कारोबार

Previous123456789...2627Next
27-Oct-2020 7:06 PM 23

नई दिल्ली, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)| हार्ले-डेविडसन इंक और दुनिया की सबसे बड़ी मोटरसाइकिल (बाइक) और स्कूटर बनाने वाली कंपनी हीरो मोटोकॉर्प ने अपने उत्पादन को बेचने के लिए हाथ मिलाया है। दोनों कंपनियों ने एक समझौते का एलान किया है। इसके मुताबिक हीरो मोटोकॉर्प हार्ले-डेविडसन मोटरसाइकिलों की बिक्री और सर्विस करेगा।

एक वितरण समझौते (डिस्ट्रिब्यूशन एग्रीमेंट) के अनुसार, यह काम देश में हार्ले-डेविडसन के एक्सक्लूसिव डीलरों और हीरो के मौजूदा डीलरशिप नेटवर्क दोनो के माध्यम किया जाएगा। इसके अलावा बाइक्स के पार्ट्स, एक्सेसरीज, जनरल मर्चेंडाइज और राइडिंग गियर भी इसी तरह बेचे जाएंगे।

लाइसेंसिंग समझौते के तहत, हीरो मोटोकॉर्प हार्ले-डेविडसन ब्रांड नाम के तहत प्रीमियम मोटरसाइकिलों को बनाकर उनकी बिक्री भी करेगा।

हार्ले-डेविडसन ने सितंबर में रीवायर नीति को अपनाते हुए भारत में अपने बिजनेस मॉडल को बदलने की घोषणा की थी।

एक बयान में कहा गया है कि यह व्यवस्था भारत में कंपनियों और राइडर्स दोनों के लिए पारस्परिक रूप से फायदेमंद है, क्योंकि अब हीरो मोटोकॉर्प के मजबूत वितरण नेटवर्क और ग्राहक सेवा के साथ प्रतिष्ठित हार्ले-डेविडसन ब्रांड एक साथ आ गई हैं।


27-Oct-2020 6:03 PM 14

नई दिल्ली/मुंबई, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)| प्याज के भंडारण की सीमा निर्धारित होने से आसमान छूते दाम पर तत्काल लगाम लग गई है, लेकिन उपभोक्ता को सस्ता प्याज तभी मिल पाएगा, जब घरेलू उत्पाद की आवक बढ़ेगी, क्योंकि आयातित प्याज भी ऊंचे भाव पर ही आ रहा है। हालांकि, भाव ऊंचा होने से आयात धीरे-धीरे जोर पकड़ता जा रहा है। कारोबारियों से मिली जानकारी के अनुसार, नवंबर के पहले सप्ताह में 8000 टन आयातित प्याज भारत पहुंचेगा। केंद्र सरकार द्वारा उठाए गए कदमों और विदेशी प्याज के घरेलू बाजार में उतरने से प्याज की महंगाई पर लगाम लगी है और अगले महीने कीमतों में कुछ और नरमी की उम्मीद की जा रही है, हालांकि कारोबारी बताते हैं कि विदेशों से जो प्याज आ रहा है उसकी लागत 40 रुपये प्रति किलो से उपर पड़ रही है, ऐसे में उपभोक्ताओं को बहुत राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

मुंबई के कारोबारी और हॉर्टिकल्चर प्रोड्यूस एक्सपोटर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अजित शाह ने आईएएनएस को बताया, "प्याज आयात की लागत इस समय 40 रुपये प्रति रुपये किलो से उपर आ रही है। इस भाव पर आयात अभी बढ़ेगा, क्योंकि देश के किसानों को भी फिलहाल आयात से कोई नुकसान नहीं है। अगर, प्याज का आयात नहीं होता तो दाम और बढ़ जाता क्योंकि घरेलू आपूर्ति का टोटा बना हुआ है।"

अजित शाह ने बताया, "देशभर में इस समय अच्छी क्वालिटी के प्याज का थोक भाव करीब 55 रुपये से 65 रुपये प्रति किलो चल रहा है। अगले महीने के पहले सप्ताह में करीब 8000 टन प्याज विदेशों से आने वाला है। भारत इस समय ईरान, हॉलैंड, मिश्र और टर्की से प्याज मंगा रहा है। इसके अलावा, अफगानिस्तान से पंजाब के रास्ते प्याज आ रहा है।"

उधर, बाजार सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, प्याज का भाव उंचा होने से किसान खेतों से अपनी फसल समय से पहले निकालने लगे हैं जिससे नवंबर में घरेलू आवक भी बढ़ जाएगी।

एशिया में फलों और सब्जियों की सबसे बड़ी मंडी में शुमार दिल्ली की आजादपुर मंडी स्थित कृषि उपज विपणन समिति यानी एपीएमसी की कीमत सूची के अनुसार, "मंगलवार को लगातार तीसरे दिन प्याज का थोक भाव 12.50 रुपये 35 रुपये प्रति किलो पर स्थिर रहा। इससे पहले 22 अक्टूबर को आजादपुर मंडी में प्याज का भाव 40 रुपये प्रति किलो तक चला गया था, लेकिन 23 अक्टूबर को केंद्र सरकार द्वारा प्याज भंडारण की सीमा तय करने के बाद कीमत में थोड़ी नरमी आई है। हालांकि देश की राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाके में प्याज का खुदरा भाव अभी भी 70 रुपये से 90 रुपये प्रति किलो है।"

हालांकि, आजादपुर मंडी पोटैटो ऑनियन मर्चेंट एसोसिएशन यानी पोमा के जनरल सेक्रेटरी राजेंद्र शर्मा का कहना है कि प्याज के दाम में नरमी तभी आएगी, जब घरेलू आवक बढ़ेगी। सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से कीमतों में हो रही वृद्धि थम गई है, लेकिन अभी भाव घटा नहीं है। इस समय आयातित पीला प्याज 40 रुपये से 45 रुपये प्रति किलो जबकि लाल प्याज 50 रुपये से 55 रुपये प्रति किलो थोक में बिक रहा है।"

महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और मध्य प्रदेश के कई प्याज उत्पादक जिलों में भारी वर्षा के चलते प्याज की खरीफ फसल खराब हो जाने से देश में प्याज की कीमतों में हो रही वृद्धि को देखते हुए केंद्र सरकार ने पहले 14 सितंबर को प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया। उसके बाद 23 अक्टूबर को प्याज भंडारण की सीमा तय कर दी गई। इस सीमा के मुताबिक 31 दिसंबर तक थोक विक्रेता के लिए अधिकतम 25 टन और खुदरा विक्रेता अधिकतम दो टन प्याज का स्टॉक रखने की इजाजत दी गई है।

केंद्र सरकार ने कहा कि आवश्यक वस्तु (संशोधन) अधिनियम, 2020 में यह प्रावधान है कि कुछ खास परिस्थितियों में जब कीमतें सामान्य से ज्यादा बढ़ जाएं तो सरकार स्टॉक लिमिट लगा सकती है।

केंद्र सरकार की रिपोर्ट के अनुसार, देश में प्याज की औसत खुदरा कीमतों में 21 अक्टूबर तक विविधता देखी गई है जो कि पिछले साल की तुलना में 22.12 प्रतिशत (45.33 रूपए से 55.60 रूपए प्रति किलो) और पिछले पांच सालों की तुलना में 114.16 प्रतिशत (25.87 से 55.60 रूपए प्रति किलो) रही है। इस तरह पिछले पांच साल की कीमतों से तुलना में प्याज की कीमतों में 100 प्रतिशत तक बढ़ोतरी हुई है और आवश्यक वस्तु अधिनियम के मुताबिक ये कीमतों में वृद्धि को छू गई है। इसलिए प्याज पर आज से स्टॉक लिमिट लगाई गई है।

इसके अलावा, नेफेड के पास पड़े बफर स्टॉक से भी प्याज निकाला जा रहा है। नेफेड ने बीते फसल वर्ष में एक लाख टन प्याज का बफर स्टॉक रखा था, लेकिन बताया जा रहा है कि उसमें से करीब 25 फीसदी प्याज खराब हो गया।

