छत्तीसगढ़ » रायपुर

Date : 20-Jan-2020

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय तथा अखिल भारतीय कृषि छात्र संघ के संयुक्त तत्वावधान में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय मेंं सोमवार को 2 दिवसीय 5वां राष्ट्रीय युवा सम्मेलन शुरू, 18 राज्यों के 500 से अधिक विद्यार्थी शामिल

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 20 जनवरी। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय तथा अखिल भारतीय कृषि छात्र संघ के संयुक्त तत्वावधान में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय मेंं सोमवार को 2 दिवसीय राष्ट्रीय युवा सम्मेलन शुरू हुआ। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के 34वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित सम्मेलन में 18 राज्यों के 20 कृषि विश्वविद्यालयों के लगभग 500 से अधिक विद्यार्थी सम्मिलित है। सम्मेलन में  7 विश्वविद्यालयों के कुलपति, युवा वैज्ञानिक तथा प्रगतिशील कृषक भी भाग ले रहे हैं।

दो दिवसीय सम्मेलन के दौरान कृषि छात्रों, शिक्षाविदों एवं प्रगतिशील कृषकों के मध्य ‘अगली पीढ़ी का कृषि नवाचार चुनौतियां एवं कृषि से संबद्ध क्षेत्रों में स्थायी रोजगार सृजन के लिए अवसर’ विषय पर गहन विचार मंथन किया जाएगा।

सम्मेलन के पहले सत्र में प्रवीण वर्मा ने मौसम के बदलाव का फलों की उपज पर पडऩे वाले प्रभाव के संंबंध में जानकारी दी। इनके अलावा डॉ. मनोह श्रीवास्तव ने एवं डॉ. राहुल मिश्रा ने कृषि पर मौसम के प्रभाव के संबंध में जानकारी दी।

 

 

 


Date : 20-Jan-2020

राष्ट्रीय क्रीड़ा प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ ओवरऑल चैंपियन, विगत दिवस जे आरदानी कन्या शाला में प्रतियोगिता का समापन हुआ

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 20 जनवरी। राजधानी के रायपुर में 15 जनवरी से 19 जनवरी तक चल रही 65वीं राष्ट्रीय शालेय प्रतियोगिता राज्य के खिलाडिय़ों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए ओवर ऑल चैंपियनशिप का खिताब राज्य के नाम किया। विगत दिवस जे आरदानी कन्या शाला में प्रतियोगिता का समापन हुआ। इस अवसर पर खिलाडिय़ों को पुरस्कृत किया गया।

समापन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि जीआर चुनेंन्द्र (आईएएस) एवं जीआर चंद्राकर, अनिल मिश्रा शामिल रहे।   साफ्ट टेनिस 19 वर्षीय बालिका वर्ग उपविजेता रही और 5 रजत पदक प्राप्त किया। व्यक्तिगत इवेंट सिंगल्स में आकांक्षा सोनटके व मेघा बंजारे ने 2 कांस्य पदक जीता। ड्राप रो बॉल के व्यक्तिगत, डबल्स एवं ट्रिपल्स के मुकाबले में सभी स्वर्ण पदक राज्य के नाम किए कुल 12 के 12 स्वर्ण राज्य के हिस्से आए। टेबल सॉकर में 13 स्वर्ण,1 रजत, 2 कांस्य पदक सहित जीते 16 पदक।


Date : 20-Jan-2020

सिंचाई परियोजनाओं के लिए 28 करोड़ मंजूर, योजना के पूरा हो जाने पर 25 हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र मे सिंचाई सुविधा मिल सकेगी

रायपुर, 20 जनवरी। राज्य शासन ने दुर्ग जिले के विकासखण्ड धमधा में बगीचा एनीकट के पुनरूद्वार कार्य के लिए एक करोड़ 93 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा हो जाने पर 25 हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र मे सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

