छत्तीसगढ़ » धमतरी

Previous123Next
Posted Date : 14-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कुरूद,14 नवंबर। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वंशवाद का प्रतीक कांग्रेस ने 55 वर्षों तक राज कर देश को गरीबी, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, जाति-भाषा के आधार पर बांटा है। लेकिन भाजपा की मोदी सरकार ने पिछले साढ़े चार सालों में जाति, मजहब की बात छोड़ विकास के मुद्दे पर ध्यान दिया। जिससे बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई और बुजुर्गों को दवाई के साथ-साथ शासकीय योजनाओं का लाभ मिल रहा है। 
    बुधवार को कुरूद के खेल मेला मैदान में भाजपा द्वारा आयोजित चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि श्री योगी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि शासन करने के लिए नीति, नीयत और नेता जरूरी है, लेकिन कांग्रेस इन तीनों में कंगाल है। 
    श्री योगी ने मोदी सरकार की उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री आवास, नि: शुल्क विद्युत कनेक्शन, जैसी योजनाओं का जिक्र करते हुए बताया कि पिछले 15 सालों में रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ को बीमारू राज्य से उन्नत प्रदेश बनाया है। जिससे यहां पलायन रूका है। गरीबों को 1 रूपए किलो चावल, 5 रूपए किलो दाल दे रही है। समर्थन मूल्य से अधिक दाम पर किसानों का धान खरीदने एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत छत्तीसगढ़ में 8 लाख आवास बनवाने वाली भाजपा सरकार को चौथी बार सत्ता सौंपने का आह्वान किया।
     कुरूद विधानसभा प्रत्याशी मंत्री अजय चन्द्राकर के विकास कार्यों का उल्लेख करते हुए यूपी सीएम योगी ने बताया कि 20 नवम्बर मंगलवार बजरंगबली का वार है इस दिन पहले मतदान फिर जलपान कर राम मंदिर बनाने में बाधा खड़ी करने वाली कांग्रेस को हराना है। इसके पूर्व मंत्री अजय चन्द्राकर ने क्षेत्र में कराए गये विकास कार्यो की लंबी फेहरिस्त गिना। मतदाताओं से आशीर्वाद मांगा। 

     

  •  

Posted Date : 10-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    धमतरी, 10 नवंबर। जिलेभर में 5 दिवसीय दीपोत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान दीयों की रोशनी से घर जगमगाते रहे। लक्ष्मी पूजा के दिन से ही एक-दूसरे को दिवाली की बधाई देने का सिलसिला शुरु हो गया। दीपावली पर इस साल शहर में ही करोड़ों के पटाखे फूटे। भगवान शंकर व माता पार्वती की शोभायात्रा का घरों के सामने लोगों ने स्वागत कर पूजा की। महिलाओं ने गौरी-गौरा के सामने पेट के बल लेटकर अपनी आस्था भी प्रकट किया। वहीं गोवर्धन पूजा के दिन पूजा के लोगों को एक-दूसरे को गोबर का तिलक लगाकर दीपावली की बधाई दी। 
    कठौली व बनिया तालाब में हुआ विसर्जन
    ग्रामीण क्षेत्रों के अलावा शहर के विभिन्न वार्डों में गौरा-गौरी की धूम रही। भगवान शंकर और माता पार्वती की शोभायात्रा निकालने के बाद श्रद्धालुओं द्वारा जालमपुर वार्ड के कठौली तालाब में रात 1 बजे तक विसर्जन का सिलसिला चलता रहा। जामलपुर गौरा-चौरा चौक, कुम्हारपारा, विंध्यवासिनी वार्ड, रामपुर, मराठापारा, जामलपुर भागवत चौक, भगत चौक, रामबाग, शंकर नगर समेत 20 वार्ड में विराजे गौरा-गौरी की मूर्तियों का विसर्जन हुआ। बनिया तालाब में अधारी नवागांव, हटकेशर, आमापारा, बनियापारा के गौरा-गौरी का विसर्जन हुआ। 
     गायों को सोहई बांधकर की पूजा 
    गोवर्धन पूजा के दिन गोमाता को नहलाकर और सोहई बांधकर उसकी पूजा-अर्चना की गई। एक-दूसरे को गोबर का तिलक लगाकर दीपावली की बधाई दी गई। मठ मंदिर स्थित जगदीश मंदिर में भगवान को 56 भोग लगाकर महाआरती की गई। इसके बाद श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरित किया गया। 
    रातभर विवाह गीत के साथ किया श्रृंगार 
    बुजुर्ग मनराखन ध्रुव, नेतराम गोंड, भोलाराम नेताम ने दैनिक भास्कर से चर्चा में बताया कि दिवाली की रात घर-घर में लक्ष्मी की पूजा करने के बाद आधी रात को विभिन्न वार्डों में बने गौरा-गौरी चौक पर गौरा-गौरी (शिव-पार्वती) की प्रतिमा स्थापित की गई। इसी दिन तालाब के समीप की कुंवारी मिट्टी से गौरी-गौरा की मूर्तियां बनाई गई। रातभर विवाह गीत के साथ प्रतिमा का श्रृंगार किया गया। फिर सुबह 5 बजे गाजे-बाजे के साथ गौरा-गौरी की बारात निकाली गई। 

  •  

Posted Date : 10-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    धमतरी, 10 नवंबर। जिला मुख्यालय से 14 किमी दूर गंगरेल स्थित मां अंगारमोती में शुक्रवार को पारंपरिक ढंग से मड़ई हुई। इस अवसर पर परंपरा के अनुसार 45 गांव के देवी देवता मां अंगारमोती के दरबार में पहुंचे। उनके दर्शन के लिए आसपास के गावों के लोग भी पहुंचे थे। संतान की कामना लेकर 100 से अधिक महिलाओं ने मां अंगारमोती के सामने परण (देवी के सामने पेट के बल लेटना) किया। पारंपरिक बाजे की धुन पर आंगा देवता थिरकते रहे। बैगाओं की जगह-जगह पूजा होती रही। इसके साथ ही जिले में मड़ई मेले की शुरूआत हो गई। 
    दिवाली के बाद प्रथम शुक्रवार को होता है आयोजन
    देवी देवताओं के दर्शन और मेेले का आनंद लेने के लिए लोगों में भारी उत्साह था। सुबह से गंगरेल में लोगों को भीड़ जुट गई थी। शाम को जब डांग निकला, भीड़ और बढ़ गई। संतान की कामना लेकर महिलाओं देवी के सामने पेट के बल लेटी महिलाओं ने लोगों को आस्था से भर दिया। मां अंगारमोती मंदिर के मुख्य पुजारी ईश्वर नेताम ने बताया कि गंगरेल में आदिकाल से मड़ई की परंपरा चली आ रही है। दिवाली के बाद प्रथम शुक्रवार को इसका आयोजन किया जाता है, इसलिए शुक्रवार का दिन यहां के लिए विशेष होता है। इस मड़ई के बाद ही अन्य गांवों में मड़ई का आयोजन होता है। मड़ई के अवसर पर बड़ी संख्या में महिलाएं संतान की कामना लेकर मां अंगारमोती के दरबार में पहुंचकर मनोकामना पूर्ति के लिए बैगाओं से आशीर्वाद लेती हैं। 
    चंवरगांव में होता था मड़ई 
    पुजारी बताते हैं कि पहले जब गंगरेल बांध नहीं बना था, तब ग्राम चंवर में यह मड़ई होती थी। चंवर गंगरेल में बांध में डूब गया। बांध बनने के बाद 1974 से मां अंगारमोती के दरबार में यह मड़ई लगती है। इस ऐतिहासिक मड़ई को देखने के लिए आसपास के दर्जनों गांव के लोग आते हैं। 
    परण में दिखी आस्था 
    परण में लगभग 100 से अधिक महिलाएं शामिल हुई। मंदिर के पुजारी उनसे नारियल, नीबू मंगाते हैं। माता के दरबार के सामने लंबी लाईन से महिलाओं को बिठाते हैं। यहां मड़ई-मेला में पहुंचे बैगा डांग, मड़ई, त्रिशूल, संकल, कासड़ आदि के साथ परंपरागत संस्कृति का प्रदर्शन किया। बैगा मेला स्थल का 3 बार चक्कर लगाए और मां अंगार मोती की ओर आने लगे। इसी समय नीबू, नारियल आदि महिलाएं बाल खुलाकर पेट के बल लेटी। इसके बाद करीब आधा दर्जन बैगा अपने डांग-डोरी के साथ महिलाओं के ऊपर चलते हुए माता के पास पहुंचती। 

