सामान्य ज्ञान

Previous12345678Next
Date : 28-Feb-2020

1. हाल ही में प्रस्तावित अंतरराष्ट्रीय उत्तर दक्षिण परिवहन गैलरी (ढ्ढहृस्ञ्जष्ट) भारत के किस शहर से शुरू होगी?

(अ) चेन्नई (ब) पुणे (स) दिल्ली (द) मुंबई
2. किस भारतीय उत्पाद को अमेरिकी खाद्य एवं औषधि नियामक यूएसएफडीए द्वारा तंबाकू नियंत्रण और धूम्रपान निरोधक अधिनियम 2009 के तहत प्रतिबंधित किया गया है?
(अ) बीड़ी (ब) सिगरेट (स) हुक्का (द) गुटखा
3. दक्कन की काली मिट्टी किससे बनी है?
(अ) बेसाल्ट नामक चट्टान के बिखरने से (ब) नदियों से (स) पवनों से (द) इनमें किसी से नहीं
4. चीन की पीली मिट्टी के बारे में निम्न में से कौन सा कथन सही है? 
(अ) यह हवाओं द्वारा एकत्र होती है (ब) यह नदियों से बनती है (स)यह चट्टानों के चूर-चूर होने से बनती है(द)इनमें से कोई नहीं 
5. राष्टï्रीय ग्रामीण विकास संस्थान निम्नलिखित में से कहां स्थित है?
(अ) गांधीनगर में (ब) भुवनेश्वर में (स) चंढीगढ़ में (द) हैदराबाद में
6. निम्नलिखित फसलों में से किस फसल को कीमत स्थिरीकरण कोष योजना के अंतर्गत शामिल नहीं किया गया है?
(अ) चाय (ब) कपास (स) रबर (द) तंबाकू
7. भूमि की उच्चता को व्यक्त किया जाता है?
(अ) समुद्रतल की अपेक्षा फीट अथवा मीटर में (ब) बेंच मार्क द्वारा (स) मीटर में (द) किमी में
8. दामोदर नदी निम्र में से कहां गिरती है?
(अ) बंगाल की खाड़ी में (ब) एक लवण दलदल में (स) गंगा नदी में (द) हुगली नदी में
9. दुनिया की सबसे पहली भूमिगत रेल के पहले खंड का उद्घाटन कब हुआ था?
(अ) 11 दिसंबर, 1863 (ब) 11 दिसंबर, 1879 (स) 10 जनवरी, 1863 (द) 10 जनवरी, 1879
10. ऐसा  कौन सा ग्रह जो सूर्य की परिक्रमा करने में सर्वाधिक समय लेता है?
(अ) अरुण (ब) बृहस्पति (स) प्लूटो (द) वरुण
11. झारखंड राज्य की स्थापना किस वर्ष हुई थी?
(अ) 1998 (ब) 1999 (स) 2000 (द) 2001
12. भारत में कोई राजनीतिक दल राष्टï्रीय दल के रूप में तभी मान्यता प्राप्त कर सकता है, जब उसका प्रभाव क्षेत्र कम से कम कितने राज्यों में हो?
(अ) तीन राज्यों में (ब) चार राज्यों में (स) पांच राज्यों में (द) सात राज्यों में
13. भारतीय संविधान निम्नलिखित में से किसे मान्यता देता है?
(अ) केवल धार्मिक अल्पसंख्यकों को (ब) केवल भाषायी अल्पसंख्यकों को (स) धार्मिक एवं भाषायी अल्पसंख्यकों को (द) धार्मिक, भाषायी एवं नृजातीय अल्पसंख्यकों को
14. भारत सरकार की प्रथमता सारणी में भारत के मुख्य न्यायाधीश के ऊपर कौन आता है?
(अ) भारत का महान्यायवादी (ब) भूतपूर्व राष्टï्रपति (स) चीफ  ऑफ जस्टिस (द) लोकसभा का अध्यक्ष
15. नाटो एक प्रकार का संगठन है, जिसका पूरा नाम क्या है?
(अ) नार्थ अटलांटिक ट्रिटी ऑर्गेनाइजेशन (ब) नॉर्थ अमेरिका ट्रिटी ऑर्गेनाइजेशन (स) नॉर्थ अटलांटिक टॉयज ऑर्गेनाइजेश (द) इनमें से कोई नहीं
16. ट्राइसेम का पूरा नाम क्या है?
(अ) एवेन्यू सिस्टम ऑफ इकोनॉमी नेशंस इन यूनीवर्सिटीज (ब) ए ट्रेनिंग प्रोग्राम फॉर स्टूडेण्ट इन एजुकेशनल साइकोलॉजी (स) ट्रेनिंग ऑफ रूरल यूथ फॉर सेल्फ एम्पलायमेंट (द) ए ट्रेनिंग फोर्स फॉर फार्मर्स इन ड्राइलैंड फार्मिंग 
17. ऊर्जा समता के आधार पर एक टन तेल निम्र में से किसके बराबर होता है?
(अ) 1 बिलियन कैलोरी के (ब) 10 बिलियन कैलोरी के (स) 1 मिलियन कैलोरी के (द) 10 मिलियन कैलोरी के
18. सीआईएस में कोयला का सबसे बड़ा उत्पादक क्षेत्र कौन सा है?
(अ) पिथौरा (ब) कारागंडा (स) डॉनेज (द) कुजबास
19. सन् 1944 में ब्रेटन वुड्स सम्मेलन कहां हुआ था?
(अ) फ्रांस में (ब) जर्मनी में (स) अमेरिका में (द) इंग्लैंड में
20. प्रत्येक भारतीय भ्रष्टïाचारी है- यह कथन किसका है?
(अ) लॉर्ड कार्नवालिस (ब) लार्ड वेलेजली (स) लॉर्ड हेस्टिंग्स (द) लॉर्ड डलहौजी
21. भारत में वैल्लोर का विद्रोह किस वर्ष हुआ?
(अ) 1764 (ब) 1806 (स) 1857 (द) 1935
22. दिलवाड़ा का मंदिर निम्र में से किस स्थापत्य कला का उदाहरण है?
(अ) बौद्घ स्थापत्य (ब) जैन स्थापत्य (स) मुगल स्थापत्य (द) सल्तनत स्थापत्य
23. ताजमहल का मुख्य शिल्पकार मूल रूप से कहां का निवासी था?
(अ) इटली का (ब) भारत का (स) टर्की का (द) मिस्र का
24. आठ सौ  से  बारह सौ ई. तक भारतीय समाज की प्रमुख विशेषता क्या थी?
(अ) सामंतवाद (ब) उदारवाद (स) समतावाद (द) गणतंत्र 
25. संविधान में संशोधन की प्रक्रिया का उल्लेख किस अनुच्छेद में किया गया है?
(अ) अनुच्छेद 368 (ब) अनुच्छेद 369 (स)अनुच्छेद 370 (द) अनुच्छेद 371
26. किस भारतीय स्थान को अंतरिक्ष नगर के उपनाम से भी जाना जाता है?
(अ) पोखरण (ब) बेंगलुरु (स) श्रीहरिकोटा (द) ऐसा कोई नगर नहीं
27. बैंक ऑफ बड़ौदा का लोगो क्या है?
(अ) बड़ौदा सन (ब) की होल (स) धान की बाली (द) इनमें से कोई नहीं
---
सही जवाब- 1.(द) मुंबई, 2.(अ) बीड़ी, 3.(अ) बेसाल्ट नामक चट्टान के बिखरने से, 4.(अ) यह हवाओं द्वारा एकत्र होती है, 5.(द) हैदराबाद में, 6.(स) रबर, 7.(अ) समुद्रतल की अपेक्षा फीट अथवा मीटर में, 8.(द) हुगली नदी में, 9.(स) 10 जनवरी, 1863, 10. (स) प्लूटो, 11.(स) 2000, 12.(ब) चार राज्यों में, 13.(अ) केवल धार्मिक अल्पसंख्यकों को, 14.(ब) भूतपूर्व राष्टï्रपति, 15.(अ) नार्थ अटलांटिक ट्रिटी ऑर्गेनाइजेशन, 16.(स) ट्रेनिंग ऑफ रूरल यूथ फॉर सेल्फ एम्पलायमेंट, 17.(ब) 10 बिलियन कैलोरी के, 18.(स) डॉनेज, 19.(स) अमेरिका में, 20.(अ) लॉर्ड कार्नवालिस, 21.(ब) 1806, 22.(ब)जैन स्थापत्य, 23.(ब)भारत का, 24.(अ) सामंतवाद,   25.(अ) अनुच्छेद 368, 26.(स) श्रीहरिकोटा, 27.(अ)बड़ौदा सन।    
 