इसी तरह महासमुंद जिले के विकासखण्ड बागबहरा की बिन्द्रावन जलाशय की नहर लाईनिंग के पक्के कार्यो का सुधार एवं जीर्णोद्वार कार्य के लिए एक करोड़ 37 लाख 79 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से अब यहां 263 हेक्टेयर क्षेत्र में किसानों को सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो जाएगी। इन कार्यो को कराने की स्वीकृति जल संसाधन विभाग मंत्रालय महानदी भवन से मुख्य अभियंता महानदी गोदावरी कछार जल संसाधन विभाग रायपुर को प्रदान कर दी गई है। बिलासपुर जिले के नवागांव (सल्का) जलाशय योजना के लिए दो करोड़ 99 लाख 71 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 145 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

विकासखण्ड गौरेला की गांगपुर जलाशय के मरम्मत कार्य के लिए दो करोड़ 12 लाख 15 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से इस क्षेत्र में सिंचाई रकबा बढक़र 486 हेक्टेयर क्षेत्र हो जाएगा। विकासखण्ड गौरेला अंतर्गत मल्हरिया जलाशय बांध एवं नहरों के मरम्मत कार्य के लिए दो करोड़ 92 लाख 55 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से क्षेत्र के किसानों को आवश्यकता के अनुसार सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। बिलासपुर जिले के खारंग नदी पर मोहरा एनीकट सौर सूक्ष्म सिंचाई योजना के लिए दो करोड़ 78 लाख 87 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से खरीफ एवं रबी की फसलों के लिए 80 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

बिलासपुर जिले की अकोला एनीकट सौर सूक्ष्म सिंचाई योजना के लिए दो करोड़ 89 लाख 4 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 80 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। बिलासपुर जिले की अमलडीहा सोलर सूक्ष्म सिंचाई योजना के लिए दो करोड़ 98 लाख 97 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 80 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। इसी तरह से रायगढ़ जिले के विकासखण्ड बरमकेला के अंतर्गत अमुर्रा जलाशय के बांध एवं नहर जीर्णोद्वार कार्य के लिए एक करोड़ 93 लाख 75 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से क्षेत्र में अब 115 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड बरमकेला के अंतर्गत खैरट से पिपरखुटा जीरा नाला में स्टापडेम सह पुलिया निर्माण कार्य के लिए दो करोड़ 64 लाख 87 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 130 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

मुंगेली जिले के विकासखण्ड पथरिया अंतर्गत धरदेई जलाशय योजना कार्य के लिए दो करोड़ 36 लाख 13 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 127 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। जिले के विकासखण्ड पथरिया अंतर्गत जुनवानी जलाशय के शीर्ष कार्य का जीर्णोद्वार एवं नहर में सी.सी. लाईनिंग कार्य के लिए दो करोड़ 30 लाख 60 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 82 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।


Date : 20-Jan-2020

भाजपा को महीने के आखिर तक मिल सकता है नया मुखिया, नेताम, चंद्राकर और पांडेय का नाम चर्चा में

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। छत्तीसगढ़ बीजेपी को जल्द नया मुखिया मिलने वाला है। माना जा रहा है कि इस माह के अंत तक प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष का चयन किया जाएगा। लिहाजा, अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी तेज हो गई है। कहा जा रहा है कि अध्यक्ष पद के लिए तेजतर्रार और नए चेहरे को तवज्जो दी जा सकती है, हालांकि जातीय समीकरण का भी ध्यान रखे जाने के आसार हैं। अध्यक्ष पद के लिए राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम, राजनांदगांव के सांसद संतोष पांडे, दुर्ग के सांसद विजय बघेल और पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर का नाम प्रमुखता से उभरकर सामने आया है।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल धरमलाल कौशिक के नेता प्रतिपक्ष चुने जाने के बाद मार्च में विक्रम उसेंडी को बीजेपी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। वे अभी अध्यक्ष के रुप में एक साल का कार्यकाल भी पूरा नहीं कर पाए हैं, हालांकि इस बात की संभावना कम ही है कि उसेंडी को रिपीट किया जाए, क्योंकि राज्य में कांग्रेस की सरकार है और बीजेपी में तेजतर्रार अध्यक्ष की तलाश की जा रही है, ताकि सरकार को घेरा जा सके। लिहाजा आक्रमक नेतृत्व की मांग उठ रही है और इसी आधार पर तलाश की जा रही है।