  •  

Posted Date : 10-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    धमतरी, 10 नवंबर। जिला मुख्यालय से 23 किमी दूर चारामा के ग्राम अंवरी के पास तेज रफ्तार ट्रक ने पिकअप वाहन (छोटा हाथी) को टक्कर मार दी और खेत पर जाकर पलट गया। इससे पिकअप के परखच्चे उड़ गए और उसके ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई।
    पुलिस के अनुसार शिव चौक निवासी व्यवसायी इमरान  दीवाली के दिन पिकअप वाहन में आलमारी समेत अन्य फर्नीचर सामान लेकर केशकाल गया था। सामान छोड़कर दोपहर में वापस घर लौटते समय चारामा के आगे धमतरी मार्ग में ग्राम अंवरी के पास उसके वाहन को तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी। मौके पर ही इमरान की मौत हो गई और पिकअप के परखच्चे उड़ गए। ट्रक भी खेत में जाकर पलटा और ट्रक चालक वाहन छोड़कर फरार हो गया। सूचना पर चारामा पुलिस पहुंची और पंचनामा कार्रवाई कर लाश पीएम के लिए अस्पताल भिजवाया। 
    सीएम के पीएसओ का वाहन पुल से टकराया 
    मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के पीएसओ का वाहन गुरुवार को ग्राम जगतरा के पास पुल से टकरा गया जिससे वह गंभीर रुप से घायल हो गए। उन्हें 108 एंबुलेंस से जिला अस्पताल लाया गया जहां से उन्हें रायपुर रेफर कर दिया गया। यह हादसा तब हुआ जब वे कांकेर से रायपुर जा रहे थे। 108 के चालक परमजीत सिंह ने बताया कि पीएसओ अनुप के पास से वायरलेस सेट और एक बंदूक मिला, जिसे उसके भाई के सुपुर्द किया गया। 
    पिकअप के चपेट में  साइकिल सवार की मौत 
    नगरी रोड में बनरौद डामर प्लांट के पास पीछे से आ रही पिकअप क्र.सीजी 07 बीएफ 3638 ने ठोकर मार दी। ठोकर इतनी जबर्दस्त थी कि मन्नूलाल के सिर पर गंभीर चोट आई। चालक भागने की कोशिश करने लगा, जिसे युवकों ने बांसपारा पहुंचकर पकड़ा। सूचना पर संजीवनी एंबुलेंस 108 टीम मौके पर पहुंची लेकिन मृत बताकर शव ले जाने से मना कर दिया। ग्रामीणों की मदद से पिकपअ में मन्नू के शव को जिला अस्पताल पहुंचाया गया। 

  •  

Posted Date : 09-Nov-2018
  • नीलम की दमदार मौजूदगी से त्रिकोणीय मुकाबले के आसार

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कुरूद, 9 नवंबर। पंचायत मंत्री अजय चंद्राकर के विधानसभा क्षेत्र कुरूद में इस बार त्रिकोणीय संघर्ष की स्थिति बन गई है। अजय को कांग्रेस के साथ-साथ कांग्रेस के बागी निर्दलीय से भी लोहा लेना पड़ रहा है। त्यौहारी माहौल में मतदाताओं के रूख का अंदाजा लगाना कठिन हो गया है। 
    नाम वापसी की तिथि बीत जाने के बाद अब स्थिति साफ हो गई है कि कुरूद में त्रिकोणीय मुकाबला होगा। भाजपा से अजय चन्द्राकर, कांग्रेस से लक्ष्मीकांता साहू, निर्दलीय नीलम चन्द्राकर, आप के तेजेन्द्र तोड़ेकर, बसपा कन्हैयालाल साहू सहित एक दर्जन प्रत्याशियों में से करीब दो लाख मतदाता अगले पांच सालों के लिए अपना रहनुमा चुनेंगे। तैयारी और दमदारी के हिसाब से मुकाबला भाजपा-कांग्रेस और निर्दलीय नीलम के बीच होता दिख रहा है। फिलहाल मतदाता दीवाली त्यौहार मनाने में व्यस्त हैं और अगले दो-तीन दिनों में चुनावी माहौल गरमाने के आसार दिख रहे हैं।  
    वैसे तो कुरूद विधानसभा क्षेत्र का मिजाज आमतौर पर कांग्रेस के लिए हमेशा से ही अनुकूल रहा है, लेकिन भाजपा में जब से अजय चंद्राकर का अभ्युदय हुआ है, तब से कांगे्रस के जनाधार में व्यापक सेंधमारी हुई है। बीते दो दशक में एक बार लेखराम का कार्यकाल जिसे भाजपाई शून्यकाल कहते हैं, को छोड़कर पन्द्रह सालों से यह सीट भाजपा के ही कब्जे में है। 
    यहां पर यह बताना लाजमी होगा कि भाजपा प्रत्याशी अजय चंद्राकर ने इसके पहले तीन बार कांग्रेस के साहू उम्मीदवार को हराया है। इस बार ऐसा माना जा रहा था कि लोहे को काटने के लिए कांग्रेस लोहा का इस्तेमाल करेगी, इसी सोच के चलते दो बार अपने दम पर जिला पंचायत का चुनाव जीते युवा नीलम चंद्राकर का नाम प्रमुखता से सामने आया। पिछले पांच सालों में नीलम ने विधानसभा के प्रत्येक गांव का दौरा कर कांग्रेस को पुनर्जीवित करने एवं अपने समर्थक बनाने जी-तोड़ मेहनत की थी। बीते दो दशक में क्षेत्र की राजनीति से हासिये पर आ चुकी कांग्रेस पार्टी को विगत पांच सालों से तन मन धन लगाकर वापस पटरी में लाने वाले जिला पंचायत सदस्य नीलम चंद्राकर की ऐन वक्त में टिकट कटने से उनकी सारी मेहनत पर पानी फि र गया। कांग्रेसी नेताओं की असलियत जान नीलम पार्टी से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हंै। मान-मनौव्वल को पहुंचे वरिष्ठ नेताओं को खरी-खोटी सुना बैरंग लौटाने के बाद बागी नीलम डू आर डाई की नीति अपना पूरे जोश ए जुनून के साथ मैदान में कूद पड़े हैं। 
    साहू प्रत्याशी के दम पर कद्दावर मंत्री को नहीं हरा पाने की सोच वाले कांग्रेसी भी नीलम की दावेदारी को सही ठहरा रहे थे। लेकिन कहते हंै ना कांग्रेस की टिकट और मौत का कोई भरोसा नहीं, यह बात इस बार भी सही सिद्ध हुई। सोशल इंजीनियरिंग के तहत ऐन वक्त में नीलम की जगह लक्ष्मीकांता साहू को कांग्रेस की टिकट दे दी गई। बदले हालात में विपक्षी पार्टी के समक्ष पहाड़ जैसी समस्या आन पड़ी है। वैसे भी कांग्रेसी उम्मीदवार पैराशूट प्रत्याशी एवं पहचान की संकट से जूझ रही है। दो फाड़ हो चुके कार्यकर्ताओं को एकजुट कर पंजा और जातिवाद के सहारे भाजपा के चुस्त-दुरूस्त संगठन एवं चुनाव प्रबंधन के माहिर अजय चंद्राकर से टकराने के लिए लक्ष्मीकांता साहू को लोहे के चने चबाने होंगे। 
    सत्ता पक्ष की बात करें तो जिस नाम से पहले डरे हुए थे, उसी के बागी हो जाने से भाजपाई अब चौका लगाना आसान मान रहे हैं। लेकिन उन्हें इस बात का अंदाजा नहीं है कि नोटबंदी, जीएसटी, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार जैसे मुद्दे, केंद्र और राज्य सरकार की एंटीइनकंबेंसी के अलावा क्षेत्र में उनके करीबियों के व्यवहार से उपजी लोगों की नाराजगी का भी हिसाब-किताब मतदाता इस चुनाव में कर सकते हैं। इसके अलावा बहुसंख्यक साहू समाज के रूख पर ही चौका लगाने की संभावना टिकी होगी। 
    इन दो राष्ट्रीय पार्टी के अलावा आम आदमी पार्टी ने सबसे पहले इस सीट पर पढ़े-लिखे युवा तेजेन्द्र तोड़ेकर को मैदान में उतारा है। दिल्ली में साफ-सुथरी केजरीवाल सरकार की उपलब्धियों के सहारे बदलबो छत्तीसगढ़ का नारा लगा आप उम्मीदवार शिक्षित तबके और युवाओं को अपनी ओर आकर्षित करने काफी जोर लगा रहे हंै। जोगी कांगे्रस और बसपा के बीच गठबंधन होने से यह सीट बसपा के खाते में चली गई है। जिससे जोगी पार्टी  से चुनाव लडऩे के इच्छुक कई बड़े नेता पार्टी छोड़ चुके हैं। जिससे बसपा प्रत्याशी कन्हैयालाल साहू अपनें परंपरागत वोट बैंक को साधने में लगे हंै। 
    इनके अलावा रघुनंदन साहू, अजीत अग्रवाल, चन्द्रहास साहू, डोमार सिंह, दिनेश साहू, नीरा चन्द्राकर, योगेश्वर साहू भी निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर भाग्य आजमा रहे हंै। लेकिन भाजपा के मंत्री अजय चंद्राकर, निर्दलीय नीलम चंद्राकर, कांग्रेस प्रत्याशी लक्ष्मीकांता साहू के बीच ही हार-जीत का फैसला होना है। 