Date : 28-Feb-2020

एचआईएल यानी हिन्दुस्तान इन्सेक्टिसाइड्स लिमिटेड एक कंपनी है, जो खेती में काम आने वाले कीटनाशकों का उत्पादन करती है। यह कंपनी डीडीटी की भी एकमात्र उत्पादक है जिसे राष्ट्रीय वैक्टरजनित बीमारी नियंत्रण कार्यक्रम में भी इस्तेमाल किया जाता है। यह कार्यक्रम भारत सरकार चला रही है।
एचआईएल का विविधीकरण एग्रो केमिकल्स के रूप में 70 के दशक में किया गया ताकि किसान वर्ग को उचित दर पर अच्छी किस्म के कीटनाशक उपलब्ध कराया जा सके। इस कंपनी ने एक बड़ी चुनौती का सामना किया जब भारत के उच्चतम न्यायालय ने इंडो सल्फान पर 14 मई, 2011 को प्रतिबंध लगा दिया था। यह उत्पाद इस कंपनी की वार्षिक बिक्री के कारोबार के लगभग 20 के बराबर बैठता था। इंडो सल्फान पर प्रतिबंध के बावजूद इस कंपनी ने अपना वार्षिक कारोबार बढ़ाकर रुपये 301.11 करोड़ कर लिया, जबकि पिछले वर्ष इसका कारोबार 279.82 करोड़ रुपये का रहा। यह इसकी स्थापना से लेकर अब तक का सर्वाधिक कारोबार था।
 


Date : 28-Feb-2020

दुनिया में अवैध शिकार के कारण जानवरों की कई प्रजातियां विलुप्त होने के खतरे में हैं। विश्व वन्यजीव संरक्षण का कहना है कि इसका सबसे ज्यादा असर अफ्रीकी हाथियों पर हुआ है। पिछले दो साल में करीब 60 हजार हाथी मार दिए गए।
100 साल पहले अफ्रीका में 50 लाख हाथी थे अब इनकी संख्या चार से सात लाख के आस पास है। हाथियों को इनके दांत के लिए मारा जाता है। जानवरों के उत्पादों का वैश्विक व्यापार प्रतिबंधित है, लेकिन वर्ष 2013 में अधिकारियों ने 42 टन अवैध हाथी दांत पकड़ा। इनकी कीमतें सोने से भी ज्यादा होती हैं और इस पर की गई नक्काशी और महंगी। 
गैंडे भी शिकारियों के हाथ लग जाते हैं , इसका कारण है इनके सींग। अफ्रीकी और एशियाई देशों में गेंडों के शिकार पर रोक है। इनकी प्रजातियों पर खतरा अलग-अलग है। उत्तर में पाए जाने वाले सफेद गेंडे तो लगभग खत्म ही हो गए हैं। चीन और दूसरे एशियाई देशों में गैंडे के सींग की मांग की जाती है। इसे पारंपरिक दवाई में इस्तेमाल किया जाता है और कथित तौर पर बुखार से लेकर कैंसर तक की बीमारी इससे ठीक होती है। इन खूबसूरत जानवरों की खाल इन्हें इंसान का शिकार बनाती हैं।
अब जंगलों में रहने वाले शेरों की संख्या सिर्फ 3 हजार 200 बताई जाती है। सौ साल पहले ये एक लाख की संख्या में थे। वर्ष 1975 के सिटेस समझौते में शेर के शिकार और उसके अंगों के व्यापार पर रोक लगाई गई.। इसके अलावा धु्रवीय भालू को सबसे बड़ा खतरा बदलता मौसम है। आर्कटिक की बर्फ पिघल रही है इसलिए इनके रहने की जगह भी कम होती जा रही है। अक्सर इलाके के आदिवासी जीने के लिए इन भालुओं का शिकार करते हैं। अभी 20-25 हजार धु्रवीय भालू हैं, जबकि करीब 700 हर साल मार दिए जाते हैं।
पहाड़ों में पाया जाने वाले गुरिल्ला भी सबसे ज्यादा खतरे में है। इस प्रजाति के सिर्फ 700 गुरिल्ले बचे हैं। हो सकता है आने वाले 15 साल में ये पूरी तरह खत्म हो जाएं। कुछ लोग मानते हैं कि गुरिल्ला का मांस खाने से ताकत आती है। शिकारियों के कारण मगरमच्छ खतरे में थे। इन्हें ढूंढ ढूंढ कर मारा जाता था। अब क्रोकोडाइल फार्मिंग से इनकी संख्या बढ़ी है और चमड़ा उद्योग की मांग पूरी हो रही है। यूरोप में प्रवासी पक्षियों का जम कर अवैध शिकार होता है। अफ्रीका से आने वाले ये पंछी या तो पकड़ लिए जाते हैं या मार दिए जाते हैं। पक्षियों की कई प्रजातियां विलुप्त होने की कगार पर पहुंच गई हैं।
 


Date : 28-Feb-2020

आईपीएफटी यानी इंडियन पेस्टीसाइड फार्मूलेशन और टैक्नोलॉजी संस्थान हरियाणा के गुडगांव में स्थित है। यह लाभ न कमाने वाला संस्थान है और इसका पंजीकरण सोसाइटिज रजिस्ट्रेशन एक्ट के अंतर्गत मई, 1991 में रसायन एवं पेट्रोकेमीकल्स के अंतर्गत किया गया। इसका प्रमुख उद्देश्य है - अति-आधुनिक और पर्यावरण हितेषी कीटनाशक दवाओं की टैक्नोलॉजी का विकास तथा उत्पादन और उन प्रौद्योगिकियों का कुशल प्रयोग जो नये-नये सूत्रणों की मौजूदा जरूरतों के उपयुक्त हों। आईपीएफटी ने कीटनाशक उद्योग के साथ अच्छे संबंध विकसित कर लिए हंै और सुरक्षित, कुशल तथा पर्यावरण हितेषी सूत्रणों को सफलतापूर्वक हस्तांतरित करने की टैक्नोलॉजी विकसित कर ली है।
आईपीएफटी राष्ट्रीय प्रत्यायण बोर्ड की प्रत्यायित प्रयोगशाला के रूप में मान्यता प्राप्त है और यह परीक्षण करने और आईएसओ-17025 (2005) के मापदंडों के अनुसार टेस्टिंग एवं केलीब्रेशन लेबोरेट्री के रूप में मान्यता प्राप्त है। इसके कीटनाशक दवाओं और रासायनिक हथियारों के लिए विश्लेषण मान्य हैं। आईपीएफटी को बीआईएस मान्यता/प्रमाणन जून, 2011 में मिला और यह मई, 2014 तक वैध है।
 


Date : 28-Feb-2020

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड, हृड्डह्लद्बशठ्ठड्डद्य क्चड्डठ्ठद्म द्घशह्म् ्रद्दह्म्द्बष्ह्वद्यह्लह्वह्म्द्ग ड्डठ्ठस्र क्रह्वह्म्ड्डद्य ष्ठद्ग1द्गद्यशश्चद्वद्गठ्ठह्ल)) ने संयुक्त देयता समूह (जेएलजी) का गठन किया है।  जेएलजी का उद्देश्य बंटाईदारों, मौखिक पट्टेदारों और खेतिहर मजदूरों जैसे छोटे किसानों को संस्थागत ऋण मुहैया कराना है।
 जेएलजी योजना पंजाब और हरियाणा जैसे राज्यों के लिए बेहद फायदेमंद है जहां औसत जोत कम हो रहे हैं और छोटे किसानों की संख्या बढ़ रही है।  स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) की ही तर्ज पर नाबार्ड बैंकों को पुनर्वित्त सुविधा प्रदान करेगा ताकि वे आमतौर पर पैसों की तंगी से जूझ रहे छोटे और सीमांत किसानों को ऋण और वित्तीय सहायता प्रदान कर सकें। नाबार्ड के पास पहले से ही 41 लाख एसएचजी हैं जो क्रेडिट लिंक के जरिए जुड़े हैं।
 संयुक्त देयता समूह (जेएलजी) 4 से 10 लोगों और अधिकतम 20 लोगों का एक अनौपचारिक समूह है, जिसमें ये सभी लोग अकेले या आपसी गारंटी पर समूह के नाम पर बैंक से ऋण ले सकते हैं। जेएलजी सदस्य बैंक को एक संयुक्त उपक्रम की पेशकश करेगा जिसके लिए बैंक उन्हें ऋण देगा। जेएलजी के सदस्यों के फसल के उत्पादन जैसी ही आर्थिक गतिविधियों में संलग्न होने की संभावना है। जेएलजी का प्रबंधन बहुत साधारण रखा जाएगा जिसमें बहुत कम या किसी भी प्रकार की कोई वित्तीय प्रशासन समूह के भीतर नहीं होगा।
 बंटाईदार किसानों और छोटे किसानों जो अपनी जमीन पर बिना किसी उचित हक के खेती कर रहे हों/ वैसे ग्रामीण उद्यमी जो गैर- कृषि गतिविधियों में शामिल हैं, जीएलजी का गठन कर सकते हैं।
 