रिपोर्ट के अनुसार, सितंबर के दूसरे हफ्ते से प्याज को देश की बड़ी मंडियों के साथ-साथ खुदरा वितरण केंद्रों जैसे सफल, केंद्रीय भंडार, एनसीसीएफ, टीएएनएचओडीए एवं टीएएनएफईडी (तमिलनाडु सरकार), और बड़े शहरों में और राज्यों में एनएएफईडी केंद्रों तक तेजी से पहुंचाया जा रहा है।

प्याज के आयात के लिए निजी आयातकों को बढ़ावा देने के लिए यह भी तय किया गया कि एमएमटीसी लाल प्याज का आयात करेगा, ताकि आपूर्ति में आ रही कमी को पूरा किया जा सके।


27-Oct-2020 5:09 PM 15

रायपुर, 27 अक्टूबर। बलदेव फर्नीचर के संचालक जसविंदर सिंह ने बताया कि इस दीवाली में ग्राहकों के लिए विशेष तैयारी की है। हमारी संस्था 38 वर्ष पुरानी है, हमारे यहां सभी प्रकार के स्टील फर्नीचर, मोल्डेड फर्नीचर,  होम फर्नीचर, कंप्यूटर फर्नीचर एवं ऑफिस फर्नीचर, बैडरूम सेट, सोफे सेट, डाइनिंग सेट, रैक लाइनर आउटडोर फर्नीचर, शो केश सोफे कम बेड, लॉबी सेट,सेंटर टेबल उपलब्ध है। हमारे यहाँ क्वालिटी का विशेष ध्यान रखा जाता है।  इसके अलावा विभिन्न कंपनियों जैसे-गोदरेज के सेफ (लॉकर)फर्नीचर, नीलकमल के फर्नीचर, नीलकमल के गड्ढे, पूजा आदि के फर्नीचर भी रखे जाते हैं। समय के साथ-साथ ,नए-नए डिज़ाइन लोगो की रुचि अनुसार उपलब्ध कराए जाते हैं। गुणवत्ता व सर्विस का विशेष ध्यान रखा जाता है।   इस त्योहारों में हमारे यहाँ  सभी उत्पादों पर डिस्काउंट के अलावा विशेष उपहार भी दिया जा रहा है।

 


27-Oct-2020 5:08 PM 17

रायपुर, 27 अक्टूबर। फैशन डिजाइनिंग आज के समय में अधिकतर युवाओं की पहली पसंद बनता जा रहा है। यह एक क्रिएटिव क्षेत्र होने के कारण आप यहां पर अपने नए-नए आईडियाज को आसानी से एक्सप्लोर कर सकते हैं। इतना ही नहीं, यह क्षेत्र में आपको सफलता के साथ नाम व शोहरत भी दिलाता है। हालांकि इस क्षेत्र में कदम रखने के लिए व्यक्ति में कुछ खास गुण होने चाहिए, जैसे आपका क्रिएटिव होने के साथ सिलाई की बारीकियां और कपड़ों की बेहतर समझ ताकि आप अपने आईडियाज को बेहतर तरीके से पेश कर सकें। अगर आपमें भी यह गुण है तो आप इस क्षेत्र में कदम रखने के बारे में सोच सकते हैं। पर इस क्षेत्र में कदम रखने के लिए आपकी मूलभूत पढ़ाई बहुत जरूरी है।

तो आपके इसी सपने को हकीकत में बदलने के लिए कृति ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स के अंतर्गत कृति इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन एंड इंटीरियर डिजाइनिंग का विभाग संचालित किया जाता है, जिसमें विभिन्न प्रकार के फैशन से जुड़े कोर्स की शिक्षा दी जाती है। और मौजूदा समय को देखते हुए  ऑनलाइन क्लासेस की भी उत्तम सुविधा का भी उत्तम प्रबंध है।  फैशन डिजाइनिंग एक ऐसा पाठ्यक्रम है जहाँ शिक्षा लिख के कम, वास्तिवकता में ज्यादा दी जाती है। तो एक बड़ा सवाल ये उठता है कि क्या फैशन डिजाइनिंग की पढ़ाई ऑनलाइन माध्यम से संभव है?

इसी प्रशन का उत्तर लेकर 28 तारिक को कृति समूह एक डेमो क्लास संचालित कर रहा है, जिसके अंतर्गत आप निम्न गूगल लिंक से जुड़ कर सीधे क्लास में प्रवेश कर सकते है। इस डेमो क्लास का मुख्य उदेश्य ये सार्थक करना है कि आप इस मुश्किल की घड़ी में ऑनलाइन मध्यम से भी फैशन  की पढ़ाई कर सकते है। इस डेमो क्लास के संचालक फैशन एवं इंटीरियर डिजाइनिंग विभाग के विभागाध्यक्ष श्री राजा गोस्वामी रहेंगे साथ ही विषयों की बारीकी समझानें हेतु अस्सिस्टेंट प्रोफेसर चेतना जोशी भी मैजूद रहेंगी। डेमो क्लास से सीधे जुडऩे के लिए गूगल मीट अप्प पर द्धह्लह्लश्चह्य://द्वद्गद्गह्ल.द्दशशद्दद्यद्ग.ष्शद्व/द्मद्मड्ढ-5ष्द्मह्म्-द्बद्घद्घ यह लिंक डालें या 87701 23657 कॉल कर सीधा क्लास में शामिल हो जाये।


27-Oct-2020 5:05 PM 25

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायगढ़, 27 अक्टूबर। जिले के उद्यानिकी विभाग द्वारा रायगढ़ के किसानों को आत्मनिर्भर बनने और उनकी आय में बढ़ोतरी के लिए आगामी कार्ययोजना को मूर्तरूप देने कमर कस ली है। जिला रायगढ़ के विकासखंड रायगढ़,बरमकेला, तमनार, खरसिया, घरघोड़ा एवं धरमजयगढ़ में लगभग 50 हेक्टेयर में ग्राम के स्व सहायता समूहों द्वारा सामुदायिक बाडिय़ों में सस्ती व अन्य उद्यानकी फसलों की खेती की जाएगी। जिसके माध्यम से आगामी 03 वर्षों में 64983 मानव दिवस तथा राशि 1,23,46770 रुपए के रोजगार का सृजन किया जाएगा। साथ ही प्रति वर्ष खरीफ ,रबी एवं जायद में लगभग 10,000 -12,000 क्विंटल के साग सब्जी का उत्पादन कर विपणन भी किया जायेगा । जिससे स्थानीय स्वयं सहायता समूहों के महिलाओ की आर्थिक स्थिति मजबूत हो सके। 

राज्य शासन एवं जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में अबतक कुल 5663 निजी बाडिय़ों का निर्माण किया गया है जिनमें उद्यानकी विभाग द्वारा फलदार पौधे एवं सब्जी बीज का वितरण किया गया है इसके अतिरिक्त जिला प्रशासन द्वारा डीएमएफ मद से भी 4100 सब्जी मिनी किट का वितरण विकासखण्डों में किया गया है। जिससे हितग्राही साग सब्जी का उत्पादन कर स्वयं एवं परिवार हेतु उपयोग कर अतिरिक्त शेष सब्जियों को बेचकर आमदनी प्राप्त कर रहे है।

डॉ. कमलेश दीवान सहायक संचालक उद्यान का कहना है कि इसी सकारात्मक दिशा में इस वर्ष भी 7000 बाडिय़ों के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है


27-Oct-2020 4:50 PM 12

रायपुर, 27 अक्टूबर। नॉर्थ अमेरिका छत्तीसगढ़ एसोसिएशन के अध्यक्ष गणेश कर ने बताया कि दुनिया भर में रह रहे छत्तीसगढ़ के एनआरआई समुदाय के एसोसिएशन नाचा द्वारा 1 नवंबर, 2020 को अमेरिका में 20 वें छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस का समारोह आयोजित किया जाएगा।  नाचा अपने गठन के कारण- छत्तीसगढ़ी संस्कृति, भाषा और साहित्य को बढ़ावा देने के साथ-साथ अपने राज्य को सर्वोच्च संभव सम्मान देने का प्रयास कर रहा है।  इसको नाचा के यूट्यूब चैनल और फ़ेसबुक पेज के माध्यम से भारत समय के अनुसार 2 नवंबर को सुबह साढ़े 6 बजे प्रसारित किया जाएगा।