  •  

Posted Date : 06-Nov-2018
  • धमतरी, 6 नवंबर। जिलेभर में 5 दिवसीय दिवाली की धूम शुरु हो गई है। शहर समेत ग्रामीण अंचल में गौरा-गौरी जगाने की रस्म पारंपरिक धुनों के बीच चल रही है। यह आयोजन आदिवासी समाज कर रहा है, जिसमें अन्य समाज के लोगों की आस्था भी झलक रही है। 8 नवंबर को गौरा-गौरी की बारात (शोभायात्रा) निकाली जाएगी। गोवर्धन पूजा के दिन भगवान भोलेनाथ व माता पार्वती की प्रतिमा का कोष्टापारा स्थित नंदी चौक के कठौली तालाब में विसर्जन का सिलसिल देर-रात तक चलेगा।  
    ऐसे निभाई जाती है पूजा अर्चना की रस्म
    छत्तीसगढ़ में दिवाली के साथ गौरा उत्सव मनाने का भी रिवाज है। इस परंपरा का निर्वहन आदिवासी समाज के लोग करते आ रहे हैं। गौरा जगाने के पूर्व महिलाओं के साथ युवतियां जमा होती हैं। बैगा द्वारा विधि-विधान से पूजा-अर्चना करवाने के बाद पारंपरिक वाद्ययंत्रों की धुन पर गौरा गीतों के साथ गौरा-गौरी जगाने की रस्म निभाती हैं। गोवर्धन पूजा के दिन दोपहर में यादवबंधु पारंपारिक धुनों के साथ दोहे गाते हुए राउत नाचा कर पर्व की बधाई देंगे और गाय, बछड़े को खिचड़ी खिलाकर गोवर्धन खुंदवाने की रस्म पूरी करेंगे। 
    इन स्थानों में विराजेंगी गौरा-गौरी की प्रतिमा 
    शहर के जालमपुर गौरा-चौरा, भागवत चौक, भगत चौक, बनियापारा, शिव चौक, रामबाग, आमापारा, सिहावा चौक संभाकर पारा, अधारी नवागांव, हटकेशर, सोरिद, दानीटोला, महिमासागरपारा, विंध्यवासिनी वार्ड, कुम्हारपारा समेत 35 से अधिक स्थान और ग्रामीण अंचल में गौरा-गौरी जगाने की रस्म चल रही है। बैगा द्वारा विधि-विधान के साथ भगवान शंकर व माता पार्वती की पूजा-अर्चना की जा रही है। लक्ष्मी पूजा की रात घर-घर पहुंचकर दीप के लिए तेल मांगने और कलश रस्म होगी। 
    गलियों में सुआ नृत्य की टोली 
    दिवाली पर्व में सुआ गीत और नृत्य का अलग ही आकर्षण होता है। पर्व के पखवाड़ेभर पूर्व से यह सिलसिला शुरू हो गया है। इन दिनों गली मोहल्लों में सुआ गीत गाकर नृत्य कर रही महिलाओं और बच्चों की टोली का उत्साह देखते ही बन रहा है। इसके अलावा गांव और शहर के गौरा-गौरी चौक में तैयारी को अंतिम रूप दिया जा रहा है। गलियों में शहनाई और ढपली बाजा की गूंज भी सुनाई देने लगी है।
     