Date : 28-Feb-2020

बिल्व तथा श्रीफल नाम से प्रसिद्ध यह फल बहुत ही काम का है। यह जिस पेड़ पर लगता है वह शिवद्रूम भी कहलाता है। बिल्व का पेड़ संपन्नता का प्रतीक, बहुत पवित्र तथा समृद्धि देने वाला है। बेल के पत्ते शंकर जी का आहार माने गए हैं, इसलिए भक्त लोग बड़ी श्रद्धा से इन्हें महादेव के ऊपर चढ़ाते हैं। शिव की पूजा के लिए बिल्व-पत्र बहुत ज़रूरी माना जाता है। शिव-भक्तों का विश्वास है कि पत्तों के त्रिनेत्र स्वरूप तीनों पर्णक शिव के तीनों नेत्रों को विशेष प्रिय हैं। बिल्व पत्र का भगवान शंकर के पूजन में विशेष महत्व है जिसका प्रमाण शास्त्रों में मिलता है। बिल्वाष्टक और शिव पुराण में इसका स्पेशल उल्लेख है।  श्रीमद् देवी भागवत में स्पष्ट वर्णन है कि जो व्यक्ति मां भगवती को बिल्व पत्र अर्पित करता है वह कभी भी किसी भी परिस्थिति में दुखी नहीं होता।  
बिल्व पत्र चार प्रकार के होते हैं - अखंड बिल्व पत्र, तीन पत्तियों के बिल्व पत्र, छ: से 21 पत्तियों तक के बिल्व पत्र और श्वेत बिल्व पत्र। इन सभी बिल्व पत्रों का अपना-अपना आध्यात्मिक महत्व है।  यह अपने आप में लक्ष्मी सिद्ध है। एकमुखी रुद्राक्ष के समान ही इसका अपना विशेष महत्व है। यह वास्तुदोष का निवारण भी करता है। माना जाता है कि इसे गल्ले में रखकर नित्य पूजन करने से व्यापार में चैमुखी विकास होता है। इस बिल्व पत्र के महत्व का वर्णन भी बिल्वाष्टक में आया है। कभी-कभी एक ही वृक्ष पर चार, पांच, छह पत्तियों वाले बिल्व पत्र भी पाए जाते हैं। परंतु ये बहुत दुर्लभ हैं। ये मुख्यत: नेपाल में पाए जाते हैं। पर भारत में भी कहीं-कहीं मिलते हैं। जिस तरह रुद्राक्ष कई मुखों वाले होते हैं उसी तरह बिल्व पत्र भी कई पत्तियों वाले होते हैं।
जिस तरह सफेद सांप, सफेद टांक, सफेद आंख, सफेद दूर्वा आदि होते हैं उसी तरह सफेद बिल्वपत्र भी होता है। यह प्रकृति की अनमोल देन है। इस बिल्व पत्र के पूरे पेड़ पर श्वेत पत्ते पाए जाते हैं। इसमें हरी पत्तियां नहीं होतीं। इन्हें भगवान शंकर को अर्पित करने का विशेष महत्व है। बेल वृक्ष की उत्पत्ति के संबंध में  स्कंदपुराण में कहा गया है कि एक बार देवी पार्वती ने अपनी ललाट से पसीना पोछकर फेंका, जिसकी कुछ बूंदें मंदार पर्वत पर गिरीं, जिससे बेल वृक्ष उत्पन्न हुआ। इस वृक्ष की जड़ों में गिरिजा, तना में महेश्वरी, शाखाओं में दक्षयायनी, पत्तियों में पार्वती, फूलों में गौरी और फलों में कात्यायनी वास करती हैं।
कहा जाता है कि बेल वृक्ष के कांटों में भी कई शक्तियां समाहित हैं।  शिवपुराण में इसकी महिमा विस्तृत रूप में बतायी गयी है। नारियल से पहले बिल्व के फल को श्रीफल माना जाता था क्योंकि बिल्व वृक्ष लक्ष्मी जी का प्रिय वृक्ष माना जाता था। प्राचीन समय में बिल्व फल को लक्ष्मी और सम्पत्ति का प्रतीक मान कर लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के लिए बिल्व के फल की आहुति दी जाती थी जिसका स्थान अब नारियल ने ले लिया है।  
वनस्पति में बेल का अत्यधिक महत्व है। यह मूलत: शक्ति का प्रतीक माना गया है।  यह हृदय रोगियों और उदर विकार से ग्रस्त लोगों के लिए रामबाण औषधि है। बिल्व वृक्ष की तासीर बहुत शीतल होती है। गर्मी की तपिश से बचने के लिए इसके फल का शर्बत बड़ा ही लाभकारी होता है। यह शर्बत कुपचन, आंखों की रोशनी में कमी, पेट में कीड़े और लू लगने जैसी समस्याओं से निजात पाने के लिए उत्तम है। औषधीय गुणों से परिपूर्ण बिल्व की पत्तियों मे टैनिन, लोह, कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नेशियम जैसे रसायन पाए जाते हैं।
 


Date : 27-Feb-2020

1. किस भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के शोधकर्ताओं ने 16 फरवरी 2014 को कुपोषण के शिकार बच्चों के लिए खाद्य पेस्ट तैयार किया है?
(अ) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, नागपुर (ब) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली (स) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खडग़पुर (द) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मुंबई 
2. निम्न में से नोकिया कंपनी ने कौन-सा एंड्रॉयड फोन बाजार में लाने की घोषणा की है?
(अ) नोकिया आशा (ब) नोकिया लुमिया (स) नोकिया-एक्स (द) नोकिया ए-100
3. केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय सुशासन केंद्र की स्थापना कहां पर की है?
(अ) नई दिल्ली (ब) आगरा (स) जयपुर (द) मसूरी
4. प्रकृति में स्वतंत्र अवस्था में पायी जाने वाली धातु कौन सी है?
(अ) लोहा (ब) सोना (स) चांदी (द) जस्ता
5. थोरियम के सबसे अधिक भंडार कहां है?
(अ) भारत (ब) रूस (स) चीन (द) संयुक्त राज्य अमेरिका
6. मैंगनीज का प्रमुख रूप से प्रयोग किसके उत्पादन के लिए किया जाता है?
(अ) लोहा व इस्पात (ब) तांबा (स) एल्यूमीनियम (द) उपरोक्त किसी के लिए नहीं
7. व्याकरण का विख्यात रचयिता पतंजलि निम्न शासकों में से किस शासक का समकालीन था?
(अ) पुष्यमित्र शुंग (ब) अग्निमित्र शुंग (स) वासुदेव कण्व (द) गौतमी पुत्र शातकर्णि
8. विदेशी आक्रमणकारी डिमेट्रियस जिसे पुष्यमित्र ने परास्त किया था, किस जाति से था?
(अ) शक (ब) हूण (स) सिथियन (द) बैक्ट्रियन
9. निम्नलिखित में से किस विद्वान ने कनिष्क की राजसभा को सुशोभित नहीं किया?
(अ) अश्वघोष (ब) नागार्जुन (स) वसुबंधु (द) वशुमित्र
10. ऐसा भस्म, जो जल में विलेय होता है?
(अ) क्षार (ब) अमलगम (स) यौगिक (द) अम्ल
11. बीयर में एथिल एल्कोहल की मात्रा कितनी होती है?
(अ) 12 प्रतिशत (ब) 10 प्रतिशत (स) 8 प्रतिशत (द) 4 प्रतिशत 
12. निम्नलिखित में से किसने न्यूटन से पूर्व ही बता दिया था, कि सभी वस्तुएं पृथ्वी की ओर गुरुत्वाकर्षित होती हैं?
(अ) आर्यभट्ट (ब) वराहमिहिर (स) बुद्धगुप्त (द) ब्रह्मगुप्त 
13. गवर्नमेंट पोस्टल एंड टेलीग्राफ लिमिटेड निम्नलिखित में से किस स्थान पर है?
(अ) खमरिया, मध्यप्रदेश (ब) जबलपुर, मध्यप्रदेश (स) भिलाई, छत्तीसगढ़ (द) आलवै, केरल 
14. प्रकाश की गति से जाने पर चंद्रमा पर लगभग कितने समय में पहुंचा जा सकता है?
(अ) धरती से 1.3 सेकंड (ब) धरती से 5 सेकंड (स) धरती से 10 सेकंड (द) धरती से 20 सेकंड
15. भारत में संघ लोक सेवा आयोग की प्रथम अध्यक्ष निम्नलिखित में से कौन थीं?
(अ) सरोजिनी नायडू (ब) तारा चेरियन (स) रोज मिलियन बैथ्यू (द) लीला सेठ
16. तोता-ए-हिंद किसका उपनाम था?
(अ) कर्पूरी ठाकुर (ब) अमीर खुसरो (स) खान अब्दुल गफ्फार खां (द) काजी नजरूल इस्लाम
17. मिस इंडिया पुरस्कार निम्नलिखित में से किसकी ओर से दिया जाता है?
(अ) भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय (ब) टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप (स) केके बिड़ला फाउंडेशन (द) भारत-जापान फ्रेंडशिप फाउंडेशन 
18. निम्नलिखित में से कौन सी सदिश राशि है?
(अ) संवेग (ब) दाब (स) ऊर्जा (द) कार्य
19. निम्नतापी इंजनों का अनुप्रयोग होता है?
(अ) पनडुब्बी नोदन में (ब) रेफ्रिजरेटरों में (स) रॉकेट प्रौद्योगिकी में (द) अतिचालकता विषयक अनुसंधानों में
20. विश्व में कुल गैस की लगभग 80 प्रतिशत गैस किस देस द्वारा खर्च होती है?
(अ) ब्रिटेन (ब) रूस (स) कनाडा (द) सं.रा. अमरीका
21. विश्व में मैंगनीज का सर्वाधिक उत्पादन करने वाला देस कौन-सा है?
(अ) भारत (ब) रूस (स) ब्राजील (द) घाना
22. विश्व में सबसे पहले नाइट्रेट की प्राप्ति निम्नलिखित किस स्थान से हुई?
(अ) तिब्बत का पठार (ब) चिली का पठार (स) कोलंबिया का पठार (द) ब्राजील का पठार
23. निम्नलिखित में से कौन सा अधात्विक खनिज है? 
(अ) मैग्नीशियम (ब) मैंगनीज (स) जिप्सम (द) बाक्साइट
24. निम्नलिखित में से कौन-सी क्रिया केवल जंतुओं में ही पाई जाती है? 
(अ)श्वसन (ब) उत्सर्जन (स) वृद्धि (द) तंत्रिकीय नियंत्रण 
25. राष्ट्रपति को निम्रलिखित में से किस प्रकार के आपात की उद्घोषणा करने का अधिकार है?
(अ) युद्ध या बाह्य आक्रमण या सशस्त्र विद्रोह से उत्पन्न आपात की (ब)राज्यों में सांविधानिक तंत्र के विफल होने से उत्पन्न आपात की (स) वित्तीय आपात की (द) उपर्युक्त सभी आपात की 
26. वायुमंडल की निचली परतों में मिलने वाले मोटे तथा काले बादलों का नाम क्या है?
(अ) स्तरी मेघ (ब) पुंज अथवा कपासी मेघ (स)पक्षाभ मेघ (द) वर्षा मेघ  
27. कांगड़ा घाटी में ज्वालामुखी क्या है?
(अ) एक बड़ा पहाड़ी स्टेशन (ब) चट्टान काटकर बनाया गया गुफा मंदिर (स) एक वायुसेना केंद्र (द) उपरोक्त सभी
28. नाभिकीय रिएक्टर में न्यूट्रॉन नियंत्रक के रूप में निम्नलिखित में से क्या प्रयोग किया जाता है?
(अ) भारी जल (ब) ग्रेफाइट (स) कैडमियम या बोरोन (द) एल्युमीनियम
---
सही जवाब- 1.(स) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खडग़पुर, 2.(स) नोकिया-एक्स, 3.(द) मसूरी, 4.(द) जस्ता, 5.(अ) भारत, 6. (अ) लोहा व इस्पात, 7.(अ) पुष्यमित्र शुंग, 8.(द) बैक्ट्रियन, 9.(स) वसुबंधु, 10.(अ) क्षार, 11.(द)4 प्रतिशत, 12.(अ) आर्यभट्ट, 13.(ब) जबलपुर, मध्यप्रदेश,14.(अ)धरती से 1.3 सेकंड, 15.(स) रोज मिलियन बैथ्यू, 16.(ब) अमीर खुसरो, 17.(ब) टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप, 18.(अ) संवेग, 19.(स) रॉकेट प्रौद्योगिकी में, 20.(द) संयुक्त राज्य अमेरिका, 21.(ब) रूस, 22.(ब) चिली का पठार, 23.(स) जिप्सम, 24.(द) तंत्रिकीय नियंत्रण, 25.(द)उपर्युक्त सभी आपात की, 26.(द) वर्षा मेघ, 27.(ब) चट्टान काटकर बनाया गया गुफा मंदिर,28.(स) कैडमियम या बोरोन ।
 

