छत्तीसगढ़ » धमतरी

Previous12Next
Posted Date : 18-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 18 जुलाई। घंटों इंतजार के बाद गर्भवती को 102 महतारी एंबुलेंस नहीं मिल सका,नतीजन जिला अस्पताल लाते ऑटो में ही डिलवरी करानी पड़ी। ज्ञात हो कि स्वास्थ्य मंत्री अजय चन्द्राकर का यह गृह जिला है।  प्रदेश समेत धमतरी जिले के 108 और 102 एंबुलेंस कर्मचारी बीते 3 दिनों से बेमुद्दत हड़ताल पर हंै।  जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग इमरजेंसी सेवाओं को वैकल्पिक रुप से चलाने में जरा भी दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हंै।
    मिली जानकारी के अनुसार शहर के मकेश्वर वार्ड निवासी आसीफा बेगम को आज सुबह  प्रसव पीड़ा हुई, तब वार्ड की मितानिन महिला के घर पहुंची और 102 महतारी एंबुलेंस को फोन किया। पर किसी ने फोन रिसीव नहीं किया। लगभग घंटेभर परिजन और मितानिन एंबुलेंस की मदद  की बांट जोहते रहे।  तब परिजन ऑटो से जिला अस्पताल महिला को डिलवरी कराने ला रहे थे। इस दौरान  प्रसव पीड़ा बढऩे से  ऑटो में ही प्रसव करवाया गया। अस्पताल में जच्चा-बच्चा दोनों भर्ती है। डॉक्टरों के अनुसार दोनों स्वस्थ है। इस संबंध में सीएमएचओ डॉ. डीके तुर्रे से संपर्क किया गया, लेकिन संपर्क नहीं हुआ। 

  •  

Posted Date : 02-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 2 जुलाई। रत्नाबांधा रोड  में आज सुबह  एक  ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाईक चालक युवक की मौके पर मौत हो गई। 
     पुलिस के अनुसार डौंडीलोहारा  देवरी निवासी यशु दास बाईक से धमतरी किसी काम से आ रहा था। इस दौरान एक अज्ञात ट्रैक्टर ने पीछे से बाईक को जोरदार टक्कर मारी। हादसे में बाईक चालक  ु सड़क पर गिरा और ट्रैक्टर का पहिया उसके सिर पर चढ़ा गया। 
    हेलमेट पहने इस  बाईक चालक के सिर पर  ट्रैक्टर का पहिया चढ़  गया, इससे उसकी घटना स्थल पर मौत हो गई। अज्ञात ट्रैक्टर चालक के खिलाफ अपराध दर्ज कर पतासाजी की जा रही है।

  •  

Posted Date : 30-Jun-2018
  • नगरी-सिहावा रोड पर हादसा
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 30 जून। नगरी-सिहावा रोड पर केरेगांव के पास देर-रात हुए सड़क हादसे में 3 बैंककर्मियों की मौके पर ही मौत हो गई। मृतकों में 2 बैंककर्मी पंजाब नेशनल बैंक के  व एक  बैंक का बीमा एजेंट है। बैंक मैनेजर गंभीर रुप से घायल है, जिसे रायपुर भेजा गया है। 
    केरेगांव पुलिस के अनुसार घटना रात लगभग 11-12 बजे की बताई गई है। सिहावा के पंजाब नेशनल बैंक शाखा में कार्यरत बैंक मैनेजर के साथ कार  ओडी 02 एएस 5970 में सवार बैंक कैशियर कामेश सिंह, क्लर्क दीपांशु चंद्रकार, बैंक मैनेजर व एक बीमा एजेंट सभी नगरी से धमतरी आ रहे थे। तभी केरेगांव के पास कार बेकाबू होकर खाई में गिर गया। हादसे में कामेश, दीपांशु व एक बीमा एजेंट की मौत हो गई। जबकि बैंक का मैनेजर गंभीर रुप से घायल है, जिसे मसीही अस्पताल से रायपुर भेजा गया है। हादसे में कार के परखच्चे उड़ गए।

     

