दुर्ग

गुरुनानक जयंती और वैवाहिक कार्यक्रम के लिए नया गाइडलाइन जारी
28-Nov-2020 4:03 PM 35
गुरुनानक जयंती और वैवाहिक कार्यक्रम के लिए नया गाइडलाइन जारी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 28 नवंबर।
जिला प्रशासन द्वारा गुरु नानक जयंती और वैवाहिक कार्यक्रम के लिए नया गाइडलाइन जारी किया है और कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। कोरोना के प्रारंभिक लक्षण जैसे सर्दी, खांसी, बुखार इत्यादि पाए जाते हैं तो उनका कार्यक्रम स्थल में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। 

उसी प्रकार कक्ष में अथवा कार्यक्रम में उपस्थित व्यक्ति खासते छीकते समय टिशू पेपर, रुमाल आदि का प्रयोग करेंगे। कार्यक्रम के आयोजक सुनिश्चित करेंगे कि प्रयुक्त सामग्री का ठीक से निपटारा किया जाए। जिला प्रशासन द्वारा गुरु नानक जयंती और वैवाहिक कार्यक्रमों के लिए अलग-अलग गाइडलाइन जारी किया गया है। 

वैवाहिक कार्यक्रमों में अधिकतम 200 लोग शामिल हो सकेंगे तथा 6 फीट की दूरी बनाकर बैठक व्यवस्था की जाएगी। कार्यक्रम में प्रवेश करते समय प्रत्येक व्यक्ति का हाथ सैनिटाइजर करने अथवा धोने तथा थर्मल स्कैनिंग किया जाना अनिवार्य होगा। प्रत्येक व्यक्ति मास्क पहनकर, फिजिकल, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए शामिल होंगे। कार्यक्रम के पूर्व स्थानीय थाना प्रभारी को अनिवार्यता सूचित करना होगा। वर-वधू की शासन द्वारा निर्धारित उम्र पूर्ण करना अनिवार्य होगा। कार्यक्रम में ध्वनि विस्तारक यंत्र का उपयोग कोलाहल अधिनियम के अंतर्गत किया जा सकता है। कार्यक्रम स्थल पर पान गुटखा इत्यादि खाकर थूकना प्रतिबंधित रहेगा।

गुरुनानक जयंती पर्व 30 नवंबर को गुरुद्वारे के भीतर ही संपन्न किया जाए। पर्व हेतु नगर कीर्तन, रैली, शोभायात्रा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम की अनुमति नहीं होगी। गुरुद्वारे हाल के भीतर निर्धारित क्षमता के केवल 50 प्रतिशत व्यक्ति ही एक समय में प्रवेश करेंगे। गुरु लंगर का प्रसाद गुरुद्वारे के भीतर ही पैकेट के माध्यम से वितरित किया जाए। सभी कार्यक्रम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए, गुरुद्वारा के प्रवेश द्वार के समक्ष प्रवेश करने वाले प्रत्येक व्यक्तियों का सैनिटाइजर  किया जाए। गुरुनानक जयंती पर्व में ग्रीन पटाखा फोडऩे की अनुमति होगी। पटाखा फोडऩे की अवधि केवल 2 घंटे रात्रि 8 से 10 बजे तक की होगी। सभी कार्यक्रम रात्रि 10 बजे तक पूर्ण कर लिया जाए। गुरु पर्व के आयोजन स्थलों में छोटे बच्चे व बुजुर्ग वृद्ध को जाने की अनुमति नहीं होगी। गुरु नानक जयंती पर्व स्थल में किसी प्रकार के बाजार, मेला, दुकान इत्यादि लगाने की अनुमति नहीं होगी, स्थल में ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग की अनुमति नहीं होगी।
 

अन्य पोस्ट

Comments