 


Date : 27-Feb-2020

मारीटाइम एनर्जी हेली सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड (मीहेयर) ने  वर्ष 2011 में  भारत में समुद्री विमान सेवा की शुरुआत की थी। यह सेवा फिलहाल अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में काम कर रही है।  हालांकि केरल में पहली समुद्री विमानसेवा का शुभारंभ किया गया था, लेकिन साल 2013 में इसे स्थानीय मछुआरों के विरोध के कारण बंद कर देना पड़ा।
अब मीहेयर ने महाराष्ट्र पर्यटन विकास निगम (एमटीडीसी) के साथ मिलकर इस राज्य में भी समुद्री विमान सेवा की शुरुआत 24 फरवरी 2014 को की है। भारत में यह अपनी तरह की पहली सेवा है जो मुंबई के जुहू एयरपोर्ट को राज्य के पर्यटन स्थलों से जोड़ेगी।  अपने पहले चरण में, मीहेयर की योजना एम्वे वैली लेक, मूला दम, पवन दम (लोनावला), वरसगांव डैंम (लवासा) और धूम डैम को जूहू एयरपोर्ट से जोडऩे की है। ये सभी जगहें मुंबई से 30 मिनट की उड़ान दूरी पर स्थित हैं। अपने दूसरे चरण में, मीहेयर की योजना महाराष्ट्र के पांच और जगहों को जोडऩे की है। अप्रैल 2014 में मीहेयर ने नौ सीटों वाली सेसना  208 एंफीबियन एयरक्राफ्ट के साथ पहले से मौजूद चार सीटों वाली सेसना  206 एंफीबियन एयरक्राफ्ट हासिल कर लेगा। समुद्री विमान सेवा का किराया नरीमन प्वांइट से 750 रुपये जबकि दूसरी जगहों से 4 हजार रुपयों से लेकर साढ़े चार हजार रुपयों के बीच होगा।
 

 


Date : 27-Feb-2020

27 फरवरी 2002 वह तारीख है जिसने पूरे गुजरात को बदल दिया। गुजरात के गोधरा रेलवे स्टेशन पर साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन के एस-6 डिब्बे से फैले आग के शोलों ने पूरे गुजरात को झुलसा दिया। साबरमती एक्सप्रेस की वारदात के बाद गुजरात में हुए दंगों में अल्पसंख्यक और बहुसंख्यक समुदाय के करीब एक हजार लोग मारे गए, लेकिन दंगों को लेकर आज भी राजनीति खत्म नहीं हुई है। बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरोप लगते रहे हैं कि वे गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए दंगों पर काबू नहीं कर पाए या फिर काबू पाने की कोशिश नहीं की। गोधरा कांड के बाद ही पूरे गुजरात में धार्मिक दंगे भडक़ गए थे। अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को मारा गया, महिलाओं के साथ बलात्कार हुए और बहुत से बच्चों के सिर से पिता का साया छिन गया। दंगाइयों ने तीन दिनों तक क्रूरता की सारी हदें पार कर दीं।
दंगों की जांच को लेकर कई जांच आयोग बनाए गए और फिर लंबी चलने वाली अदालती प्रक्रिया शुरू हुई। ऐसे ही एक केस में गुजरात की पूर्व मंत्री माया कोडनानी उम्रकैद की सजा काट रही हैं। वे मोदी की करीबी मानी जाती हैं। हालांकि पिछले साल कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफरी की पत्नी की याचिका को खारिज करते हुए गुजरात की एक अदालत ने एसआईटी की क्लोजर रिपोर्ट मंजूर कर ली। एसआईटी ने अपनी क्लोजर रिपोर्ट में मोदी और 63 अन्य लोगों को गुजरात दंगों में भूमिका को लेकर क्लीन चिट दी थी। गोधरा कांड की जांच दो आयोगों ने की और दोनों ने अलग-अलग रिपोर्टें दीं। गोधरा कांड की सुनवाई कर रही एक अदालत ने 2011 में 11 दोषियों को फांसी और 20 दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई।
 


Date : 27-Feb-2020

शी टैक्सी खास तौर से महिलाओं के लिए शुरू की गई है। केरल राज्य ने सबसे पहल देश में यह सेवा शुरू करने का फैसला लिया है। तिरूवनंतपुरम में सफल प्रयोग के बाद महिलाओं द्वारा महिलाओं के लिए संचालित होने वाली 24 घंटों की टैक्सी सेवा शी टैक्सी की शुरूआत जल्द ही कोच्चि में भी होने जा रही है।  महिलाओं को सुरक्षित और भरोसेमंद परिवहन सेवा प्रदान करने के साथ-साथ उनमें उद्यमिता और स्वरोजगार की भावना विकसित करने के लिए केरल सरकार के सामाजिक न्याय विभाग के अंतर्गत जेंडर पार्क द्वारा इस सेवा की शुरूआत की गई है। 
इसमें यात्री गाड़ी की बुकिंग ऑनलाइन या मोबाइल से 24 घंटे में कभी भी कर सकते हैं। यात्री एक विशेष नंबर पर फोन कर गाड़ी की बुकिंग कर सकते हैं, यह नंबर पूरे राज्य के लिए एक समान होगा। यात्रियों को एक यूनिक पहचान कोड और शी टैक्सी सर्विस नंबर मिलता है। इससे गाड़ी में चढऩे से पहले यात्री गाड़ी की पहचान कर सकते हैं। गाड़ी यात्रियों को एक पूर्व निर्धारित स्थान से लेकर निर्धारित गंतव्य पर छोड़ती है। यात्री भुगतान के लिए नकद, डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड किसी का भी चयन कर सकते हैं। किराये से संबंधित किसी भी विवाद से बचने के लिए इलेक्ट्रॉनिक किराया प्रणाली की शुरूआत की गई है। इसी के साथ इन गाडिय़ों में मिनी बार और कई अन्य मनोरंजन की सुविधाएं जैसे संगीत और प्ले स्टेशन भी दिए गए हैं।
इन गाडिय़ों को ग्लोबल पॉजिशनिंग सिस्टम(जीपीएस) के साथ डिजाइन कर जोड़ा गया है जिससे वाहन चालक के साथ यात्री की गतिविधियों पर नजर रखी जा सकती है और किसी दुर्घटना की स्थिति में तुरंत सहायता भी प्रदान की जा सकती है। इन गाडिय़ों को किसी आकस्मिक कारणों के समय विशेष तौर पर सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से चौबीसों घंटे चलने वाले आकस्मिक कॉल सेंटर के द्वारा डी मोबिलाइज किया जा सकता है। शी टैक्सी सर्विस में सेफ बस, सेफ मी, सेफ मी मोबाइल और सेफ सिटी रिसपॉंस ईको सिस्टम जैसे प्रमुख सुरक्षा तकनीकों का प्रयोग किया गया है। सेफ बस टैक्नोलॉजी के द्वारा गति नियंत्रण करने, अचानक ब्रेक लगाने और अचानक मुडऩे के साथ इंजन को सुरक्षित रखने के द्वारा चालक के व्यवहार में सुधार किया जाता है।
शी टैक्सी महिलाओं में उद्यमिता, स्व-रोजगार और वित्तीय सुरक्षा बढ़ाने वाली परियोजना है। परियोजना में एक और सहभागी केरल राज्य महिला विकास निगम महिला उद्यमियों को वित्तीय सहायता प्रदान करता है। इसमें कम ब्याज दरों पर वाहन खरीदने के लिए ऋण दिया जाता है। शी टैक्सी सेवा का स्वामित्व जेंडर पार्क के पास है और वह इसका नियंत्रण और संचालन भी करता है। जेंडर पार्क इस परियोजना के लिए लाभार्थियों का चयन करेगा और उन्हें पूरा वित्तीय सहयोग प्रदान करेगा। इसी के साथ जेंडर पार्क उद्यमियों के लिए जागरूकता, प्रशिक्षण और प्रोत्साहन गतिविधियों का आयोजन भी करेगा।
 