  •  

Posted Date : 05-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    धमतरी, 5 नवंबर। धनतेरस पर बाजार में जमकर पैसे बरसे। सराफा, कपड़ा, ऑटोमोबाइल, बर्तन दुकानों में देर-शाम तक शुभ मुहूर्त पर लोगों ने खरीदी की। शाम को घर, दुकान के सामने 13 दीए जलाकर धन के देवता कुबेर से सुख-समृध्दि की कामना की गई। बच्चों ने पटाखे फोड़कर खुशियां मनाई। घर और व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में की गई जगमग रोशनी की छठा देखती ही बनी। जिले में 25 करोड़ से ज्यादा का कारोबार हुआ है। 
    धनतेरस के दिन सोने-चांदी, पीतल, तांबा खरीदने से आयु तथा धन बढ़ता है। धनतेरस के दिन चांदी के सिक्के, पीतल, कांसे के बर्तन, वाहन खरीदने की इसी मान्यता के चलते लोगों ने खूब खरीददारी की। सराफा व्यवसायियों के अनुसार जिन लोगों ने पहले ही आभूषणों की बुकिंग करा रखी थी, वे शुभ समय पर आभूषण ले गए। नेकलेस, सोने के कंगन, मंगलसूत्र, सोने की अंगूठी, सोने व चांदी के सिक्के खूब बिके। धनतेरस में बर्तनों की अच्छी बिक्री। एक अनुमान के मुताबिक धनतेरस में बर्तनों में लगभग 25 लाख तक का व्यवसाय हुआ। ऑटोमोबाइल में भी लगभग 3 करोड़ का बिजनेस का अनुमान है। शहर में सिहावा चौक से लेकर सदर मार्ग में रामबाग तक विक्रेताओं व खरीददारों की रेलमपेल रही। चौक-चौराहों में व्यवस्था संभालने पुलिस बल तैनात रहा। 
    बर्तन, ऑटोमोबाइल चमका 
    धनतेरस पर बर्तनों की अच्छी ग्राहकी रही। पूजा के बर्तनों के अलावा अन्य आयटमों की पूछ- परख रही। कपड़ा बाजार गुलजार रहा। हफ्तेभर से कपड़ा दुकानों में भारी खरीदारी हो रही है। शहर में कपड़ें का कारोबार इस साल बेहतर रहा है। ट्रेक्टर, चारपहिया वाहनों एवं दुपहिया वाहनों की भी अच्छी बिक्री रही। इसके अलावा इलेक्ट्रानिक सामानों की बिक्री काफी अच्छी रही। 
    एलइडी, फ्रीज, वािशंगमशीन के अलावा मोबाइलों की भारी बिक्री हुई। 8 से 20 हजार तक के मोबाईलों की डिमांड ज्यादा रही। एलईटी टीवी, फ्रिज ही नहीं स्मार्टफोन, लैपटॉप और अन्य आधूनिक गैजेट्स लेने में भी ग्राहक पीछे नहीं रहे। शहर में लगभग 150 इलेक्ट्रानिक प्रतिष्ठानों में लगभग 3 करोड़ की खरीदी हुई है। 
    हाथों हाथ बिकी ग्वालिन 
    घर-आंगन को जगमग रोशनी से सजाने लोगों ने दीयों की खूब खरीददारी की। कुम्हार पारा में तो बहुत पहले से इसकी काफी बिक्री हो चुकी थी। सोमवार को सड़क किनारे दीया, कलश, ग्वालिन बेच रहे लोगों ने सुबह से शाम तक बिक्री किया। कुम्हारपारा की बिसाखा बाई ने बताया कि त्यौहार के अंतिम समय तक दीए की मांग रहती है। 

  •  

Posted Date : 03-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    धमतरी, 3 नवंबर। दीपावली को उत्साह और उमंग के साथ सेलीब्रेट करने के बाजार में तरह-तरह के आकर्षक पटाखें आए हैं। चकरी, अनार, राकेट जैसे परंपरागत पटाखों सहित इस बार पटाखा प्रेमियों के लिए बाजार में 10 रूपए से लेकर 15 हजार मूल्य के अलग-अलग प्रकार के पटाखे उपलब्ध है। पटाखा व्यवसायियों के अनुसार इस साल तीन करोड़ से अधिक का कारोबार होने की उम्मीद है। 
    मिशन ग्राउंड में 103 पटाखा दुकानें लगाई गई है। जहां छुटपुट ग्राहकी शुरु हो गई है। चुनावी वर्ष होने के कारण व्यवसायी अधिक से अधिक संख्या में पटाखे बिकने की उम्मीद में हैं। हर साल पटाखे का व्यवसाय बढ़ता जा रहा है। पिछले साल लगभग डेढ़ करोड़ का कारोबार हुआ था। इस साल इसके तीन करोड़ होने की उम्मीद है। लोगों को इस बार 10 रूपए से लेकर 100 रूपए तक की रंग-बिरंगी फुलझरी चलाने को मिलेगी। बाजार में कलर धुएं के साथ फटने वाली कलर फ्लेश 65 रूपए, चकरी 30 से 120 रूपए, अनार 50 से 200 रूपए में उपलब्ध है। सांपों का खजाना नाम से आए पटाखों में फटने के बाद बहुत सारे सांप निकलते हैं। इसी तरह स्वीट सिक्सटीन पटाखे लगातार ऊपर जाकर फटते हैं और रंगीन रोशनी बिखरते हैं। पैराशूट नाइट पटाखा 1400 फीट उपर जाकर रोशनी बिखेरते हुए फटेगा। चीयर्स पटाखें में से 3 कलर लाइटिंग, सीटी की आवाज के साथ विस्फोट होता है। फ्लाइंग साकर आइटम एक तरह की उड़ती हुई चकरी है, जिसमें बांस की आवाज भी आती है।  
    95 प्रतिशत पटाखा आता है तमिलनाडु से 
    पटाखा विक्रेता संघ के अध्यक्ष रविंदर सिंह बिन्द्रा, राजकुमार हिरानी, घनश्याम शर्मा के अनुसार पटाखा व्यवसाय सीजनली न होकर सालभर का कारोबार हो गया है। फिर भी दीप पर्व में अच्छी खासी बिक्री होती है। शहर में 95 प्रतिशत पटाखा तमिलनाडु के शहर शिवाकाशी से आता है। भारत में क्लोरेट नामक केमिकल पर प्रतिबंध है। इसलिए यहां की कंपनियां चाइना से मंगाती है। क्लोरेट व अन्य केमिकल के मिश्रण से तैयार पटाखे रंगीन व चमकदार होते हैं। 
    ग्वालिन माता की मूर्तियां घर ले जा रहे लोग  
    दीपावली पर्व की शुरूआत 5 नवंबर से शुरु हो जाएगी। इसकी तैयारी जोरशोर से चल रही है। 5 को धनतेरस, 6 को नरक चौदस, 7 को लक्ष्मी पूजा, 8 को गोवर्धन पूजन और 9 नवंबर को भाईदूज का पर्व उत्साह के साथ मनाया जाएगा। लक्ष्मी पूजन के दिन माता की पूजा के लिए इन दिनों कुम्हार पारा में लक्ष्मी माता (ग्वालिन) की मूर्तियां तैयार करने के साथ-साथ बड़ी तादाद में दीए भी बनाए जा रहे हैं। राधेश्याम कुंभकार, सुरेश कुंभकार ने बताया कि कुम्हारपारा में दीपावली की तैयारी महीने भर पहले शुरू हो जाती है। दीए बनाने का काम होता है, जो अंत तक चलते रहता है। पखवाड़ेभर के भीतर ग्वालिन की मूर्तियां बनना प्रारंभ हुआ है। 

  •  

Posted Date : 03-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    नगरी, 3 नवंबर। सिहावा विधानसभा क्षेत्र क्रं 56 से कांग्रेस पार्टी द्वारा अधिकृत प्रत्याशी श्रीमति डॉ लक्ष्मी ध्रुव ने आज अपने समर्थकों के साथ जिला निर्वाचन कार्यालय पहुँच कर नामांकन दाखिल किया। नामांकन दाखिले से पूर्व श्रीमति ध्रुव ने माँ विंध्यवसिनी मंदिर धमतरी पहुँच कर पूजा अर्चना किया। तत्पश्चात नामांकन दाखिल करने जिला निर्वाचन कार्यालय पहुँची।  
    इस अवसर पर पूर्व मंत्री माधव सिंह ध्रुव, पूर्व विधायक अम्बिका मरकाम, ब्लॉक कांग्रेस नगरी के कार्यकारी अध्यक्ष कृष्ण कुमार कश्यप, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी बेलर अध्यक्ष कैलाश प्रजापति, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी नगरी अध्यक्ष राजेन्द्र सोनी, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी कुकरेल अध्यक्ष करन चन्द्राकर,ब्लॉक कांग्रेस कमेटी मगरलोड अध्यक्ष राजेश साहू, वरिष्ठ कांग्रेस नेता अब्दुल जब्बार खान, दाऊवालाल देवांगन, श्याम सुन्दर सिन्हा,  रामभरोस साहू, आदिवासी कांग्रेस के जिला अध्यक्ष टेश्वर ध्रुव, निकेश ठाकुर, राघवेन्द्र वर्मा, कमलेश मिश्रा, भूषण साहू, तुकाराम साहू, सोहिल साहू, भरत निर्मलकर, पेमन स्वर्णबेर, संजय परिहार, गजेन्द्र कंचन, गोपीकृष्ण लाहौरिया, शकुंतला ठाकुर, हेमलता प्रजापति, सचिन भंसाली,रूद्रप्रताप नाग,माखन भरेवा,आनंद राम साहू, सूदे सिंग ध्रुव,समारू नेताम, हाशम मेमन, जियाउद्दिन रिजवी,अनवर रजा, बशीर अली, विजय शंकर दीक्षित, पिंकी यदु, वेद राम साहू, निश्चल लाहौरिया, भरत लहरे, महेन्द्र पांडेय,कुलदीप साहू, किशन गजेन्द्र, सलमान रजा, आदित्य तिवारी, सतीश साहू,भीषम यादव, नदीम अली,  सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

