इतिहास

इतिहास में 13 अक्टूबर
13-Oct-2020 2:44 PM 14
 इतिहास में 13 अक्टूबर
  • 1999 - कोलम्बिया विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्री प्रो. राबर्ट मुंडेल को वर्ष 1999 को नोबेल पुरस्कार प्रदान करने की घोषणा।
  • 2000 - दक्षिण कोरियाई राष्टपति किम दाई जुंग को शांति को नोबेल पुरस्कार।
  • 2001 - नाइजीरिया में अमेरिका विरोधी प्रदर्शन के दौरान भडक़ी साम्प्रदायिक हिंसा में लगभग 200 व्यक्ति मारे गये।
  •  2002 - इंडोनेशिया के बाली नाइट क्लब में हुए भीषण विस्फोट में 200 लोग मारे गये और 300 से अधिक घायल हुए।
  • 2003 - डलास में एक साल चिकित्सकीय योजना और 26 घंटे तक चले जटिल आपरेशन के बाद मिस्र के जुड़वां बच्चों के आपस में जुड़े सिर को अलग करने में आपरेशन सफल रहा। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के लिए एक भारतीय छात्र का चयन। जर्मनी ने स्वीडन को हराकर पहली बार विश्व कप फ़ुटबाल टूर्नामेंट जीता। पहली बार मानव को लेकर चीनी अंतरिक्ष यान लांग मार्च 2 एफ़ उड़ा। नई दिल्ली में इंटरपोल सदस्य देशों के प्रतिनिधियों का सम्मेलन प्रारम्भ।
  • 2004 - सऊदी अरब का हर साल एक लाख श्रमिकों की कटौती की घोषणा। चीन ने ताइवान की शांति पहल ठुकराई।
  • 2005 - जर्मनी के प्रख्यात नाटककार हेराल्ड पिंटर को वर्ष 2005 के साहित्य का नोबल पुरस्कार देने की घोषणा।
  • 2006 - बांग्लादेश के मा. युनुस और उनके द्वारा स्थापित ग्रामीण बैंक को नोबेल पुरस्कार।
  • 2008- रायबरेली में रेल कोच फैक्ट्री की स्थापना के लिए दी गई ज़मीन के मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने यथास्थिति बनाये रखने के आदेश दिए। 
  • 1911 -  भारतीय अभिनेता अशोक कुमार का जन्म हुआ। 
  • 1948 -  सूफ़ी भक्ति संगीत और कव्वाली के प्रसिद्ध गायकनुसरत फ़तेह अली ख़ां का जन्म हुआ। 
  • 1895 - भारत की क्रिकेट टीम के प्रथम टेस्ट कप्तान सी. के. नायडू का जन्म हुआ। 
  • 1987 - भारतीय गायक किशोर कुमार का निधन हुआ।  
  • 2004 - प्रसिद्ध हिन्दी फि़ल्म अभिनेत्री निरुपा रॉय का निधन हुआ। 
  •  महत्वपूर्ण दिवस-    विश्व दृष्टि दिवस,   विश्व डाक दिवस (सप्ताह),राष्ट्रीय विधिक सहायता दिवस (सप्ताह)।
  •  
  • भागवत धर्म
  • वैष्णव धर्म का जाना-माना और लोकप्रिय धर्म है - भागवत धर्म।  इसमें भगवान श्रीकृष्ण की आराधना की जाती है।  इस सगुणोपासक धर्म में विष्णु के किसी भी अवतार की भक्ति शामिल है। इसका प्रयोग सामान्यत: समस्त वैष्णव सम्प्रदाय के लिए होते भी एक सम्प्रदाय के लिए मुख्य रूप से होता है। 
  • अन्य  सम्प्रदाय में नारायण को परम तत्व माना जाता है, लेकिन भागवत धर्म में वासुदेव श्रीकृष्ण ही परम आराध्य है। इनका मूलमंत्र है- नमो भगवते वासुदेवाय। उपलब्ध शिलालेखों और मूर्तियों से ज्ञात होता है कि इस मत का प्रचार ईसा से पहले ही हो चुका था। गुप्त और चालुक्य राजाओं के शासनकाल में इसे और प्रोत्साहन मिला ।
     

अन्य पोस्ट

Comments