  •  

Posted Date : 26-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 26 जून। शिक्षा को बढ़ावा देने अपनी कमाई का पूरा पैसा विद्यार्थियों और स्कूलों के हित के लिए दान करने वाली ग्राम सेमरा बी निवासी दुखिन बाई यादव नहीं रहीं।
    कल 25 जून को  निधन का समाचार मिलते ही पूरा गांव,  शिक्षा विभाग के अधिकारी व विद्यार्थियों की भीड़ घर के सामने लग गई। सभी ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी। 
    पति की मौत के बाद से दुखिन बाई यादव (65 वर्ष) अकेली थी। कोई संतान नहीं थी। गुजारे के लिए अपने घर में छोटा सा होटल चलाती थी। होटल की कमाई से सालों से जमा रकम स्कूल व विद्यार्थियों के हित के लिए  दान की थी। खुद निरक्षर थी, लेकिन गांव के हर बच्चों को पढ़ाने कोशिश करती थी। जरूरतमंदों को हमेशा दान करती थी। स्कूल को 30 हजार नकद, वाटर फिल्टर, रेडक्रॉस के लिए पलंग गद्दा, दान दिया। इतना ही नहीं बच्चों की पढ़ाई के लिए स्कूल के नाम से हर माह 600 जमा करती थी।
     इसके अलावा वह बच्चों को किताब-कापी सहित कई तरह की सामग्री देती रहती थीं कि बच्चे बेहतर ढंग से पढ़ लिख सकें,। इन सब कार्यों के कारण ग्रामीण उनका आदर करते थे। 

  •  

Posted Date : 25-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 25 जून। धमतरी में नक्सलियों ने लंबे समय बाद फिर से अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है। सिहावा-बोरई मार्ग पर जगह-जगह पर्चे फेंककर पेड़ काटे और रास्ता जाम किया है। पुलिस अफसरों ने क्षेत्र के जवानों को सतर्कता बरतने की हिदायत दी है। 
    पुलिस के अनुसार नक्सलियों ने आज एक दिवसीय पूर्वी छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान किया है। जिस क्षेत्र में नक्सलियों ने पर्चें फेंके है, वह सीतानदी अभ्यारण आधामांझी आता है। नक्सलियों ने देर-रात यह वारदात की है।  पुलिस  टीम मौके पर पहुंची और सड़क पर गिरे पेड़ को हटाकर यातायात व्यवस्था दुरुस्त किया गया। पेड़ में टांगे गए बैनर-पोस्टर और फेंके गए पर्चें को जब्त किया गया है। 
     एसपी रजनेश सिंह ने  बताया कि नक्सलियों ने सिहावा-बोरई मार्ग पर  पेड़ काटकर सड़क जाम करने की कोशिश की है। पुलिस ने यातायात बहल कर लिया है। जवानों की टीम सर्चिंग के लिए निकली है। पर्चा भी मिला है, जिसमें पूर्वी छत्तीसगढ़ एक दिवसीय बंद का ऐलान किया गया है। 

  •  

Posted Date : 06-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 6 जून। नगरी ब्लाक के ग्राम फरसिया में आज सुबह  एक मां ने अपने 2 बच्चों के साथ खुद को आग लगा ली, जिसमें 2 साल के बेटे की मौत हो गई है। जबकि मां और उसके 4 माह  की बच्ची की हालत गंभीर बताई जा रही है। धमतरी में उनका इलाज जारी है। 
    पुलिस के अनुसार नगरी थाना क्षेत्र के ग्राम फरसिया निवासी राजेश साहू की पत्नी खेमलता साहू ने अपने 2  बच्चे भावना साहू 4 माह और डेविड साहू 2 साल के  साथ सुबह 5 बजे मिट्टी तेल डालकर आग लगा ली। गंभीर अवस्था में उन्हें नगरी अस्पताल ले जाया गया, वहां से जिला अस्पताल भेजा गया। आधे घंटे इलाज के बाद डेविड की मौत हो गई। मां-बेटी की मौत से संघर्ष कर रहे हैं। 
    मृतिका के पति राजेश साहू ने बताया कि वह सुबह लकड़ी लेने के लिए जाने के लिए उठा था और अपनी पत्नी को चाय बनाने कहा। चाय पीते वक्त दूसरे कमरे में उसकी पत्नी ने दोनों बच्चों पर मिट्टी तेल डाल ली और खुद पर मिट्टी तेल डालकर आग लगा ली। जैसे-तैसे उसने आग बुझाया और अस्पताल लाया। राजेश ने बताया कि दोनों के बीच ऐसा कोई विवाद नहीं होता था और ना ही किसी प्रकार की परेशानी थी। उसे भी समझ नहीं आ रही कि आखिर उसकी पत्नी ने इतना बड़ा कदम क्यों उठाया। 
    इधर खेमलता के मायके पक्ष वालों से जानकारी मिली है कि राजेश और खेमलता के बीच अक्सर छोटी-छोटी बातों को लेकर विवाद हुआ करता था। राजेश मजदूरी काम करता था और शराब  का आदी था। 6 वर्ष पूर्व दोनों की शादी हुई थी।  