  •  

Posted Date : 02-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कुरूद, 2 नवम्बर। कांग्रेस से टिकट के प्रबल दावेदार राजीव पंचायती राज संगठन के प्रदेश संयोजक एवं जिला पंचायत सदस्य नीलम चन्द्रकार ने कांग्रेस हाईकमान के फैसले पर विरोध जताते हुए अपने समर्थकों से रायशुमारी कर पार्टी से इस्तीफा देकर निर्दलीय चुनाव लडऩे का एलान किया। शुक्रवार को मां चंडी मंदिर में पूजा-अर्चना कर हजारों समर्थकों के साथ रैली निकाल मतदाताओं से आशीर्वाद मांगते हुए नामांकन दाखिल करने धमतरी रवाना हुए। नीलम के निर्दलीय चुनाव लडऩे के हौसले से उनके समर्थकों में भारी उत्साह है। लेकिन कांग्रेस में चिन्ता की लहर दौड़ गई है। 

  •  

Posted Date : 02-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    धमतरी, 2 नवंबर। स्कूल आते-जाते समय और पानी भरते समय छात्रा को परेशान करने तथा अपने साथ सगाई हुई है कहकर ताना मारने वाले युवक को न्यायालय ने पांच साल सश्रम कारावास की सजा दी है। रोज-रोज के ताने से शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताडि़त होकर छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। 
    न्यायालयीन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार घटना 17 फरवरी 2018 की है। ग्राम तरसींवा में छात्रा के स्कूल आते-जाते समय और छात्रा के पानी भरते समय टीकाराम साहू पिता स्व.हेमंत कुमार साहू 23 वर्ष निवासी ग्राम तरसींवा उसे परेशान करता था। वह छात्रा के साथ अपनी सगाई की बात प्रचारित कर छात्रा को ताना मारता था। रोज-रोज की छेड़छाड़ और ताने से छात्रा शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताडि़त हो गई। 17 फरवरी को छात्रा ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 
    पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच की। तो मामला आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने का निकला। पुलिस ने न्यायालय में चालान पेश किया। अपर सत्र न्यायाधीश ग्रेगोरी तिर्की ने सबूतों और गवाहों का परीक्षण करने के बाद टीकाराम साहू को दोषी पाया। उसे पांच वर्ष सश्रम कारावास और 1 हजार जुर्माने से दंडित किया। जुर्माना अदा नहीं करने पर 3 माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। 
    बच्चों को लगे टीके
    बेमेतरा, 2 नवंबर। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शहर के विभिन्न स्कूलों में बच्चों को एमआर टीकाकरण कार्यक्रम के तहत टीका लगाया। इस दौरान सीएचएमओ डॉ. एसके शर्मा, प्रभारी अनुपमा तिवारी व संजय तिवारी आदि सक्रिय रहे। उन्होंने लोगों को टीकाकरण के बारे में जागरुक किया और लाभ के बारे में बताया। गंजपारा स्थित विविड किड्स स्कूल एवं सुन्दर नगर के बच्चों को टिका लगाया। सरकार की इस योजना को लोगों ने सहयोग किया।

  •  

Posted Date : 01-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    धमतरी, 1 नवंबर। बीमा की बंद पालिसी का रकम दिलाने मोबाइल पर झांसा देकर अलग-अलग खातों में पीडि़त से 85.69 लाख जमा कराकर ठगी का मामला सामने आया है। धोखाधड़ी के आरोपित दिल्ली, बिहार के 5 युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। युवकों से मोबाइल, रकम व लेपटाप सहित अन्य सामग्रियां जब्त की गई। 
    एसपी रजनेश सिंह ने बताया कि धमतरी के बनियापारा निवासी सुभाषचंद्र जैन ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि अज्ञात ठगों ने मोबाइल नंबर 99116-38142, 78360-59913, 95821-50453 और 78359-49731 से कॉल कर रिलायंस कंपनी में उसकी वर्ष 2009-10 में कराई गई बंद बीमा की राशि को वापस दिलाने का झांसा दिया। वे झांसे में आ गए और ठगों के कहे अनुसार प्रोसेसिंग फीस व अन्य चार्जेस के नाम पर उनके बताए अलग-अलग बैंक खातों में रकम जमा करवाते गए। सुभाषचंद्र ने बताया कि पैसा मिलने की उम्मीद में बताए गए खातों में लगातार रूपए जमा करते गए। इसके बाद ठगों ने राशि अधिक होने का हवाला देकर तथा इनकम टैक्स लगने की बात कहकर फिर से अन्य बैंक खातों में रकम जमा करने कहा, जिसे जैन ने जमा कर दिया। ऐसा करते-करते जनवरी 2018 से सितंबर 2018 तक बैंक खातों में कुल 85 लाख 69 हजार 54 रूपए जमा करवा लिए। जब प्रार्थी को ठगी का अहसास हुआ, तब उसने 28 सितंबर को सिटी कोतवाली थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने छल, धोखाधड़ी और आनलाइन ठगी के आरोप में जुर्म दर्ज किया। आरोपियों को पकडऩे टीम बनाई गई। 
    एटीएम से आरोपियों 
    तक पहुंची पुलिस 
    पुलिस ने प्रार्थी द्वारा जिन-जिन बैंकों के माध्यम से खातों में पैसे जमा कराए गए थे, उनके स्टेटमेंट का अध्ययन किया और आहरण की जानकारी ली। आरोपित युवकों ने दिल्ली के रोहिणी और पीतमपुरा क्षेत्र के एटीएम से आहरण किया था। यह क्लू मिलते ही पुलिस ने नईदिल्ली के लिए रवाना हो गई और आरोपियों को घेराबंदी कर दबोच लिया। आरोपितों से पांच नग मोबाइल, एक लेपटाप, एटीएम कार्ड, पासबुक, एक पोलो कार, एक बुलेट बाइक, प्रापार्टी के दस्तावेज और एक लाख 19 हजार जब्त किए गए। 
    ये हैं गिरफ्तार 5 आरोपियों का ब्योरा 
    1. आशीष रंजन पिता विनोद गिरी, मूल निवासी रामपुर थाना ओवरा जिला औरंगाबाद, हाल एल164, ए विजय विहार, 02 रोहिणी दिल्ली।  
    2. संजय कुमार गुप्ता पिता कृष्णानंद गुप्ता मूल निवासी नरसिंह पुर जिला शेखपुरा बिहार, हाल पी 32, बुद्ध बिहार फेस 2 शर्मा कालोनी नई दिल्ली। 
    3. ज्योजित सरकार पिता महेश चंद्र सरकार, मूल निवासी प्लेेट नंबर ई 01, प्रथम तल, ज्योत्सना अपार्टमेंट आरंडगा, आसनसोल, हाल सी 601 /1 थर्ड फ्लोर, गली नंबर 13 आदर्श नगर। 
    4. शक्ति पवार पिता जिया लाल पवार निवासी एमजी 01/ 105 3रीं मंजिल विकासपुरी वेस्ट दिल्ली। 
    5. राजीव शर्मा पिता अनूप शर्मा निवासी जी 41 महावीर बिहार कालोनी कंझावला थाना दिल्ली मूल निवास थाना बलिया बेगुसराय।