श्री कर ने बताया कि उनकी टीम एक भव्य आयोजन कर रही है जो छत्तीसगढ़ के गौरव को कई गुना बढ़ा देगा। छत्तीसगढ़ की सभी प्रमुख हस्तियां जैसे राज्यपाल सुश्री अनुसूया उइके, सांस्कृतिक मंत्री अमरजीत भगत, सैन फ्रांसिस्को के कौंसल डॉ.टीवी नागेंद्र प्रसाद, नेपरविले (शिकागो)- मेयर-स्टीव कीरिको, अंतर्राष्ट्रीय कवि पद्मश्री सुरेन्द्र दुबे, छत्तीसगढ़ी अभिनेता-गायक पद्मश्री अनुज शर्मा, भारत सरकार जी.एस.टी.न आयुक्त अजय पांडे, भारत सरकार जी.एस.टी.न संयुक्त आयुक्त राजेश सिंह, लोकप्रिय अभिनेता-गायक सुनिक मानिकपुरी, लोकप्रिय छत्तीसगढ़ी गायिका अरु साहू और अंतर्राष्ट्रीय गायन संवेदना वंदना विश्वास आदि। 
श्री कर ने बताया कि यह कार्यक्रम प्रमुख छत्तीसगढ़ी लोगों की नृत्य शैली जैसे सुआ नृत्य, कर्मा नृत्य, शैला, भयिर को उजागर करेगा। पद्मश्री सुरेंद्र दुबे, पद्मश्री अनुज शर्मा उनके ग्रुप आरूग, सुनील मानिकपुरी, और कई अन्य से सांस्कृतिक प्रदर्शन होंगे।  कार्यक्रम में संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और सिंगापुर में नाचा के विभिन्न अध्यायों के विभिन्न प्रदर्शन भी शामिल होंगे।

श्री कर ने बताया कि नाचा ने इस अवसर के लिए एक गीत तैयार किया है, जो कि निश्चित रूप से पूरे छत्तीसगढ़ का सबसे लोकप्रिय गीत बन जाएगा। इस गीत को लोकप्रिय छत्तीसगढ़ी गायक-आरू साहू ने आवाज़ दी है और इसमें छत्तीसगढ़ के सभी प्रमुख स्थान शामिल हैं। टीम नाचा बहुत आश्वस्त है कि यह गीत इतना आकर्षक है कि आप दुनिया में जहां भी रहते हैं, आप इस गीत को सिर्फ एक बार नहीं सुन सकते। इस कार्यक्रम में नाचा लोकप्रिय गीत अरपा जोड़ी के ढार को एक नया रुख़ देगा।

श्री कर ने बताया कि इस कार्यक्रम में नाचा 3 एन.जी.ओ को सामुदायिक पुरस्कार प्रदान करेगा जो छत्तीसगढ़ में महत्वपूर्ण परोपकारी कार्य कर रहे हैं। इस संदर्भ में, नाचा ने पूरे छत्तीसगढ़ से नामांकन आमंत्रित किया था और 2 सप्ताह की अवधि में 15 से अधिक नामांकन प्राप्त किए। टीम उन सभी गैर-सरकारी संगठनों द्वारा किए गए कार्यों की सराहना करती है, जो छत्तीसगढ़ को एक बेहतर स्थान बनाने के लिए बहुत मेहनत कर रहे हैं। नाचा छत्तीसगढ़ से मितवा किन्नर समुदाय का नृत्य प्रदर्शन भी करेगा। टीम नाचा की छत्तीसगढ़ में भी नई पहल शुरू करने की योजना है, जो भविष्य में किन्नर समुदाय के जीवन को आसान बनाने की दिशा में काम करेगी।


27-Oct-2020 2:39 PM 23

नई दिल्ली, 27 अक्टूबर| एक बार फिर स्मार्टफोन्स ने किफायती कीमतों और नए लॉन्च हुए मॉडलों के कारण 7 दिन की अवधि (15-21 अक्टूबर) में कुल फेस्टिव सेल के 47 प्रतिशत हिस्से पर कब्जा जमाया। बेंगलुरु स्थित मार्केट रिसर्च फर्म रेडसीर के अनुसार, फेस्टिव सेल के पहले सप्ताह में ऑनलाइन प्लेटफॉर्मों पर हर मिनट 1.5 करोड़ रुपये मूल्य के स्मार्टफोन बेचे गए।

रेडसीर कंसल्टिंग के निदेशक मृगांक गुटगुटिया ने कहा, "कई पहलुओं में यह वास्तव में भारतीय ई-कामर्स के लिए एक फेस्टिवल ऑफ फर्स्ट है जो इसके भविष्य के लिए एक मजबूत आधार तैयार करेगा।"

पिछले साल की तरह फैशन श्रेणी को इस बार में सेल में बड़ा योगदान नहीं रहा, इसकी सेल 14 फीसदी ही रही। रिपोर्ट में कहा गया है, "घर और होम फर्निशिंग्स वाली श्रेणियों में नतीजे अच्छे रहे। इसमें वर्क-फ्रॉम-होम और स्टडी-फ्रॉम-होम के लिए बुनियादी चीजों की मांग ज्यादा रही।"

फोन को लेकर बात करें तो स्मार्टफोन ब्रांड एमआई इंडिया ने पिछले हफ्ते कहा था कि उसने एमेजॉन, फ्लिपकार्ट और एमआई डॉट कॉम प्लेटफार्मों पर 7 दिन की फेस्टिवल सेल में 50 लाख हैंडसेट बेचे। वहीं चीनी स्मार्टफोन ब्रांड पोको ने फ्लिपकार्ट पर इसी अवधि में 10 लाख से अधिक स्मार्टफोन बेचे। फ्लिपकार्ट ने पहले कहा था कि मोबाइल श्रेणी में प्लेटफॉर्म ने ग्राहकों की संख्या में दोगुनी वृद्धि दर्ज की है।

स्मार्टफोन के प्रीमियम सेगमेंट में 3.2 गुना की वृद्धि देखी गई, जिसमें मुख्य रूप से एप्पल, गूगल और सैगसंग के फोन शामिल हैं। (आईएएनएस)


27-Oct-2020 12:16 PM 18

नई दिल्ली, 27 अक्टूबर । आम आदमी को जल्द बड़ा झटका लग सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, केंद्र सरकार एक बार फिर से पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने की तैयारी कर रही है। सरकार 3-6 रुपये प्रति लीटर तक एक्साइज ड्यूटी बढ़ा सकती है। इससे पहले सरकार ने मई महीने के दौरान पेट्रोल पर 10 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने का ऐलान किया था।

मई 2014 में पेट्रोल पर कुल टैक्स 9.48 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 3.56 रुपये प्रति लीटर था. तब से आज तक पेट्रोल पर टैक्स बढ़कर 32.98 प्रति लीटर और डीजल पर टैक्स 31.83 रुपये प्रति लीटर है। केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा लगातार टैक्स बढ़ाए जाने से क्रूड के सस्ते होने का फायदा ग्राहकों को नहीं मिल पा रहा है, बल्कि उन्हें पेट्रोल और डीजल के लिए ज्यादा खर्च करना पड़ रहा है।
जानिए पेट्रोल पर लगने वाले टैक्स और कमीशन के बारे में...
एक्स फैक्ट्री कीमत- 25.32 रुपये
भाड़ा व अन्य खर्चे -0.36 रुपये
एक्साइज ड्यूटी -32.98 रुपये
डीलर का कमीशन- 3.69 रुपये
वेट (डीलर के कमीशन के साथ) -18.71 रुपये

