम तक 24 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित निकाला गया और करीब 50 हजार मछली पकडऩे वाली नौकाओं को वापस तट पर बुलाया गया।
    मकाऊ में पहली बार जुआ खेलने वाले इलाके को बंद कर दिया गया और हांगकांग ऑब्जर्वेटरी ने लोगों को चेतावनी दी कि विक्टोरिया हार्बर से दूर रहें। मांगखुट जब फिलीपीन पहुंचा तो पांचवीं श्रेणी के अटलांटिक तूफान के बराबर तेज हवाएं और आंधी चली। हांगकांग और दक्षिणी चीन ने तूफान की चेतावनियां जारी की है। हांगकांग आब्जर्वेटरी ने कहा कि हालांकि मांगखुट थोड़ा सा कमजोर पड़ा है लेकिन इसका प्रभाव अब भी प्रचंड है। यह अपने साथ तेज हवाएं और बारिश लेकर आ रहा है।
    फिलीपीन की राष्ट्रीय पुलिस के मुताबिक तूफान जनित घटनाओं में कम से कम 64 लोगों की मौत हो गई। मुख्यत: भूस्खलन और घरों के ढहने के कारण ये मौतें हुईं। उत्तर पूर्वी कागायान प्रांत में तीन और लोगों की मौत की खबरें हैं।
    फिलीपीन के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुर्तेते के सलाहकार फ्रांसिस टोलेंतिनो ने बताया कि मृतकों में एक शिशु और दो साल का बच्चा भी शामिल हैं जो अपने माता-पिता के साथ मारे गए।  (आज तक)

     

    ...
  •  


Posted Date : 17-Sep-2018
  • नीदरलैंड, 17 सितंबर। तिब्बत के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने स्वीकार किया है कि बौद्ध भिक्षु यौन शोषण करते हैं और उन्हें यह बात 25 साल से पता है। बीते हफ्ते नीदरलैंड पहुंचे दलाई लामा ने बौद्ध भिक्षुओं के यौन शोषण के शिकार पीडि़तों से मुलाकात के बाद यह बात कही है।
    तिब्बत के आध्यात्मिक गुरु का कहना था, मुझे पहले से ही इन चीजों के बारे में पता था, ये कुछ नया नहीं है। पच्चीस साल पहले किसी ने धर्मशाला में पश्चिमी बौद्ध शिक्षकों के एक सम्मेलन में यौन शोषण की समस्या के बारे में मुझे बताया था। दलाई लामा ने आगे कहा, यौन शोषण करने वाले बुद्ध की शिक्षाओं में यकीन नहीं करते। लेकिन, अब जब सबकुछ सार्वजनिक हो गया है, तो ये लोग अपनी शर्मिंदगी के बारे में चिंता कर सकते हैं। इस दौरान उनका यह भी कहना था कि नवंबर में धर्मशाला में होने वाले बौद्ध धर्म गुरुओं के सम्मेलन में इस मुद्दे पर गंभीरता बात की जानी चाहिए।
    पिछले कुछ महीनों के दौरान बौद्ध भिक्षुओं द्वारा यौन शोषण के कई मामले सामने आए हैं। पिछले दिनों दर्जनों पीडि़तों ने दलाई लामा से उनकी यूरोप यात्रा के दौरान मिलने की अपील की थी जिसके बाद उन्होंने इन पीडि़तों से मिलने का फैसला किया था। (एएफपी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 16-Sep-2018
  • फिलीपींस, 16 सितंबर । तूफान मैंगकूट की वजह से फिलीपींस में 14 लोग मारे गए हैं। तूफ़ान ने देश के उत्तरी हिस्से में भारी तबाही मचाई है।
    फिलीपींस के लुजोन द्वीप को तहस-नहस करने के बाद मैंगकूट तूफान अब पश्चिम में चीन की ओर बढ़ रहा है। तूफान की वजह से फिलीपींस में घरों की छतें उड़ गई हैं, बड़ी संख्या में पेड़ गिरे हैं और 42 जगहों पर भूस्खलन हुआ है। तूफान, बारिश और बाढ़ के कारण पचास लाख लोग प्रभावित हुए हैं। हजारों लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है।
    विश्व मौसम विज्ञान संगठन (डब्ल्यूएमओ) ने इस तूफान को मौजूदा साल में अब तक का सबसे शक्तिशाली चक्रवाती तूफान माना है। पूर्वानुमान है कि रविवार की दोपहर को मैंगकूट तूफान हांगकांग के नजदीक से गुजरेगा। नजदीकी मकाऊ में लोग तूफान से निपटने की तैयारी कर रहे हैं। संभावना है कि मैंगकूट मंगलवार तक कमजोर पड़ जाएगा।
    फिलीपींस के इतिहास में अब तक का सबसे खतरनाक तूफान साल 2013 में आया था, जिसमें 7 हजार से अधिक लोग मारे गए थे। 
    जहां तक इस तूफान से निपटने की बात है, फिलिपींस प्रशासन का कहना है कि वो पिछले साल के मुकाबले इस बार ज़्यादा तैयार हैं।
    दूसरी तरफ चीन में भी प्रशासन इस तूफान के पहुंचने से पहले ही सतर्क हो गया है और प्रशासन ने चेतावनी जारी कर दी है। (बीबीसी)

    ...
  •  




Previous1234Next