  •  

Posted Date : 01-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कुरूद, 1 नवंबर। आज मां चण्डी का आशीर्वाद ले अजय ने खुली और भगवा फू लों से सुसज्जित जीप पर जनता-जनार्दन को नमन करते कुरूद नगर सहित पूरे रास्ते खड़े रहकर धमतरी कलेक्टोरेट पहुंच नामांकन जमा किया। उनके साथ सुप्रसिद्ध भोजपुरी सुपर स्टार एवं दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी रहे।
    भारतीय जनता पार्टी की तय चुनावी रणनीति के तहत दूसरे चरण के सभी 72 प्रत्याशियों के एक ही दिन, राज्य निर्माण दिवस 1 नवम्बर को ही नामांकन दाखिल के अन्तर्गत कुरूद विधायक एवं मंत्री अजय चन्द्राकर गुरूवार सुबह नगर की अधिष्ठात्री देवी मां चण्डी के मंदिर पहुंच विधिवत पूजा-अर्चना करने के पश्चात् फूलों से सजे-धजे वाहन पर सवार होकर नगर के थाना रोड, दीनदयाल उपाध्याय चौक, पुराना बाजार, हुतात्मा चौक, सरोजनी चौक से होते हुए पुराना बस स्टैण्ड पश्चात् कारगिल चौक होते हुए कैनाल रोड, संजय नगर, पार्टी कार्यालय, शिक्षक कॉलोनी, सांधा चौक होते हुए धमतरी कलेक्टोरेट के लिए रवाना हुए। 
    जहां रास्ते भर जगह-जगह फूल-मालाओं एवं अभिवादन से उन्हें लोगों ने शुभकामनाएं दी। उनके पीछे कार्यकर्ताओं सहित समर्थक बाईक रैली में पार्टी और अजय के नारे लगाते धमतरी पहुंचे। 

  •  

Posted Date : 01-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    धमतरी, 1 नवंबर। सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती राष्ट्रीय एकता दिवस पर जिले में स्कूलों, स्वयं सेवी संस्थाओं ने कार्यक्रम किए। छात्र-छात्राओं ने गांधी मैदान से एकता दौड़ की। इसके बाद उन्हें राष्ट्रीय एकता अखंडता एवं सुरक्षा को बनाए रखने एवं देश की आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना योगदान करने की शपथ दिलाई गई। दौड़ में स्कूल, कालेज की छात्र-छात्राएं, शिक्षक, एनएसएस, एनसीसी कैडेट्स, स्काउट गाइड्स, रेडक्रास के वालेंटियर्स, पुलिस बल, नगर सैनिक, रक्षित निरीक्षित केन्द्र, स्कूल शिक्षा विभाग के सभी अधिकारी व कर्मचारी शामिल हुए। 
    मतदान के लिए भी दिलाई शपथ-बीसीएस पीजी कॅालेज में राष्ट्रीय एकता दिवस पर एकता दौड़ हुई। इसमें कालेज के सभी छात्र-छात्राएं शामिल हुए। इसके बाद उन्हें कॅालेज परिसर में ही जागरूक मतदाता होने के नाते स्वयं व दूसरों को मतदान करने के लिए प्रेरित करने की शपथ दिलाई गई। इस मौके पर प्राचार्य डॉ. चंद्रशेखर चौबे, प्रो. कोमल यादव, प्रो. पंकज जैन आदि उपस्थित थे।  
    नए मतदाताओं का एनआरएम गर्ल्स कॅालेज में स्वागत-शासकीय एनआरएम गर्ल्स कॅालेज में नए मतदाताओं का स्वागत किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि डॉ. रोहिणी मरकाम ने कहा कि मतदाता किसी प्रलोभन में न आएं। योग्य प्रत्याशी का चयन कर वोट डालें। प्राचार्य डॉ डीआर चौधरी ने कहा कि भारत लोकतंत्रात्मक शासन प्रणाली वाला देश है। उन्हीं व्यक्ति को वोट दें, जो योग्य हो। इस अवसर पर डॉ. जेएस पाटले, अंकिता बेतवार, कुशल चोपड़ा आदि उपस्थित थे। इसके अलावा कालेज में सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्मदिवस को राष्ट्रीय एकता दिवस के रुप में मनाया गया। प्राचार्य डीआर चौधरी ने छात्राओं सहित स्टाफ को राष्ट्रीय एकता शपथ दिलाई।  
    कार्यालयों में भी याद किया -शासकीय कार्यालयों में अधिकारियों व कर्मचारियों ने राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय एकता की शपथ ली। अपर कलेक्टर केआर ओगरे ने सुबह 11 बजे जिला कार्यालय के मुख्य प्रांगण में अधिकारियों व कर्मचारियों को राष्ट्र की एकता, अखंडता और सुरक्षा को बनाए रखने, सरदार वल्लभ भाई पटेल की दूरदर्शिता एवं कार्यों के द्वारा संभव बनाने की शपथ दिलाई। 

  •  

Posted Date : 31-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    धमतरी, 31 अक्टूबर। सिटी कोतवाली और कुरुद पुलिस ने अलग-अलग मामलों में चाकू की नोक पर मोबाइल और नगदी लूटने वाले 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उनसे 5 मोबाइल भी जब्त किए हैं। इसके अलावा चोरी के एक अन्य मामले में दो आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया है। कोर्ट में पेश करने के बाद आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। 
    कुरुद थाना क्षेत्र के ग्राम सेनचुआ निवासी पवन नेताम 25 अक्टूबर को देर-रात बाइक से घर जा रहे थे। रास्ते में बिजनापुरी पुल के पास 2 अज्ञात युवकों ने उन्हें चाकू दिखाया। मोबाइल लूट कर भाग गए। उन्होंने कुरुद थाने में घटना की रिपोर्ट की। कुरुद पुलिस ने इस मामले में जांच-पड़ताल शुरू की। मुखबिर की सूचना पर छाती निवासी रवि (22) पिता ओमप्रकाश साहू को हिरासत में लिया गया। पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म स्वीकार किया। एक अन्य मामले में कोतवाली टीआई राकेश मिश्रा ने बताया कि इतवारी बाजार और आमातालाब गौरव पथ रोड क्षेत्र में राहगीरों के साथ चाकू की नोक पर लूटपाट करने और डराने-धमकाने की शिकायत मिली थी। ग्राम भटगांव के मजराटोला निवासी भाऊसिंह पिता छिंदू नेताम और विक्की पिता कमल गौदिया द्वारा ऐसी वारदात करने की सूचना मिली थी। दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई जिसमें उन्होंने अपना अपराध स्वीकार कर लिया। 
    कुरूद पुलिस ने किया चोरी के आरोपियों को गिरफ्तार  
    क्षेत्र में लगातार चोरी की शिकायत भी पुलिस को मिली रही थी, इस मामले में कुरुद धोबनीपारा निवासी उत्तम (21) पिता चंद्रहास नगारची, बगदेही निवासी रुपेंद्र (22) पिता अभयराम नगारची को गिरफ्तार कर उनसे 4 मोबाइल जब्त किए गए। टीआई प्रणाली बैद ने बताया कि कुरुद पुलिस द्वारा गिरफ्तार तीनों आरोपी शातिर बदमाश हैं और पूर्व में चोरी के मामले में जेल भी जा चुके है। तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया।

