सामान्य ज्ञान

Date : 10-Dec-2019

10 दिसम्बर सन 1896 ईसवी को स्वेडन के रसायनशास्त्री अल्फ्रेड नोबल का निधन हुआ। उनका जन्म 1833 ईसवी में हुआ। वे युवास्था में रुस पलायन कर गये। रसायनशास्त्र में गहन अध्ययन और शोधकार्य के पश्चात 1867 में उन्होंने डाइनामाइट नामक विस्फोटक की खोज की। परंतु इस  पदार्थ का इस्तेमाल शांति पूर्ण कार्यों के बजाए युद्ध में   होने लगा इससे नोबेल को गहरा आघात पहुंचा जिसके बाद वे शांति के कार्यों में लग गये। उन्होंने वर्ष 1900 में एक कोष बनाया जिसका नाम नोबेल फाउंडेशन रखा गया। इस कोष के माध्यम से  हर वर्ष किसी ऐसे व्यक्ति को जिसने भौतिक , रासायन, चिकित्सा और विश्व शांति में से किसी एक क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया हो, उसे पुरस्कार दिया जाता है। इस पुरस्कार को कोष के संस्थापक के नाम के अनुसार नोबल पुरस्कार कहा जाता है। ये पुरस्कार वर्ष 1901 से दिए जा रहे हैं। यह शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार है।अल्फ्रेड नोबेल ने कुल 355 आविष्कार किए जिनमें 1867 में किया गया डायनामाइट का आविष्कार भी था। अर्थशास्त्र के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार की शुरुआत 1968 से की गई। पहला नोबेल शांति पुरस्कार 1901 में रेड क्रॉस के संस्थापक ज्यां हैरी दुनांत और फ्रेंच पीस सोसाइटी के संस्थापक अध्यक्ष फ्रेडरिक पैसी को संयुक्त रूप से दिया गया। 
 

 


Date : 10-Dec-2019

गरुड़ पुराण हिन्दू धर्म के प्रसिद्ध धार्मिक ग्रंथों में से एक है। वैष्णव सम्प्रदाय से सम्बन्धित  गरुड़ पुराण  सनातन धर्म  में मृत्यु के बाद सद्गति प्रदान करने वाला माना जाता है। इसलिए सनातन हिन्दू धर्म में मृत्यु के बाद  गरुड़ पुराण  के श्रवण का प्रावधान है। 
अठारह पुराणों में  गरुड़ महापुराण  का अपना एक विशेष महत्व है। क्योंकि इसके देव स्वयं विष्णु माने जाते हैं, इसीलिए यह वैष्णव पुराण है। गरुड़ पुराण के अनुसार हमारे कर्मों का फल हमें हमारे जीवन में तो मिलता ही है, परंतु मरने के बाद भी कार्यों का अच्छा-बुरा फल मिलता है।  गरुड़ पुराण  में भगवान विष्णु की भक्ति का विस्तार से वर्णन मिलता है। विष्णु के चौबीस अवतारों का वर्णन ठीक उसी प्रकार इस पुराण में प्राप्त होता है, जिस प्रकार  श्रीमद्भागवत  में उपलब्ध होता है।
 आरम्भ में मनु से सृष्टि की उत्पत्ति, धु्रव चरित्र और बारह आदित्यों की कथा प्राप्त होती है। उसके बाद सूर्य और चन्द्र ग्रहों के मंत्र, शिव-पार्वती मन्त्र, इन्द्र से संबंधित मंत्र, सरस्वती के मन्त्र और नौ शक्तियों के विषय में विस्तार से बताया गया है।
गरुड़ पुराण  में उन्नीस हज़ार श्लोक कहे जाते हैं, किन्तु वर्तमान समय में कुल सात हज़ार श्लोक ही उपलब्ध हैं। इस पुराण को दो भागों में रखकर देखना चाहिए। पहले भाग में विष्णु भक्ति और उपासना की विधियों का उल्लेख है तथा मृत्यु के उपरान्त प्राय: गरुड़ पुराण  के श्रवण का प्रावधान है। दूसरे भाग में  प्रेतकल्प का विस्तार से वर्णन करते हुए विभिन्न नरकों में जीव के पडऩे का वृत्तान्त है। इसमें मरने के बाद मनुष्य की क्या गति होती है, उसका किस प्रकार की योनियों में जन्म होता है, प्रेत योनि से मुक्त कैसे पाई जा सकती है, श्राद्ध और पितृ कर्म किस तरह करने चाहिए तथा नरकों के दारुण दुख से कैसे मोक्ष प्राप्त किया जा सकता है आदि विषयों का विस्तारपूर्वक वर्णन प्राप्त होता है।
इस पुराण में महर्षि कश्यप और तक्षक नाग को लेकर एक सुन्दर उपाख्यान दिया गया है। इस पुराण में नीति सम्बन्धी सार तत्त्व, आयुर्वेद, गया तीर्थ का माहात्म्य, श्राद्ध विधि, दशावतार चारित्र तथा सूर्य-चन्द्र वंशों का वर्णन विस्तार से प्राप्त होता है। बीच-बीच में कुछ अन्य वंशों का भी उल्लेख है।  इस पुराण के  प्रेत कल्प  में पैतीस अध्याय हैं, जिसका प्रचलन सबसे अधिक हिन्दुओं के सनातन धर्म में है।  गरुड़ पुराण  में प्रेत योनि और नरक में पडऩे से बचने के उपाय भी सुझाए गए हैं। उनमें सर्वाधिक प्रमुख उपाय दान-दक्षिणा, पिण्डदान तथा श्राद्ध कर्म आदि बताए गए हैं।
 


Date : 10-Dec-2019

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 10 दिसंबर, 1950 को मानव अधिकार दिवस के रूप में घोषित किया। मकसद था दुनिया भर के लोगों का ध्यान मानवाधिकार की ओर खींचना, ताकि हर देश और समुदाय में सभी को एक नजर से देखा जाए।  10 दिसम्बर सन 1948 ईसवी को संयुक्त राष्टृ की महासभा ने मानवाधिकार घोषणा पत्र जारी किया। संयुक्त राष्टृ के निर्देश पर को देशों की प्रतिनिधियों पर आधारित एक समिति ने इस घोषणा पत्र का मसौदा तैयार किया। यह 1 प्रस्तावना और 30 सूत्रों पर आधारित है। इसके पहले सूत्र में समस्त जनजाति के एकसमान होने ओर उसके बीच भाइचारे के प्रचलन की ओर संकेत किया गया है।  
संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार आयुक्त कार्यालय की स्थापना को 2013 में 20 साल पूरे हो रहे हैं। 20 दिसंबर 1993 को संयुक्त राष्ट्र ने मानव अधिकार मामलों की देखभाल के लिए एक आयुक्त का होना तय किया। यह फैसला इसी साल विएना में मानवाधिकारों पर हुए विश्व सम्मेलन में शामिल देशों के प्रतिनिधियों की सलाह पर किया गया। पिछले 25 सालों में मानव अधिकारों की रक्षा की दिशा में यह सबसे बड़ा फैसला माना जाता है।
 

 


Date : 10-Dec-2019

कपड़ों की रानी कहा जाने वाला रेशम ऐतिहासिक दृष्टि से भारत के सबसे महत्वपूर्ण उद्योगों में से एक रहा है।  भारत में आज रेशम उद्योग में 7 लाख से ज्यादा कृषक परिवार काम कर रहे हैं, जो मुख्यत: पश्चिम बंगाल, असम, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु में केंद्रित हैं। रेशम उत्पादन में भारतीय रेशम उद्योग का विश्व में दूसरा स्थान है जिसकी कुल रेशम उत्पादन में 18 फीसदी की हिस्सेदारी है। 
नए बदलावों द्वारा भारतीय रेशम उद्योग ने घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय दोनों स्तरों पर बेहतर विकास का प्रदर्शन किया है। भारतीय रेशम उद्योग से 60 लाख श्रमिकों के साथ-साथ छोटे और सीमांत किसान भी जुड़े हुए हैं। रेशम उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए कपड़ा मंत्रालय द्वारा कई नई पहल की जा रही हैं। कच्चे रेशम का उत्पादन, जिसमें मलबरी, टस्सर, इरी, मूंगा शामिल हैं, का उत्पादन 2010-11 में 16 हजार 360 मीट्रिक टन से बढक़र 2012-13 में 18 हजार 272 मीट्रिक टन हो गया । रेशम के धागे के उत्पादन में भी वृद्धि दर्ज की गई है । रेशम के धागे का उत्पादन 2010-11 में 880 मीट्रिक टन से बढक़र 2012-13 में 1 हजार 155 मीट्रिक टन हो गया। केंद्रीय रेशम बोर्ड के माध्यम से भारत सरकार ने रेशम उद्योग को विकसित करने और रेशम का उत्पादन बढ़ाकर वैश्विक बाजारों में इसे और अधिक प्रतिस्पर्धी बनाने हेतु कुछ कदम उठाए हैं । शोध और विकास प्रणालियों को बढ़ावा देना, जापान अंतर्राष्टीय सहयोग एजेंसी की मदद से बिवोल्टाइन ब्रिड को विकसित करना, रेशमकीट बीज अधिनियम लागू करना आदि कपड़ा मंत्रालय द्वारा उठाए गए कदमों में शामिल है। रेशम बोर्ड के माध्यम से कपड़ा मंत्रालय द्वारा विभिन्न राज्यों में राज्य रेशम उत्पादन विभागों के सहयोग से एक केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित योजना का भी कार्यान्वयन किया जा रहा है ।
 केंद्रीय रेशम बोर्ड के केंद्रीय रेशम उत्पादन प्रशिक्षण संस्थान के माध्यम से भारत सरकार बुनाई क्षेत्र सहित कोकून से आगे की प्रक्रिया के क्षेत्र के लिए तकनीकी सहयोग प्रदान कर रही है ।  
 