  •  

Posted Date : 21-May-2018
  • टिकेश्वर : परेवाडीह, धमतरी

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 21 मई। दंतेवाड़ा में कल शहीद जवान टिकेश्वर का शव आज सुबह उसके गृहग्राम परेवाडीह लाया गया। जहां राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।  केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शहीद  के पिता जहूर सिंह से  फोन पर बात कर संवेदना जताई और परिवार को ढंाढस बंधाया।   
    शहीद जवान टिकेश्वर के दोस्त हेमंत साहू, राजेश ध्रुव, भुनेश्वर साहू ने बताया कि टिकेश्वर  जिंदादिल इंसान था। उसे बचपन से ही देश सेवा का जुनून था इसलिए उसने पुलिस की नौकरी ज्वाईन की। दोस्त गैंदलाल, राजेश्वर ध्रुव, कैलाश ने बताया कि दो महीने पहले वह जब छुट्टी में आया था, तो उन्होंने काफी मौज-मस्ती की थी। उसने वादा किया था कि गर्मी की छुट्टी में वह फिर लौटकर आएगा। आज जब उसकी शहादत की खबर मिली, तो यकीन नहीं हुआ। 
     टिकेश्वर का जन्म 1982 में हुआ था। बचपन से ही पढ़ाई में काफी होशियार था। पीजी कालेज से बीए की पढ़ाई पूरी करने के दौरान ही उसकी पुलिस में नौकरी लग गई। उसके कंधे में जब वर्दी सजी, तो वह काफी खुश था। उसका कहना था कि बचपन से जो सपना देखा था वह पूरा हो गया। वह कहता था कि जिंदगी भर अपने तन से वर्दी को जुदा नहीं करेगा और उसकी यह बात सच भी हो गई। जवान टिकेश्वर ध्रुव दंतेवाड़ा में ही अपनी पत्नी तारिणी और 4 साल की बेटी नम्रता के साथ रहता था। उसका सपना था कि नम्रता  डाक्टर बने।
    नगरी सिहावा क्षेत्र में बढ़ाई गई सर्चिंग
    इस घटना के बाद से जिले के नगरी-सिहावा और ओडिया बार्डर पर पुलिस सर्चिंग बढ़ा दी गई है। बोरई, खल्लारी, मेचका थाना में भी अलर्ट जारी किया गया है। इस क्षेत्र आने-जाने वाले वाहनों की सघन जांच की जा रही है। 

  •  

Posted Date : 15-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    धमतरी, 15 मई। समीप के ग्राम कोलियारी के पास आज सुबह एक हाईवा ने साइकिल सवार पिता-बेटी को अपने चपेट में ले लिया। हादसे में 12 साल की बच्ची की मौके पर मौत हो गई। गुस्साए ग्रामीणों ने हाईवा को आग लगाकर चक्काजाम कर दिया। दोपहर तक हालात तनावपूर्ण था।   

    मिली जानकारी के अनुसार  आज सुबह 8 बजे  ग्राम भोयना निवासी मोहन ध्रुव अपने बेटी वास्तिका ध्रुव  के साथ बठेनापारा से साइकिल से घर लौट रहा था। तभी नगरी रोड से आ रही हाईवा क्रमांक सीजी 07 एसी 6202 ने उसे चपेट में ले लिया। टक्कर इतना जोरदार थी कि मोहन साइकिल समेत सड़क से दूर फेंका गया, जबकि उसकी बेटी  चक्के के नीचे आने से मौके पर दम तोड़ दिया। 
    इधर घटना की जानकारी ग्रामीणों को मिली, तब क्षेत्र के लोग आगबबूला हो गए और चक्काजाम कर विरोध जताने लगे। कुछ समय बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने वाहन में आग लगा दिया। 
    इधर घटना की खबर पर अर्जुनी, रुद्री, कोतवाली के थानेदार समेत पुलिस अफसर दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और मामले को शांत कराने की कोशिश में लगे थे।  