 


Date : 27-Feb-2020

असम गैस क्रैकर परियोजना (एजीसीपी) का शुभारंभ एक समझौता ज्ञापन के अनुसरण में किया गया है। इस समझौता ज्ञापन पर ऑल असम छात्र यूनियन (एएएसयू) और ऑल असम गण परिषद (एएजीपी) के बीच 15 अगस्त, 1985 को हस्ताक्षर किए गए। इसका कार्यान्वयन एक संयुक्त उद्यम कंपनी ब्रहमपुत्र क्रैकर एवं पॉलीमर लिमिटेड (बीसीपीएल), इसकी संशोधित लागत 8 हजार 920 करोड़ रूपये है, जिसमें सब्सिडी के रूप में 4 हजार 690 करोड़ रूपये और 2 हजार 961 करोड़ रूपये कर्ज एवं अंश पूंजी में योगदान शामिल है। यह परियोजना नवम्बर, 2013 तक संचयी रूप से 94.9 प्रतिशत पूरी हो चुकी है। कुछ प्रमुख यूनिटें (गैस स्वीटनिंग यूनिट, कैप्टिव पॉवर बिजली घर, दुलियाजान पाइप लाइन) जनवरी, 2014 में काम शुरू करने के लिए तैयार हो जाएंगी। अन्य यूनिटें जल्दी ही समय पर पूरी कर ली जाएंगी।
असम गैस क्रैकर परियोजना से उम्मीद की जाती है कि डाउनस्ट्रीम प्लास्टिक उद्योग में इसके कारण काफी रोजगार के अवसर पैदा होंगे। यह परियोजना आर्थिक रूप से असम राज्य और पूरे पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए महत्वपूर्ण है।
 

 


Date : 27-Feb-2020

बेंवर खेती पूरी तरह से जैविक, पारिस्थितिक, प्रकृति के अनुकुल और मिश्रित खेती है। इसकी खासियत यह है कि इस खेती में एक साथ 16 प्रकार के बीजों का इस्तेमाल किया जाता है, उनमें कुछ बीज अधिक पानी में अच्छी फसल देता है, तो कुछ बीज कम पानी होने या सूखा पडऩे पर भी अच्छा उत्पादन करते हैं। इससे खेत में हमेशा कोई-न-कोई फसल लहलहाती रहती है। फिलहाल इस तरह की खेती पर रोक लगी हुई है। सन् 1864 में अंग्रेजों के वन कानून ने इस पर रोक लगा दी है।  
बेंवर खेती के कई फायदे हैं। बिना हल चलाए खेती करने से पहाड़ अथवा ढ़लान की मिट्टी के कटाव को रोका जाता है। इसके खेत तैयार करने के लिए न तो पेड़ों को काटा जाता है और न ही जमीन जोती जाती है। इसकी सिंचाई और इसमें खाद डालने के लिए किसानों को सोचना भी नहीं पड़ता है। यह पूरी तरह बारिश पर निर्भर है। इसलिए इस तरह की खेती पहाड़ी इलाकों में ज्यादा सुरक्षित है, जहां बारिश समय पर होती है। बेंवर खेती की मिश्रित प्रणाली के कारण फसल में कीड़ा लगने का खतरा भी नहीं रहता है। इसमें बाढ़ और आकाल झेलने की क्षमता भी होती है और यह कम लागत और अधिक उत्पादन की तर्ज पर काम करता है।  
बेंवर खेती के लिए जमीन तैयार करने में भी मशक्कत नहीं करनी पड़ती। मौजूदा खेती की तरह इसमें किसानों को न तो बिजली, पानी के लिए रोना पड़ता है और न ही उर्वरक लेने के लिए मारामारी करनी पड़ती है। इसमें सबसे पहले खेती की जमीन पर छोटे-छोटे पेड़ों और झाडिय़ों को काटकर बिछाया जाता है, फिर झाडिय़ां सूखने के बाद उसमें आग लगा दी जाती है। आग जलने के बाद राख की वहां एक परत बन जाती है, जिसमें बरसात शुरू होने से एक सप्ताह पहले विभिन्न किस्मों के बीज मिलाकर उसे खेत में छिडक़ दिया जाता है। बारिश के बाद उसमें फसल लहलहानी लगती है।   आज भी देश के कई इलाकों में  इस तरह की खेती आदिवासी करते हैं। 
 


Date : 26-Feb-2020

1. कौन-सी नदी पश्चिम की ओर से बहते हुए अरब सागर में गिरती है?