Date : 10-Dec-2019

भ्रष्टाचार एवं इसके उन्मूलन हेतु कारगर उपायों के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए हर साल दुनिया भर में  9 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय  भ्रष्टाचार निरोध दिवस मनाया जाता है। 
 अंतरराष्ट्रीय  भ्रष्टाचार निरोध दिवस को मनाए जाने की शुरूआत संयुक्त राष्ट्र महासभा के द्वारा 31 अक्टूबर 2013 को जारी घोषणा-पत्र 58/4 के अनुसार हुई। इस घोषणा-पत्र के माध्यम से संयुक्त राष्ट्र भ्रष्टाचार विरोध सम्मेलन (यूएनसीएसी) को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अंगीकृत किया तथा संयुक्त राष्ट्र औषधि एवं अपराध कार्यालय (यूएनओडीसी) के सचिवालय को इस सम्मेलन के हेतु सचिवालय नामिaत किया। यह सम्मेलन दिसंबर 2005 से प्रभाव में आया। साथ ही, महासभा ने 9 दिसंबर को प्रतिवर्ष अंतरराष्ट्रीय  भ्रष्टाचार निरोध दिवस के रूप में मनाये जाने की भी घोषणा की। वर्ष 2013 में इस दिवस का विषय  ‘एक्ट अगेंस्ट करप्शन टुडे’ घोषित किया गया था। 

 


Date : 10-Dec-2019

गंगा का उद्गम स्थल हिमालय पर्वत की दक्षिण श्रेणियां हैं। प्रवाह के प्रारंभिक चरण में भारत के राज्य में दो नदियां अलकनन्दा और भागीरथी निकलती हैं। अलकनन्दा की सहायक नदी धौली, विष्णु गंगा तथा मंदाकिनी है। भागीरथी गोमुख स्थान से 25 किमी लम्बे गंगोत्री हिमनद से निकलती है। भागीरथी और अलकनन्दा देव प्रयाग में संगम करती है यहां से वह गंगा के रुप में पहचानी जाती है। भारत के विशाल मैदानी इलाके से होकर बहती हुई गंगा बंगाल की खाड़ी में बहुत सी शाखाओं में विभाजित होकर मिलती है। इनमें से एक शाखा का नाम हुगली नदी भी है जो कोलकाता के पास बहती है, दूसरी शाखा पद्मा नदी बांग्लादेश में प्रवेश करती है। इस नदी की पूरी लंबाई लगभग 2507 किलोमीटर है। गंगा और बंगाल की खाड़ी के मिलन स्थल पर बनने वाले मुहाने को सुंदरवन के नाम से जाना जाता है जो विश्व की बहुत सी प्रसिद्ध वनस्पतियों और प्रसिद्ध बंगाल टाईगर का निवास स्थान है।
यमुना नदी यों तो अपने आप में एक स्वतंत्र और बड़ी नदी है, गंगा में प्रयाग यानी इलाहाबाद में आकर मिलती है। अलकनन्दा नदी गंगा की सहयोगी नदी हैं। यह गंगा के चार नामों में से एक है। चार धामों में गंगा के कई रूप और नाम हैं। गंगोत्री में गंगा को भागीरथी के नाम से जाना जाता है, केदारनाथ में मंदाकिनी और बद्रीनाथ में अलकनन्दा। यह उत्तराखंड में शतपथ और भगीरथ खडक़ नामक हिमनदों से निकलती है। यह स्थान गंगोत्री कहलाता है। अलकनंदा नदी घाटी में लगभग 229 किमी तक बहती है। देव प्रयाग या विष्णु प्रयाग में अलकनंदा और भागीरथी का संगम होता है और इसके बाद अलकनंदा नाम समाप्त होकर केवल गंगा नाम रह जाता है। अलकनंदा चमोली टेहरी और पौड़ी जिलों से होकर गुजऱती है।.गंगा के पानी में इसका योगदान भागीरथी से अधिक है। हिंदुओं का प्रसिद्ध तीर्थस्थल बद्रीनाथ और अलकनंदा के तट पर ही बसा हुआ है।  तिब्बत की सीमा के पास केशवप्रयाग स्थान पर यह आधुनिक सरस्वती नदी से मिलती है। केशवप्रयाग, बद्रीनाथ से कुछ ऊंचाई पर स्थित है। 
 