  •  

Posted Date : 13-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    धमतरी, 13 मई। गरियाबंद जिले के बिंद्रानवागढ़ क्षेत्र में रावनडिंगी गांव के पास जिस नक्सली कमांडर सेवकराम को पुलिस और सुरक्षा बलों ने मार गिराया उस पर धमतरी जिले में भी दो हत्याओं के आरोप हैं। उसका पहले धमतरी जिले में आतंक था लेकिन धमतरी पुलिस का दबाव बढऩे के कारण वह पड़ोसी जिला गरियाबंद के जंगलों में शरण लिए हुए था। उसके खिलाफ धमतरी जिले में हत्या के दो अपराधों के अलावा अन्य अपराध दर्ज हैं। इसकी पुष्टि एसपी रजनेश सिंह ने की है।
    नक्सली के रूप में 2007 से सक्रिय सेवकराम गोबरा दलम (लोकल आपरेशन स्क्वाड) का कमांडर था। गोबरा दलम मैनपुर डिवीजन और सीतानदी एरिया कमेटी के अंतर्गत है। वह धमतरी और गरियाबंद के सीमा क्षेत्र में ग्रामीणों को धमकाता था। एसपी के निर्देश पर गठित टीम ने जब जिले के जंगल बोरई, खल्लारी क्षेत्र में लगातार दबाव बनाया और सीआरपीएफ ने लगातार सर्चिंग की तो वह जिले के जंगल को असुरक्षित मानकर गरियाबंद के जंगलों में चला गया। वहां आसपास के इलाके में पैठ जमाने की कोशिश करने लगा। इस दौरान 11 मई को हुई मुठभेड़ में वह मारा गया। एसपी रजनेश सिंह ने कहा कि 9 सितंबर 2017 को निर्राबेड़ा जंगल में हुई पुलिस और नक्सली मुठभेड़ के दौरान सेवकराम के पैर और हाथ में गोली लगी थी। वह किसी तरह भाग निकला। सुरक्षा बलों ने उसकी काफी खोजबीन की लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। फिलहाल जिले के जंगल में नक्सली उपस्थिति की कोई सुगबुगाहट नहीं है। गठित स्पेशल टीम क्षेत्र में लगाकर सर्चिंग कर रही है। सूचना मिलने पर तत्काल एक्शन भी लेंगे। 
    महादेव मंडावी की हत्या का आरोप
    पुलिस के अनुसार आत्मसमर्पण कर चुके पूर्व नक्सली नचकारपारा बेलर निवासी महादेव मंडावी (40) की हत्या सेवकराम ने ही की। 24 मई 2015 वह महादेव मंडावी के घर घुसा और उस पर कुल्हाड़ी से वार कर उसकी हत्या कर दी। 9 सितंबर 2017 को पुलिस मुखबिर के शक में नक्सली जोगीबिरदो निवासी शत्रुघन को घर से उठाकर गांव के प्राथमिक शाला के पीछे ले गए और कुल्हाडी से उसकी हत्या कर दी। इस हत्या में भी उसका हाथ था। 2009 में रिसगांव ( नगरी ब्लाक) में हुई सबसे बड़ी नक्सली वारदात में भी वह शामिल था। इस वारदात में 13 जवान शहीद हुए थे।  

  •  

Posted Date : 01-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    अभनपुर, 1 अप्रैल। पत्नी की हत्या कर स्वाभाविक मौत बता अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे पति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जमीन को लेकर विवाद के कारण उसने ऐसा किया।
    मिली जानकारी के अनुसार थाना अभनपुर के ग्राम थनौद में ओंकार साहू  निवासी थनौद ने 31 मार्च के रात्रि अपनी पत्नी सोना साहू (56) का गला घोंट कर हत्या कर दीं और ग्रामीणों को बताया तबीयत खराब होने की वजह से मृत्यु हो गई है। 
    रायपुर अस्पताल ले जाने के लिए राकेश साहू के स्कापियों में ले गया।   रायपुर से वापस गांव ले आया एवं अंतिम संस्कार के लिए श्मशान ले जाने की ओर अग्रसर थे तभी रूपसिंग साहू  निवासी कुकरा ने दूरभाष से सोना बाई की संदिग्ध मृत्यु होने की सूचना दी। 
    अभनपुर पुलिस थनौद गांव ओंकार साहू के घर पहुंचे एवं संदिग्ध आकस्मिक मृत्यु पर मर्ग पंजीबद्ध कर जांच कार्रवाई कर शव का पीएम अभनपुर में कराकर पीएम रिपोर्ट प्राप्त किया गया डॉक्टर द्वारा गला घोंटने से मृत्यु होना बताने पर अपराध दर्ज कर विवेचना किया गया। 
    आरोपी ओंकार साहू ने बताया कि उसकी पत्नी के नाम पर लगभग 10 एकड़ कृषि जमीन था जिसमें उसके मायके से प्राप्त कुकरा 2 एकड़, 25 डिसमील जमीन को बिक्री कर ग्राम पाहंदा में 4 एकड़ मृतिका के नाम से क्रय किया गया था एवं ओंकार की बटवारा की जमीन करीबन 6 एकड़ इसके भूस्वामी के नाम में कराया गया था। मृतिका के बैंक खाते में 5 लाख रुपये जमा था इस विवाद के कारण हत्या करना कबुल किया। 