(अ) गोदावरी (ब) कृष्णा (स) कावेरी (द) नर्मदा
2. निम्नलिखित में से किस राज्य में प्रत्यावर्ती मानसून का अधिक प्रभाव होता है? 
(अ) ओडि़शा(ब) राजस्थान (स) पंजाब (द) तमिलनाडु
3. सितार तथा वीणा के बजाये गये समान स्वर भिन्न होते हैं?
(अ) पिच में (ब) गुणता में (स) पिच तथा गुणता दोनों में (द) इनमें से कोई नहीं
4. एक संगीत का पैमाने या सरगम (सप्त) में कितने स्वर होते हैं?
(अ) सोलह, एक अष्टबंदी के साथ (ब) छह, एक अष्टबंदी के साथ (स) आठ, एक अष्टबंदी के साथ (द) इनमें से कोई नहीं
5. अक्टूबर, 1959 में पंचायती राज भारत में सर्वप्रथम किस राज्य में आरंभ किया गया?
(अ) राजस्थान में (ब) तमिलनाडु में (स)  केरल में (द) कर्नाटक में
6. जिस समिति की संस्तुति पर देश में पंचायती राज को लागू किया गया था, उसके अध्यक्ष थे?
(अ) अशोक मेहता (ब) बलवंतराय मेहता (स) चिमन भाई पटेल (द) जीवराज मेहता
7. भारत से उत्तर की ओर के देशों में बौद्ध धर्म के जिस संप्रदाय का प्रचलन हुआ, उसका क्या नाम है?
(अ) हीनयान (ब) महायान (स) शून्यवाद (द) इनमें से कोई नहीं
8. बौद्ध धर्म को भारत में अंतिम राजकीय संरक्षण किस वंश के शासकों ने दिया?
(अ) बंगाल के पाल (ब) गुजरात के चालुक्य (स) अजमेर के चौहान (द) इनमें से कोई नहीं
9.  जिसके गं्रथ में चंद्रगुप्त मौर्य का विशिष्ट रूप से वर्णन हुआ है, वह है?
(अ) भास (ब) शूद्रक (स) विशाखदत्त (द) अश्वघोष 
10. भारत में रोजगार की मात्रा में वृद्धि करने के लिए निम्नलिखित में से किस उद्योग में सुधार की आवश्यकता है?
(अ) लोहा एवं इस्पात (ब) चीनी उद्योग (स) सूती कपड़ा उद्योग (द) हथकरघा एवं हस्तशिल्प
11. ताना भगत सिंह आंदोलन की शुरुआत कब और कहां से हुई?
(अ) 1914, बिहार (ब) 1914, पश्चिम बंगाल (स) 1914, असम (द) 1919 मध्यप्रदेश
12. कृषि संबंधी समस्याओं के खिलाफ वह कौन सा आंदोलन है, जिसके अध्यक्ष भगत जवाहर मल थे?
(अ) नील की क्रांति (ब) कूका आंदोलन (स) ताना भगत सिंह आंदोलन (द) खिलाफत आंदोलन
13. भारत में सर्वोच्च न्यायालय की स्थापना कैसे की गई थी?
(अ) संसद के अधिनियम द्वारा (ब) संविधान द्वारा (स) भारत सरकार अधिनियम, 1935 के अंतर्गत (द) राष्ट्रपति के आदेश द्वारा
14. क्रिप्स मिशन की असफलता का प्रमुख कारण क्या था?
(अ) मिशन के प्रस्ताव आश्वासन मात्र थे (ब) मिशन से कोई भारतीय सदस्य नहीं था (स) मिशन के प्रस्तावों में देश में फूट डालने के बीज निहित थे (द) मुस्लिम लीग और कांग्रेस दोनों ने ही उसके प्रस्तावों को अस्वीकार कर दिया
15. पृथ्वी की उत्पत्ति से संबंधित सिद्धांत क्या है?
(अ) प्रवाह सिद्धांत (ब) चतुष्फलक सिद्धांत (स) ग्रहाणु सिद्धांत (द) तरंग संवाहन सिद्धांत 
16. जैन समुदाय में प्रथम विभाजन के श्वेताम्बर संप्रदाय के संस्थापक कौन थे?
(अ) स्थूलभद्र (ब)भद्रबाहु (स) कालकाचार्य (द) देवर्षि क्षमाश्रमण
17. मामल्लपुरम् के प्रसिद्ध गणेशमंदिर का निर्र्माण किस पल्लव शासन ने करवाया था? 
(अ) नरसिंहवर्मन प्रथम (ब) महेंद्रवर्मन प्रथम (स) सिंहविष्णु (द) परमेश्वरवर्मन प्रथम
18. भारत के केंद्र में अंतरिम सरकार का गठन कब हुआ था?
(अ) क्रिप्स मिशन के आगमन के बाद (ब) क्रिप्स मिशन के आगमन के पूर्व (स) माउंट बेटन द्वारा अपनी योजना प्रस्तुत करने के बाद (द) कैबिनेट मिशन के आने के बाद
19. असहयोग आंदोलन स्थगित करने का तात्कालिक कारण क्या था?
(अ) मुस्लिमों द्वारा समर्थन वापस लेना (ब) सरकार द्वारा उसकी मांगें मान ली जाना (स) चौरी-चौरा कांड (द) उपर्युक्त सभी  
20. यदि धु्रवों के पास बर्फ पिघल जाए तो दिन की लंबाई पर क्या प्रभाव पड़ेगा?
(अ) अपरिवर्तित रहेगी (ब) बढ़ जाएगी (स) घट जाएगी (द) इनमें से कोई नहीं
21. निम्नलिखित में से किस एक नगर में भूमध्य सागरीय जलवायु नहीं पाई जाती है?
(अ) लास एंजिल्स (ब) रोम (स) केपटाउन (द) न्यूयार्क
22. भारतीय उपमहाद्वीप मूलत: एक विशाल भूखंड का भाग था, जिसे कहते हैं?
(अ) जूरासिक भूखंड (ब) आर्यावर्त (स) इंडियाना (द) गोंडवाना महाद्वीप
23. भारतीय मानक समय निम्नलिखित में से किसके समीप से लिया जाता है?
(अ) इलाहाबाद, नैनी (ब) लखनऊ (स) मेरठ (द) दिल्ली
24. भारत के निम्न  में से किस राज्य का समुद्री तट सबसे अधिक लंबा है?            
(अ) आंध्रप्रदेश (ब) महाराष्ट्र (स) गुजरात (द) तमिलनाडु 
25. यूरोप की कौन सी नदी कोयला नदी के नाम से जानी जाती है?
(अ) टेम्स (ब) राइन (स) रोन (द) एल्ब 
26. मद्रास में जाड़ों में वर्षा किस स्थिति के कारण होती है?
(अ) दक्षिणी-पश्चिमी मानसून से (ब) उत्तरी पूर्वी मानसून से (स) स्थलीय व सामुद्रिक हवाओं से (द) इनमें से कोई नहीं
---
सही जवाब- 1.(द) नर्मदा, 2.(अ) उड़ीसा, 3.(ब) गुणता में, 4.(स) आठ, एक अष्टबंदी के साथ, 5.(अ) राजस्थान में, 6.(ब) बलवंतराय मेहता, 7.(ब) महायान, 8.(अ) बंगाल के पाल, 9.(अ) भास, 10.(स)सूती कपड़ा उद्योग,  11.(अ)1914, बिहार, 12.(ब)कूका आंदोलन,  13.(स) भारत सरकार अधिनियम, 1935 के अंतर्गत, 14.(द) मुस्लिम लीग और कांग्रेस दोनों ने ही उसके प्रस्तावों को अस्वीकार कर दिया, 15.(स)ग्रहाणु सिद्धांत, 16.(अ) स्थूलभद्र, 17.(द) परमेश्वरवर्मन प्रथम, 18.(द) कैबिनेट मिशन के आने के बाद, 19.(स) चौरी-चौरा कांड, 20.(ब) बढ़ जाएगी, 21.(द) न्यूयार्क, 22.(द) गोंडवाना महाद्वीप, 23.(अ) इलाहाबाद, नैनी, 24.(स) गुजरात, 25.(ब) राइन, 26.(ब) उत्तरी पूर्वी मानसून से।
 


Date : 26-Feb-2020

(मैलवेयरबाइट्स) एक प्रकार का कम्प्यूटर प्रोग्राम है। अगर आपको अपने कंप्यूटर में वायरस, स्पाइवेयर या किसी दूसरी किस्म की सिक्यॉरिटी समस्या के मौजूद होने का अंदेशा है, तो यह छोटा-सा टूल मैलवेयरबाइट्स उसे दूर कर सकता है। अगर ऐसा नहीं भी है, तो इसे इन्स्टॉल करके आप भविष्य में वायरस, स्पाइवेयर या कीलॉगर जैसे खतरों से अपने कंप्यूटर को बचा सकते हैं। आकार में छोटा यह एक बहुत ही मजबूत सिक्यॉरिटी प्रोग्राम है, जो फ्री डाउनलोड के लिए उपलब्ध है। 
अगर आपके सिस्टम में वायरस का इन्फेक्शन हो चुका है तो इसे किसी दूसरे सुरक्षित कंप्यूटर में डाउनलोड करें। इसके बाद इन्स्टॉलेशन फाइल को पेन ड्राइव में कॉपी कर लें और वहीं से डबल क्लिक करके इसे चलाएं। यह आपके सिस्टम में मौजूद मेलवेयर्स (नुकसानदेह सॉफ्टवेयर) का सफाया कर देगा। कई बार मेलवेयर प्रोग्राम इसे पहचानकर डिलीट करने की कोशिश भी कर सकते हैं, इसलिए सावधानी के तौर पर इसकी फाइल का नाम  द्वड्ढड्डद्व.द्ग3द्ग से बदलकर अपनी पसंद का कोई भी नाम कर लें। उसके बाद ही इसे चलाएं। 
 

 


Date : 26-Feb-2020

साहित्य की दुनिया में मील का पत्थर साबित होने के साथ-साथ लोकप्रियता के झंडे गाडऩे वाला एक उपन्यास फणीश्वरनाथ रेणु का  मैला आंचल भी है। रेणुजी ने भारत के स्वाधीनता आंदोलन में भाग लिया था और नेपाल की राणाशाही विरोधी क्रांति में भी एक योद्धा के रूप में सक्रिय रहे थे। फिर उन्हें लंबी बीमारी झेलनी पड़ी। शायद इन्हीं कारणों से उनका लेखन बाधित रहा। बीमारी से उबरने के बाद उन्होंने इस उपन्यास की रचना की, लेकिन एक बिल्कुल नए और अनजान लेखक की रचना लेने के लिए कोई प्रकाशक तैयार नहीं हुआ। नतीजतन इसका पहला संस्करण रेणुजी को अपनी जेब से पैसे लगाकर 1954 में खुद प्रकाशित करना पड़ा था।
वह समय ऐसा था जब किसी नए रचनाकार की अच्छी रचना को भी बड़े लेखक और आलोचक गंभीरता से लेते थे। इलाहाबाद के कॉफी हाउस की एक गोष्ठी में जब इस उपन्यास पर चर्चा हो रही थी, तो संयोग से वहां राजकमल प्रकाशन के संचालक ओमप्रकाश भी मौजूद थे। उपन्यास की प्रशंसा सुनकर उन्होंने उसकी एक प्रति हासिल की, उसे रातों-रात पढ़ डाला और उससे इतने प्रभावित हुए कि तुरंत टिकट कटा कर पटना पहुंच गए। फिर तो वे रेणुजी के साथ मैला आंचल के प्रकाशन का अनुबंध करके ही लौटे और इस तरह एक सशक्त उपन्यास को हिंदी में उस समय का सर्वश्रेष्ठ प्रकाशक मिल गया। 
जैसा कि हर अच्छी रचना के साथ होता है, मैला आंचल के खिलाफ भी बहुत कुछ लिखा गया। उसकी आंचलिकता को लेकर कटु आलोचनाएं की गईं। उसे बंगाली उपन्यास ढोंढाई चरित का अनुवाद बताकर ध्वस्त करने की कोशिश की गई। लेकिन इन सबसे बेखबर मैला आंचल मस्त हाथी की तरह चलता रहा। 1954 से अब तक इसके 20 हार्डबाउंड संस्करण हो चुके हैं। 1984 में पहली बार यह पेपरबैक में आया और इस रूप में भी इसके 26 संस्करण हो चुके हैं। 
 