Date : 09-Dec-2019

1. वृक्षों की आयु किस प्रकार निर्धारित की जाती है?
(अ) इसके भार द्वारा (ब) इसकी ऊंचाई द्वारा (स) वार्षिक वलयों की संख्या के आधार पर (द) इसकी जड़ों की लंबाई द्वारा
2. नेत्रदान में दाता की आंख का कौन-सा भाग उपयोग में लाया जाता है?
(अ) कॉर्निया (ब) परितारिका (स) रेटिना (द) लेंस
3. किस द्रव के एकत्रित होने पर मांसपेशियां थकान का अनुभव करने लगती हैं?
(अ) लैक्टिक एसिड (ब) पाइरूविक एसिड (स) बेजोइक एसिड (द) यूरिक एसिड
4. स्तनधारियों में लाल रुधिर कणिकाओं का निर्माण निम्नलिखित में कहां होता है?
(अ) वृक्कों में (ब) अस्थिमज्जा में (स) यकृत में (द) तिल्ली में
5. जड़ें किस भाग से विकसित होती हैं?
(अ) प्रांकुर से (ब) मूलांकुर से (स) तने से (द) पत्ती से 
6. गाजर एक प्रकार से क्या है?
(अ) जड़ (ब) तना (स) पुष्प (द)प्रकंद   
7. हल्दी के पौधे का खाने योग्य हिस्सा निम्नलिखित में से कौन-सा होता है?
(अ) जड़ (ब) प्रकंद (स)फल (द) कंद   
8. प्याज किसका परिवर्तित रूप है?
(अ) तने का (ब) जड़ का (स) पत्तियों का (द) फल का
9. संयुक्त राष्ट्र संघ के मूल सदस्यों की संख्या कितनी है ?
(अ) 50 (ब) 51 (स) 45 (द) 48 
10. अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की स्थापना किस वर्ष  हुई थी?
(अ) सन् 1919 (ब) सन् 1945 (स) सन् 1946 (द) सन् 1951
11. सार्क के सदस्य राष्ट्रों की संख्या कितनी है?
(अ) पांच (ब) सात (स) आठ (द) दस 
12. अंतरराष्ट्रीय पुनर्निर्माण एवं विकास बैंक की स्थापना किस वर्ष हुई?
(अ) सन् 1944 (ब) सन् 1945 (स) सन् 1946 (द) सन् 1948
13. शंघाई नगर किस नदी के किनारे स्थित है?
(अ) यांग्टिसी (ब) सीक्यांग (स) वी हो (द) ह्वांगहो  
14. भारत गन्ना उत्पादन में प्रथम है, परंतु चीनी के निर्यात में कौन-सा देश प्रथम है?
(अ) अमेरिका (ब) चीन (स) क्यूबा (द) फ्रांस
15. माइटोकॉण्ड्रिया का कोशिका में निम्नलिखित में से क्या कार्य होता है?
(अ) सांस लेने की प्रक्रिया में मदद करना व ऊर्जा देना (ब) कोशिका विभाजन (स) जल, भोजन आदि का संग्रहण (द) भोजन को हजम करने में मदद करना
16. हेपेटाइटिस रोग से मनुष्य के शरीर का सीधा प्रभावित होने वाला अंग है?
(अ)लीवर (ब) फेफड़ा (स) हृदय (द) मस्तिष्क
17. मधुमक्खी पालन को वैज्ञानिक भाषा में क्या कहा जाता हैं?
(अ) सेरिकल्चर (ब) ऐपिकल्चर (स) ऐक्काकल्चर (द) ऐग्रिकल्चर
18. चुकंदर और ईख से रस निकाल लेने के बाद बचे अवशेष को कहते हैं?
(अ) शीरा (ब) खोई (स) व्हे (द) जैवमात्रा
19. निम्नलिखित में से कौन एक पौधों के भोजन के उत्पादन के लिए आवश्यक है?
(अ) ऑक्सीजन (ब)स्टार्च (स) कार्बन डाइऑक्साइड (द) प्रोटीन
20. बृहत ज्वार भाटा निम्नलिखित में से किस स्थिति के निर्मित होने से आता है?
(अ) जब सूर्य, पृथ्वी तथा चंद्रमा एक सीधी रेखा में होते हैं (ब) जब सूर्य तथा चंद्रमा पृथ्वी से समकोण बनाते हैं (स) जब तेज हवा चलती है (द) जब रात बहुत ठंडी होती है 
21. विषुव एक ऐसी स्थिति है, जिसमें रात्रि एवं दिन का काल बराबर होता है, यह होता है?
(अ) 31 मार्च एवं 30 सितंबर को (ब) 24 दिसंबर एवं 30 जून को (स) 21 मार्च एवं 23 सितंबर को (द) 1 अप्रैल एवं 1 जनवरी को
22. सूर्य की परिक्रमा में निम्नलिखित में से कौन सा ग्रह सर्वाधिक समय लेता है?
(अ) यूरेनस (ब) बृहस्पति (स) वरुण (द) प्लूटो
23. कंप्यूटर व्यवस्था जो जोड़ती है तथा विभिन्न देशों में से सूचना संकलित कर सैटेलाइट द्वारा विश्व में पहुंचाती है, उसे कहते हैं?
(अ) अपोलो (ब) इनसैट 2 डी (स) इंटरनेट (द) निकनेट
24. कांच के निर्माण में जो कच्चा माल प्रयोग होता है, वह कौन सा है?
(अ) रेत, अभ्रक, गंधक (ब) रेत, सोडा, अभ्रक (स) रेत, सोडा, क्वार्ट्ज (द) रेत, सोडा, गंधक
25. भोपाल दुर्घटना में किस गैस का रिसाव हुआ था?
(अ) कार्बन मोनोऑक्साइड (ब) इथाइल आइसोसायनेट (स) मिथाइल आइसोसाइयनेट (द) इनमें से कोई नहीं
26. निम्नलिखित में से कौन जैव अक्षयकारी प्रदूषक है?
(अ) प्लास्टिक (ब) डीडीटी (स) पारा  (द) उपर्युक्त सभी
27. निम्नलिखित में से कौन वायु प्रदूषक मनुष्य में रक्तदाब को बढ़ा देता है तथा हृदय संबंधी रोग पैदा करता है?
(अ) पारा (ब) सीसा (स) कैडमियम (द) तांबा
28. डोनबास नामक कोयला बेसिन क्षेत्र निम्नलिखित में से कहां अवस्थित है?
(अ) काला सागर एवं एजोव सागर के उत्तर में (ब) कैस्पियन सागर के उत्तर में (स) फिनलैंड की खाड़ी के पूर्व में (द) श्वेत सागर के दक्षिण एवं कैनिन पेनिनसुला के दक्षिण पश्चिम में
---
सही जवाब- 1.(स) वार्षिक वलयों की संख्या के आधार पर, 2.(स) रेटिना, 3.(अ) लैक्टिक एसिड, 4.(ब) अस्थिमज्जा में, 5.(ब) मूलांकुर से, 6.(अ) जड़, 7.(ब) प्रकंद, 8.(अ) तने का,  9.(अ)50, 10.(स) सन् 1946, 11.(ब) सात, 12.(ब)सन् 1945, 13.(अ) यांग्टिसी, 14.(ब) चीन, 15.(अ) सांस लेने की प्रक्रिया में मदद करना व ऊर्जा देना, 16.(अ) लीवर, 17.(ब) ऐपिकल्चर, 18.(ब) खोई, 19.(स) कार्बन डाइऑक्साइड, 20.(अ) जब सूर्य, पृथ्वी तथा चंद्रमा एक सीधी रेखा में होते हैं, 21.(स) 21 मार्च एवं 23 सितंबर को, 22.(द) प्लूटो, 23.(ब) इनसैट 2 डी, 24.(स) रेत, सोडा, क्वार्ट्ज, 25.(स)मिथाइल आइसोसाइयनेट, 26.(द)उपर्युक्त सभी, 27.(स) कैडमियम, 28.(अ) काला सागर एवं एजोव सागर के उत्तर में ।  
 


Date : 09-Dec-2019

बंगाल की खाड़ी में स्थित केंद्रशासित अंडमान -निकोबार में मैरिन नेशनल पार्क स्थित है। यही पर है मूंगा द्वीपों का समूह। पार्क की सीमा में 15 छोटे- छोटे द्वीपों का समूह-लाब्रिथ द्वीप समूह है, इसका निर्माण सामान्य धरती की तरह नहीं, बल्कि इसे समुद्री जीव मूंगों (कोरल) ने बनाया है। 
मूंगों की चट्टïान के निर्माण के संबंध में अनेक सिद्धांत प्रचलित हैं।  इनमें  चाल्र्स डार्विन की अवधारणा सबसे अधिक मान्य है। 1842 में डार्विन ने कहा था कि एक ज्वालामुखी के शांत होने के  कारण तटीय प्रवाल भित्ती का निर्माण हुआ और धीरे-धीरे यह भाग ऊपर उठ गया । ज्वालामुखी के पूरा शांत हो जाने के बाद यह प्रवाल द्वीप अस्तित्व में आया।  इनमें कई लैगून यानी मूंगों चट्टïानों के बीच झील बन गई।  प्रवाल द्वीपों पर सबसे पहले रेत टीले के रुप में एकत्रित हुई। पक्षियों के बीट से यह भूमि उपजाऊ बन गई।  फलस्वरुप इस भूमि पर वनस्पति का उगना संभव हो पाया। 
 लाब्रिथ द्वीप समूह का तटीय क्षेत्र समुद्री कछुओं के प्रजनन की भूमि है।  यहां पांच प्रजातियों के समुद्री कछुए पाए जाते हैं।  मैरिन राष्टï्रीय पार्क में दुर्लभ प्रजाति के पक्षी भी पाए जाते हैं।  इनमें निकोबारी कबूतर और समुद्री गरुड़ जैसे दुर्लभ पक्षी भी शामिल हैं। 
 


Date : 09-Dec-2019

10 दिसम्बर सन 1896 ईसवी को स्वेडन के रसायनशास्त्री अल्फ्रेड नोबल का निधन हुआ। उनका जन्म 1833 ईसवी में हुआ। वे युवावस्था में रुस पलायन कर गये। रसायनशास्त्र में गहन अध्ययन और शोधकार्य के पश्चात 1867 में उन्होंने डाइनामाइट नामक विस्फोटक की खोज की। परंतु इस  पदार्थ का इस्तेमाल शांति पूर्ण कार्यों के बजाए युद्ध में   होने लगा इससे नोबेल को गहरा आघात पहुंचा जिसके बाद वे शांति के कार्यों में लग गये। उन्होंने वर्ष 1900 में एक कोष बनाया जिसका नाम नोबेल फाउंडेशन रखा गया। इस कोष के माध्यम से  हर वर्ष किसी ऐसे व्यक्ति को जिसने भौतिक , रासायन, चिकित्सा और विश्व शांति में से किसी एक क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया हो, उसे पुरस्कार दिया जाता है।
नोबेल पुरस्कार को कोष के संस्थापक के नाम के अनुसार नोबेल पुरस्कार कहा जाता है। ये पुरस्कार वर्ष 1901 से दिए जा रहे हैं। यह शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार है।अल्फ्रेड नोबेल ने कुल 355 आविष्कार किए जिनमें 1867 में किया गया डायनामाइट का आविष्कार भी था। अर्थशास्त्र के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार की शुरुआत 1968 से की गई। पहला नोबेल शांति पुरस्कार 1901 में रेड क्रॉस के संस्थापक ज्यां हैरी दुनांत और फ्रेंच पीस सोसाइटी के संस्थापक अध्यक्ष फ्रेडरिक पैसी को संयुक्त रूप से दिया गया। 
 


