छत्तीसगढ़ » बस्तर

Date : 10-Feb-2020

महारानी अस्पताल में सभी प्रकार की सुविधा लोगों को मिले इसके लिए संवेदनशील मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा प्रथम चरण में महारानी अस्पताल में ओपीडी और आपातकालीन सेवा की शुरुआत की-विधायक रेखचंद जैन

जगदलपुर, 10 फरवरी। जगदलपुर के विधायक रेखचंद जैन ने कहा कि महारानी अस्पताल में सभी प्रकार की सुविधा लोगों को मिले इसके लिए संवेदनशील मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा प्रथम चरण में महारानी अस्पताल में ओपीडी और आपातकालीन सेवा की शुरुआत की है अति शीघ्र और कई प्रकार की सुविधा मुख्यमंत्री के निर्देश के अनुसार महारानी अस्पताल में मिलना प्रारंभ हो जाएगा। 

महारानी अस्पताल में सुलभ शौचालय के लोकार्पण के अवसर पर विधायक जैन ने आगे कहा कि पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने महारानी अस्पताल का बंटाधार कर दिया था जिसे जनता के आशीर्वाद और सहयोग से तथा संवेदनशील मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की दृढ़ इच्छाशक्ति से फि र अपने स्वरूप में महारानी अस्पताल में स्वास्थ सुविधा प्रारंभ हुई है आगे भी और सुविधाएं प्रारंभ होगी जिससे महारानी अस्पताल सर्व सुविधा युक्त हो। 

महारानी अस्पताल में सुलभ शौचालय का लोकार्पण विधायक रेखचंद जैन, महापौर सफ ीरा साहू लोक निर्माण विभाग के सभापति यशवर्धन राव जल कर्म विभाग सभापति उदयनाथ जेम्स महिला एवं बाल विकास विभाग सभापति सुशीला बघेल मोतीलाल नेहरू वार्ड के पार्षद आलोक अवस्थी एवं कुशाभाऊ ठाकरे वार्ड की पार्षद सुनीता सिंह ने फीता काटकर किया।इस दौरान मोतीलाल नेहरू वार्ड के पार्षद आलोक अवस्थी ने महारानी अस्पताल के नए स्वरूप के लिए विधायक रेखचंद जैन को बधाई प्रेषित की। कार्यक्रम का संचालन लोक निर्माण विभाग सभापति यशवर्धन राम ने किया। इस दौरान लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता श्री दत्ता एवं सहायक अभियंता गोपाल भारद्वाज मुकेश साहू सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।


Date : 10-Feb-2020

बस्तर सर्व समाज ने हर्षोल्लास से मनाया भूमकाल स्मृति दिवस

छत्तीसगढ़ संवाददाता
जगदलपुर, 10 फरवरी।
बस्तर के मूल निवासियों द्वारा सोमवार को भूमकाल स्मृति दिवस की 110 वीं वर्षगांठ धूमधाम के साथ मनाई गई। गीदम रोड स्थित गुण्डाधूर पार्क में समाज के लोग एकत्रित हुए और भूमकाल के महानायक वीर शहीद गुण्डाधूर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धाजंलि अर्पित की। इसके बाद रैली निकाली गई, जो शहर के मुख्य मार्गों से होते हुए गोलबाजार पहुंचीं। इमली पेड़ में डेबरीधूर को श्रद्धाजंलि देने के बाद रैली दंतेश्वरी मंदिर के सामने टॉउन क्लब प्रांगण पहुंचकर सभा के रूप में तब्दील हुई। इस दौरान संभागायुक्त को एक ज्ञापन भी समाज के लोगों ने सौंपा। 

टॉऊन क्लब प्रांगण में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि आज के ही दिन 10 फ रवरी 1910 को बस्तर के विभिन्न समाजों के वीर शहीदों ने अपने हक तथा अंग्रेजी हुकुमत से तंग आकर संघर्ष करते अपने प्राणों की आहुति दी थी। 

भूमकाल की इस लड़ाई में वीर शहीद गुण्डाधुर महानायक थे। उन्होंने बस्तर के लोगों को एकजुट कर अंग्रेजों का विरोध किया। इस दौरान अंग्रेजी हुकूमत ने 51 लोगों को कारावास की सजा दी थी। इसमें आजीवन तथा एक से लेकर ग्यारह वर्ष तक का कठोर करावास की सजा शामिल था। उन्होंने कहा कि बस्तर की हित के लिए अब भी समाज के लोगों को एकजुट होकर लड़ाई लडऩे की आवश्यकता है। इस दौरान बड़ी संख्या में विभिन्न समाज के लोग मौजूद थे।