अखबार को सूत्रों ने बताया कि 3-6 रुपये प्रति लीटर तक एक्साइज ड्यूटी बढ़ सकती है। लेकिन सरकार चाहती है कि टैक्स बढऩे के बाद पेट्रोल-डीजल महंगा नहीं होना चाहिए। इसीलिए नई योजना पर काम चल रहा है। माना जा रहा है कि कच्चे तेल के दाम गिरने के बाद जितना पेट्रोल-डीजल सस्ता होना चाहिए था। अब वो नहीं होगा।
अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कच्चा तेल 45 डॉलर प्रति बैरल से गिरकर 40 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया है। इसीलिए सरकार इसका फायदा उठाना चाहती है। 1 रुपये एक्साइज ड्यूटी बढऩे से सरकार को कितना फायदा? पेट्रोल और डीजल की एक्साइज ड्यूटी में हर एक रुपये की बढ़ोतरी से केंद्र सरकार के खजाने में 13,000-14,000 करोड़ रुपये सालाना की बढ़ोतरी होती है। वहीं कू्रड की कीमतें घटने से सरकार को व्यापार घाटा कम करने में मदद मिलती है। असल में भारत अपनी जरूरतों का करीब 82 फीसदी कू्रड खरीदता है। ऐसे में क्रूड की कीमतें घटने से देश का करंट अकाउंट डेफिसिट भी घट सकता है। (news18.com)

 


26-Oct-2020 5:55 PM 20

नई दिल्ली, 26 अक्टूबर | दूरसंचार क्षेत्र की दिग्गज कंपनी एयरटेल ने सोमवार को 'एयरटेल आईक्यू' नामक एक नए प्लेटफॉर्म को जारी किया है और इसी के साथ देश में क्लाउड संचार मार्केट में अपनी पारी की शुरुआत कर दी है, जिसकी कीमत 100 करोड़ डॉलर के आसपास है। क्लाउड आधारित ओम्नी चैनल संचार प्लेटफॉर्म एयरटेल आईक्यू को समय पर और सुरक्षित संचार के माध्यम से ग्राहकों संग बेहतर संबंध बनाने के मद्देनजर डिजाइन किया गया है।

कंपनी ने अपने एक बयान में कहा है कि भारत में स्विगी, जस्टडायल, अर्बन कंपनी, हेवेल्स, डॉ. लाल पैथलैब्स और रैपिडो जैसी कई बड़ी कंपनियां ग्राहक के तौर पर एयरटेल आईक्यू का इसके बीटा चरण के दौरान से उपयोग कर रही है।

भारती एयरटेल के चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर आदर्श नायर ने इस बीच कहा, "उपभोक्ताओं के साथ जुड़ने के लिए व्यवसाय तेजी से क्लाउड-आधारित डिजिटल प्लेटफार्मो की ओर बढ़ रहे हैं और बात जब किसी ब्रांड द्वारा ग्राहकों को खुश करने की आती है, तो एयरटेल आईक्यू इस दिशा में और बेहतर साबित होगी।"

उन्होंने आगे कहा, "तो अगली बार से जब आप ऑनलाइन शॉपिंग, अपने किसी पसंदीदा रेस्तरां से खाना ऑर्डर करने या किसी राइड का आनंद लेंगे, तो याद रखिएगा कि इसे और बेहतर और सुरक्षित बनाने में एयरटेल आईक्यू की एक छोटी सी भूमिका रही है।"

एयरटेल आईक्यू को अपनाने के चलते व्यवसायियों व उद्यमियों को अपने कई अलग-अलग चैनलों के लिए भिन्न संचार मंचों की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसमें महज एक कोड के जरिए वॉयस, एसएमएस, आईवीआर जैसे संचार सेवाओं का संचालन किया जा सकता है। इसकी मदद से एक एकीकृत प्लेटफॉर्म के माध्यम से डेस्कटॉप और मोबाइल पर डिजिटल लेनदेन को सुलभ बनाया जा सकेगा।

--आईएएनएस


26-Oct-2020 5:43 PM 69

रायपुर, 26 अक्टूबर। रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल के मेडिकल व मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. संदीप दवे ने बताया कि डॉ. प्रवाश चौधरी, नेफ्रोलॉजिस्ट व टीम द्वारा किडनी ट्रांसप्लांटेशन सफलतापूर्वक किया गया। सीओओ संदीप रूपरिया ने कोरोना के विश्वव्यापी संक्रमण के समय इस सफलता के लिए बधाई दी।

डॉ. दवे ने बताया कि हॉस्पिटल में मरीजों की सुरक्षा पहली प्राथमिकता होती है इसलिए यहां सभी आवश्यक सावधानियों 3 लेवर स्क्रीनिंग, सेनीटाइजर, पीपीई का प्रयोग, हॉस्पिटल को सेनीटाइज करना आदि का इस्तेमाल किया जा रहा है, और उनकी 24 घंटे देखभाल की जाती है। उन्होंने कहा कि हृदय, लीवर व किडनी आदि की समस्याओं से पीडि़त मरीजों को डॉक्टर्स से तुरंत सलाह लेकर सही समय पर इलाज कराना जरूरी है।


26-Oct-2020 5:41 PM 21

रायपुर, 26 अक्टूबर। भारतीय मोबाइल एसेसरीज ब्रांड एम्ब्रेन ने ऑडियो सेगमेंट में अपनी मौजूदगी को बढ़ाते हुए इन.ईयर कॉलर ने कबैंड इयरफोन वेव को लॉन्च करने की घोषणा की।  यह ईयरफोन सिरी/गूगल असिस्टेंट और ब्लूटूथ 5.0 कनेक्टिविटी सर्विस से लैस है। इस प्रोडक्ट की कीमत 1, 999 रुपये है और यह 365 दिनों की वारंटी के साथ उपलब्ध है।  यह इन.ईयर इयरफोन आरामदायक और वर्सेटाइल ढंग से डिज़ाइन किया गया हैए जो यूजर को बेहतर सुविधा प्रदान करेगा। इसका व्यालपक पहनने योग्य डिज़ाइन हल्का होने के साथ-साथ स्टाइलिश भी है और उपयोग में नहीं होने पर आपके गले में बिना किसी परेशानी के आसानी से फिट रहता है।

 


26-Oct-2020 1:02 PM 12

नई दिल्ली, 26 अक्टूबर। अमेजन को अपने भारतीय साझेदार फ्यूचर ग्रुप के खिलाफ रविवार को एक अंतरिम राहत मिली है। सिंगापुर की मध्यस्थता अदालत ने फ्यूचर ग्रुप को अपना खुदरा कारोबार रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को बेचने से अंतरिम रूप से रोक दिया है। फ्यूचर समूह ने रिलायंस के साथ 24,713 करोड़ रुपये का सौदा कर रखा है। अमेजन पिछले साल फ्यूचर समूह की एक असूचीबद्ध कंपनी की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने पर सहमत हुई थी। इसके साथ ही यह शर्त भी थी कि अमेजन को तीन से 10 साल की अवधि के बाद फ्यूचर रिटेल लिमिटेड की हिस्सेदारी खरीदने का अधिकार होगा। इस बीच कर्ज में दबे किशोर बियानी के समूह ने अपने खुदरा स्टोर, थोक और लाजिस्टिक्स कारोबार को हाल में रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेचने का करार कर लिया।  इसके विरुद्ध अमेजन ने मध्यस्थता अदालत का दरवाजा खटखटाया है। 

अमेजन बनाम फ्यूचर बनाम रिलायंस इंडस्ट्रीज के इस मामले में एकमात्र मध्यस्थ वीके राजा ने अमेजन के पक्ष में अंतरिम फैसला सुनाया। उन्होंने फ्यूचर ग्रुप को फिलहाल सौदे को रोकने को कहा। उन्होंने कहा कि जब तक इस मामले में मध्यस्थता अदालत अंतिम निर्णय पर नहीं पहुंच जाती है, तब तक सौदा नहीं किया जा सकता है।अमेजन के एक प्रवक्ता ने भी मध्यस्थता अदालत के इस निर्णय की पुष्टि की है। उसने कहा कि मध्यस्थता अदालत ने कंपनी के द्वारा मांगी गयी राहत प्रदान की है। उसने कहा कि अमेजन मध्यस्थता प्रक्रिया के तेजी से संपन्न होने की उम्मीद करती है। 