Date : 09-Dec-2019

12 जुलाई 1997 को जन्मी, मलाला यूसुफजई सबसे कम उम्र में शांति का नोबेल पुरस्कार हासिल करने वाली हस्ती हैं। उन्हें कल 10 नवंबर को नोबेल पुरस्कार के संस्थापक अल्फ्रेड नोबेल की पुण्यतिथि के पर यह सम्मान प्रदान किया जाएगा। उन्हें कैलाश सत्यार्थी के साथ नोबेल शांति पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। 
मलाला ने ग्यारह वर्ष की उम्र में पाकिस्तान में तालिबान के खिलाफ बीबीसी में लिखकर सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा था। मलाला ने नकली नाम गुल माकाई के नाम से लिखा था।  तालिबान ने उन्हें जान से मारने की कोशिश की थी और जब वे स्कूल से वापस लौट रही थी तब उनके सिर में गोली मारी गई थी लेकिन वे बच गई। 
 मलाला यूसुफज़़ई के नोबेल जीतने की ख़बर पर मिलीजुली प्रतिक्रिया रही।  सोशल मीडिया पर बधाई संदेश के साथ-साथ अपमानजनक और व्यंग्यात्मक लहजे वाली टिप्पणियां भी देखने को मिली।  कई पाकिस्तानी शिक्षा को लेकर उनकी प्रतिबद्धता और साहस के लिए तारीफ़ करते हैं। कुछ लोग उन्हें पश्चिम की कठपुतली मानते हैं जिसे अमरीका ने पाकिस्तान के मुसलमानों को बरगलाने के लिए रोल मॉडल बनाया हुआ है।
मलाला युसुफज़़ई  को आज बच्चों के अधिकारों की कार्यकर्ता होने के लिए जाना जाता है। वह पाकिस्तान के ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रान्त के स्वात जिले में स्थित मिंगोरा शहर की एक छात्रा हैं।
नोबेल पुरस्कार के अलावा मलाला को मिले अन्य पुरस्कारों में शामिल हैं- 
1. पाकिस्तान का राष्ट्रीय युवा शांति पुरस्कार - मलाला को पहली बार 19 दिसम्बर 2011 को पाकिस्तानी सरकार द्वारा पाकिस्तान का पहला युवाओं के लिए राष्ट्रीय शांति पुरस्कार मलाला युसुफजई को मिला था।
2. अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार के लिए नामांकन (2011)- अंतरराष्ट्रीय बच्चों की वकालत करने वाले समूह किड्स राइट्स फाउंडेशन ने युसुफजई को अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार के लिए प्रत्याशियों में शामिल किया, वह पहली पाकिस्तानी लडक़ी थी जिसे इस पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया। 
3. अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार (2013)-नीदरलैंड के किड्स राइट्स संगठन ने मलाला को यह सम्मान प्रदान किया।  किड्स राइट्स संगठन उन लोगों को सम्मानित करता है जो कि बाल अधिकारों के लिए कोई विशेष कार्य करते हैं। 
4. साख़ारफ़ (सखारोव) पुरस्कार (2013)- मलाला युसुफज़ई को यूरोसंसद द्वारा वैचारिक स्वतंत्रता के लिए साख़ारफ़ पुरस्कार प्रदान किया गया है। बच्चों के शिक्षा के अधिकार के लिए संघर्ष में महती भूमिका निभाने के लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया गया है।
5. मैक्सिको का समानता पुरस्कार (2013)- मलाला यूसुफजई को इक्वेलिटी एंड नान डिस्क्रिमीनेशन का अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार दिये जाने की घोषणा हुई है।  
6. संयुक्त राष्ट्र का 2013 मानवाधिकार सम्मान (ह्यूमन राइट अवॉर्ड) भी मलाला को प्रदान किया गया है। 
 

 


Date : 09-Dec-2019

इस वर्ष शांति का नोबेल पुरस्कार हासिल करने वालों में सामाजिक कार्यकर्ता और भारत में बाल अधिकारों के लिए संघर्ष करने वाले कैलाश सत्यार्थी भी शामिल हैं। 
कैलाश सत्यार्थी भारत में जन्मे पहले व्यक्ति हैं जिन्हें नोबेल शांति पुरस्कार के लिए चयनित किया गया। वह नोबेल पुरस्कार पाने वाले सातवें भारतीय हैं। इनसे पहले मदर टेरेसा को 1979 में नोबल शांति पुरस्कार दिया गया था जिनका जन्म अल्बानिया में हुआ था। कैलाश सत्यार्थी, मदर टेरेसा (1979) के बाद दूसरे भारतीय हैं जिन्हें नोबेल शांति पुरस्कार के लिए चयनित किया गया।  कैलाश सत्यार्थी को वर्ष 2009 में डेफेंडर ऑफ डेमोक्रेसी अवॉर्ड (अमेरिका), वर्ष 2008 में अलफांसो कोमिन इंटरनेशनल अवॉर्ड (स्पेन) से सम्मानित किया गया। वर्ष 2007 में मेडल ऑफ द इटालियन सेनाटे सम्मान प्रदान किया गया। कैलाश सत्यार्थी को कई पुरस्कार मिले जिसमें रॉबर्ट एफ. केनेडी इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स अवार्ड (अमेरिका) और फ्रेडरिक एबर्ट इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स अवार्ड (जर्मनी) आदि शामिल है।  
कैलाश सत्यार्थी बच्चों के अधिकार के लिए संघर्ष करने वाले एक सामाजिक कार्यकर्ता और बचपन बचाओ आंदोलन के संस्थापक अध्यक्ष हैं जो वर्षों से बाल अधिकार के लिए संघर्षरत हैं। इनका जन्म भारत के मध्य प्रदेश के विदिशा में 11 जनवरी 1954 को हुआ। वह पेशे से इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर रहे। कैलाश सत्यार्थी ने 26 वर्ष की उम्र में ही कॅरिअर छोडक़र बच्चों के लिए काम करना शुरू कर दिया था। कैलाश सत्यार्थी ‘बचपन बचाओ आंदोलन’ के जरिए उन बच्चों की मदद करते हैं जो अपने परिवार के कर्ज उतारने के लिए बेचे दिए जाते हैं। फिर उन्हें ट्रेनिंग दी जाती है जिससे वो अपने समुदाय में जाकर ऐसी घटनाओं की रोकथाम के लिए काम करें। उन्होंने ‘ग्लोबल मार्च अगेन्स्ट चाइल्ड लेबर’ मुहिम चलायी जो कई देशों में सक्रिय हैं। वर्तमान में वह ग्लोबल मार्च अगेंस्ट चाइल्ड लेबर (बाल श्रम के ख़िलाफ़ वैश्विक अभियान) के अध्यक्ष भी हैं। 
कैलाश सत्यार्थी ने रूगमार्क का गठन किया जिसे गुड वेब भी कहा जाता है। यह एक तरह का सामाजिक प्रमाण पत्र है जिसे दक्षिण एशिया में बाल मजदूर मुक्त कालीनों के निर्माण के लिए दिया जाता है
बचपन बचाओ आंदोलन’ भारत का एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) है जो बच्चों को बंधुआ मजदूरी और तस्करी से बचाने के काम में लगी है। यह (‘बचपन बचाओ आंदोलन’) बच्चों के शोषण के खिलाफ भारत का पहला सिविल सोसाइटी अभियान है। इसकी स्थापना 1980 में की गई थी। इस संस्था के माध्यम से कैलाश सत्यार्थी ने अब तक लगभग 80 हजार बच्चों की जिंदगी बचाई है। इस संस्था की सबसे मुख्य पहल ‘बाल मित्र ग्राम कार्यक्रम’ है जो बाल बंधुआ मजदूरी, बाल अधिकार और सर्वशिक्षा के अभियान में एक नया प्रतिमान बन गया। कैलाश सत्यार्थी को इस अभियान के शुरू करने के कुछ सालों के बाद यह आभास हुआ कि बाल मजदूरी और शोषण के लगभग 70 फीसदी मामले गांवों में होते हैं तब उन्होंने बच्चों को बचाए जाने के बाद प्रशासन द्वारा उन्हें उचित शिक्षा मुहैया हो सके इसकी व्यवस्था पर जोर देना शुरू किया। 
वहीं ‘बाल मित्र ग्राम’ (चाइल्ड फ्रेंडली विलेज) वह मॉडल गांव है जो बाल शोषण से पूरी तरह मुक्त है और यहां बाल अधिकार को तरजीह दी जाती है।  वर्ष 2001 में इस मॉडल को अपनाने के बाद से देश के 11 राज्यों के 356 गांवों को अब तक चाइल्ड फ्रेंडली विलेज घोषित किया जा चुका है। हालांकि कैलाश सत्यार्थी का अधिकांश कार्य राजस्थान और झारखंड के गांवों में होता है। इन गांवों के बच्चे स्कूल जाते हैं, बाल पंचायत, युवा मंडल और महिला मंडल में शामिल होते हैं और समय समय पर ग्राम पंचायत से बाल समस्याओं के संबंध में बातें करते हैं। 
 

 


Date : 08-Dec-2019

1. 2014 पर्यावरण निष्पादन सूचकांक में भारत की रैकिंग कितनी है?

