दुर्ग

नेताजी के आदर्शों, देश की आजादी में योगदान को किया याद
24-Jan-2021 4:12 PM 34
नेताजी के आदर्शों, देश की आजादी  में योगदान को किया याद

सुभाष चन्द्र बोस की जयंती पर गोष्ठी संपन्न

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भिलाई नगर, 24 जनवरी।
हिन्द सेना समाजसेवी संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष मंगेश वैद्य साहू के निर्देशानुसार नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयंती पर गोष्ठी का आयोजन पीएचई मंत्री गुरु रुद्र कुमार के बंगले पर किया गया। वक्ताओं ने आजाद हिंद फौज के संस्थापक एवं स्वतंत्रता संग्राम के महानायक सुभाष चंद्र बोस के आदर्शों, देश की आजादी में योगदान एवं उनकी जीवन गाथा का वर्णन किया। 

मुख्य अतिथि प्रदेश महामंत्री व एल्डरमैन संजय साहू, विशेष अतिथि उपाध्यक्ष व पार्षद राकेश वर्मा, महामंत्री व पूर्व पार्षद संगीत सोरी, एल्डरमैन दिलीप ध्रुव, महामंत्री नरेश भोयर, युवा ब्रिग्रेड महामंत्री अभिनव बघेल, शिक्षा प्रभाग प्रदेश प्रतिनिधी व प्राचार्य सुरेश वर्मा उपस्थित थे। आरंभ में नेताजी के तैलचित्र पर पुष्प एवं माल्यार्पण कर उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी गई। संजय साहू ने कहा कि भारत वर्ष की स्वतंत्रता में नेताजी का सर्वोत्कृष्ट योगदान रहा है। उनका एकमात्र उद्देश्य था भारत को अंग्रेजों के चंगुल से मुक्त कराना उसके लिए उन्होंने अपना सैन्य बल आजाद हिंद फौज का गठन किया था। 21 अक्टूबर 1944 को नेताजी ने आजाद हिंद फौज के मुख्य सेनापति की हैसियत से भारत में आजाद हिंद फौज की सरकार गठन का ऐलान किया। भारत में भारतीयों के प्रभुत्व वाली यह पहली सरकार थी।

समारोह की अध्यक्षता कर रहे संगीत सोरी ने कहा कि जुल्म के खिलाफ आवाज उठाने की आदत उनमें बचपन से थी। बड़े ही शर्मीले स्वाभाव वाले नेताजी कठोर परिश्रमी थे। नरेश भोयर ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस के रौबदार व्यक्तित्व और आजाद हिंद फौज की गतिविधियों ने अंग्रेजों की नींद हराम कर दी थी। स्वामी विवेकानंद और रामकृष्ण परमहंस को अपना आदर्श मानने वाले सुभाष चंद्र बोस के आगे अंग्रेज हुक्मरान भी नतमस्तक थे। एल्डरमैन दिलीप ध्रुव ने कहा कि भारत के इस महान सपूत के अतुल्य योगदान का हम सदैव ऋणी रहेंगे।

नेताजी की जयंती पर हिन्द सेना के द्वारा गोष्ठी के आलावा देशभक्ति से ओतप्रोत कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रदेश उपाध्यक्ष राकेश वर्मा तथा आभार प्रदर्शन सुरेश वर्मा ने किया। 
कार्यक्रम में प्रदेश मंत्री चन्द्रभान सोनवानी, रूपेन्द्र भारती, कमलेश देवांगन, जी जगन्नाथ राव, इन्द्रजीत यादव, डोमन साहू, सुरेश पाटले, रविन्द्र हरपाल, राकेश शिखा, सुनिल सिंह , गोविन्दा कुर्रे, डोमन साहू, सुरेश पटले, सीनु राव, विवेक, अमिताभ बजाज, राकेश वर्मा, आशीष निर्मलकर, राकेश शिखा, महेंद्र तांडी, मनोज तिवारी, करण सोनवानी, विनोद भारती, गोपाल, मनोज वर्मा, सीनु उपस्थित थे।
 

अन्य पोस्ट

Comments