बस्तर

कांग्रेस सरकार की ग़लत नीतियों का खामियाजा भुगत रहे किसान - केदार
27-Nov-2020 9:25 PM 33
कांग्रेस सरकार की ग़लत नीतियों का खामियाजा भुगत रहे किसान - केदार

जगदलपुर, 27 नवम्बर। सरकार द्वारा एक माह विलंब से धान खऱीदी के चलते किसान औने-पौने दाम पर धान बिचौलियों को बेचने मजबूर हुए हैं। असमय बारिश और मौसम की मार से किसानों का धान खऱाब हो गया है। कटाई मिजांई के समय किसानों को हुई क्षति को लेकर सरकार गंभीर नहीं है। उक्त बातें पूर्व मंत्री व भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता केदार कश्यप ने जारी विज्ञप्ति में कही। श्री कश्यप ने कहा कि प्रदेश  सरकार किसानों के फ़सल को पहुंची क्षति का शीघ्र मूल्यांकन कर उन्हें मुआवज़ा दें। एक दिसंबर से धान खऱीदी का निर्देश है लेकिन अभी तक खऱीदी केंद्रों पर बारदाने की व्यवस्था नहीं हो पाई है।

किसानों का पंजीयन भी नहीं हो पाया है। इन परिस्थितियों में सरकार केवल दिखावे के लिए खऱीदी करेगी, ऐसा प्रतीत हो रहा है। कांग्रेस सरकार की दोगली मानसिकता के चलते इस वर्ष भी अन्नदाता को धान बेचने के लिए संघर्ष करना पड़ेगा। कांग्रेस की सरकार गत वर्ष के फसल की पूरी राशि भी किसानों को नहीं दे पा रही है।

आगे कहा कि सरकार किसानों को उनकी फ़सल की पूरी राशि देने के लिए गांधी परिवार की जयंती या पुण्यतिथि का इंतज़ार करती है, क्योंकि कांग्रेस सरकार की निष्ठा केवल कांग्रेस परिवार के प्रति है। किसानों के पसीने से उनका कोई सरोकार नहीं है । कांग्रेस सरकार तत्काल किसानों को उनकी फ़सल का भुगतान करें। साथ ही बेमौसम बारिश से हुए नुक़सान की भरपाई करे। पंजीयन की व्यवस्था को सुदृढ़ करने के साथ ही खऱीदी केंद्रों में बारदाने की व्यवस्था तत्काल किया जावे, अन्यथा उक्त मांगों को लेकर किसानों के साथ भारतीय जनता पार्टी भी सडक़ पर संघर्ष करने के लिये मजबूर होगी।

अन्य पोस्ट

Comments