(अ) 145वां (ब) 155 वां (स) 175वां (द) 178वां
2. देश के किस राज्य में अभी हाल ही में मोनोरेल सेवा का प्रचालन शुरू किया गया?
(अ) गुजरात (ब) दिल्ली (स) महाराष्ट्र (द) उत्तरप्रदेश
3. सेना को समर्पित भारत का पहला उपग्रह कौन सा  है?
(अ) जीसेट-12 (ब) जीसेट-7 (स) जीसेट-1 (द) जीसेट-8
4. राज्यसभा का सदस्य बनने के लिए न्यूनतम आयु कितनी होनी चाहिए?
(अ) 35 वर्ष की आयु (ब) 30 वर्ष की आयु (स) न्यूनतम आयु जो भारत के उपराष्ट्रपति के लिए वांच्छित है (द) 25 वर्ष की आयु  
5. भारत द्वारा पृथ्वी का कितने प्रतिशत सतह आच्छादित है?
(अ) 2.4 प्रतिशत (ब) 3.4 प्रतिशत (स) 4.4 प्रतिशत (द) 5.5 प्रतिशत
6. प्रथम पंचवर्षीय योजना का मुख्य उद्देश्य क्या नहीं था?
(अ) कृषि पर ध्यान केंद्रित करना (ब) तीव्र औद्योगीकरण (स) मूल्य स्थिरता (द) परिवहन
7. किस स्थान में 1857 ई. में भारतीय सिपाहियों ने सर्वप्रथम विद्रोह किया?
(अ) मेरठ (ब) दिल्ली (स) लखनऊ (द) बैरकपुर
8. छत्तीसगढ़ के दल्लीराजहरा की पहाडिय़ां किस खनिज अयस्क के लिए जानी जाती है?
(अ) बॉक्साइट (ब) चूने का पत्थर (स) लौह अयस्क (द) टिन  
9. डी-8 संगठन किस देश की पहल पर बना है?
(अ) ब्राजील की पहल पर (स) भारत की पहल पर (स) टर्की की पहल पर (द) रुस की पहल पर 
10. अंकटाड नाक संगठन का का प्रमुख कार्य है?
(अ) मानवाधिकार (ब) आपसी संबंध (स) सुरक्षा (द) व्यापार
11. विश्व बैंक कितनी संस्थाओं का समूह है?
(अ) पांच संस्थाओं का (ब) छ: संस्थाओं की (स) सात संस्थाओं का (द) आठ संस्थाओं का
12. भारत में निम्नलिखित में से कौन सा एक सबसे लंबा राष्टï्रीय राजमार्ग है?
(अ) एनएच-2 (ब)एनएच-7 (स) एनएच-8 (द) एनएच-31
13. टेलर घाटी अवस्थित है?
(अ) ऑस्ट्रेलिया में (ब) अंटार्कटिका में (स) कनाडा में (द) संयुक्त राज्य अमेरिका में 
14. क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा राज्य है?
(अ) बिहार (ब) पंजाब (स) राजस्थान (द) उत्तरप्रदेश
15. प्रजाति के बदले नृजाति समूह के प्रयोग का सुझाव किसने दिया है?
(अ) होबेल (ब) क्रोबर (स) स्पेंसर (द) हक्सले
16. संयुक्त राष्ट्र संघ के बाद विश्व का दूसरा सबसे बड़ा संगठन कौन सा है?
(अ) नाटो (ब) बिम्सटेक (स) नाम (द) राष्ट्रमंडल
17. चंद्रमा की सतह और उसकी समग्र सतह के कैमिकल मैपिंग का 3 डायमेंशनल एटलस तैयार करने के लिए निम्नलिखित में से कौन सा अंतरिक्ष यान छोड़ा गया था?
(अ) चंद्रयान-3 (ब) चंद्रयान-2 (स) चंद्रयान-1  (द)  पीएसएलवी-2
18. भारत ने निम्नलिखित में से किस देश के साथ करार किया ताकि अंतरराष्टï्रीय समुद्री सरहद रेखा पार करने वाले मछुआरों की समस्या से आसानी से निपटा जा सके?
(अ) बांग्लादेश (ब) श्रीलंका (स) पाकिस्तान (द) म्यांमार 
19. नेपाल का विशेष भू-राजनीतिक महत्व रहा है, क्योंकि यह देश?
(अ) पर्वतीय है (ब) चीनी एवं ब्रिटिश-राज्य का सीमावर्ती व मध्यवर्ती देश रहा है (स) यह एक अलग पर्वतीय देश है (द) यह हिमालय का वरद पुत्र है
20. पश्चिमी पाकिस्तान के प्रधान या ऐतिहासिक दर्रे के नाम है?
(अ) खैबर (ब) बोलम (स) गोमल (द) उपर्युक्त सभी 
21. निम्नलिखित में से कौन सा एक संवैधानिक निकाय है?
(अ) राष्टï्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग (ब) राष्टï्रीय अल्पसंख्यक आयोग (स) राष्टï्रीय महिला आयोग (द) योजना आयोग
22. निम्नलिखित में से किस एक क्षेत्र में असाधारण योगदान के लिए शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार प्रदान किया जाता है?
(अ) साहित्य (ब) निष्पादन कलाएं (स) विज्ञान (द) समाजसेवा
23. केसर मसाला बनाने के लिए पौधे का निम्नलिखित में से कौन सा भाग उपयोग में लाया जाता है?
(अ) पत्ती (ब) पंखुड़ी (स) ब्राह्यï दल (द) वर्तिकाग्र 
24. जीवों के विकास के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन सा अनुक्रम सही है?
(अ) ऑक्टोपस-डॉलफिन-शॉर्क (ब) पैन्गोलिन-कच्छप-बाज (स) सालामैन्डर-अजगर-कंगारू (द) मेंढक-केकड़ा-झींगा
25. मक्के की खेती किस मौसम में की जा सकती है?
(अ) खरीफ के मौसम में (ब) रबी के मौसम में (स) जायद के मौसम में (द) वर्ष भर
26. धूल प्रदूषण रोकने के लिए उपयुक्त वृक्ष है?
(अ) सीता अशोक (ब) महुआ (स) पॉपलर (द) नीम
27. मोमबत्ती निम्नलिखित में से किसका मिश्रण होता है?
(अ) पैराफिन मोम ओर स्टिऐरिक ऐसिड का (ब) मधु मोम और स्टिऐरिक ऐसिड का (स) अति वसामय ऐसिडों और स्टिऐरिक ऐसिड का (द) मधु मोम और पैराफिन मोम का
28. अंतरराष्टï्रीय व्यापार का प्रमुख प्रहरी कौन सा संगठन माना जाता है?
(अ) विश्व व्यापार संगठन (ब) दक्षिण एशियाई शिखर सम्मेलन (स) विश्व व्यापार संधि परिषद (द) विश्व आयात एवं निर्यात संगठन

सही जवाब- 1.(ब) 155 वां, 2.(स) महाराष्ट्र 3.(ब) जीसेट-7, 4.(ब) 30 वर्ष की आयु, 5.(अ) 2.4 प्रतिशत, 6.(ब) तीव्र औद्योगीकरण, 7.(द) बैरकपुर, 8.(स) लौह अयस्क, 9.(स) टर्की की पहल पर, 10.(द) व्यापार, 11.(अ) पांच संस्थाओं का,12.(स)एनएच-8, 13.(अ) ऑस्ट्रेलिया में, 14.(स) राजस्थान, 15.(द)हक्सले, 16.(स)नाम, 17.(स) चंद्रयान-1, 18.(ब) श्रीलंका, 19.(ब) चीनी एवं ब्रिटिश-राज्य का सीमावर्ती व मध्यवर्ती देश रहा है, 20.(द) उपर्युक्त सभी, 21.(अ) राष्टï्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग, 22.(स) विज्ञान, 23.(द) वर्तिकाग्र, 24.(स) सालामैन्डर-अजगर-कंगारू, 25.(अ)खरीफ के मौसम में, 26.(द) नीम, 27.(अ) पैराफिन मोम ओर स्टिऐरिक ऐसिड का, 28. (अ) विश्व व्यापार संगठन।
 