  •  

Posted Date : 23-Mar-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 23 मार्च। अलसुबह  धमतरी से रायपुर जा रही लोहे की राड से लदी ट्रक पेड़ से टकरा गई। ट्रक की रफ्तार इतनी ज्यादा थी कि कंडक्टर और ड्रायवर केबिन में बुरी तरह फंस गए। दोनों को बाहर निकालने में पुलिस को 2 घंटे लगे, तब तक चालक की जान चली गई। जबकि परिचालक का उपचार जिला अस्पताल में चल रहा है। 
     घटना की सूचना पर एएसपी केपी चंदेल, अर्जुनी पुलिस, कोतवाली पुलिस की टीम घटना स्थल पहुंची और ट्रक में फंसे चालक-परिचालक को बाहर निकलने मशक्कत शुरु की। दोनों ट्रक के केबिन में बुरी तरह फंसे थे। पुलिस को गैस कटर, जेसीबी और क्रेन बुलानी पड़ी। करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद पहले परिचालक को बाहर निकला और उसे तत्काल जिला अस्पताल भेजा।  पुलिस के अनुसार मृत चालक का नाम पांडू  और घायल का नाम वेंकट है। दोनों आंध्रप्रदेश के सालूर गांव के निवासी है। 

     

  •  

Posted Date : 24-Dec-2017
  • मगरलोड गौशाला में 
    संचालक फरार

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 24 दिसंबर। जिले के मगरलोड स्थित एक गौशाला में बीते दस दिनों में सौ से ज्यादा गायों की भूख-प्यास से मौत हो गई है। इन मौतों के बाद से गौशाला संचालक फरार है। 'छत्तीसगढ़Ó ने गौशाला का जायजा लिया तो वहां गौशाला संचालन संबंधी कोई दस्तावेज नहीं मिले। कई गायों की हालत दयनीय है। जिलाधीश डॉ सीआर प्रसन्ना ने मामले को  गंभीर बताते हुए जांच के बाद गौशाला संचालक के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है।
    ज्ञात हो कि प्रदेश में कुछ माह पहले साजा-बेमेेतरा और महासमुंद की गौशालाओं में गायों की बिना दाना पानी और बीमारी से मौत के बाद भारी सियासी बवाल मचा था। 
    धमतरी जिले के मगरलोड ईलाके के राजाडेरा गांव से तीन किमी दूर गौशाला जंगल के बीच  है। वेद माता गौशाला के संचालक मनहरण लाल साहू  गायत्री परिवार से जुड़े हंै। मिली जानकारी के अनुसार इस गौशाला में बीते 10 दिनों में सौ से ज्यादा गायों की भूख प्यास से मौत हो गई है। मृत गायों को जंगल में फंेक दिया गया है। बचे गायों की भी हालत काफी दयनीय है।  गौशाला में न चारा है और न ही पीने को पानी। लाशों की बदबू से ग्रामवासी परेशान हंै। गौशाला को लेकर किसी भी तरह का कोई भी दस्तावेज नही है। प्रशासन को भी संचालन संबंधी कोई जानकारी नहीं है। 
    मिली जानकारी के अनुसार गौशाला संचालक ने ईलाके में घूम घूम कर ऐसे लोगों से गाय लिया जो पालने में सक्षम नहीं थे। वहीं गायों के पालन पोषण के लिए भी  उनसे कुछ रकम भी ली। गाय देने वाले किसान बीसन लाल साहू ने बताया कि  आर्थिक हालत ठीक नहीं होने के चलते इस गौशाला को गाय दान में दे दिया था। उम्मीद थी कि यहां पर गायों की अच्छी देखभाल होगी लेकिन यहां पहुंचने पर उन्हें कुछ और ही दिखाई दिया। 
    बजरंग दल के नेता हरख निर्मलकर ने कहा कि गौशाला संचालक इसकी आड़ में मुनाफा कमा रहे हंै। गायों की देखरेख को नजरअंदाज कर रहे हंै जिसका खामियाजा बेजुबान जानवरों को जान देकर चुकाना पड़ रहा है।   

  •  

Posted Date : 11-Dec-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 11 दिसंबर।  अर्जुनी थाना इलाके के ग्राम लोहरसी स्कूल परिसर में आज एक महिला की लाश जली  हालत में मिली। पुलिस ने हत्या की आशंका जताई है।
    अर्जुनी पुलिस के  अनुसार मृतका की पहचान रेवती यादव लोहरसी के रुप में की गई  है। वह आपने 21 वर्षीय बेटे के साथ रहती थी।  प्रथम दृष्टया मामला हत्या का लग रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही इसका खुलासा हो पायेगा।  