Date : 10-Feb-2020

प्रख्यात गीतकार और संगीतकार ए. अजीत के मार्गदर्शन में बस्तर​ के विभिन्न दर्शनीय स्थलों में होली पर आधारित गीतों का फिल्मांकन 

जगदलपुर, 10 फरवरी। बस्तर के विभिन्न दर्शनीय स्थलों में इन दिनों होली पर आधारित गीतों का फिल्मांकन किया जा रहा है। शहर के प्रख्यात गीतकार और संगीतकार ए. अजीत के मार्गदर्शन में बन रहे तीन एल्बम में बस्तर के कई कलाकार अपनी भूमिका अदा कर रहे हैं। इस एलबम के निर्माता लखी सुंदरानी, संगीतकार गोलू गगन, संगीत संयोजक अखिल राजा परिकल्पना रजन पवार और संयोजक बंधन दास हैं। 


Date : 10-Feb-2020

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय ने विश्वकर्मा आध्यात्मिक स्नेह मिलन कार्यक्रम का शुभारंभ किया 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
जगदलपुर, 10 फरवरी।
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा पावन धाम वृंदावन कालोनी जगदलपुर में विश्वकर्मा आध्यात्मिक स्नेह मिलन कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्जवलित कर किया गया। इस अवसर पर स्वर्णकार समाज के अध्यक्ष भ्राता राजेश सोनी जी, विश्वकर्मा समाज के अध्यक्ष भ्राता डायमण्ड शर्मा उपस्थित हुए एवं शुभकामनाएं दी। 

इस अवसर पर संस्था की संचालिका ब्रह्माकुमारी मंजूषा बहन ने उपस्थित अतिथियों को सम्बोधित कर स्वागत द्वार व्यक्त किये तथा राजयोग का अभ्यास कराया और विश्व नव निर्माण के कार्य में परमात्मा के सहयोगी बनने के लिए राजयोग को अपने जीवन में अपनाने के लिए मार्गदर्शन दिया। 

 माउण्ट आबू से पधारे राजयोगी बीके कीर्ती भाई ने कहा कि जिस भगवान को आप मंदिरों में पूजते हैं उस भागवन का परिचय तीन शब्दों अमर, अकबर, एन्थोनी के रूप में दिया। अमर का अर्थ वह जो कभी मरता नहीं, भगवान की समाधि कभी बन नहीं सकती, अल्लाहू अकबर, अल्लाहू याने जो अकबर होता है जो कभी कब्र में नहीं आता, एन्थोनी का अर्थ है जिसका कोई एण्ड नहीं होता है। भगवान वह शक्ति है जो अमर है अकबर है और एन्थोनी है उनसे जो जुड़ते हैं तो उनका जीवन भी प्रकाशवान हो जाता है। स्वर्णिम दुनिया के संस्कार आप निर्माण कर सके इसके लिए आप यहां आये हैं। हमारा जीवन हीरे तुल्य हो, इस दुनिया में जब हम आये तो रोते रोते आये थे। हमारा जीवन सार्थक तब है जब हम जाये ंतो हंसते हंसते जाये। आज विश्वकर्मा को लोग मानते है पूजते हैं आज तक उनको भूल नहीं पाये हैं। यदि हमें गवन्र्मेंट रूल्स, स्कीम पता है तो हम उसका लाभ ले सकते है। इस ईश्वरीय विश्व विद्यालय की स्कीम है जीवन को हीरे तुल्य बनाना। आप भी अपना जीवन विश्वकर्मा समान हीरे तुल्य बनायें और अपने समाज से जुड़े हुए लोगों को हीरे तुल्य जीवन से जोडऩे की कोशिश करें। आगे उन्होंने कहा कि विश्वकर्मा समान श्रेष्ठ बनने के लिए अपने जीवन में कर्म और भावना का संतुलन रखने पर विशेष ध्यान खिंचवाया।    


Date : 10-Feb-2020

महापौर सफीरा साहू का लगातार वार्डों का दौरा जारी, समस्याओं से हो रहीं रूबरू

छत्तीसगढ़ संवाददाता
जगदलपुर,10 फरवरी।
महापौर सफीरा साहू का वार्डों का दौरा लगातार जारी है। इसी तारतम्य में शहर के गुरूगोविन्द सिंह वार्ड का पैदल भ्रमण कर लोगों की समस्या से अवगत हुये।