  •  

Posted Date : 31-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 31 अक्टूबर। अविभाजित मध्यप्रदेश का जमाना हो या छत्तीसगढ़ राज्य। कांग्रेस की सरकार रही हो या भाजपा की सरकार। वर्षों से राज्य और सरकारें बदलती रहीं, लेकिन नहीं बदली है तो गंगरेल बांध के डुबान क्षेत्र के तस्वीर। आज भी यहां लोग बीहड़ की जिंदगी कष्टों के बीच जीने मजबूर हैं। कष्ट के बाद भी चुनाव में हिस्सा लेते हैं और राजनीतिक दलों को एकतरफा वोट मिलता है। 
    चिखली के विनोद तारम का कहना है कि आदिवासी बाहुल्य डुबान क्षेत्र में विकास की किरण नहीं पहुंच पाई है। डुबान क्षेत्र के लिए हक की लड़ाई लडऩे वाले गणेश का कहना है कि गंगरेल बांध को खेतों की सिंचाई और भिलाई स्टील प्लांट में पानी की आपूर्ति के लिए बनाया गया। बांध के पानी में पूरे 52 गांव डूब गए। 22 गांवों का तो अस्तित्व ही समाप्त हो गया। 30 गांव अन्य स्थानों पर पुन: बसाए गए। सालों बाद भिलाई स्टील प्लांट से सीएसआर फंड के रूप में 1 करोड़ मिले। इस राशि का भी फायदा इलाके को नहीं मिला। डुबान क्षेत्र के शिवलाल, राय सिंह का कहना है कि क्षेत्र में न सड़कें हैं, न पेयजल की सुविधा है। पुल-पुलिया के अभाव के कारण बरसात में कई गांवों का संपर्क टूट जाता है। 
    डुबान क्षेत्र के 30 गांवों के 10 हजार से अधिक मतदाताओं को साधने के लिए पार्टियां सक्रिय हो गई है। प्रदेश सरकार ने गंगरेल बांध के डूब क्षेत्र के इन गांवों को माडा क्षेत्र घोषित किया है। सरकार की घोषणा के मुताबिक 5 रूपए किलो में चना का लाभ बस्तर की तरह मिलेगा। 
    क्षेत्र की सोनिया बाई मंडावी ने बताया कि गांवों के लोग रहते तो धमतरी जिला में हैं, पर हर काम के लिए कांकेर पर आश्रित है। डाकघर जाना हो या अस्पताल में उपचार कराने, कांकेर जिले के चारामा जाते हैं। जिला मुख्यालय धमतरी जाना हो, तो चारामा से घूमकर 40-50 किमी की दूरी तय करनी पड़ती है। 42 साल बाद भी न जल परिवहन की सुविधा उपलब्ध हो पाई और न ही पुल बन पाया। निर्णायक हैं मतदाता 
    धमतरी विधानसभा क्षेत्र में कुल 2 लाख 9 हजार 182 मतदाता हैं। इसमें से 10 हजार से अधिक मतदाता डुबान क्षेत्र में निवास करते हैं। सभी गांवों एक जैसे हैं, इसलिए मतदाताओं का रुझान एकतरफा रहता है। इस बार मौजूदा कांग्रेस विधायक और प्रदेश सरकार दोनों की कार्यशैली से डुबान क्षेत्र के लोग नाराज हैं। इस कारण वोटरों के रुख पर कुछ कहा नहीं जा सकता। 

  •  

Posted Date : 30-Oct-2018
  •  

    धमतरी, 30 अक्टूबर। जिले की सिहावा विधानसभा क्षेत्र नक्सल प्रभावित है। इसलिए पुलिस इस क्षेत्र से आने वाले सभी वाहनों और बाइक पर विशेष नजर रख रही है। 200 मीटर की दूरी पर पुलिस की 2 टीमों ने चारपहिया व दोपहिया वाहनों की बारीकी से जांच की। दस्तावेज व अन्य खामियां मिलने वाले चालानी कार्रवाई की। इस कार्रवाई से उस क्षेत्र के वाहन चालकों में हड़कंप मच गया है। नहर नाका के पास और कोलियारी में करीब 200 मीटर की दूरी पर वाहनों की जांच-पड़ताल करती रही। वाहन की डिक्की में रखी सामग्री व कार के अंदर सभी सामाग्रियों की जांच की गई। जिन वाहनों में खामिया मिली, उस चालक के खिलाफ चालानी कार्रवाई की गई। 
    पुलिस की सक्रियता बढ़ी 
    जिले में धमतरी, कुरूद और सिहावा 3 विस क्षेत्र है। इनमें से सिहावा विधानसभा क्षेत्र नक्सल प्रभावित है, जहां शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए पुलिस के लिए चुनौती है। चुनाव नजदीक होने के कारण नक्सल प्रभावित क्षेत्र पर सुरक्षा की दृष्टि से विशेष नजर रखी जा रही है। नगरी-सिहावा से आने वाले वाहनों की बारिकियों से जांच की जा रही है, ताकि कोई भी अपराधिक गतिविधि सफल न हो। वहीं ओडि़शा बार्डर का क्षेत्र होने के कारण इस क्षेत्र से आए दिन गांजा तस्करी होती है, ऐसे में कई बार सुबह-सुबह पुलिस उस क्षेत्र से आने वाली वाहनों की जांच भी करती है। 
    कैश व सामग्रियों पर नजर 
    विस चुनाव के मद्देनजर धमतरी की सीमावर्ती ग्राम श्यामतराई नाका, अर्जुनी मोड, नगरी रोड में नहर नाका व धमतरी-गुंडरदेही मार्ग चारों ओर पुलिस की विशेष नजर है। पुलिस इन क्षेत्रों से होकर गुजर रहे वाहनों की भी जांच कर रही है। चारपहिया व बाइक की डिक्की में कैश, उसमें रखे अन्य सामान भी देख रहे हैं। बड़ी संख्या में होने पर उनसे रसीद व काफी पूछताछ के बाद ही वाहनों को जाने दे रही है। ताकि इन क्षेत्रों से होकर चुनाव में वितरण के लिए कोई लुभावनी सामग्री न जा सके। 

  •  

Posted Date : 30-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कुरूद/धमतरी, 30 अक्टूबर। चुनाव ड्यूटी पर रायपुर से केशकाल जा रही 14 बटालियन पटना बीएमपी (बिहार मिलिट्री पुलिस) से भरी मिनी बस सोमवार को दोपहर 3.30 बजे नेशनल हाईवे पर संगवारी ढाबे के पास पलट गई। यह दुर्घटना मिनी बस का पट्टा टूटने से अचानक अनियंत्रित होने के कारण हुई। बस पर सवार 20 में से 7 जवान घायल हो गए। एक जवान को ज्यादा चोट लगने के कारण रायपुर रेफर कर दिया गया। अन्य घायलों को कुरुद अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।  
    कुरूद टीआई प्रणाली बैद ने बताया कि बिहार पुलिस के जवान दोपहर करीब 3.30 बजे कर्नल एकेडमी की स्कूल मिनी बस से चुनाव ड्यूटी पर रायपुर से केशकाल जाने के लिए निकले थे। कुरूद के ढाबे के पास बस के सामने चक्के का पट्टा टूट गया। बस तेज गति में थी, ड्रायवर स्टेयरिंग नहीं संभाल पाया जिससे वह पलट गई। 7 जवानों के सिर, पैर, हाथ और कमर में चोट आई है। एक जवान दिनेश्वर के सिर पर गंभीर चोट आने के कारण उन्हें रायपुर रेफर किया गया। सूचना मिलते ही कुरूद पुलिस मौके पर गई। संजीवनी एंबुलेंस 108 से घायलों को कुरूद सिविल अस्पताल ले जाया गया।  
    ये जवान हुए घायल 
    रसीद (53) पिता स्व. प्रधान हेमराम, सलीम (29) पिता मो. शरफद अंसारी, गोरखनाथ (30) पिता जगनारायण यादव, मनीष (35) पिता सुशील झा, रामचंद (59) पिता सुखदेव, नीरज (30) पिता विजय सिंह व दिनेश्वर (58) पिता राजकुमार तिवारी घायल हुए है। 