Date : 08-Dec-2019

पान एक बहुवर्षीय बेल है, जिसका उपयोग हमारे देश में पूजा-पाठ के साथ-साथ खाने में भी होता है। खाने के लिए पान पत्ते के साथ-साथ चूना कत्था तथा सुपारी का प्रयोग किया जाता है। ऐसा लोक मत है कि पान खाने से मुख शुद्ध होता है, वहीं पान से निकली लार पाचन क्रिया को तेज करती है, जिससे भोजन आसानी से पचता है। साथ ही शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है। भारत में पान की खेती लगभग 50 हजार  हैक्टेयर में की जाती है। इसके अतिरिक्त पान की खेती बांग्लादेश, श्रीलंका, मलेशिया, सिंगापुर,थाईलैण्ड, फिलीपिंस, पापुआ, न्यूगिनी आदि में भी सफलतापूर्वक की जाती है।
भारत वर्ष में पान की खेती प्राचीन काल से ही की जाती है। अलग-अलग क्षेत्रों में इसे अलग- अलग नामों से पुकारा जाता है। इसे संस्कृत में नागबल्ली, ताम्बूल हिन्दी भाषी क्षेत्रों में पान मराठी में पान/नागुरबेली, गुजराती में पान/नागुरबेली तमिल में बेटटीलई,तेलगू में तमलपाकु, किल्ली, कन्नड़ में विलयादेली और मलयालम में बेटीलई नाम से पुकारा जाता है। देश में पान की खेती करने वाले राज्यों में प्रमुख राज्य हैं-कर्नाटक , तमिलनाडु , ओडि़शा, केरल , पश्चिम बंगाल, असम (पूर्वोत्तर राज्य),महाराष्ट्र    , उत्तर प्रदेश , ,मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान।
 पान अपने औषधीय गुणों के कारण पौराणिक काल से ही प्रयुक्त होता रहा है। आयुर्वेद के ग्रन्थ सुश्रुत संहिता के अनुसार पान गले की खरास एवं खिचखिच को मिटाता है। यह मुंह के दुर्गन्ध को दूर कर पाचन शक्ति को बढ़ाता है, जबकि कुचली ताजी पत्तियों का लेप कटे-फटे व घाव के सडऩ को रोकता है। अजीर्ण एवं अरूचि के लिए प्राय: खाने के पूर्व पान के पत्ते का प्रयोग काली मिर्च के साथ तथा सूखे कफ को निकालने के लिये पान के पत्ते का उपयोग नमक व अजवायन के साथ सोने के पूर्व मुख में रखने व प्रयोग करने पर लाभ मिलता है।
 पान एक लताबर्गीय पौधा है, जिसकी जड़ें छोटी कम और अल्प शाखित होती है। जबकि तना लम्बे पोर, चोडी पत्तियों वाले पतले और शाखा बिहीन होते हैं। इसकी पत्तियों में क्लोरोप्लास्ट की मात्रा अधिक होती है। पान के हरे तने के चारों तरफ 5-8 सेमी0 लम्बी,6-12 सेमी0 छोटी लसदार जडें निकलती है, जो बेल को चढ़ाने में सहायक होती है।  आकार में पान के पत्ते लम्बे, चौड़े और अण्डाकार होते हैं, जबकि स्वाद में पान चबाने पर तीखा, सुगंधित और मीठापन लिए होता है।
 पान में मुख्य रूप से निम्न कार्बनिक तत्व पाए  जाते हैं, इसमें प्रमुख निम्न है:-

फास्फोरस                0.13                 0.61 प्रतिशत 
पौटेशियम                1.8                   36 प्रतिशत 
कैल्शियम                0.58                 1.3 प्रतिशत 
मैग्नीशियम               0.55                 0.75 प्रतिशत 
कॉपर              20-27 पी.पी.एम.          -
जिंक              30-35 पी.पी.एम.         -
शर्करा                       0.31-40 /ग्रा.          -
कीनौलिक यौगिक      6.2-25.3 /ग्रा.       -
पान में पाये जाने वाले बिटामिनों में ए,बी,सी प्रमुख है।
   


Date : 08-Dec-2019

वाशिंगटन विश्वविद्यालय शोधकर्ताओं ने के  दुनिया का सबसे तेज 2डी कैमरा विकसित किया है। यह कैमरा एक सेकेंड में 100 बिलियन तस्वीरें खींच सकता है और बायोमेडिसिन, खगोल विज्ञान और फोरेंसिक जैसे क्षेत्रों में व्यापक रुप से उपयोगी हो सकता है।
वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने लेजर से खींची गई चार तस्वीरों से एक फिल्म तैयार करने के लिए कंप्रेस्ड अल्ट्राफास्ट फोटोग्राफी (सीयूपी) तकनीक का इस्तेमाल किया। यह 2डी कैमरा कोडक या कैनन कैमरे की तरह नहीं है? यह उच्चस्तरीय सूक्ष्मदर्शी और दूरबीन के साथ काम करने वाले उपकरणों की एक श्रृंखला है। इसके इस्तेमाल से तीव्र गति से होने वाली प्राकृतिक, भौतिक और आकाशीय घटनाओं को रिकॉर्ड किया जा सकता है।
 इस कैमरे का इस्तेमाल फारेंसिक साइंस के क्षेत्र में भी किया जा सकता है। सीयूपी एक विशेष कैमरा लेंस के जरिए किसी वस्तु की तस्वीर खींचता है। इस वस्तु के फोटोंस का इस्तेमाल कर उसे ट्यूब के आकार की संरचना से डिजिटल माइक्रो मिरर तक का सफर तय कराया जाता है। इन माइक्रो मिरर का इस्तेमाल तस्वीर को एनकोड करने के लिए किया जाता है फिर फोटोंस को इलेक्ट्रोंस में बदला जाता है। चार्ज कप्लड डिवाइस (सीसीडी) इन नए आंकड़ों को इक_ा करता है।  वर्तमान में मौजूद इमेजिंग तकनीक बहुत सीमित है जिसकी साहयता से एक सेकेंड में केवल दस मिलियन तस्वीरें ही खींची जा सकती हैं।
 

 


Date : 08-Dec-2019

सीएनडी यानी कैम्पेन फॉर न्यूक्लियर डिसआर्मामेंटर । ब्रिटेन की राजनीति में सीएनडी को शांति आंदोलन का अगुआ माना जाता है। यह संगठन ऐसे सैन्य संघर्ष का विरोध करता है,जिसमें परमाणु रासायनिक या जैविक हथियारों का इस्तेमाल किया जाता है।  इसके साथ ही यह संगठन  दुनिया के सभी देशों से यह मांग भी करता है कि वे परमाणु हथिार का त्याग करें। यह संगठन नए परमाणु बिजली घर बनाने जाने के भी खिलाफ है। 
इस विचार की शुरुआत जे. बी. प्रैस्ली के एक लेख से हुई, जो 2 नवंबर, 1957 को न्यू स्टेट्समैन में प्रकाशित हुआ था। न्यू स्टेट्समैन के संपादक मार्टिन किंग्सले को इस लेख के पक्ष में ढेर सारे पत्र मिले। उन्होंने इससे प्रभावित होकर ऐसे लोगों की एक बैठक बुलाई , दो प्रैस्ली के विचार से सहमत थे। और यही से शुरू हुआ कैम्पेन फॉर न्यूक्लियर डिसआर्मामेंट की।  जहां तक इसके बेअसर होने का सवाल है, तो संगठन से जुड़े लोग ऐसा नहीं मानते हैं।  उनका कहा है यह आज भी सक्रिय है। यह संगठन सरकार पर दबाव बनाए रखता है और विभिन्न आयोजनों के माध्यम से लोगों में जागरुकतापैदा करता है। 