पार्टी नेताओं की कोशिश है कि आदिवासी या पिछड़ा वर्ग से उनकी तलाश पूरी हो जाए, क्योंकि राज्य में जातीय समीकरण को ध्यान रखना सियासी जरुरत है। इस समीकरण में राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम और पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर का नाम सबसे ऊपर है। नेताम आदिवासी वर्ग से आते हैं और उनकी छवि एक तेज तर्रार नेता के रुप में हैं। रमन सिंह के कार्यकाल में वे आदिवासी एक्सप्रेस के कारण चर्चा में रहे हैं। उनके नाम पर सहमति बन सकती है और उनके अध्यक्ष बनने से जातीय समीकरण का संतुलन बना रहेगा, क्योंकि नेता प्रतिपक्ष पिछड़ा वर्ग से आते हैं।

अजय चंद्राकर का नाम इसलिए चर्चा में है, क्योंकि वे सदन से लेकर सडक़ तक सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद किए हुए हैं। इस लिहाज से चंद्राकर को उपयुक्त माना जा रहा है, हालांकि उनके नाम पर जातीय समीकरण को साधने में मुश्किल हो सकती है, क्योंकि नेता प्रतिपक्ष भी इसी वर्ग से हैं। हालांकि कुछ लोगों का कहना है कि राज्य सरकार ने जिस तरह से ओबीसी आरक्षण को बढ़ाकर इस वर्ग को साधने की कोशिश की है, इस स्थिति में बीजेपी भी दोनों प्रमुख पदों पर ओबीसी की नियुक्ति कर संदेश दे सकती है।

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष के लिए सांसद और सामान्य वर्ग के संतोष पांडेय का नाम भी काफी तेजी से उभरा है। वे भी सभी मापदंड़ों पर फिट बैठ रहे हैं। सांसद बनने के बाद लोकसभा में जिस तरह से उन्होंने छत्तीसगढ़ के मुद्दों को उठाया, उससे उनकी पहचान तेजतर्रार नेता के रुप में बनी है। वे संघ से जुड़े हुए हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति में संघ की चली, तो उनकी ताजपोशी हो सकती है। इसी तरह दुर्ग के सांसद विजय बघेल भी अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल हैं। उनकी पहचान भी आक्रमक नेता के रुप में होती है, वे सीएम भूपेश बघेल को पाटन से हरा भी चुके हैं, हालांकि दोनों आपस में रिश्तेदार हैं, फिर भी सीएम पर हमला बोलने के लिए उनके नाम पर भी विचार किया जा रहा है। मगर उन्हें पार्टी में आए मात्र 10 साल ही हुए हैं, ऐसे में उनकी दावेदारी कमजोर दिखती है। नए अध्यक्ष की ताजपोशी इस माह के अंत तक होने की उम्मीद है।

रमन का कद बढ़ेगा?

राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर जगतप्रकाश नड्डा की ताजपोशी के बाद प्रदेश में पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह पॉवरफुल हो सकते हैं। पार्टी के भीतर चर्चा यह है कि नए अध्यक्ष के चयन में पूर्व सीएम की राय अहम रहेगी। वजह यह है कि रमन सिंह के जगतप्रकाश नड्डा से मधुर संबंध हैं। नड्डा छत्तीसगढ़ भाजपा के प्रभारी रह चुके हैं। माना जा रहा है कि रमन सिंह राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के पद पर यथावत काम करेंगे। साथ ही साथ उनके पुत्र अभिषेक सिंह को भी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी में लिया जा सकता है।


Date : 20-Jan-2020

उद्योगपति का 12वें दिन भी कोई सुराग नहीं, पड़ोसी राज्यों में दबिश, हरसंभव कोशिश जारी- एसएसपी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 20 जनवरी। सिलतरा स्थित सोमानी प्रोसेसर इस्पात कंपनी के मालिक प्रवीण सोमानी का 12वें दिन भी कहीं सुराग नहीं मिल पाया है। पुलिस की अलग-अलग टीम बिहार, यूपी, झारखंड से लेकर नेपाल तक उनकी तलाश में जुटी है। चर्चा है कि करोड़ों की फिरौती के लिए उनका अपहरण किया गया है और पुलिस बिहार के किसी बड़े गिरोह पर पुलिस की नजर है। फिलहाल पुलिस इस मामले में कुछ भी नहीं बता पा रही है। उनका सिर्फ इतना ही कहना है कि टीम लगी है। उद्योगपति की तलाश जारी है।

एसएसपी शेख आरिफ ने ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा में कहा कि उद्योगपति प्रवीण सोमानी की तलाश में पुलिस की अलग-अलग टीम काम कर रही है। सभी लगे हुए हैं, लेकिन अभी यह कहना मुश्किल है कि वे जल्द मिल जाएंगे। तलाश में कितना समय लग जाएगा, यह कहना भी अभी कठिन है। पुलिस टीम तलाश में लगातार लगी है। सिटी एसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा में कहा कि हमारी टीम कई जगहों पर तैनात है और उद्योगपति की तलाश में जुटी है। उनके जल्द मिलने को लेकर अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। इतना जरूर है कि पुलिस अलग-अलग स्तर पर उनकी हरसंभव तलाश कर रही है।

उल्लेखनीय है कि उद्योगपति प्रवीण सोमानी 8 जनवरी की शाम-रात अपनी कार से परसुलीडीह स्थित रामकुटीर के पास पहुंचे थे, तभी उनका अपहरण कर लिया गया। रात तक जब वे घर नहीं पहुंचे, तब उनके परिवारवालों ने पुलिस तक पहुंच कर उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी। पुलिस ने जांच शुरू करते हुए घटना स्थल से कुछ दूर पर    उनकी कार बरामद की। झाडिय़ो के बीच उनका एक मोबाइल भी मिला। इसके बाद से उनकी तलाश लगातार जारी है, पर अभी तक कहीं कोई पता नहीं चल पाया है। पुलिस की कुछ टीम महाराष्ट्र समेत कुछ और राज्यों में तलाश कर रही है।

 


Date : 20-Jan-2020

एक और कारोबारी 5 दिनों से लापता, तलाश जारी,  दूसरी पत्नी की रिपोर्ट पर पुलिस टीम दुर्ग रवाना

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 20 जनवरी। उद्योगपति प्रवीण सोमानी के बाद दुर्ग के एक और कारोबारी भी शहर के कटोरा तालाब क्षेत्र से पिछले 5 दिनों से लापता हैं और उनका अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। पुलिस की एक टीम उनकी तलाश में आज दुर्ग निकली है। माना जा रहा है कि वे पति-पत्नी विवाद के चलते लापता है और पुलिस उन्हें जल्द ढूंढ निकाल लेगी।

पुलिस के मुताबिक दुर्ग के एक कारोबारी सत्यम अग्रवाल (45) 15 जनवरी को शहर के कटोरा तालाब क्षेत्र में अपनी दूसरी पत्नी रिया शुक्ला से मिलने आए थे। इसके बाद वे वहां से अपने ऑफिस जाने के लिए निकले, लेकिन रात तक घर नहीं लौटे। उनका मोबाइल भी बंद मिला। रिया ने दूसरे दिन यहां सिविल लाइन थाना पहुंचकर अपने पति के लापता होने की सूचना दी और उनके अपहरण की आशंका जताई।  घटना के बाद से पुलिस पूछताछ में लगी है, लेकिन उनका अभी तक पता नहीं चल पाया है।

