सरगुजा

हाथी दल ने फिर मचाया उत्पात, फसलें रौंदी, मकान तोड़े, ग्रामीण रतजगा
28-Oct-2020 8:03 PM 40
हाथी दल ने फिर मचाया उत्पात, फसलें रौंदी, मकान तोड़े, ग्रामीण रतजगा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
उदयपुर (सरगुजा), 28 अक्टूबर।
वन परिक्षेत्र उदयपुर में सात हाथियों ने विगत डेढ़ माह से डेरा जमाए हुए हंै। धान एवं बाजरा के फसल को हाथियों ने नुकसान पहुंचाया है। साथ ही मकानों को भी क्षति पहुंचाई। हाथियों के डर से ग्रामीण रतजगा करने को मजबूर हैं।

सभी हाथी दिनभर परोगिया जंगल में शांत रहने के बाद शाम को बाहर निकलकर बीती रात ग्राम परोगिया में उजित राम पंडो एवं अनिल तिर्की के मकान को हाथियों ने क्षति पहुंचाई। फसल क्षति में धान एवं बाजरा के फसल को बुरी तरह से रौंदकर और खाकर हाथियों ने नुकसान पहुंचाया गया है, जिसका रकबा 0.600 हेक्टेयर है।

वन अमले की समझाइश के बाद भी लोग हाथी के पीछे पीछे जाना नहीं छोड़ रहे हैं जिससे जनहानि की आशंका बनी हुई है। हाथियों के डर से ग्रामीण रतजगा करने को मजबूर हैं। हाथियों का दल कब किस ओर जाएगा इसका पता नहीं रहता है। आसपास गांव के लोग वन अमला के साथ मिलकर रात भर हाथियों की निगरानी में लगे हुए हैं।

हाथियों का दल अभी भी परोगिया जंगल में डेरा जमाए हुए है। हाथियों से लोगों को बचाने के लिए वन अमला निगरानी में लगा हुआ है। वन अमला द्वारा लोगों को जागरूक करने के लिए मुनादी करा रहा है तथा लोगों को हाथियों से दूर रहने की सलाह भी दी जा रही है। जंगल किनारे एकांत घरों में रहने वाले लोगों को बस्ती में आकर निजी मकान में रखने की व्यवस्था की जा रही है। हाथियों के निगरानी में गजराज वाहन सुरक्षा उपकरणों के साथ उदयपुर वन अमला जुटा हुआ है।

अन्य पोस्ट

Comments