दुर्ग

लॉकडाउन अवधि में नियमों का उल्लंघन पर संस्थान होंगे 15 दिन तक सील
18-Sep-2020 10:29 PM 5
  लॉकडाउन अवधि में नियमों का उल्लंघन पर संस्थान होंगे 15 दिन तक सील

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

भिलाई नगर, 18 सितंबर। जिले में 20 से 30 सितंबर तक पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए जिला प्रशासन ने जिले के नगरीय निकाय, दुर्ग-भिलाई, भिलाई-चरोदा, रिसाली, जामुल एवं कुम्हारी क्षेत्रों में लॉकडाउन आदेशित किया है। इस दौरान शराब की समस्त दुकानें पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे, नगरीय निकाय प्रतिबंधित क्षेत्र के अंतर्गत समस्त सप्ताहिक हॉट बाजार भी बंद रहेेंगे, सार्वजनिक स्थलों पर पान-गुटका खाकर थूकना प्रतिबंधित रहेगा, होटल एवं रेस्टोरेंट को होम डिलीवरी की अनुमति रहेगी।

कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे ने बताया कि जिले में स्थित भारत सरकार एवं राज्य सरकार के अधीन समस्त शासकीय/अर्धशासकीय/निजी कार्यालय में एक-तिहाई अधिकारी/कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ समयावधि में संचालित होगी। जिले के समस्त शैक्षणिक संस्थान/कोचिंग संस्थान/ ट्यूशन क्लासेस बंद रहेंगे, केवल प्रवेश प्रक्रिया एवं ऑनलाईन क्लासेस की अनुमति होगी।

उन्होंने बताया कि, सिनेमा हॉल, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, पर्यटन स्थल, क्लब, जिम, थियेटर, ऑडिटोरियम एवं असेम्बली हॉल बंद रहेंगे। जिले के प्रतिबंधित शहरी क्षेत्रों में परिवहन सेवा, टैक्सी, ऑटोरिक्शा, ई-रिक्शा प्रतिबंधित रहेगी। अंतरजिला एवं अंतरराज्जीय बस परिवहन सेवा चालू रहेगी।

कलेक्टर ने बताया कि, प्रतिबंधित क्षेत्रों में सब्जी, मटन, मछली, फल सुबह 5 बजे से सुबह 10 बजे तक, डेयरी केवल दूध व्यवसाय, सुबह 6 से 8 बजे तक, शाम को 5 से 7 बजे तक, रेस्टोरेन्ट, होटल में होम डिलीवरी सुबह 10 से रात्रि 10 बजे तक डीजल, पेट्रोल, एलपीजी एवं सीएनजी सांय 3 बजे तक, दवा दुकानें, मेडिकल स्टोर्स, चश्मा दुकानों को समय की पाबंदी से छूट रहेगी। घर पर जाकर दूध बाँटने के लिए सुबह 6 से  9.30 बजे तक, शाम को 5 बजे से 7 बजे तक किया जा सकता है।

 कलेक्टर ने बताया कि, यदि किसी भी व्यवसायी द्वारा उपरोक्त शर्तों में से किसी एक या एक से अधिक शर्तों का उल्लंघन किया तो तत्काल प्रभाव से 15 दिनों के लिए संस्थान सील कर दिया जाएगा। जिले के नगरीय निकाय, भिलाई 3, चरोदा, दुर्ग, भिलाई, रिसाली, जामुल, कुम्हारी क्षेत्रों में आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति संस्था, प्रतिष्ठान पर भारतीय दंड संहिता 1860 के धारा 188 के तहत दंडनीय अपराध होंगे।

अन्य पोस्ट

Comments