अमेजन के प्रवक्ता ने कहा, ‘हम आपातकालीन मध्यस्थ के निर्णय का स्वागत करते हैं। हम इस आदेश के लिये आभारी हैं, जो सभी अपेक्षित राहत देता है। हम मध्यस्थता प्रक्रिया के त्वरित निस्तारण के लिये प्रतिबद्ध हैं।’ अमेजन का मानना है कि फ्यूचर ग्रुप ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ समझौता कर उसके साथ करार का उल्लंघन किया है। यदि यह सौदा पूरा होता है तो रिलायंस को भारत के खुदरा क्षेत्र में अपनी उपस्थिति को करीब दोगुना करने में मदद मिलती। 

एक सूत्र ने कहा कि तीन सदस्यों वाली एक मध्यस्थता अदालत 90 दिन में इस मामले में अंतिम निर्णय लेगी। अंतिम निर्णय सुनाने वाली समिति में फ्यूचर और अमेजन के द्वारा नामित एक-एक सदस्य होंगे तथा एक तटस्थ सदस्य होंगे। सूत्रों ने कहा कि अमेजन की टीम का पक्ष गोपाल सुब्रमण्यम, गौरव बनर्जी, अमित सिब्बल और एल्विन येओ ने रखा। फ्यूचर रिटेल के पक्ष में हरीश साल्वे खड़े थे। इससे पहले मध्यस्थता अदालत ने सिंगापुर अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता केंद्र में 16 अक्टूबर को सुनवाई पूरी की थी।  (khabar.ndtv.com)


26-Oct-2020 9:34 AM 15

दुनिया के सबसे बड़े मोटर साइकिल बाज़ार में अपने पांव जमाने के उद्देश्य से रॉयल एनफ़ील्ड ब्रैंड तेज़ी से अपना विस्तार कर रही है.

रॉयल एनफ़ील्ड दुनिया की सबसे पुराने मोटरसाइकिल ब्रैंड्स में से एक है जो आज भी बेहद पसंद की जाती है.

भारतीय बाज़ार में अच्छी बिक्री दर्ज करने वाली इस कंपनी का मालिकाना हक साल 1994 से भारत के आइशर ग्रुप के पास है.

ये कंपनी अब एशिया में अपनी बिक्री बढ़ाना चाहती है और इसलिए हाल में इसने थाईलैंड में एक नई फैक्ट्री बनाने की योजना का एलान किया है.

रॉयल एनफ़ील्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनोद दसारी ने बीबीसी को बताया कि भारतीय उपभोक्ता इस मोटरसाइकिल का स्टाइल और इसकी विरासत पसंद करते हैं.

वो कहते हैं, "हम बेहतर मोटरसाइकिलें बनाते हैं जिनकी क़ीमत भी अधिक नहीं होती. साथ ही हम केवल भारत के लिए नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए मोटरसाइकिलें बनाते हैं."

उम्मीद की जा रही है कि थाईलैंड में लगने वाली कंपनी की फैक्ट्री में बारह महीनों के भीतर काम शुरू हो जाएगा. माना जा रहा है कि भारत के बाद ये कंपनी की दूसरी सबसे बड़ी फैक्ट्री होगी.

वियतनाम, मलेशिया और चीन जैसे दक्षिणपूर्व एशिया के देशों को मोटरसाइकिल निर्यात करने के लिए कंपनी इस फैक्ट्री को एक्सपोर्ट हब बनाना चाहती है.

इसके लिए विनोद दसारी की बड़ी योजनाएं हैं. वो अगले तीन से पांच सालों तक हर तिमाही में एक नई मोटरसाइकिल लॉन्च करना चाहते हैं.

वो कहते हैं, "हमारे लिए एशिया प्रशांत बेहद अहम बाज़ार है और हमारे उपभोक्ता महत्वाकांक्षी हैं और उन्हें हमसे कुछ बेहतर की अपेक्षा है."

आगे बढ़ने की लड़ाई

मोटरसाइकिल सवारी की एशिया में एक मजबूत परंपरा है. मोटरसाइकिल की बिक्री के मामले में भारत दुनिया का सबसे बड़ा बाजार है. इसके बाद इस मामले में थाईलैंड, इंडोनेशिया और वियतनाम आगे हैं.

इन देशों की भीड़भाड़ वाली सड़कों पर, खासकर बड़े शहरों में, ट्रैफ़िक जाम से बच कर आगे जाने का मोटरसाइकिल सबसे आसान तरीक़ा है.

मोटरसाइकिल बिक्री के बीते साल के आंकड़ों को देखें तो रॉयल एनफ़ील्ड की बिक्री इस पूरे इलाक़े में 88 फीसदी बढ़ी है. ये कंपनी केवल 250-750सीसी क्लास के मिड-सेगमेंट मार्केट के लिए मोटरसाइकिल बनाती है.

लेकिन एशिया में सभी मोटरसाइकिल कंपनियां कामयाब नहीं रही हैं.

एक तरफ जहां रॉयल एनफ़ील्ड एशिया के इलाक़े में और विस्तार करने की योजना बना रही है, वहीं दूसरी तरफ हाल में हार्ले-डेविडसन ने इस इलाक़े से अपना काम समेटने की घोषणा की है.

फ्रॉस्ट एंड सुलिवन में ट्रांसपोर्ट एक्सपर्ट विवेक वैद्य बताते हैं, "हार्ले-डेविडसन की मोटरसाइकिलों को भारत में लोग महंगा मानते हैं. यहां की सड़कें, स्पीड और ट्रैफिक को लेकर सरकार के नियम, हाई स्पीड में मोटरसाइकिल चलाने के लिए अनुकूल नहीं हैं."

वो कहते हैं, "कंपनी ने कम ताकत वाले इंजन बनाना शुरू तो किया, लेकिन इस मामले में वो अधिक कामयाब साबित नहीं सकी. इस सेगमेन्ट में रॉयल एनफ़ील्ड को चुनौती देना कतई आसान नहीं था."

जानकार मानते हैं कि हार्ले-डेविडसन के विपरीत एशिया के मोटरसाइकिल उपभोक्ताओं के लिए रॉयल एनफ़ील्ड के उत्पाद बेहतर रहे हैं.

मोटर स्पोर्ट कंसल्टेंट स्कॉट लुकाएटिस कहते हैं, "इस्तेमाल में आसानी, साधारण डिज़ाइन और अपने क्लासिक विंटेज स्टाइल के लिए उपभोक्ता रॉयल एनफ़ील्ड की मोटरसाइकिलें पसंद करते हैं."

"वो कम खर्च पर अपने उपभोक्ताओं को स्पोर्ट्स बाइक खरीदने का मौक़ा देते हैं. साथ ही उनके उपभोक्ताओं को उन मोटरसाइकिलों के बारे में अधिक तकनीकी जानकारी की ज़रूरत नहीं होती, न ही उनके रखरखाव में अधिक खर्च करना पड़ता है."

लेकिन विनोद दसारी मानते हैं कि रॉयल एनफ़ील्ड की विरासत उपभोक्ताओं को आकर्षित करती हैं. वो कहते हैं "कंपनी केवल एक उत्पाद नहीं बेच रही बल्कि उस उत्पाद के साथ उसका सालों का अनुभव है."

लिमिटेड एडिशन रॉयल एनफ़ील्ड क्लासिक 500 पेगासस मोटरसाइकिल जिसे द्वितीय विश्व युद्ध के ख़ास ग्लाइडर 'फ्लाइंग फ्ली' की याद में साल 2018 में बनाया गया था.

रॉयल एनफ़ील्ड का इतिहास

1893 - साइकिल बनाने वाले ये कंपनी पहले एनफ़ील्ड में मौजूद रॉयल स्मॉल आर्म्स फैक्ट्री के लिए कलपुर्जे बनाती थी. बाद में इसने अपना नाम रॉयल एनफ़ील्ड रख लिया.

1901 - ब्रिटेन में कंपनी ने मोटर से चलने वाली अपनी पहली साइकिल बनाई.

1914-18 - प्रथम विश्व युद्ध के दौरान कंपनी ने ब्रितानी सेना के साथ-साथ बेल्जियम, फ्रांस, अमरीका और रूस की सेना को भी मोटरसाइकिल स्पालई की.

1932 - कंपनी ने अपनी पहली "बुलेट" मोटरसाइकिल बनाई जिसमें ख़ास, स्लोपर इंजन का इस्तेमाल किया गया था. इस मॉडल को काफी पसंद किया गया.