Date : 26-Feb-2020

गिलोय का वैज्ञानिक नाम है--तिनोस्पोरा कार्डीफोलिया । इसे अंग्रेजी में गुलंच कहते हैं। कन्नड़ में अमरदवल्ली , गुजराती में गालो , मराठी में गुलबेल , तेलगू में गोधुची ,तिप्प्तिगा , फारसी में गिलाई,तमिल में शिन्दिल्कोदी आदि नामों से जाना जाता है। 
गिलोय में ग्लुकोसाइन ,गिलो इन , गिलोइनिन , गिलोस्तेराल तथा बर्बेरिन नामक एल्केलाइड पाए जाते हैं। ज्यादातर नीम के पेड़ के साथ इसकी बेल को चढ़ाया जाता है, जिससे गिलोय के गुण और बढ़ जाते हैं।  नीम पर चढ़ी हुई गिलोय उसी का गुड अवशोषित कर लेती है ,इस कारण आयुर्वेद में वही गिलोय श्रेष्ठ मानी गई है जिसकी बेल नीम पर चढ़ी हुई हो।  गिलोय को अमृता भी कहा जाता है क्योंकि यह स्वयं भी नहीं मरती है और उसे भी मरने से बचाती है , जो इसका प्रयोग करे। कहा जाता है की देव दानवों के युद्ध में अमृत कलश की बूंदें जहां -जहां पड़ी , वहां वहां गिलोय उग गई ।  इसकी बेल बड़ी तेजी से बढ़ती है। इसके पत्ते पान की तरह बड़े आकार के हरे रंग के होते हैं। गर्मी के मौसम में आने वाले इसके फूल छोटे गुच्छों में होते हैं और इसके फल मटर जैसे अण्डाकार, चिकने गुच्छों में लगते हैं जो बाद में पकने पर लाल रंग के हो जाते हैं। गिलोय के बीज सफेद रंग के होते हैं। जमीन या गमले में इसकी बेल का एक छोटा सा टुकड़ा लगाने पर भी यह उग जाती है और बड़ी तेज गति से स्वछन्द रूप से बढ़ती जाती है और जल्दी ही बहुत लम्बी हो जाती है।
  कुछ तीखे कड़वे स्वाद वाली गिलोय देशभर में पाई जाती है। आयुर्वेद में इसका महत्वपूर्ण स्थान है। आचार्य चरक ने गिलोय को वात दोष हरने वाली श्रेष्ठ औषधि माना है। वैसे इसका त्रिदोष हरने वाली, रक्तशोधक, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली, ज्वर नाशक, खांसी मिटाने वाली प्राकृतिक औषधि के रूप में खूब उपयोग किया जाता है। यह एक झाड़ीदार लता है। इसकी बेल की मोटाई एक अंगुली के बराबर होती है इसी को सुखाकर चूर्ण के रूप में दवा के तौर पर प्रयोग करते हैं। 
टाइफायड, मलेरिया, कालाजार, डेंगू, एलीफेंटिएसिस, विषम ज्वर, उल्टी, बेहोशी, कफ, पीलिया, धातु  विकार, यकृत निष्क्रियता, तिल्ली बढऩा, सिफलिस, एलर्जी सहित अन्य त्वचा विकार, झाइयां, झुर्रियां, कुष्ठ आदि में गिलोय का सेवन आश्चर्यजनक परिणाम देता है। यह शरीर में इंसुलिन उत्पादन क्षमता बढ़ाती है। रोगों से लडऩे, उन्हें मिटाने और रोगी में शक्ति के संचरण में यह अपनी विशिष्ट भूमिका निभाती है। सचमुच यह प्राकृतिक ‘कुनैन’ है। इसका नियमित प्रयोग सभी प्रकार के बुखार, फ्लू, पेट कृमि, रक्त विकार, निम्न रक्तचाप, हृदय दौर्बल्य, क्षय (टीबी), मूत्र रोग, एलर्जी, उदर रोग, मधुमेह, चर्म रोग आदि अनेक व्याधियों से बचाता है। गिलोय भूख भी बढ़ाती है। इसकी तासीर गर्म होती है। एक बार में गिलोय की लगभग 20 ग्राम मात्रा ली जा सकती है। इसमें प्रचुर मात्रा में एन्टी आक्सीडेन्ट होते हैं। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर सर्दी, जुकाम, बुखार से लेकर कैंसर तक में लाभकारी है।  
 


Date : 26-Feb-2020

26 फरवरी 1993 को न्यूयॉर्क के वल्र्ड ट्रेड सेंटर की कार पार्किंग में बम धमाका हुआ था। शक्तिशाली बम धमाके में 6 लोग मारे गए थे और करीब एक हजार लोग जख्मी हुए।
आतंकियों ने न्यूयॉर्क के वल्र्ड सेंटर को निशाना बनाया था। यह हमला अमेरिका में इस तरह का पहला हमला था। जांचकर्ताओं को धमाके वाली जगह पर एक वैन की नंबर प्लेट मिली। इस नंबर प्लेट के जरिए पुलिस मोहम्मद सालामेह तक पहुंची।  सालामेह ने वैन किराये पर ली थी और 25 फरवरी को इसकी चोरी की रिपोर्ट की थी। सालामेह के घर और दस्तावेजों की जांच के बाद दो और आरोपी पकड़े गए। इस दौरान न्यूजर्सी में भंडारण की सुविधा देने वाला एक शख्स सामने आया और उसने बताया कि 25 फरवरी को चार लोग वैन में कुछ भरते दिखे थे। जब पुलिस ने गोदाम की तलाशी ली तो उसे वहां केमिकल्स मिले। जांचकर्ताओं को गोदाम से वीडियो टेप भी मिला जिसमें बम बनाने का तरीका बताया गया था। इस अहम सबूत के मिलने के साथ ही चौथा आरोपी भी पुलिस के शिंकजे में आ गया था।
आतंकियों ने धमाके की जिम्मेदारी लेते हुए न्यूयॉर्क टाइम्स को एक चि_ी भी लिखी थी। एक आरोपी के दफ्तर से चि_ी के कुछ अंश मिले थे। आखिरकार डीएनए जांच से लिफाफे पर लगी लार एक आरोपी से मिल गई। आरोपियों को सजा दिलाने के लिए जांचकर्ताओं के पास ढेरों सबूत थे। कोर्ट ने सभी आरोपियों को दोषी पाया और हर एक को 240 सालों की सजा सुनाई। 11 सितंबर 2011 को एक बार फिर वल्र्ड ट्रेड सेंटर आतंकियों के निशाने पर आया। अलकायदा के आतंकियों ने एक के बाद एक दो विमान टावरों से टकरा दिए। इस आतंकी हमले में तीन हजार से ज्यादा लोग मारे गए। हमले के कुछ घंटों के बाद ही इस बिल्ंिडग के दोनों टावर जमींदोज हो गए थे। 
 

 


Date : 26-Feb-2020

कबिट लीमोन्या आकीदीस्सीमा एक फल है जो बेल जैसा होता है। इसे  कपित्थ या कठबेल भी कहते हैं। आयुर्वेद में कबीट को पेट रोगों का विशेषज्ञ माना गया है। इसका जहां शरबत के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, वहीं चटनी भी खूब पसंद की जाती है। भारत में कबिट दक्षिण भारत से लेकर ठेठ उत्तर क्षेत्र में पाया जाता है। इसके अलावा यह बांग्लादेश, पाकिस्तान, श्रीलंका, जावा, मलेशिया आदि में भी पाया जाता है।
मोटे तौर पर कबिट को दो वर्गों में विभाजित किया जा सकता है। पहले वर्ग में छोटे आकार के कबिट फल होते हैं जो स्वाद में बहुत खट्टे होते हैं साथ ही गले पर भी असर करते हैं। दूसरे वर्ग में वह कबिट है जो आकार में बड़ा होता है। इसका गूदा खट्टापन लिए मीठा होता है।
 


