दुर्ग

ग्रामीण क्षेत्रों में अवैध मुरूम उत्खनन, शिकायतों के बाद भी कार्रवाई नहीं, ग्रामीणों में रोष
01-Mar-2021 5:41 PM 42
ग्रामीण क्षेत्रों में अवैध मुरूम उत्खनन, शिकायतों के बाद भी कार्रवाई नहीं, ग्रामीणों में रोष

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 1 मार्च।
विभिन्न प्रकार के निर्माण कार्यों को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में धड़ल्ले से अवैध उत्खनन किए जा रहे हैं। जिला पंचायत की पिछली सामान्य सभा बैठक में भी यह मुद्दा जोर-शोर से सदस्यों ने उठाया था। अवैध उत्खनन की शिकायतों पर लगाम नहीं लगने से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। वहीं विभागीय अधिकारियों का दावा है कि लगातार दबिश देकर विभाग द्वारा कार्रवाई की जा रही है। 

दुर्ग ग्रामीण, पाटन, धमधा  क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों में अवैध उत्खनन की लगातार शिकायतें मिलती रही है। जिला पंचायत की सामान्य सभा बैठक में यह मुद्दा उठने पर विभागीय अधिकारी ने सीमित संसाधन के बीच लगातार विभागीय कार्रवाई जारी रहने की बात कही थी। ग्रामीण क्षेत्र में भी कई ग्रामों में अवैध रूप से मुरूम उत्खनन कर परिवहन किये जाने की शिकायतें अक्सर ग्रामीणों की ओर से आती रही है। 

ग्रामीणों का कहना है कि मामले में कार्रवाई के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की जाती है। अवैध मुरूम उत्खनन एवं परिवहन की शिकायतों पर अंकुश लगाया जाना चाहिए। रात के अंधेरे में भी कई क्षेत्रों में मुरुम परिवहन किए जा रहे हैं। खनिज निरीक्षक दीपक तिवारी का कहना है कि विभागीय महकमा की टीम लगातार दबिश देकर कार्रवाई कर रही है। पिछले दिनों पाटन क्षेत्र के ग्राम डिडगा, असोगा एवं दुर्ग के ग्राम बोरई तथा अंजोरा ढाबा में अवैध उत्खनन के मामले में विभाग की टीम ने दबिश देकर कार्रवाई कर प्रकरण दर्ज की थी, जहां भी शिकायत मिल रही है विभाग द्वारा कार्रवाई कर प्रकरण दर्ज किये जा रहे हैं।
 

अन्य पोस्ट

Comments