Date : 08-Dec-2019

सौर मंडल के आठ ग्रहों में बुध ग्रह सबसे तेज गति से घूमता है । इसे सूर्य का चक्कर लगाने में 88 दिन लगते हंै। इसकी औसत गति 47.36 किलोमीटर प्रति सैकंड है। 
इससे पहले यह दर्जा प्राप्त था प्लूटो को । प्लूटो सबसे छोटा ग्रह हुआ करता था।  वर्ष 2006 तक तो यही स्थिति थी, लेकिन पिछले साल अगस्त में खगोलशास्त्रियों के एक सम्मेलन में प्लूटो का ग्रह का दर्जा समाप्त कर दिया गया।  वर्ष 1930 में अमरीकी खगोलशास्त्री क्लाइड टांबांग ने सौरमंडल के सभी ग्रहों से सबसे दूर स्थित  प्लूटो की खोज की थी।  तभी से इसे ग्रह माना गया था।  अंतरराष्टï्रील खगोलशास्त्री संघ यानी आईएयू  के अगस्त 2006  में पारित प्रस्ताव के अनुसार अब सिर्फ आठ ग्रह बचे हैं- बुध, शुक्र पृथ्वी, वृहस्पति, शनि, यूरेनस और नेपच्यून। इस तरह से अब बुध सौर मंडल का सबसे छोटा ग्रह बन गया है।


Date : 08-Dec-2019

पेंग्विन एक पक्षी है, लेकिन वह उड़ नहीं सकती है। पेंग्विन नाम  वेल्स टर्म से लिया गया है। इसमें पेन का अर्थ होता है सिर और ग्विन का मतलब है सफेद।  यह एक ऐसा पक्षी है, जिसके पंख तो होते हैं, लेकिन उनके सहारे वह पानी में तैरता है। पेंग्विन अपने सीने की तरफ की हड्डïी और विशाल पैडल की मांसपेशियों के सहारे पानी में  25 मील प्रति घंटे की गति से अपना सफर तय कर लेती है।  पेंग्विन  छलांग लगाने में भी माहिर है।  पेंग्विन  पानी में ही अपना ज्यादातर जीवन गुजार देते हैं।  जब पानी में तैरते तैरते वे बोर होजाते हैं तो पानी में ही ठहर कर वह आराम कर लेते हैं।  इनकी हड्डिïयां मजबूत और वजनदार होती हैं और पंख वाटरप्रूफ होते हैं।  इसीलिए पानी में रहते हुए भी वे सूखे रहते हैं। 

फैरी नाम केे पेंग्विन  सबसे छोटे होते हैं। ये 16 इंच लंबे और 2.2. पाउंड वजन के होते हैं।  वहीं सबसे बड़े पेंग्विन  एम्पेरर पेंग्विन  होते हैं। इनकी लंबाई 3. 7 फीट तक होती है और वजन होता है 60 से लेकर 90 पाउंड।  पेंग्विन  की 18 जातियां पाई जाती हैं।  इनमें से पांच जातियां दक्षिण धु्रवीय  के आस-पास निवास करती है।  बाकी 13 प्रजातियां उप दक्षिण धु्रवीय द्वीपों में , ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और दक्षिण अमरीका के तटों पर रहती हैं।  पूरी दुनिया में पेंग्विनों की संख्या करीब 100 मिलियन है। 

पेंग्विन  को समूह में रहना पसंद है।  इनके समूह हो कोलोनीज या रुकरी कहा जाता है। मादा पेंग्विन  अपना घोंसला तट पर घास पर बनाती है।  उसके बाद नर पेंग्विन  अंडों को अपने पैरों के पास रखकर अपनी मोटी चर्बी वाली खाल से ढंककर सेते हैं। उस समय पेंग्विन  तट से दूर चले जाते हैं। दो महीने के बाद अंडों से छोटे-छोटे बच्चे निकलते हैं।  


Date : 07-Dec-2019

 1. डायमंडल रिंग की घटना कब होती है?
(अ) प्रत्येक पूर्णिमा के दिन (ब) प्रत्येक अमावस्या के दिन (स) सूर्यग्रहण के दिन (द) चंद्रग्रहण के दिन
2. सिजिगी क्या है?
(अ) सूर्य, पृथ्वी तथा चंद्रमा की एक ही सीधी रेखा में स्थिति (ब) सूर्य तथा चंद्रमा के बीच पृथ्वी (स) पृथ्वी के एक ही ओर सूर्य तथा चंद्रमा की स्थिति (द) सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी की समकोणिक स्थिति
3. पूर्ण सूर्यग्रहण के समय सूर्य का कौन सा भाग दिखाई देता है?
(अ)किरीट (ब)प्रकाशमंडल (स)वर्णमंडल(द)इनमें से कोई नहीं
4. मंडल पंचायतों की संस्तुति निम्नलिखित समिति के द्वारा की गई थी?  
(अ) अशोक मेहता समिति (ब)बलवंत राय मेहता समिति (स) नरसिम्हा समिति (द) सरकारिया समिति
5. इनमें से कौन सा कार्य ग्राम पंचायत का नहीं है?
(अ) स्वच्छता (ब) कृषि और ग्रामीण उद्योगों का विकास (स) गरीबों को राहत (द) सहकारिता
6.पंचायतों को सुपुर्द विषयों की सूची संविधान की किस सूची में शामिल की गई है?
(अ) ग्यारहवीं अनुसूची में है (ब) बारहवीं अनुसूची में है(स) सातवीं अनुसूची में है (द) राज्य अनुसूची में है
7. एक क्षेत्र पंचायत का क्षेत्र निर्धारित किया जाता है?
(अ) राज्य चुनाव आयोग द्वारा (ब) राज्य सरकार द्वारा (स) मंडल के आयुक्त द्वारा (द) जनपद के जिलाधिकारी द्वारा
8. निम्नलिखित में से कौन विद्युत अचुंबकीय है?
(अ) निकेल (ब) कोबाल्ट (स) क्रोमियम (द) तांबा
9. भारत के नियोजन काल में व्यापार संतुलन की दृष्टिï से कौन सा कथन सत्य है?
(अ) सभी वर्षों में अनुकूल रहा (ब) सभी वर्षों में प्रतिकूल रहा (स) केवल दो वर्षों में अनुकूल रहा(द)केवल दो वर्षों में प्रतिकूल रहा
10. निम्नलिखित में से किसका नाम अल्पतंत्र का लौह नियम के साथ जुड़ा हुआ है?
(अ) मिचेल्स (ब) मोस्का (स) मिल्स (द) लॉस्की
11. निम्नलिखित में से किसने जनमानस की अवधारणा दी है?
(अ) परेटो (ब) मोस्का (स) मिचेल्स (द) गासे
12. निम्नलिखित में से किस राज्य से राज्यसभा के लिए सबसे कम सदस्य निर्वाचित किए जाते हैं?
(अ)झारखंड (ब)छत्तीसगढ़ (स)जम्मू-कश्मीर (द) हिमाचल प्रदेश
13. किस दूत के द्वारा स्टेलेग्टाइट, स्टैलेग्माइट कंदरा स्तंभ आदि स्थलाकृतियों को निर्माण होता है?
(अ) हिमनद (ब) पवन (स) नदी (द) भूमिगत जल
14. ओल्ड फेथफुल गीजर, जो प्रत्येक 65 मिनट के अंतराल में फूटता है, किस देश में स्थित है?
(अ) न्यूजीलैंड (ब) आइसलैंड (स) आस्ट्रेलिया (द) संयुक्त राज्य अमेरिका
15. श्री अरबिन्दो आश्रम स्थित है?
(अ) तमिलनाडु (ब) कर्नाटक (स) रामेश्वरम् (द) पाण्डिचेरी
16. धु्रवों पर दिन कितने समय का होता है?
(अ) 12 घंटे (ब) 24 घंटे (स) 1 माह (द) 6 माह 
17. एटीएम का पूरा नाम क्या है?
(अ) ऑटोमैटिक टेलर मशीन (ब) ऑटोमेटिड टेलर मशीन (स) ऑटोमैटिक टैली मशीन (द) ऑटोमेटिड टैली मैकनिज्म
18. योजना आयोग का पदेन अध्यक्ष निम्नलिखित में से केवल एक हो सकता है, वह है?
(अ) योजना और विकास मंत्री (ब) गृहमंत्री (स) प्रधानमंत्री (द) वित्त मंत्री 
19. राष्टï्रीय मानवाधिकार आयोग के प्रथम अध्यक्ष निम्नलिखित में से कौन थे?
(अ) न्यायमूर्ति रंगनाथ मिश्रा (ब) न्यायमूर्ति फातिमा बीबी (स) न्यायमूर्ति एस.एस. कांग (द) न्यायमूर्ति वैंकटचलैया
20. गुरुदेव किसका उपनाम था?
(अ) गुरुदत्त (ब) महात्मा गांधी (स) मदनमोहन मालवीय (द) रबीन्द्रनाथ टैगोर
21. थर्मोस्टेट का क्या उपयोग किस क्षेत्र में होता है?
(अ) तापमान को नापना (ब) तापमान को बढ़ाना (स) तापमान को स्थिर रखना (द) ताप को विद्युत में बदलना
22. कमांडर नामक पद सेना के किस अंग में होता है?
(अ) नौसेना (ब) थलसेना (स) सेना के सभी अंगों में (द) वायुसेना
23. भारत में न्यूनतम आवश्यकताएं तथा निदेशित गरीबी विरोधी कार्यक्रम की अवधारणाएं योजना में शामिल की गई?
(अ) चौथी (ब) पांचवीं (स) छठी (द) सातवीं 
24. वर्ष 1956 की औद्योगिक नीति में उद्योगों को कितने वर्गों में बांटा गया?
(अ)दो वर्गों में (ब)तीन वर्गों में (स)चार वर्गों में(द)छह वर्गों में
25. यथार्थवादी सिद्घांत का प्रवर्तक कौन है?
(अ) मार्टन कैपलॉन (ब) हंस मोर्गेन्थो (स) मार्टन सूबिक (द) जॉन बर्टन
26. परमाणु ऊर्जा एक खनिज आधारित ऊर्जा स्रोत है, यह निकाली जाती है?
(अ) यूरेनियम से (ब) थोरियम से (स) प्लूटोनियम से (द) इनमें से सभी से 
27. भारत में खनिजोत्पादन की दृष्टिï से महत्वपूर्ण राज्य निम्नलिखित में से कौन-कौन से हैं?
(अ) पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, हिमाचल प्रदेश (ब) ओडि़सा, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश (स) बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडि़सा (द) कर्नाटक, गुजरात, राजस्थान 
---
सही जवाब- 1.(स) सूर्यग्रहण के दिन, 2.(अ) सूर्य, पृथ्वी तथा चंद्रमा की एक ही सीधी रेखा में स्थिति, 3.(अ)किरीट, 4.(अ) अशोक मेहता समिति, 5.(स) गरीबों को राहत, 6.(अ) ग्यारहवीं अनुसूची में है, 7.(अ) राज्य चुनाव आयोग द्वारा, 8.(द) तांबा, 9.(स) केवल दो वर्षों में अनुकूल रहा, 10.(स)मिल्स, 11.(स) मिचेल्स, 12.(द) हिमाचल प्रदेश, 13.(द) भूमिगत जल, 14.(द) संयुक्त राज्य अमेरिका, 15.(द) पाण्डिचेरी में, 16.(द) 6 माह, 17.(अ) ऑटोमैटिक टेलर मशीन, 18.(स) प्रधानमंत्री, 19.(अ) न्यायमूर्ति रंगनाथ मिश्रा, 20.(द) रबीन्द्रनाथ टैगोर, 21.(अ) नौसेना, 22.(अ) मैगस्थनीज, 23.(स)छठी, 24.(ब) तीन वर्गों में, 25.(ब) हंस मोर्गेन्थो, 26.(द) इनमें से सभी से, 27.(स) बिहार, पश्चिम बंगाल,ओडि़सा।
 