1939-1945 - द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान कंपनी ने सेना के लिए मोटरसाइकिल बनाने के साथ-साथ साइकिल, जनरेटर और एंटी-एयरक्राफ्ट गन बनानी शुरू की. पैराशूटिस्ट और ग्लाइडर सैनिकों के इस्तेमाल के लिए कंपनी ने जानेमाने 'फ्लाइंग फ्ली' नाम के ग्लाइडर का भी उत्पादन किया.

1960 - ये पारंपरिक मोटरसाइकिलों का ज़माना था. कई कंपनियों ने इस दौरान मोटरसाइकिल बाज़ार में अपने कदम रखे. इनमें से एक कंपनी रॉयल एनफ़ील्ड थी.

1970 - कंपनी ने ब्रिटेन में अपना काम बंद किया. कंपनी की भारतीय सहायक कंपनी, एनफ़ील्ड इंडिया ने उत्पादन का काम अपने हाथों में लिया.

1994 - भारत की कंपनी आइशर मोटर्स ने एनफ़ील्ड इंडिया को खरीद लिया. कंपनी का दोबारा नामकरण हुआ और इसका नाम रॉयल एनफ़ील्ड मोटर्स लिमिटेड कर दिया गया.

2020 - कंपनी के लिए ब्रिटेन अभी भी महत्वपूर्ण बाज़ार बना हुआ है. मिडिलवेट मोटरसाइकिल कैटगरी में कंपनी की इंटरसेप्टर 650 यहां सबसे अधिक बिकने वाली मोटरसाइकिल है.

अमरीकी चैट शो के प्रस्तुतकर्ता जे लेनो रॉयल एनफ़ील्ड की मोटरसाइकिलें पसंद करते हैं.

अगले साल रॉयल एनफ़ील्ड मोटरसाइकिल बनाने के अपने 120 साल पूरे करने जा रही है. कोरोना महामारी से जूझ रहे भारत में कंपनी ने इस संबंध में किसी ख़ास कार्यक्रम की कोई घोषणा नहीं की है.

जानकारों का मानना है कि कोरोना महामारी के बाद एशिया का मोटरसाइकिल बाज़ार एक बार फिर विकास के रास्ते आगे बढ़ेगा.

विवेक वैद्य कहते हैं, "मिलने जुलने से संक्रमण फैलने के डर से लोग सार्वजनिक परिवहन की बजाय निजी परिवहन पर अधिक ज़ोर देंगे. ऐसे में ग्रामीण इलाक़ों में सस्ते परिवहन के रूप में मोटरसाइकिल बाज़ार का भविष्य बेहतर ही दिखता है."(bbc)


25-Oct-2020 2:00 PM 66
HUAWEI ने कल रात टेक मंच पर तकनीक का प्रदर्शन करते हुए ‘मेट 40 सीरीज़’ से पर्दा उठा दिया है। कंपनी की ओर से एक साथ तीन नए फोन पेश किए गए हैं जिन्होंने Huawei Mate 40, Huawei Mate 40 Pro और Huawei Mate 40 Pro+ नाम के साथ मार्केट में एंट्री ली है। हुआवई के ये तीनों ही स्मार्टफोन फ्लैगशिप सेग्मेंट में पेश किए गए हैं जो हाईएंड स्पेसि​फिकेशन्स से लैस है। आगे हमनें हुआवई मेट 40 प्रो और मेट 40 प्रो प्लस के फीचर्स और स्पेसिफिकेशन्स की जानकारी दी है।
 
डिसप्ले
 
Huawei Mate 40 Pro और Mate 40 Pro+ दोनों स्मार्टफोन डुअल पंच-होल डिसप्ले पर लॉन्च किए गए हैं। ये दोनों ही फोन 2376 x 1080 पिक्सल रेज्ल्यूशन वाली 6.76 इंच की फुलएचडी+ फ्लैक्स ओएलईडी डिसप्ले सपोर्ट करता है। यह स्क्रीन कर्व्ड ऐज़ेज के साथ आती है जो 88 डिग्री एंगल तक साईड पैनल की ओर मुड़ी हुई है। फोन की डिसप्ले 90Hz रिफ्रेश रेट और 240Hz टच सेंपलिंग रेट पर काम करती है तथा लेटेस्ट DCI-P3 HDR टेक्नोलॉजी से लैस है।
 
Huawei Mate 40 Pro plus launched with 5nm kirin 9000 chip specs
 
प्रोसेसिंग
 
हुआवई मेट 40 प्रो और मेट 40 प्रो प्लस को एंडरॉयड 10 ओएस पर लॉन्च किया गया है जो ईएमयूआई 11 के साथ काम करता है। वहीं प्रोेसेसिंग के लिए फोन में 5नैनोमीटर फेब्रिकेशन पर बना हुआवई का सबसे पावरफुल चिपसेट किरीन 9000 दिया गया है। बता दें कि यह चिपसेट एंडरॉयड फोंस के लिए बना दुनिया का पहला 5एनएम चिपसेट है जो डुअल मोड 5G (SA/NSA) सपोर्ट करता है। प्रोसेसिंग के दौरान यह सीपीयू की परफॉर्मेंस को 25 प्रतिशत तक तथा एनपीयू की परफॉर्मेंस को 150 प्रतिशत तक फास्ट कर देता है। वहीं ग्राफिक्स के लिए फोन में एआरएम माली जी78 जीपीयू दिया गया है। यह भी पढ़ें : दो डिसप्ले वाला LG का यह अनूठा फोन आ रहा है इंडिया, 28 अक्टूबर को होगा लॉन्च
 
फोटोग्राफी
 
Huawei Mate 40 Pro+ को पेंटा कैमरे के साथ लॉन्च किया गया है। इस सेटअप में एफ/1.9 अपर्चर वाला 50 मेगापिक्सल का Sony IMX700 प्राइमरी सेंसर, एफ/1.8 अपर्चर वाला 20 मेगापिक्सल का अल्ट्रावाइड एंगल लेंस, 12 मेगापिक्सल का टेलीफोटो लेंस और 8 मेगापिक्सल का पेरिस्कोप सेंसर तथा एक 3डी डेफ्थ सेंसर ​मौजूद है। सेल्फी के लिए इस फोन में एफ/2.4 अपर्चर वाला 13 मेगापिक्सल के प्राइमरी सेंसर के साथ एक टीओएफ लेंस दिया गया है।
 
Huawei Mate 40 Pro की बात करें तो यह क्वॉड रियर कैमरा सपोर्ट करता है। फोन के बैक पैनल पर एफ/1.9 अपर्चर वाले 50 मेगापिक्सल के Sony IMX700 प्राइमरी सेंसर के साथ एफ/1.8 अपर्चर वाला 20 मेगापिक्सल का अल्ट्रावाइड एंगल लेंस, 12 मेगापिक्सल का टेलीफोटो लेंस और 8 मेगापिक्सल का पेरिस्कोप सेंसर दिया गया है। इसी तरह सेल्फी के लिए यह फोन भी एफ/2.4 अपर्चर वाला 13 मेगापिक्सल के प्राइमरी सेंसर और एक टीओएफ लेंस सपोर्ट करता है। यह भी पढ़ें : दो सस्ते फोन Nord N10 5G और Nord N100 ला रहा OnePlus, लॉन्च से पहले डिजाइन और फीचर्स हुए लीक
 
बैटरी
 
Huawei Mate 40 Pro और Mate 40 Pro+ को बाजार में 4,400एमएएच की बैटरी पर लॉन्च किया गया है जो 66वॉट सुपरचार्ज फास्ट चार्जिंग टेक्नोलॉजी सपोर्ट करती है। वहीं वायरलेस तरीके से फास्ट चार्ज करने के लिए इसे 50वॉट हुआवई वायरलेस सुपरचार्ज तकनीक से लैस किया गया है। हुआवई के ये दोनों स्मार्टफोन रिवर्स चार्जिंग भी सपोर्ट करते हैं। कंपनी का दावा है कि -5 डिग्री तापमान में भी फोन चार्जिंग बिना रूकावट के काम करेगी।
 