  •  

Posted Date : 29-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    धमतरी, 29 अक्टूबर। अपनी अनोखी मान्यता के लिए विख्यात जिले के गांव सेमरा-सी में 1 नवंबर को ही दीपावली मनाई जाएगी। गांव के देवता का आशीर्वाद गांव पर बना रहे इसके लिए यहां के लोग 4 प्रमुख त्योहार होली, दिवाली, हरेली और पोला हफ्तेभर पहले मनाते हैं। 
    कुरुद ब्लाक के सेमरा-सी गांव में 1 नवंबर को लक्ष्मी पूजन किया जाएगा, 2 नवंबर को गोवर्धन पूजा कर गौरा-गौरी की बारात निकाली जाएगी। जबकि देशभर में लोग दिवाली 7 और 8 नवंबर को गोवर्धन पूजा होगी। सेमरा-सी के बुजुर्गों का कहना है कि वे पूर्वजों की परंपरा का निर्वहन कर रहे हैं। एक हफ्ते पहले 4 प्रमुख त्योहार मनाने के बावजूद यहां लोगों का उत्साह कम नहीं रहता।   1500 की आबादी वाले इस गांव में अब तक किसी ने पीढ़ी-दर-पीढ़ी चली आ रही इस मान्यता से मुंह नहीं मोड़ा है। 
    शुरुआत कब से, इससे सब अनजान
    इस मान्यता की शुरुआत कब हुई, ये स्पष्ट बताने वाला गांव में कोई नहीं है। सरपंच सुधीर बल्लाल ने बताया कि सैकड़ों साल पहले ग्राम देवता सिरदार देव किसी के स्वप्न में आए थे, उन्होंने गांव की खुशहाली के लिए ऐसा करने कहा था, तब से हर साल दिवाली, होली, पोला और हरेली तय तारीख से एक सप्ताह पूर्व मनाते हैं। हीरुराम पांडेय (65), घनश्याम देवांगन (52) ने बताया कि सैकड़ों साल पहले गांव में बाहर से एक बुजुर्ग आकर रहने लगे थे, जिनका नाम सिरदार था। उनकी चमत्कारिक शक्तियों और बातों से गांव के लोगों की परेशानियां दूर होती थीं। इससे उनके प्रति आस्था व विश्वास बढऩे लगा, पूर्वज उन्हें पूजने लगे थे। गांव में सिरदार देव का मंदिर भी है।
    महिलाएं नहीं जातीं विग्रह के करीब 
    गांव के 70 वर्षीय सेतबन सिन्हा और 85 साल के अगरहिज सिन्हा ने बताया कि सिरदार देव के मंदिर के पास जमा होकर लोग उल्लास के साथ पर्व मनाते हैं। परंपरा के अनुसार गांव की युवतियां और शादीशुदा महिलाएं सिरदार देव के करीब नहीं जातीं।
     ऐसा क्यों किया जाता, इसका जवाब किसी के पास नहीं, लोग बस इतना जानते हैं कि यदि परंपरा टूटी, तो गांव पर विघ्न आ जाएगा। त्योहार को लेकर ग्रामीणों का उत्साह इसी से समझा जा सकता है कि शादी के बाद दूसरे गांवों में जा चुकी बेटियों के साथ उनके परिजन भी गांव आते हैं। अनूठी परंपरा में आसपास के जिलों से भी लोग यहां पहुंचते हैं।

  •  

Posted Date : 27-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 27 अक्टूबर। धमतरी विधानसभा क्षेत्र में कभी भी जातिगत समीकरण नहीं चला। हर बार यहां उम्मीदवार का चेहरा और राजनीतिक दल के एजेंडे हावी रहे। 30 प्रतिशत से अधिक वोटर वाले साहू उम्मीदवार 3 बार चुनाव हारे। सिर्फ एक बार ही जीत पाए। वहीं, 5 प्रतिशत से भी कम वोटर संख्या वाले उम्मीदवारों ने भारी मतों के अंतर से चुनाव जीतने का रिकॉर्ड बनाया है।
    फेल हो जाता है समीकरण 
    विधानसभा क्षेत्र में कुल 2 लाख 9 हजार 182 मतदाता हैं, जिसमें 1 लाख 2 हजार 538 पुरूष, 10 हजार 638 महिला और 6 थर्ड जेंडर हैं। इस बार भाजपा ने जातिगत समीकरण और महिला को ध्यान में रखते हुए रंजना साहू को मैदान में उतारा है। 
    वर्ष 1985 में भाजपा ने पहली बार जातिगत समीकरण का फार्मूला अपनाते हुए कृपाराम साहू को मैदान में उतारा था। कृपाराम को 24 हजार 464 वोट मिले थे, जबकि कांग्रेस उम्मीदवार जयाबेन को 31 हजार 374 वोट लेकर 6 हजार 910 के अंतर से जीत दर्ज की। 1990 के चुनाव में फिर से भाजपा ने कृपाराम पर दांव लगाया। कृपाराम ने 42 हजार 660 मत प्राप्त कर केसरीमल लुंकड़ (40043 वोट ) को 2617 वोट के मामूली अंतर से हराया। 
    वर्ष 1998 में 16 हजार से ज्यादा वोट से हारे 
    वर्ष 1998 के चुनाव में भाजपा ने जातिगत समीकरण का फार्मूला अपनाते हुए पूर्व मंत्री कृपाराम साहू को टिकट दी, लेकिन भाजपा का फार्मूला फेल साबित हुआ। कांग्रेस के हर्षद मेहता ने 16 हजार 322 वोटों के भारी अंतर से कृपाराम साहू को चुनाव हराया। हर्षद मेहता को 56 हजार 520 और कृपाराम साहू को 40 हजार 198 वोट मिले। 
    रिकॉर्ड वोट से हारे विपिन
    वर्ष 2008 के चुनाव में भाजपा ने फिर साहू कार्ड खेलते हुए विपिन साहू को चुनाव मैदान में उतारा। उम्मीद थी कि साहू समाज के वोटर विपिन के पीछे लामबंद होकर वोट देंगे, लेकिन इसके उलट हुआ। कांग्रेस के गुरुमुख सिंह होरा ने 27 हजार 7 मतों के रिकार्ड अंतर से जीत गए। 
    5 प्रतिशत से कम आबादी वाले उम्मीदवार हावी 
    5 प्रतिशत से कम मतदाता संख्या वाले गुजराती समाज से 4 बार विधायक चुने गए। वर्ष 1957 में पुरुषोत्तम पटेल, 1980 और 1985 में 2 बार जयाबेन तथा 1998 में हर्षद मेहता शामिल हैं। सिख समाज के मतदाता भी 5 प्रतिशत से कम है। इसके बावजूद गुरुमुख सिंह होरा ने लगातार 2 बार 2008 और 2013 में चुनाव जीता।

  •  



Previous123Next