Date : 07-Dec-2019

चिनगुन सराय जैसा कि नाम से जाहिर है , एक सराय है। यह सराय जम्मू शहर से 130 किलोमीटर दूर नौशेरा और राजौरी के बीच स्थित है। इसका निर्माण मुगल काल में किया गया था। इसे ईरान के एक आर्किटेक्ट ने बादशाह जहांगीर के शासन काल में बनाया था। 
मुगल शासन के दौरान लगभग 200 वर्षों तक यह सराय मुगल कारवां के ठहरने को उपयुक्त स्थान के रूप में बनी रही। अपनी बनावट और संरचना से यह सराय अपने महत्व को स्थापित करती है। चिनगुस शब्द पारसी भाषा से लिया गया है, जिसका अर्थ है- गुत या आंत।
वर्ष 1627 में मुगल शासक जहांगीर जब राजौरी के खानपुर गांव से गुजर रहे थे तब वह गंभीर रूप से बीमार पड़ गये और चल बसे। बादशाह के साथ उपस्थित रानी नूरजहां ने उत्तराधिकार की संभावित लड़ाई से बचने के लिए इस खबर को छुपाने का फैसला लिया। यह तय हुआ कि मृत शरीर को लाहौर में दफनाया जाएगा। बादशाह जहांगीर के शव को यात्रा के दौरान खराब होने की संभावना से, शरीर से विसरा अलग करने और यात्रा शिविर के पास ही दफनाने का निर्णय लिया गया। शरीर के भीतरी भाग को दफनाने के बाद ही इस सराय का नाम चिनगुस पड़ गया तब से ही खानपुर गांव को चिनगुस नाम से जाना जाता है। बादशाह की मौत को छुपाने के लिए शव को एक हाथी पर रख दिया गया और दफनाने के लिए लाहौर ले जाया गया। ऐसी धारणा है कि जिस वैद्य या चिकित्सक ने मृत शरीर से विसरा निकाला था उसे भी सराय में ही दफना दिया गया था।
इस सराय के बीचों-बीच एक छोटी मस्जिद है। मस्जिद के मार्ग में स्थित एक गलियारे में बादशाह की कब्र पर एक संगमरमर का गुम्बद बनाया गया है। किले की संरचना में बड़ी-बड़ी सेनाओं के ठहराने की व्यवस्था, अनेक घुड़शाला और भोजन स्थल इन ईटों की दीवारों के पीछे छुपे हैं। धीमी गति से ही सही अधिकारियों ने इस शाही सराय के महत्व को पुनर्जीवित करने का काम शानदार ढंग से पूरा किया है और इस प्राचीन मार्ग पर स्थित अन्य स्?मारकों का भी जीणोद्धार किया है।
जम्मू कश्मीर सरकार ने 1984 में चिनगुस सराय को राज्य संरक्षित स्मारक घोषित किया। सरकार अब तक 93.80 करोड़ रुपये इसके नवीनीकरण और संरक्षण कार्यों पर खर्च कर चुकी है और शेष कार्यों को जल्द निपटाने का प्रयास किया जा रहा है। पर्यटन विभाग ने 1990 की शुरुआत में सराय के पास कुछ झोपडिय़ों का निर्माण कराया था। इनका प्रयोग पर्यटकों के लिए नहीं किया जा रहा है। पर्यटकों की रूचि बढऩे के साथ ही संबंधित अधिकारी इस स्थल के प्राचीन गौरव को वापस लाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। जम्मू कश्मीर पर्यटक विकास निगम ने पर्यटकों की रूचि बढ़ाने के लिए कारवां पर्यटन योजना शुरू की है, जिससे मुगल कालीन मार्ग के ऐतिहासिक गौरव को लौटाया जा सके।
 

 


Date : 07-Dec-2019

मोबाइल की आज की दुनिया में भले ही एसटीडी यानी सब्सक्राइबर ट्रंक डायल का कोई मतलब नहीं रह गया है, लेकिन एक जमाना था जब लंबी दूरी के टेलिफोन करने के लिए यह सेवा किसी वरदान से कम नहीं थी। दुनिया में एसटीडी सेवा 5 दिसंबर , 1955 में अस्तित्व में आई।
ब्रिटेन की महारानी ने ब्रिस्टल से एडिनबरा में सीधे फोन किया था।  पहली बार इतनी लंबी दूरी का फोन कॉल हो पाया था और वह भी इतना तेज। इसके साथ ही 5 दिसंबर 1955 को एसटीडी की शुरुआत हुई। इसके पहले ट्रंक कॉल यानी दूसरे शहर में फोन करने की सुविधा टेलिफोन एक्सचेंज के पास ही होती थी। एसटीडी के जरिए यह सुविधा ग्राहकों तक पहुंच गई। इसके लिए हर शहर के एक्सचेंज का एक कोड बनाया गया और ग्राहकों को फोन नंबर के पहले उस कोड को डायल करना होता था। 
पहला एसटीडी फोन कॉल भले ही 1955 में हो गया लेकिन पूरा तंत्र बनाने में काफी वक्त लगा और 1979 में ही यह ब्रिटेन में पूरी तरह से लागू हो सका।  इसी सेवा का विस्तार कर 1963 में लंदन और पैरिस के बीच बातचीत हुई तो इंटरनेशनल डायरेक्ट डायलिंग अस्तित्व में आई।  इसके बाद इंटरनेशलन सब्सक्राइबर डायलिंग शुरू हुई।