बेस्ट फीचर्स
 
​हुआवई के ये दोनों स्मार्टफोन इन-डिसप्ले फिंगरप्रिंट सेंसर सपोर्ट करते हैं। यह आईपी68 रेटिड स्मार्टफोन है जो 5G के साथ ही डुअल 4जी वोएलटीई पर भी करता है। ये दोनों फोन हुआवई मोबाइल सर्विस पर काम करते हैं यानि इनमें गूगल प्ले स्टोर देखने को ​नहीं मिलेगा। Mate 40 Pro का डायमेंशन 162.9×74.5×9.1एमएम और वज़न 212ग्राम है। वहीं Mate 40 Pro+ का डायमेंशन 162.9×74.5×8.8एमएम और वज़न 230ग्राम है।
 
वेरिएंट्स व कीमत
 
HUAWEI Mate 40 Pro को मार्केट में 8 जीबी रैम + 256 जीबी स्टोरेज पर लॉन्च किया गया है जिसकी कीमत €1,199 यानि 1,04,500 रुपये के करीब है। इसी तरह HUAWEI Mate 40 Pro+ को कंपनी की ओर से 12 जीबी रैम मैमोरी के साथ 256 जीबी की इंटरनल स्टोरेज पर लॉन्च किया गया है जिसकी कीमत €1,399 अर्थात् इंडियन करंसी अनुसार 1,21,900 रुपये के करीब है।
 
हुआवई मेट 40 प्रो स्पेसिफिकेशन
परफॉर्मेंस
आठ कोर(3.13 गीगाहर्ट्ज, सिंगल कोर + 2.54 गीगाहर्ट्ज, ट्राई कोर + 2.05 गीगाहर्ट्ज, क्वाड कोर)
ङाईसिलिकॉन किरिन
8 जीबी रैम
डिसप्ले
6.76 इंच (17.17 सेमी)
456 पीपीआई, ओएलईडी
90 हर्ट्ज रिफ्रेश रेट
कैमरा
50 एमपी + 12 एमपी + 20 एमपी ट्रिपल प्राइमरी कैमरा
एलईडी फ्लैश
13 एमपी फ्रंट कैमरा
बैटरी
4400 एमएएच
सुपर चार्जिंग
नॉन रिमूवेबल
हुआवई मेट 40 प्रो प्राइस, लॉन्च की तारीख
एक्सपेक्टेड प्राइस: रु. 104,490
रिलीज की तारीख: January 12, 2021 (अनौपचारिक)
वेरियंट: 8 जीबी रैम / 256 जीबी इंटरनल स्टोरेज
फोन की स्थिति: आने वाला है.  (91mobiles.com)

24-Oct-2020 6:28 PM 16

दुनिया में सबसे ज्यादा उपयोग किया जाने वाले चैटिंग ऐप वॉट्सऐप ने गुरुवार को एक ब्लॉग पोस्ट में कहा है कि जल्द ही वह अपने बिजनेस चैट सर्विस के लिए कंपनियों पर चार्ज लगाना शुरू कर देगा. आपको बता दें कि वॉट्सऐप बिजनेस के पांच करोड़ से अधिक बिजनेस यूजर हैं. फिलहाल वॉट्सऐप ने इस बात का खुलासा नहीं किया है कि इस सर्विस के लिए कितना चार्ज किया जाएगा. WhatsApp ने कुछ दिनों पहले ही एक नया फीचर WhatsApp Business अकाउंट एंड्रॉयड यूजर्स के लिए रोलआउट किया था.

WhatsApp ने ब्लॉग पोस्ट में कही ये बात

वॉट्सऐप ने पांच करोड़ से ज्यादा बिजनेस यूजर के लिए पे-टू-मैसेज ऑप्शन का ऐलान किया है. कंपनी ने कहा है, 'हम बिजनेस ग्राहकों को दी जारी कुछ सेवाओं को चार्जेबल करने जा रहे हैं, ताकि अपने दो अरब से ज्यादा कस्टमर्स को मुफ्त एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड टेक्स्ट, वीडियो और वॉयस कॉलिंग जैसी सुविधा उपलब्ध कराते रहे.'

वॉट्सऐप ने बिजनेस करने वाले यूजर्स के लिए WhatsApp Business नाम का अलग ऐप बनाया है. ये ऐसा मार्केट प्लेस है जहां पर चैट के जरिए लोग बिजनेस कर सकते हैं. अब इस प्लेटफॉर्म से जल्द ही डायरेक्ट शॉपिंग करने का नया फीचर मिलने वाला है. वॉट्सऐप का ऐसा मानना है कि इस फीचर की मदद से छोटे कारोबारियों को अपना बिजनेस खड़ा करने में मदद मिलेगी. कंपनी ने अपने बिजनेस यूजर्स को इस नए फीचर के लिए नोटिफिकेशन भेजना शुरू कर दिया है.

डेटा को फेसबुक पर किया जाएगा शेयर

अब कंपनी ने कहा है कि बिजनेस और ग्राहक दोनों को जागरूक करने के लिए किसी स्पेशल केस में उनके डेटा को फेसबुक पर शेयर किया जाएगा. साथ ही फेसबुक होस्टिंग सॉल्यूशन के लिए एडिशनल पेमेंट की आवश्यकता होगी. वॉट्सऐप यूजर्स को दी जाने वाली फेसबुक होस्टिंग सर्विस एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड होगी. यानी बिजनेसे ग्राहकों के बीच के मैसेज कोई दूसरा नहीं देख पाएगा. कंपनी ने बताया कि इस बारे में काफी सोच-विचार कर चुके हैं. हम यहां होने वाले बिजनेस में पूरी ट्रांसपेरेंसी रखेंगे.(https://hindi.news18.com/)


24-Oct-2020 6:18 PM 17

बिजनेस डेस्क, 24 अक्टूबर | आरबीआई के एमपीसी की बैठक में गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौजूदा अर्थव्यवस्था और कोरोना महामारी को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि अगर कोरोना की दूसरी लहर आती है तो अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाना मुश्किल हो जाएगा। वहीं डिप्टी गवर्नर माइकल देबप्राता पात्रा ने कहा कि अर्थव्यवस्था को हुए नुकसान की भरपाई में काफी वक्त लग सकता है।

एमपीसी की बैठक में शामिल सदस्यों ने भी चिंता जताते हुए कहा कि कोरोना महामारी ने जिस तरह से अर्थव्यवस्था को तहस-नहस किया है उसके सामान्य होने की प्रक्रिया शुरू हो गई है, लेकिन कोविड-19 से पहले वाली स्थिति में पहुंचने में अभी भी तीन से चार तिमाहियों का वक्त लगेगा। गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि रेपो रेट में कटौती आगे की परिस्थितियों पर निर्भर करेगी। उन्होंने कहा कि अगर महंगाई की दर उम्मीद के मुताबिक रहती है तो ब्याज दरों में और कटौती का रास्ता निकल सकता है।

बैठक में सभी सदस्य ने कहा कि हमारी कोशिश बाजार में ज्यादा से ज्यादा तरलता प्रवाह बढ़ाने की होनी चाहिए। तरलता प्रवाह बढ़ाने के लिए सिर्फ रेपो रेट में कटौती ही एक रास्ता नहीं है बल्कि दूसरे उपाय भी किये जा रहे हैं। बता दें कि एमपीसी की बैठक में आरबीआई गवर्नर के अलावा  डॉ. शशांक भिडे, डॉ. अमीशा गोयल, प्रो जयंत वर्मा, डॉ. एम के सागर और डॉ. माइकल देबब्रता पात्रा शामिल हैं।(https://www.punjabkesari.in/)


24-Oct-2020 5:52 PM 29

नई दिल्ली, 24 अक्टूबर | एमेजॉन एलेक्सा के स्वामित्व वाले और गूगल असिस्टेंट द्वारा संचालित स्मार्ट स्पीकर (स्मार्ट डिस्प्ले सहित) वाले डिवाइसों की 16.3 करोड़ इकाइयां अगले साल तक वैश्विक बाजारों में पहुंचने के लिए तैयार हैं। एक नई रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई है।

साल 2024 तक वैश्विक बाजारों में इनकी 64 करोड़ इकाइयों तक छलांग लगाए जाने की संभावना है।