  •  

Posted Date : 21-Nov-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 21 नवंबर। नेरोगेज रेल को ब्राडगेज में तब्दील करने के लिए रेलवे की कार्रवाई आज से शुरु हो गई। सुबह 5 बजे से करीब 250 पुलिस बल को मौके पर तैनात किया गया था। रेलवे की जेसीबी चलने से दुकानदारों में खलबली मच गई। 3 जेसीबी के जरिए 93 दूकानों को तोड़ दिया गया। 
    सोमवार को रेलवे के अधिकारियों ने सड़क किनारे के दूकानों की स्थिति का जायजा लिया और दुकानों की गिनती की। इसके बाद लाउडस्पीकर से रेलवे की जमीन पर कब्जा जमाए दुकानदारों को जगह खाली करने के निर्देश दिए। रेलवे को केंद्र शासन से धमतरी स्टेशन में गुड्स टर्मिनल निर्माण के लिए राशि हस्तांतरित हो गई है। टर्मिनल का निर्माण रोड से लगे स्थान पर संभावित है, जहां अभी 130 दूकानें संचालित हो रही थी। इन दूकानों को हटाने महीनेभर पूर्व नोटिस जारी किया गया था। बिजली कनेक्शन काटने के बाद सीधे तोडफ़ोड़ की कार्रवाई होनी थी, लेकिन हाईकोर्ट के स्टे को लेकर यह काम रुक गया था।
    रेलवे अफसरों ने आज सुबह 7 बजे दूकानों की तोडफ़ोड़ कार्रवाई शुरु की। 5 घंटे से अधिक समय तक चले  इस कार्रवाई के दौरान  250 पुलिस बल और 200 रेल विभाग के जवान तैनात थे। रेलवे विभाग के एडीएम जेपी मिश्रा, एएसपी केपी चंदेल, डीएसपी पंकज पटेल, कुरुद एसडीओपी, नगरी एसडीओपी, कोतवाली थानेदार संतोष जैन, आरआई धनेन्द्र ध्रुव समेत पुलिस लाईन से बड़ी संख्या में अफसरों को तैनात किया गया था। वहीं जिला प्रशासन की ओर से डिप्टी कलेक्टर, एसडीएम, तहसीलदार, पटवारी समेत अन्य प्रशानिकी अफसर मौजूद थे। 
    जिनकी कहीं दूकान नहीं, 
    उनका ही होगा व्यवस्थापन 
    रेलवे की कार्रवाई शुरु होते ही प्रभावितों सहित शहर में इनके व्यवस्थापन की चर्चा है। तोडफ़ोड़ की कार्रवाई के पूर्व दुकानदारों ने निगम में प्रदर्शन भी किया था, जिन्हें बैरंग लौटना पड़ा था। वहीं निगम कमिश्नर अशोक द्विवेदी, महापौर अर्चना चौबे से बात की, तो उन्होंने जिनके पास रेलवे की जमीन के अलावा और कहीं भी दूकान नहीं है, उनका ही व्यवस्थापन होना बताया था। निगम की मानें, तो शासन-प्रशासन से ऐसे 33 लोगों की सूची मिली है, जिनमें से 25 को पात्र बताया गया है। निगम द्वारा कोई सर्वे भी नहीं कराया गया। ऐसे पात्र लोगों को निगम द्वारा मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत दुकानें उपलब्ध कराई जाएगी। दूकान वितरण से पहले इन्हें शपथ पत्र भी भरवाया जाएगा। 
    कार्रवाई जारी रहेगी 
    रायपुर रेलवे के पीआरआई तन्मय मुकोपाध्याय ने बताया कि धमतरी में टर्मिनल गुड्स निर्माण की कार्रवाई के लिए अतिक्रमण हटाने का काम शुरु कर दिया गया है। कुल 130 दुकानें तोडऩा है, पर 37 लोगों ने हाईकोर्ट में स्टे लगाया है। इसलिए उनकी दूकानें नहीं टूटी हैं। कोर्ट से सुनवाई होते ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।  जो कब्जाधारी रेलवे की जमीन नहीं होने का दावा कर रहे हैं, वह गलत है। जहां हमारी कार्रवाई चल रही और जिन्हें हमने नोटिस दिया है, वह रेलवे की ही जमीन है। 

     

  •  

Posted Date : 10-Nov-2017
  • धमतरी, 10 नवंबर। भखारा-भठेली निवासी 3 वर्षीय बच्चे की लाश गांव के ही तालाब में आज सुबह तैरते मिली। बच्चा रात से लापता था।  
    भखारा पुलिस के अनुसार राजेन्द्र कोसरिया का 3 वर्षीय बेटा साहिल कोसरिया गुरुवार देर-शाम से लापता था। परिजन रातभर उसे ढूंढते रहे। पर कहीं पता नहीं चला। आज सुबह कुछ ग्रामीणों ने तालाब में एक बच्चे की लाश तैरते देखी। पुलिस ने उसे बाहर निकाला, जो साहिल की निकली। 

