अंतरराष्ट्रीय

दक्षिण अफ्रीका में एक महिला ने दस बच्चों को जन्म दिया
10-Jun-2021 7:09 PM (217)
दक्षिण अफ्रीका में एक महिला ने दस बच्चों को जन्म दिया

गोसियाम थमारे सिटहोले ने प्रिटोरिया में सोमवार को बच्चों को जन्म दिया, इमेज स्रोत,AFRICAN NEWS AGENCY (ANA)

दक्षिण अफ्रीका की राजधानी प्रिटोरिया में एक महिला ने एक साथ दस बच्चों को जन्म दिया है. मेडिकल साइंस में इस घटना को एक नए विश्व रिकॉर्ड की तरह देखा जा रहा है.

गोसियाम थमारे सिटहोले के पति टेबोहो त्सोतेत्सी ने बताया कि दस बच्चे देखकर वे अचंभित रह गए. डॉक्टरों ने उन्हें अल्ट्रासाउंड के जरिये गर्भ में केवल आठ बच्चों के होने की बात बताई थी.

बच्चों के जन्म के बाद टेबोहो त्सोतेत्सी ने प्रिटोरिया न्यूज़ को बताया, "सात लड़के हैं और तीन लड़कियां. मैं बहुत खुश हूं. भावुक हो रहा हूं. ज्यादा बात नहीं कर सकता."

दक्षिण अफ्रीका के एक अधिकारी ने बीबीसी से दस बच्चों के जन्म की पुष्टि की है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि अभी तक बच्चों को देखा नहीं है. बच्चों का जन्म सोमवार को हुआ था.

परिवार के एक सदस्य ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर बीबीसी को बताया कि गोसियाम थमारे सिटहोले ने पांच बच्चों को प्राकृतिक तरीके से जन्म दिया जबकि पांच को ऑपरेशन के जरिए बाहर निकाला गया.

माली की हलीमा सिसे का मामला
गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने बीबीसी को कहा कि वे गोसियाम थमारे सिटहोले के मामले की जांच कर रहे हैं.

अभी अमेरिका की एक महिला के नाम 2009 में सबसे ज़्यादा आठ बच्चों को जन्म देने और उनके जीवित रहने का वर्ल्ड रिकॉर्ड गिनीज़ बुक में दर्ज है.

पिछले महीने माली की हलीमा सिसे ने नौ बच्चों को जन्म दिया था. ये बच्चे अभी मोरोक्को के एक क्लीनिक में हैं और स्वस्थ हैं.

बीबीसी अफ्रीका की हेल्थ रिपोर्टर रोडा ओढियांबो बताती हैं कि ऐसे गर्भ जिनमें अधिक संख्या में बच्चे होते हैं, उनकी समय से पहले डिलिवरी हो जाती है.

तीन से ज्यादा बच्चों के जन्म के मामले बहुत कम देखने में आते हैं और अक्सर ही ये कृत्रिम गर्भाधान के कारण होता है. लेकिन इस मामले में इस जोड़े का कहना है कि गर्भ प्राकृतिक रूप से ही ठहरा था.

मां को क्या थी चिंता?

37 वर्षीया गोसियाम थमारे सिटहोले ने इससे पहले जुड़वां बच्चों को जन्म दिया था जो अब छह साल के हैं.

बताया जाता है कि ये डिलिवरी गर्भ के 29वें हफ्ते में हुई.

महीने भर पहले प्रिटोरिया न्यूज़ से बात करते हुए उन्होंने अपनी प्रिग्नेंसी के बारे में कहा था, "शुरू में ये मुश्किल था और वे बच्चों के स्वस्थ जन्म लेने के लिए प्रार्थना करती थीं. रातों को नींद नहीं आती थी. ये फिक्र रहती थी कि क्या होने वाला है."

उन्होंने खुद से पूछा, "वे कैसे गर्भ में जगह बना पाएंगे? क्या वे बच भी पाएंगे."

लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें भरोसा दिलाया कि उनका गर्भ फैल रहा है.

जब डॉक्टरों ने ये कहा कि उनके गर्भ में आठ बच्चे हैं तो गोसियाम थमारे सिटहोले के पैरों में दर्द रहता था. डॉक्टरों ने जांच के बाद पाया कि दो बच्चे गलत ट्यूब में हैं.

सिटहोले ने प्रिटोरिया न्यूज़ को बताया, "लेकिन वो मुश्किल दूर हो गई और मैं तब से ठीक हूं. मैं अपने बच्चों को देखने के लिए बेकरार हूं."

उनके पति का कहना था कि वे अपने कदम ज़मीन पर महसूस नहीं कर पा रहे हैं. उन्हें ऐसा लग रहा था कि ईश्वर ने उन्हें इसके लिए चुना है. वो एक चमत्कार की तरह है. (bbc.com)

अन्य पोस्ट

Comments