 जिसपर सर्वप्रथम वार्ड में महिलाओं ने महापौर को फूल देकर किया स्वागत। साथ ही वार्ड के लोगों ने नाली बनाने, सड़क बनाने तथा लाइट की मांग रखी। महापौर ने संबंधित अधिकारी से चर्चा कर समस्या का समाधान करने की बात कही। वार्ड भम्रण के दौरान महापौर ने वार्ड के सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय में पहुंचकर बच्चों व शिक्षकों से मिलकर उनसे चर्चा की। साथ ही प्राथमिक शाला अघनपुर स्कूल पहुंच बच्चों से मिलकर हालचाल जाना।


Date : 09-Feb-2020

धान खरीदी, भाजपा के बयानों पर कांग्रेस ने की टिप्पणी, प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा- 15 साल तक मुख्यमंत्री रहे डॉ. रमन सिंह ने तब किसानों की बिगड़ती आर्थिक स्थिति, खराब होती फसल और कर्ज में दबे किसानों की आत्महत्या की घटना के बाद कभी आंखों से आंसू नहीं बहाया था

छत्तीसगढ़ संवाददाता
जगदलपुर, 9 फरवरी।
 धान खरीदी पर भाजपा के बयानों पर कांग्रेस ने कड़ी टिप्पणी की है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा है कि 15 साल तक मुख्यमंत्री रहे डॉ. रमन सिंह ने तब किसानों की बिगड़ती आर्थिक स्थिति, खराब होती फ सल और कर्ज में दबे किसानों की आत्महत्या की घटना के बाद कभी आंखों से आंसू नहीं बहाया था। उस समय  प्रदेश कांग्रेस  अध्यक्ष रहते वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों के दर्द को, उनकी बेबसी को, उनकी लाचारी को नजदीक से देखा है और लगातार सड़क से लेकर सदन तक पूर्व की रमन सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ  किसानों के हक की लड़ाई लड़ते रहे। इसका ही परिणाम है कि 15 साल तक किसानों का शोषण करने वाली, किसानों पर अत्याचार करने वाले, किसानों के साथ धोखा, छल करने वाली रमन सरकार को छत्तीसगढ़ की जनता ने सत्ता से बेदखल कर दिया। 

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार किसानों के प्रति संवेदनशील है, जागरूक है। इसका ही परिणाम है कि शपथ ग्रहण के तत्काल बाद किसानों का कर्ज माफ ी की घोषणा होती है और धान का 2500 रू. दाम दिया जाता है, दूसरी बार 2500 रू.देने में अड़ंगा लगाने वाले केंद्र की मोदी सरकार के साथ खड़े पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह किस मुंह से खुद को किसानों का शुभचिंतक बताकर घडिय़ाली आंसू बहा रहे हैं । भाजपा के छत्तीसगढ़ के नेता, किसानों के हम दर्द होने का स्वांग रच रहे हैं। धान खरीदी के लिये प्रदेश सरकार संकल्पित है। 2500 रू धान का दाम, कांग्रेस की सरकार ने पिछले साल दिया। इस साल हमें केन्द्र सरकार द्वारा देने से रोका गया। कांग्रेस की सरकार पूरी तरह से कटीबद्ध है। लेकिन बारिश के बावजूद यदि सरकार पूरी व्यवस्था कर रही है तो विपक्षी दल को राजनीति करने के बजाय सहायता करनी चाहिए। 

 


Date : 09-Feb-2020

मुख्यमंत्री की मासिक रेडियोवार्ता लोकवाणी ने परीक्षा तैयारी पर विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ाया, जगदलपुर की स्कूलें लाभान्वित

छत्तीसगढ़ संवाददाता
जगदलपुर, 9 फरवरी।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मासिक रेडियोवार्ता लोकवाणी की सातवीं कड़ी ने परीक्षा के तैयारी में जुटे बच्चों के मनोबल को बढ़ाया। मुख्यमंत्री के रेडियोवार्ता लोकवाणी को बस्तर जिले में उत्साहपूर्वक सुना गया। परीक्षा प्रबंधन और युवा कैरियर पर केन्द्रित लोकवाणी की सातवीं कड़ी को सुनने के लिए स्कूली बच्चों में खासा उत्साह देखा गया। लोकवाणी को सुनने के लिए सभी आश्रम-छात्रावास और स्कूलों में बच्चों में तैयारियां कर रखी थीं। 

कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय नेगीगुड़ा जगदलपुर के छात्रावास की अधीक्षिका शोभारानी ठाकुर एवं विद्यार्थियों ने लोकवाणी की सराहना की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वार्तालाप शैली में बहुत ही सहज रूप से विद्यार्थियों से सीधे सवांद कर पूरी आत्मीयता के साथ उनके प्रश्नों का जवाब दिया है। मुख्यमंत्री के तार्किक एवं सारगर्भित जवाबों से विद्यार्थियों के मनोबल बढ़ाने के साथ उनमें उत्साह एवं आत्मविश्वास का भी संचार होगा। 

अधीक्षिका श्रीमती ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वार्षिक परीक्षा के ठीक पहले लोकवाणी कार्यक्रम में विद्यार्थियों से जुड़े विषय को शामिल कर वास्तव में प्रदेश के मुखिया और अभिभावक की भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का आज का प्रसारण बहुत ही रोचक प्रेरणास्पद एवं  ज्ञानवद्र्धक था। 

 कस्तूरबा गांधी  बालिका आवासीय विद्यालय की कक्षा सातवीं की छात्रा धनेश्वरी व छटवीं की छात्रा धनमती नाग ने मुख्यमंत्री के संदेश की प्रशंसा की। 

दसवीं की छात्रा प्रीति कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश  बघेल ने लोकवाणी के माध्यम से हम विद्यार्थियों की पढ़ाई लिखाई, रोजगार, युवा महोत्सव के आयोजन के साथ साथ विद्यार्थियों एवं युवाओं के कल्याण हेतु किये जा रहे कार्यों तथा राज्य सरकार की प्राथमिकताओं की जानकारी देकर निश्चित रूप से विद्यार्थियों में आशा एवं विश्वास जगाया है।


Date : 09-Feb-2020

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने रविवार को गुणात्मक पद संचलन निकाली 

जगदलपुर। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ द्वारा रविवार को गुणात्मक पद संचलन निकाली गई। जो राजमहल परिसर से निकलकर नगर के गुरूनानक चौक से मेनरोड गोल बाजार जयस्तंभ चौक से पाश्वनाथ चौक से चांदनी चौक संजय बाजार हनुमान मंदिर चौक से होते हुए राजमहल परिसर पहुंची। स्वयंसेवक हाथों में दण्ड लिये पोशाक के साथ पदसंचलन करते चल रहे थे। राजमहल परिसर में पदसंचलन के बाद बौद्धिक कार्यक्रम के अंतर्गत विभाग प्रचारक यज्ञ सिंह ने स्वयं सेवकों को चीन युद्ध के समय सरकार के आग्रह पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ द्वारा किये गये कार्यों के संबंध में विस्तार से बताया। 


Date : 09-Feb-2020

राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा शहर के 8 परीक्षा केंद्रों में आयोजित, 3170 परीक्षार्थी शामिल 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
जगदलपुर, 9 फरवरी।
छग राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा शहर के 8 परीक्षा केंद्रों में रविवार को आयोजित हुई। कुल 3818 परीक्षार्थियों में से 3170 परीक्षार्थी परीक्षा मेंं शामिल हुए। हम एकेडमी केंद्र के परीक्षार्थी परीक्षा केंद्र ढंूढने के लिए परेशान होते नजर आये। नये भवन में स्थानान्तरित होने के कारण समय पर परीक्षा केंद्र नहीं पहुंच सके। 

कुछ परीक्षार्थियों ने हम ऐकेडमी में प्रवेश के दौरान परेशान किये जाने की शिकायत की। सुबह से लगातार हो रही रिमझिम बारिश के चलते भी परीक्षार्थी परेशान नजर आये। परीक्षार्थियों ने प्रश्र पत्र को औसतन बताया। 

परीक्षार्थियों की उपस्थिति के संबंध में जानकारी देते हुए नोडल अधिकारी माधुरी सोम ने बताया कि शासकीय काकतीय पीजी कॉलेज परीक्षा केंद्र में कुल 500 परीक्षार्थियों में से प्रथम पाली में 419 व द्वितीय पाली में 416 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए। इसी तरह शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय केंद्र में कुल 500 में से प्रथम पाली में 424 और दूसरे पाली में 421। हम ऐकाडमी केंद्र में कुल 718 परीक्षार्थियों में से 597 और दूसरे पाली में 591 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए।