  •  

Posted Date : 22-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 22 अक्टूबर। गोवर्धन पूजा की शाम सिहावा थाना क्षेत्र के ग्राम सोनामगर में एक युवक की हत्या उसके दोस्त ने ही तलवार से वार कर कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गया है। विवाद का कारण 7 साल पुरानी रंजिश को बताया गया है।
    घटना शुक्रवार की शाम करीब 6.30 बजे की है। सोनामगर निवासी विशेश्वर (35) पिता प्रभुलाल निषाद व प्रेमलाल साहू दोनों अपने दोस्त सुखदास के घर मोटर साइकिल से जा रहे थे। उनकी बाइक जैसे ही सुखदास के घर के ठीक सामने रुकी, संतोष (40) पिता उमेदीराम साहू ने विशेश्वर के सिर पर तलवार से प्राणघातक वार कर दिया। विशेश्वर अपनी जान बचाने सुखदास के घर घुसा, तो संतोष भी उसके पीछे आ गया और दोबारा वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद वह बाहर निकलकर फरार हो गया। घटना की खबर गांव में आग की तरह फैली, तब लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई। कुछ समय बाद सिहावा पुलिस मौके पर पहुंची और लाश का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए नगरी अस्पताल भिजवाया। सिहावा थाना प्रभारी संतोष मिश्रा ने बताया कि आरोपी संतोष और विशेश्वर के घर अगल-बगल हैं। दोनों के बीच 7 साल पहले होली के दिन रंग-गुलाल लगाने को लेकर विवाद हुआ था। इस दौरान संतोष ने विशेश्वर को देख लेने की धमकी दी थी। शुक्रवार को मौका देखकर संतोष ने उस पर तलवार से प्राण घातक हमलाकर उसे मौत के घाट उतार दिया। आरोपी के खिलाफ धारा 302, 307 के तहत जुर्म दर्ज कर पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

  •  

Posted Date : 13-Oct-2017
  • कहा-जिंदगी में कुछ भी हो सकता है...और आज वे एफटीआईआई के चेयरमेन बनाए गए
    छत्तीसगढ़ संवाददाता  
    कुरूद, 13 अक्टूबर। पद्मभूषण से सम्मानित प्रसिद्ध सिने अभिनेता अनुपम खेर के लिए माँ चंडी की धरती कुरुद तथा स्कूली बच्चों के लिए उमड़े प्यार भाग्यशाली साबित हुई। उन्हें  पुणे स्थित भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान (एफटीआईआई) का नये अध्यक्ष बनाए गए हैं। 
    बुधवार को अनुपम को जिप्प के अध्यक्ष पद के लिए चुना गया। मंत्री अजय चंद्राकर व वन्देमातरम परिवार कुरुद के संयुक्त प्रयास से आयोजित कार्यक्रम सफलता के मूलमंत्र एवं अनुशासन पर कल जब अनुपम खेर मौजूद थे, तो उन्होंने स्कूली बच्चों से कहा था कि जिंदगी में कुछ भी हो सकता है। जिंदगी में कभी भी कुछ भी मिल सकता है, बस अपना कर्म करना है, लिहाजा ये बोल खुद अनुपम की जिंदगी में भी अचानक नयी कामयाबियां ले आई। उनके इस कामयाबी पर मंत्री अजय चंद्राकर ने उन्हें शुभकामनाएं प्रेषित की है। 
    कुरूद के नवीन कृषि उपज मण्डी के विशाल परिसर में अपार जनसैलाब के बीच वन्देमातरम् समिति के पदाधिकारियों के स्वागत-सत्कार से अभिभूत श्री खेर ने अनौपचारिक चर्चा के दौरान मंत्री अजय चंद्राकर, कुरूदवासियों और वन्देमातरम समिति के पदाधिकारियों के प्रति आभार माना। अपने खास अंदाज के लिए सुविख्यात फिल्म आर्टिस्ट श्री खेर ने कुरूद में मंगलवार को आयोजित प्रबोधन कार्यक्रम में 'कुछ भी हो सकता है' शब्द पर ज्यादातर फोकस किया था, जिसको लेकर हमने उनसे कुछ सवाल भी किए कि आप बुरे वक्त से निकलने के लिए क्या करते हैं? उन्होंने इसका सटीक जवाब देते हुए कहा कि चूंकि मैं कुछ भी हो सकता है, कि फिलॉसफी में यकीन रखता हूं, इसलिए मैंने हमेशा पॉजिटिव ही सोचा। इसका मतलब यह नहीं कि लाइफ में बुरा वक्त आता है, तो बुरा नहीं लगता। हर आदमी को अपने खुद का अस्तित्व होने का अहसास होना बहुत जरूरी है। जब मैं मुंबई में था, स्ट्रगल करता रहा तीन साल। तब मुझे लगता था कि मुझे लोग काम दे न दें, लेकिन कोई मुझे मेरे नाम से बुला ले एक बार। हमने पूछा कि कुछ भी हो सकता है में निगेटिव थिंकिंग भी आती है तब क्या करे? जवाब मिला कि ये सब कुछ भी हो सकता मोमेंट हैं। ये पल इतने डरावने नहीं जितने कि हमने इन्हें बना दिया है। 
    उन्होंने अपने अतीत के पन्नों को कुरेदते हुए बताया कि मेरे दादाजी कहा करते थे कि आप कितने ज्यादा दुखी हैं, यह सोचने से ज्यादा जरूरी यह जानना है कि आपसे दुखी कितने ज्यादा लोग हैं। आपकी समस्या कम हैं लेकिन अगले की ज्यादा होंगी इसलिए नेवर माइंड। हमने पूछा आप राजनीति में कब आ रहे हंै? तो मुस्कुराते हुए फिर दोहराया कि कुछ भी हो सकता है।

