सरगुजा

सांपों को मारने के बजाय सुरक्षित जंगल में छोड़े
29-Jul-2021 8:28 PM (118)
 सांपों को मारने के बजाय सुरक्षित जंगल में छोड़े

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अम्बिकापुर, 29 जुलाई। डीएफओ पंकज कुमार कमल के निर्देशन में अध्यक्ष सत्यम द्विवेदी द्वारा संचालित संस्था नेचर कंजर्वेशन सोसाइटी ऑफ छत्तीसगढ़ द्वारा वन विभाग काष्ठागार में सांपों से बचाव व व्यवहार की कार्यशाला का आयोजन किया गया। यह कार्यशाला स्नेक रेस्क्यू ऑपरेशन को लेकर कराया गया।

वन विभाग की ओर से आयोजित इस कार्यशाला में सांपों को रेस्क्यू करने, उन्हें जान से मारने के स्थान पर सुरक्षित रूप से पकड़ कर जंगल में छोडऩे का प्रशिक्षण दिया गया, जिसमें उप वनमण्डलाधिकारी सीतापुर एस. बी. पांडेय, उपवनमण्डलाधिकारी उदयपुर विजेंद्र ठाकुर, उपवनमण्डलाधिकारी अम्बिकापुर अनिल सिंह और सभी कर्मचारी गण उपस्थित रहे।

श्री एसबी पांडेय ने बताया कि किस तरह पर्यावरण में सांपों का महत्व और योगदान रहा है। स्नेक मैन के नाम से प्रसिद्ध सत्यम द्विवेदी और फॉरेस्ट ट्रेनिंग स्कूलों में अपनी सेवाएं दे चुकी मास्टर ट्रेनर दीप्ति वर्मा ने छत्तीसगढ़ में पाए जाने वाले सांपों के बारे में सभी को जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि किस तरह जानकारी के आभाव में सर्प दंश की घटनाएं होती हैं और लोगों को अपनी जान गवानी पड़ती है। इसके साथ ही उनकी पहचान उनसे बचने के उपाय आदि बातों के बारे में सभी को प्रशिक्षण दिया। साथ ही साथ सावधानी पूर्वक सांप रेस्क्यू करने के सफल तरीके को भी सत्यम ने बताया, इसमें उनके साथ हर्ष राज सिंह, अपूर्व सिंह और सिद्धार्थ वर्मा उनके टीम के सदस्य शामिल रहे।

अन्य पोस्ट

Comments