शासकीय महारानी लक्ष्मी बाई कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल केंद्र में कुल 500 में से 406 और दूसरी पाली में 404, शासकीय कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल क्रं 2 के कुल 500 परीक्षार्थियों में से प्रथम पाली में 418 और दूसरी पाली में 412, शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल रेलवे कालोनी केंद्र में कुल 300 परीक्षार्थियों में से प्रथम पाली में 249 और दूसरी पाली में 247 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए।

 प्रथम पाली में सामान्य अध्ययन प्रश्रपत्र सुबह 10 से 12 बजे के बीच आयोजित हुआ। इस सामान्य अध्ययन प्रश्रपत्र में उर्वरक के रूप में कौन जैव उपयोग होता है। जग्गनाथ पुरी मंदिर के गर्भगृह में भगवान जग्गनाथ, सुभद्रा एवं बलभद्र की मूर्तियां किसकी बनी है, न्यूटन के गति का पहला नियम कौन सा है, जीएसटी में कौन सा कर शामिल नहीं किया गया है। किसी भी प्रजाति में गुरूसूत्र की संख्या आयु के साथ घटती, बढ़ती है या स्थिर रहती है। भारत में गिद्धों की घटती संख्या का मुख्य कारण क्या है। कम्प्यूटर में लगने वाली चीप कौन सी धातु की बनी होती है। प्लास्टर आफ पेरिस किस वस्तु से बना होता है। इसी तरह दूसरी पाली में हुई परीक्षा में योग्यता पर आधारित प्रश्रपत्र में गणित के सवालों के साथ ही छत्तीसगढ़ी के कहावत भी पूछे गये थे। जिनमें दही के भोरहा मही बताये, धान कोठी में कौन सा समास है, अस्वस्थ होना के लिए छत्तीसगढ़ी मुहावरा क्या है, जैसे प्रश्र पूछे गये थे। 


Date : 09-Feb-2020

पूर्व विधायक संतोष बाफना ने मेडिकल कॉलेज तक नि:शुल्क सिटी बस चलाने भूपेश सरकार से  की मांग

छत्तीसगढ़ संवाददाता
जगदलपुर, 9 फरवरी।
पूर्व विधायक संतोष बाफना ने मेडिकल कॉलेज तक नि:शुल्क सिटी बस चलाये जाने की मांग की है। बस्तर संभाग के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराये जाने के उद्देश्य से बस्तरवासियों की वर्षों पुरानी मांग को देखते हुए ही भाजपा शासनकाल के दौरान जगदलपुर (डिमरापाल) में स्व. बलीराम कश्यप मेडिकल कॉलेज की स्थापना की गई थी। 

जगदलपुर शहर से मेडिकल कॉलेज तक की दूरी लगभग 9 किलोमीटर होने कारण लोगों को आवागमन में किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत न हो इसलिए कई सिटी बसें मेडिकल कॉलेज मार्ग से होते हुए अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में भी जाया करती थी। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले आम यात्रियों के अलावा खासकर मरीजों को भी काफ ी राहत मिल रही थी और मेडिकल कॉलेज तक पहुंचने के लिए किराया भी कम लगता था। ऐसे में क्षेत्र के नागरिकों को हो रही परेशानी पर चिंता करते हुए पूर्व विधायक संतोष बाफना ने प्रदेश के भूपेश बघेल को पत्र लिखकर समस्या से अवगत कराने का प्रयास किया है। 

उन्होंने पत्र में लिखा है कि, सिटी बस का संचालन बंद होने से मरीजों को अब जगदलपुर से डिमरापाल मेडिकल कॉलेज तक आने जाने के लिए तिपहिया वाहनों में परेशान होना पड़ता है। टैक्सी किराया के रूप में बड़ी राशि भी खर्च करनी पड़ती है। आज की तारीख में जगदलपुर वासियों के बीच यह मांग उठने लगी है कि, वर्तमान सरकार की ओर से मेडिकल कॉलेज तक कम से कम दो नि:शुल्क सिटी बस सेवा का संचालन पुन: किया जाना चाहिए। जिससे मरीजों व उनके परिजनों को काफी राहत मिल सकती है। इसके अलावा पूर्व विधायक संतोष बाफना ने मेडिकल कॉलेज डिमरापाल में वर्तमान एमबीबीएस की सीट 150 और वहीं पीजी करने वाले डॉक्टरों के लिए महज 30 सीट है।  इसे बढ़ाने का भी निवेदन करते हुए लिखा है कि, यदि इस दिशा में भी वर्तमान सरकार के द्वारा कदम उठाया जाए तो बस्तर संभाग की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को और भी बेहतर बनाया जा सकता है।
        