  •  

Posted Date : 09-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 9 अक्टूबर। अर्जुनी थाना के ग्राम पोटियाडीह निवासी 9वीं के एक छात्र ने पुलिस पूछताछ के बाद फाँसी लगाकर खुदकुशी कर ली।  
    मिली जानकारी के अनुसार  मृतक छात्र रेखराम साहू के दोस्तों ने गांव में किसी के साथ मारपीट की थी।  पुलिस ने रविवार को इसे इसके दोस्तों समेत पूछताछ करने गांव से उठाकर थाना लाया था।  थाने से गांव आने के बाद  छात्र अपने घर ही नहीं पहुंचा, जिसके बाद परिजनों ने युवक की पतासाजी की। 
    देर रात युवक का शव गांव के स्टेडियम में फाँसी पर लटका मिला। 
    मृतक छात्र के पिता घनश्याम साहू का कहना है कि थाने में उनके दोस्तों के साथ उनका नाम आ जाने के डर से फाँसी लगाई है। पुलिस मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है। अर्जुनी थाना प्रभारी उमेन्द्र टंडन ने कहा कि मृतक युवक का नाम मारपीट में नहीं था, सिर्फ उनके दोस्तों का नाम था और मृतक युवक से पुलिस किसी तरह से पूछताछ नहीं की गई है।

  •  

Posted Date : 04-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 4 अक्टूबर। विश्रामपुर जंगल से हिरण का शिकार कर अपने घर ला रहे  तीन युवकों को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों से मृत हिरण समेत दो बंदूक व कार जब्त किया है। गिरफ्तार युवकों को  न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है। 
    पुलिस ने बताया कि मंगलवार देर रात कोतवाली पुलिस को  से सूचना मिली कि एक कार में वन्य प्राणी को ले जाया जा रहा है। पुलिस  अम्बेडकर चौक में आने जाने वाले वाहनों को रोककर तलाशी ली। इसी दरम्यान सामने से आ रही कार  सी जी 05 एबी 2656 को रोककर तलाशी ली। इस दौरान पुलिस को कार के पीछे वाले डिक्की से हिरण का शव मिला। जिसके बाद  तीनों युवकों को गिरफ्तार कर थाना लाया।  इनके नाम रॉबिन लाल निवासी अरिहंत विहार कालोनी, प्रणय बच्चन रुद्री निवासी और विनीत विक्टर निवासी जिला अस्पताल रोड है। सभी धमतरी के संभ्रात परिवार के हंै। 
    थाना प्रभारी संतोष जैन ने बताया कि आरोपियों ने हिरण का मांस खाने के लिए शिकार किया था। वहीं  खाल को  बेच देते हैं। पुलिस की मानें तो तीनों आरोपी शिकार करने बंदूक लेकर जंगल गए थे। जहां पर हिरण का शिकार किया। उल्लेखनीय है कि वन विभाग 2 से 7 अक्टूबर तक वन्यजीव  बचाओ सप्ताह मना रहा है। 

  •  

Posted Date : 02-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    धमतरी, 2 अक्टूबर। जिले के नक्सल प्रभावित इलाके के ग्राम बरपदर में  पति ने सब्जी को ले अपनी पत्नी की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। 
     मेचका थाना इलाके के बरपदर  निवासी तिहारुराम गोड़ अपनी पत्नी संगीता के साथ   खेत काम करने गए थे।  लौटने के दौरान उन्हें जंगल से फुटू मिला। घर पहुँचने पर इसकी सब्जी को लेकर  दोनों में जमकर विवाद हुआ। गुस्से में आकर पति ने घर में रखे डंडे से उसकी बेदम से पिटाई कर दी। इतना ही नहीं चाकू से भी उस पर ताबड़तोड़ वार कर दिया। जिससे संगीता की मौके पर मौत हो गई। 
    घटना के बाद आरोपी रातभर अपने मृतका के शव के पास रहा। सुबह जब इसकी जानकारी ग्रामीणों को लगी, तब सरपंच ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को घर से गिरफ्तार किया। उसे न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है। 

  •  



Previous12Next