मार्केट रिसर्च फर्म कैनालिस की रिपोर्ट के मुताबिक, स्मार्ट स्पीकरों के वैश्विक बाजार में अगले साल गति आएगी क्योंकि इस दौरान चीन के बाहर अन्य बाजारों की स्थिति के सुधरने की संभावना जताई जा रही है, जिसका प्रभाव वार्षिक वृद्धि के एक बड़े हिस्से को प्रभावित करेगा।

अब एप्पल ने भी इसी बीच अपने होमोपैड मिनी के अक्टूबर में लॉन्च होने की घोषणा कर दी है, जिसे आने वाले समय में स्मार्ट स्पीकर के व्यवसाय में सफलता के एक आगाज के रूप में देखा जा सकता है।

--आईएएनएस


24-Oct-2020 5:51 PM 23

सैन फ्रांसिस्को, 24 अक्टूबर | सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने अपनी नेक्स्ट जनरेशन के इंटरैक्टिव, टचस्क्रीन डिस्प्ले की रेंज में 85 इंच का मॉडल लॉन्च किया है। इससे पहले ये डिस्प्ले 55 इंच और 65 इंच की साइज में उपलब्ध थे। 85 इंच का यह इंटरैक्टिव डिस्प्ले किसी भी क्लास, कॉन्फ्रेंस रूम या मीटिंग रूम को ऐसी जगह में बदल देता है, जहां लोग इसकी मदद से डिजिटल सहयोग ले सकते हैं।

यह मॉडल सैमसंग के मौजूदा फ्लिप -2 डिजिटल व्हाइटबोर्ड का एक बड़ा वर्जन है, जो कि स्कूल के व्हाइटबोर्ड जितना बड़ा है।

अमेरिका में सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के मार्केटिंग के वाइस प्रेसिडेंट मार्क क्विरोज ने कहा, "इण्डस्ट्री में उपयोग हो रहे शिक्षा और व्यापार के मौजूदा हाइब्रिड मॉडल ने टेक सॉल्यूशंस की जरूरतों को बढ़ाया है। 85 इंच का इंटरैक्टिव डिस्प्ले स्टूडेंट्स और बिजनेस लीडर्स को साथ काम करने में सक्षम बनाता है।"

85 इंच के इस इंटरैक्टिव डिस्प्ले में एक स्मूथ पेन-टू-पेपर राइटिंग मोड, फोटो एडिटिंग के फ्लेक्जिबल एडिटिंग टूल आदि हैं।

कंपनी के अनुसार, यह मॉडल 4के अल्ट्रा हाई डेफिनिशन (यूएचडी) पिक्च र क्वालिटी, आसानी से पढ़े जाने वाले विजुअल्स, रियल टाइम कंटेंट शेयरिंग करने और एक साथ 20 टचपॉइंट्स की टीम को काम करने की सुविधा देता है।

--आईएएनएस


24-Oct-2020 5:49 PM 15

नई दिल्ली, 24 अक्टूबर | देश की संसद की संयुक्त समिति ने अमेजन के प्रतिनिधियों से डाटा सुरक्षा के मुद्दे पर 28 अक्टूबर को पेश होने को कहा था, पर जवाब में अमेजन ने अपनी उपस्थिति से साफ इनकार कर दिया है। अमेजन के इस रवैये को कैट ने एक बड़ा दुस्साहस बताया है। कैट ने कहा कि इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है, क्योंकि अमेजन एवं अन्य ई कॉमर्स कंपनियां कानूनों को न मानने की आदत से लाचार हैं। ये कंपनियां खुले रूप से सरकार की एफडीआई पॉलिसी का उल्लंघन करती आ रही हैं, लेकिन चूंकि इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है, इसलिए इनके हौसले बेहद बुलंद हो गए हैं।

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने बताया कि कैट ने अमेजन और उसके जैसी अन्य विदेशी ई कॉमर्स पोर्टल की अनैतिक कार्य प्रणाली के खिलाफ समय समय पर आवाज भी उठाई है। इनकी दबंगई के कारण आज देश के रिटेल सेक्टर के व्यापारी भारी नुकसान झेल रहे हैं और अगर ऐसा ही चलता रहा तो उन्हें सड़क पर उतरना पड़ेगा।

कैट लगातार सरकार से एक मजबूत ई कॉमर्स पॉलिसी और एक रेगुलेटरी बॉडी के गठन की मांग करता रहा है। मौजूदा हालात में ये अब और भी जरूरी हो गया है।

खंडेलवाल ने कहा, "जब अमेजन जैसी विदेशी कंपनियां हमारे देश की संसद की संयुक्त समिति का सम्मान नहीं करती हैं तो आगे क्या होगा इसका अंदाजा लगाना ज्यादा मुश्किल नही है। इसलिए कैट एक बार फिर सरकार से इनके इसी गैर जि़म्मेदाराना रवैये के खिलाफ सख्त करवाई की मांग करता है। कैट सरकार से ई-कॉमर्स पॉलिसी की सौगात देश को जल्द देने का अनुरोध करता है और मांग करता है कि ई-कॉमर्स पोर्टल को मॉनिटर करने के लिए एक रेगुलेटरी बॉडी का गठन करे।"

--आईएएनएस


24-Oct-2020 4:52 PM 12

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भिलाई नगर, 24 अक्टूबर। अपने सपनों के घर में अपने सपनों की कार के साथ नवरात्रि फेस्टिवल बोनान्जा रिटेल लोन शिविर का आयोजन इंडियन बैंक सेक्टर 6 में आयोजित किया गया। इस महत्वपूर्ण आयोजन में इंडियन बैंक, भिलाई-दुर्ग की विभिन्न शाखाओं ने बैंक के 23 खातेदारों को आवास एवं वाहन लोन के रूप में 3.23 करोड़ रूपये का नवरात्रि के उपलक्ष्य में लोन दिया। इस समारोह के मुख्य अतिथि इंडियन बैंक के अंचल कार्यालय रायपुर के प्रमुख एस.राजकुमार, उप अंचल प्रमुख विकास मनहास, आर.एम.पी.सी. रायपुर के मुख्य प्रबंधक अविनाश चन्द्रा विशेष रूप से उपस्थित थे।

इंडियन बैंक सुपेला शाखा की मुख्य प्रबंधक मीरा शर्मा ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि, इंडियन बैंक अपने ग्राहकों के लिए नवरात्रि के अवसर पर आवास एवं वाहन ऋण विशेष छूट के साथ दी जा रही है।

अंचल प्रमुख एस.राजकुमार व आर.एम.पी.पी.सी रायपुर के मुख्य प्रबंधक अविनाश चन्द्रा ने इस शिविर में उपस्थित बैंक के खातेदारों को लोन के संबंध में विशेष छूट की जानकारी देते हुए विस्तार से प्रकाश डाला। इस महत्वपूर्ण ऋण शिविर का आयोजन इंडियन बैंक सेक्टर 6 के मुख्य प्रबंधक रणवीर सिंह गोला की देखरेख में सम्पन्न हुआ।

इंडियन बैंक ने अपने डीजीएम एवं डीजेडएम के कुशल मार्गदर्शन में सफल ऋण शिविर का आयोजन किया। इस दौरान इंडियन बैंक के 23 सम्मानित खातेदारों को आवास एवं वाहन ऋण के रूप में 3.23 करोड़ रूपये का ऋण वितरित किया है। खुदरा क्षेत्र में भी इंडियन बैंक की भिलाई-दुर्ग की सभी शाखाओं का इस आयोजन में महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

इस अवसर पर इंडियन बैंक कसारीडीह ब्रांच के वरिष्ठ प्रबंधक मोसेज पी.सिंह, कुम्हारी ब्रांच के वरिष्ठ प्रबंधक राजीव केरकेट्टा, गंजपारा दुर्ग ब्रांच के वरिष्ठ प्रबंधक लालजी ठाकुर, दुर्ग मेन ब्रांच के वरिष्ठ प्रबंधक कमल सिंह सिदार एवं स्मृतिनगर ब्रान्च के प्रबंधक पल्लवी शुक्ला की इस लोन शिविर में विशेष भागीदारी रही।


Previous123456789...2627Next