Date : 09-Feb-2020

गुरुनानक स्कूल में आयोजित विशेष अरदास में विधायक व शहर अध्यक्ष शामिल हुए

जगदलपुर, 9 फरवरी। गुरुनानक स्कूल में आयोजित विशेष अरदास में विधायक रेखचंद जैन व शहर अध्यक्ष राजीव शर्मा शामिल हुए। इस दौरान गुरुनानक देव जी का पाठ भी किया गया। विधायक रेखचंद जैन व शहर अध्यक्ष राजीव शर्मा ने बस्तर की खुशहाली के लिए गुरु ग्रंथ साहिब के समक्ष मत्था टेका। गुरुनानक स्कूल प्रबंधन द्वारा विधायक व अध्यक्ष को शाफ ा भेंटकर सम्मानित किया, जिसके लिए विधायक व अध्यक्ष ने स्कूल प्रबंधन का आभार व्यक्त किया। विधायक रेखचंद जैन ने इस दौरान सातवें गुरु हरदास जी की जयंती व गुरुनानक स्कूल के पच्चीस वर्ष पूरी  होने पर लोगों को बधाई दी और गुरुनानक पब्लिक स्कूल की तारीफ  करते हुए कहा कि आगामी दिनों में यह उच्च शिक्षा की ओर अग्रसर हो, इसकी कामना भी की।


Date : 09-Feb-2020

जगदलपुर, इंद्रावती बचाओ जनजागरण सदस्यों  के शुरू किये गए दलपत सागर सफाई अभियान के आज 100 दिन पूरे 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
जगदलपुर, 9 फरवरी।
इंद्रावती बचाओ जनजागरण अभियान सदस्यों के द्वारा शुरू की गई दलपत सागर सफ ाई अभियान को आज 100 दिन पूरे हो गए। इन 100 दिनों में लगातार दलपत सागर में इंद्रावती बचाओ जन जागरण अभियान के सदस्यों ने साफ -सफ ाई की और जलकुंभियों को निकालने का काम किया।

गत 19 जनवरी को जिले के जनप्रतिनिधियों और नगर की प्रथम महिला सफि रा साहू को ज्ञापन के माध्यम से दलपत सागर के लिए विशेष योजना बनाए जाने पर चर्चा की गई थी, लेकिन अब तक इस तरफ  कोई विचार विमर्श या योजना निगम द्वारा तैयार नहीं किया गया  है। हालांकि यह आश्वासन दिया गया है कि जलकुंभी को साफ  करने के लिए मशीन की खरीदी की गई है। मशीन कब आयेगी यह अभी तक स्पष्ट नहीं किया गया है। दूसरी ओर जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन सौंपने के दूसरे दिन 20 जनवरी से दूसरे चरण के तहत लगातार अभियान के सदस्य दलपत सागर की सफ ाई में जुटे हुए हैं। 
अभियान के सदस्य सुबह 6 बजे अपने संसाधनों के माध्यम से जलकुम्भियों को निकाल रहे हैं। प्रतिदिन निगम की सफ ाई शाखा की वाहनें इन जलकुम्भियों उठा कर दूसरी जगह स्थानांतरित कर रही है। र्रविवार 9 फ रवरी को अभियान ने 100 दिन पूरे कर लिए और इस बीच अभियान को किसी प्रकार का प्रशासनिक या जनसहयोग नहीं मिल पाया। लिहाजा जनजागरण के उद्देश्य से अभियान को निरंतर जारी रखने का निर्णय लिया गया है। 

अभियान के सदस्यों का कहना है की बस्तर का नागरिक होने के नाते यह हमारा कर्तव्य बनता है कि हम हमारे धरोहरों को संरक्षण करें इसी उद्देश्य को लेकर पिछले 100 दिनों से जनजागरण अभियान चलाया जा रहा है। सदस्यों का मानना है कि इतने बड़े सागर की सफ ाई करना अभियान के सदस्यों की बस की बात नहीं है। अगर शासन-प्रशासन मदद को आगे आए तो दलपत सागर एक माह में ही अपने मूर्त स्वरूप में आ जाएगी। इसके अलावा सदस्यों ने पुन: नगर निगम से यह मांग रखी है कि शहर का सीवरेज सिस्टम का गंदा पानी दलपत सागर में आने से रोका जाए, गंदे पानी की वजह से दलपत सागर में जलकुंभी फ ल फ ूल रहे हैं।