Date : 25-Feb-2020

1. हाल ही में (फरवरी 2015) सर्वश्रेष्ठ फिल्म का ऑस्कर पुरस्कार निम्नलिखित में से किस फिल्म को मिला?
(अ) सेल्मा (ब) द अमेरिकन स्नाइपर (स) द ग्रैंडा बुडापेस्ट होटल (द) बर्डमैन
2. वर्तमान में चीन में भारत के राजदूत कौन हैं?
(अ) अशोक कांठा (ब) अमर सिन्हा (स) मीरा शंकर (द) इनमें से कोई नहीं
3. भारत में निम्नलिखित में से कौन सी पर्वत श्रेणी केवल एक ही राज्य में फैली है?
(अ) अरावली (ब) सतपुड़ा (स) अजंता (द) सह्माद्रि
4. मध्यप्रदेश की सर्वाधिक ऊंची चोटी कौन सी है?
(अ) जानापाव (ब) धूपगढ़ (स) बागली (द) देवगढ़
5. उत्तर प्रदेशीय हिमालय का सर्वोच्च शिखर कौन सा है?
(अ) चौखम्बा (ब) धौलागिरी (स) नंदा देवी (द) त्रिशूल
6. निम्नलिखित में से कौन सा देश, भारत के साथ सबसे लंबी सीमा साझी करता है?
(अ) चीन (ब) बांग्लादेश (स) नेपाल (द) पाकिस्तान
7. लघु हिमालय श्रेणी के ढालों पर मिलने वाले छोटे-छोटे घास के मैदानों को उत्तराखंड में क्या कहा जाता है? 
(अ) दून (ब) मर्ग (स) चोस (द) बुग्याल एवं पयार
8. सतलज एवं काली नदियों के बीच हिमालय का कौन सा प्रादेशिक विभाग स्थित है?                
(अ) पंजाब हिमालय (ब) नेपाल हिमालय (स) असम हिमालय (द) कुमायूं हिमालय 
9. निम्नलिखित में से किसकी सीमा बांग्लादेश से नहीं मिलती?
(अ) मेघालय (ब) त्रिपुरा (स) मणिपुर (द) मिजोरम
10. निम्नलिखित में से वह कौन सा देश है, जो अंडमान द्वीप समूह के सबसे निकट है?
(अ) श्रीलंका (ब) म्यांमार (स) इंडोनेशिया (द) पाकिस्तान
11. निम्नलिखित में कौन सा दर्रा सिक्किम राज्य में स्थित है?
(अ) माना दर्रा एवं नीति दर्रा (ब) नाथुला एवं जैलेप्ला दर्रा (स)शिपकी ला एवं यांग्याप दर्रा (द) बुर्जिल एवं जोजिला दर्रा
12. जम्मू से श्रीनगर का मार्ग निम्नलिखित में से किस दर्रे से होकर गुजरता है?
(अ) जोजिला (ब) बुर्जिल (स) बनिहाल (द) पीरपंजाल
13. किस पर्वतीय दर्रे से होकर भारतीय तीर्थयात्री मानसरोवर झील तथा कैलाश पर्वतीय घाटी के दर्शन हेतु जाते हैं?
(अ) शिपकी ला (ब) बारा लाचा (स) माना (द) नाथूला  
14. एक महानगर का तात्पर्य एक ऐसे शहर से है, जिसकी जनसंख्या का आकार हो?
(अ) 10 लाख से अधिक (ब) 15 लाख से अधिक (स) 20 लाख से अधिक (द) 25 लाख से अधिक
15. भारत की मिट्टी में दो तत्वों की कमी उर्वरकों के उपभोग को अधिक आवश्यक बनाती है। ये दो तत्व कौन-कौन से हैं?
(अ) नाइट्रोजन और लोहा (ब) फॉस्फोरस और नाइट्रोजन (स) एल्युमीनियम और लोहा (द) पोटैशियम और फॉस्फोरस
16. किसने कहा कि समाजशास्त्र एक कलात्मक विज्ञान है?
(अ) सी.एच. कूले (ब) डब्ल्यू.आई. थॉमस (स) वी. पैरेटो (द) मैक्स वेबर
17. किस वर्ष चौथी पंचवर्षीय योजना प्रारंभ हुई?
(अ) वर्ष 1969 (ब) वर्ष 1968 (स) वर्ष1967 (द)वर्ष 1966
18. सामाजिक परिवर्तन का अंतर्निहित सिद्घांत किसने प्रतिपादित किया?
(अ) डब्ल्यू.एफ. ऑगबर्न (ब) आर.एम. मैकाइवर (स) विल्फ्रेडो पैरेटो (द) पी.ए. सोरोकिन
19. प्रतियोगिता को शांत संघर्ष के रूप में किसके द्वारा वर्णित किया गया है?
(अ) कोजर द्वारा (ब)स्पेंसर द्वारा (स) वेबर द्वारा (द) फ्रेजर द्वारा
20. वह भक्ति संत कौन थे, जिनके बारह शिष्य थे, जिनमें नाई, जुलाहे, कसाई आदि शामिल किए गए  थे?
(अ) वल्लभाचार्य (ब) रामानंद (स) रहीम (द) नामदेव
21. शुद्घ अद्वैत का सिद्घांत का प्रतिपादित निम्नलिखित में से किसने किया था?
(अ) वल्लभाचार्य (ब) माधवाचार्य (स) रामानुज (द) नरसी मेहता 
22. भारत में फिरदौस सिलसिला की स्थापना निम्नलिखित में से किसके द्वारा की गई थी?
(अ) बदरूद्दीन (ब) शेख हुसैन बल्खी (स) शेख अहमद सरहिंदी (द) उपरोक्त में से कोई नहीं
23. निम्नलिखित में से कौनसा वन भारत में आर्थिक दृष्टिकोण से सर्वाधिक महत्वपूर्ण है?
(अ) ज्वारीय वन (ब) सदाबहार वन (स) कांटेदार वन (द) पतझड़ वाले वन 
24. भारत का वह राज्य कौन सा है, जहां वनीय आवरण का सर्वाधिक प्रतिशत पाया जाता है?
(अ) पश्चिम बंगाल (ब) मिजोरम (स) उड़ीसा (द) केरल
25. डबल फॉल्ट शब्द किस खेल से संबंधित है?
(अ) ब्रिज (ब) गोल्फ (स) क्रिकेट (द) टेनिस
26. निम्नलिखित में से किस खेल की टीम में महिला तथा पुरुष दोनों खिलाड़ी होते हैं?
(अ) कार्फबॉल (ब) नेटबॉल (स) सॉफ्ट बॉल (द) हैण्डबॉल
27. सीजर्स कप किस खेल से संबंधित है?
(अ) क्रिकेट (ब) हॉकी (स) फुटबाल (द) वालीबाल
28. इंग्लैण्ड का प्रसिद्घ विम्बलडन स्टेडियम निम्नलिखित में से किस खेल से संबंधित है?
(अ) क्रिकेट (ब) फुटबाल (स) टेनिस (द) गोल्फ 
29. लगातार बढ़ती कीमतों की प्रक्रिया होती है?
(अ)मंदी (ब)अति उत्पादन (स) मुद्रा स्फीति (द) मुद्रा अवस्फीति
----
सही जवाब- 1.(द)बर्डमैन, 2.(अ)अशोक कांठा, 3.(स)अजंता, 4.(ब) धूपगढ़, 5.(स) नंदा देवी, 6.(स)नेपाल, 7.(द)बुग्याल एवं पयार, 8.(द) कुमायूं हिमालय, 9.(स) मणिपुर, 10.(ब) म्यांमार, 11.(ब) नाथुला एवं जैलेप्ला दर्रा, 12.(स) बनिहाल, 13.(स) माना, 14.(अ)10 लाख से अधिक, 15.(ब) फॉस्फोरस और नाइट्रोजन, 16.(ब) डब्ल्यू.आई. थॉमस, 17.(अ)वर्ष 1969,18.(द)पी.ए. सोरोकिन, 19.(अ) कोजर द्वारा, 20.(ब) रामानंद, 21.(अ) वल्लभाचार्य, 22.(अ) बदरूद्दीन, 23.(द) पतझड़ वाले वन, 24.(स) उड़ीसा, 25.(द) टेनिस, 26.(अ) कार्फबॉल, 27.(स) फुटबाल, 28.(स)टेनिस, 29.(स)मुद्रा स्फीति।
 


Date : 25-Feb-2020

अलबेरुनी का असली नाम अबूरैहान मुहम्मद था, पर वह अलबेरुनी नाम से ही लोकप्रिय हुआ , जिसका अर्थ होता है—उस्ताद।
अलबेरूनी, जो अबूरिहान नाम से भी जाना जाता था, 973 ई. में ख्वारिज्म (खीवा) में पैदा हुआ। 1017 ई. में ख्वारिज्म को महमूद गज़ऩवी द्वारा जीते जाने पर अलबेरूनी को उसने राज ज्योतिष के पद पर नियुक्त किया। बाद में महमूद के साथ अलबेरूनी भारत आया। इसने अपनी पुस्तक ‘तहकीक-ए-हिन्द‘ अर्थात किताबुल हिंद में राजपूतकालीन समाज, धर्म, रीतिरिवाज आदि पर सुन्दर प्रकाश डाला है। यह सुल्तान महमूद की सेना के साथ भारत आया था और अनेक वर्षों तक भारत में रहा।
अलबेरूनी बड़ा प्रतिभा सम्पन्न व्यक्ति था। भारत आकर इसने संस्कृत भाषा सीखी और शास्त्रों का अध्ययन किया। अपने अध्ययन का निचोड़ इसने  तहकीक-ए-हिन्द  अर्थात भारत की खोज नामक पुस्तक में दिया है। इससे मुसलमानों के आक्रमण से पहले की भारतीय संस्कृति और इतिहास का परिचय मिलता है। अलबेरूनी की लिखी हुई अनेक पुस्तकें अब प्राप्त नहीं हैं। पुरानी कौमों का इतिहास  नामक प्राप्त पुस्तक अलबेरूनी की विद्वता पर अच्छा प्रकाश डालती है। 
 

 


Previous12345678Next