पुलिस का कहना है कि कारोबारी अग्रवाल का एक घर दुर्ग में है और वे वहां अपनी पहली पत्नी के साथ रहते हैं। दूसरी पत्नी यहां कटोरा तालाब में रहती है। अभी तक की पूछताछ में यह बात सामने आई है कि कारोबारी का अपहरण नहीं हुआ है, बल्कि पति-पत्नी विवाद के चलते वे कहीं लापता है। पुलिस की एक टीम आज दुर्ग जा रही है, जहां से उनके बारे में और ज्यादा जानकारी मिल पाएगी।

उनका कहना है कि दूसरी पत्नी की शिकायत पर पुलिस गुमशुदगी दर्ज कर उनकी तलाश में लगी है। दूृसरी पत्नी रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उनका अपने पति से संपर्क नहीं हो पा रहा है और उनका मोबाइल लगातार बंद है। इस तरह यह मामला पारिवारिक विवाद जुड़ा है। अपहरण आदि की आशंका कम है। कॉल डिटेल्स की भी जांच की जा रही है।

 

 


Date : 20-Jan-2020

सिंचाई का रकबा बढ़ाने पर जोर, वित्तीय प्रस्तावों पर चर्चा, वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट की तैयारियां शुरू

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट की तैयारियों के संबंध में चर्चा की शुरुआत की। कृषि और जल संसाधन मंत्री रविंद्र चौबे की उपस्थिति में आयोजित इस बैठक में श्री चौबे से सम्बद्ध विभागों के नए बजट से संबंधित प्रस्तावों पर विस्तृत विचार विमर्श किया गया। इनमें कृषि एवं बायोटेक्नोलॉजी, पशुपालन, मत्स्य पालन, संसदीय कार्य और जलसंसाधन विभाग शामिल हैं।

सूत्रों के मुताबिक बैठक में कई अहम प्रस्तावों पर चर्चा हुई है। बताया गया कि सरकार सिंचाई का रकबा बढ़ाने के लिए प्रयत्नशील है। इसके लिए सिंचाई विकास प्राधिकरण का गठन भी किया गया है। नए प्रस्ताव में सिंचाई योजनाओं पर प्रमुखता से चर्चा हुई है। साथ ही साथ नए वानिकी विश्वविद्यालय और कृषि कॉलेजों में अधोसंरचना को बढ़ाने के लिए वित्तीय प्रस्ताव पर चर्चा की गई।

बैठक में मुख्य सचिव आरपी मंडल, अपर मुख्य सचिव वित्त  अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी, कृषि विभाग की प्रमुख सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त मनिंदर कौर द्विवेदी, सचिव राज्यपाल एवं संसदीय कार्य विभाग सोनमणि बोरा, जलसंसाधन विभाग के सचिव अविनाश चम्पावत तथा सम्बंधित अधिकारी उपस्थित थे।

 


Date : 19-Jan-2020

राज्योत्सव में ग्रामोद्योग उत्पादो को उपभोक्ताओं का अच्छा प्रतिसाद, शिल्पग्राम में बुनकर शिल्पियों द्वारा निर्मित हाथकरघा सूती एवं कोसा वस्त्रों को लोगों द्वारा काफी सराहा गया तथा बुनकर द्वारा राज्योत्सव में 43.82 लाख रूपए के हाथकरघा वस्त्रों का विक्रय किया गया

रायपुर, 19 जनवरी। छत्तीसगढ़ के स्थापना दिवस पर 1 से 5 नवम्बर 2019 की अवधि में शासन द्वारा छत्तीसगढ़ राज्योत्सव समारोह का आयोजन साईंस कॉलेज मैदान रायपुर में किया गया।

इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य के विभिन्न जिलों मे ग्रामोद्योग क्षेत्र में कार्यरत बुनकर कारीगरों, हस्तशिल्पियों, माटी शिल्पियों, खादी बुनकरों तथा विभिन्न कुटीर उद्योग में संलग्न हितग्राहियों को प्रोत्साहन प्रदान करने तथा उनके उत्पादों की उपभोक्ताओं में लोकप्रिय बनाकर तथा उन्हें विपणन सुविधा प्रदान करने की दृष्टि से राज्योत्सव स्थल पर शिल्पग्राम का निर्माण किया गया था। शिल्पग्राम में हाथकरघा क्षेत्र में कार्यरत 38 बुनकर सहकारी समितियां विभिन्न शिल्पों के लगभग 42 हस्तशिल्पियों, 23 माटीशिल्पकारों तथा खादी ग्रामोद्योग के 08 इकाईयों द्वारा अपने उत्पादो का प्रदर्शन एवं विक्रय किया गया।

शिल्पग्राम में बुनकर शिल्पियों द्वारा निर्मित हाथकरघा सूती एवं कोसा वस्त्रों को लोगों द्वारा काफी सराहा गया तथा बुनकर द्वारा राज्योत्सव में 43.82 लाख रूपए के हाथकरघा वस्त्रों का विक्रय किया गया। राज्य के विभिन्न जिलों के आए हस्तशिल्पियों द्वारा बेलमेटन, कास्ठ शिल्प, बांस शिल्प, गोदना, मरवाही एम्ब्रायडरी, तुम्बा शिल्प, भित्यी शिल्प, लौह शिल्प के कारीगरों द्वारा निर्मित सामग्रियों का विशेष आकर्षण रहा तथा शिल्पग्राम में 20.68 लाख रूपए के हस्तशिल्प उत्पादों का विक्रय हुआ।  इसी प्रकार विभिन्न जिलों से आए लगभग 23 माटीशिल्पियों द्वारा अपने शिल्प का प्रदर्शन किया गया। माटीशिल्प के बने उत्पादों के प्रति उपभोक्ताओं में काफी उत्साह देखने को मिला।

राज्योत्सव में माटीशिल्पियो द्वारा लगभग 7.72 लाख रूपए के माटीशिल्प उत्पादो का विक्रय किया गया। राज्योत्सव में खादी ग्रामोद्योग द्वारा खादी वस्त्र, रेडिमेड वस्त्र, अगरबत्ती, हरबल उत्पाद, आयुर्वेदिक उत्पाद के स्टॉल लगाये गये थे, जिसमें प्रदर्शनी अवधि में 4.06 लाख रूपए के उत्पादों का विक्रय किया गया। इस प्रकार राज्योत्सव में ग्रामोद्योग विभाग द्वारा लगाये गये शिल्पग्राम में कुल 75.98 लाख रूपए के उत्पादों का विक्रय किया गया। राज्योत्सव में सम्मिलित ग्रामोद्योग के हाथकरघा कारीगरों, हस्तशिल्पियों, माटी शिल्पियों, खादी ग्रामोद्योग के हितग्राहियों को मिले अच्छे प्रतिषाद से उनमें काफी उत्साह रहा। उनके द्वारा शासन के ऐसे आयोजन में ग्रामोद्योग के उत्पादो को प्रोत्साहन एवं विपणन सुविधा प्रदान करने हेतु आभार व्यक्त किया गया।


Date : 19-Jan-2020

फर्जी दस्तावेज से बेची दूसरे की जमीन, जुर्म, तेलीबांधा की शारदा सिंह की अग्रोहा कॉलोनी रायपुरा में 48 सौ वर्गफीट रजिस्ट्री जमीन एक महिला इंद्रजीत कौर चीमा ने फाफाडीह निवासी जानकी पटेल को बेच दी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। डीडी नगर में जमीन फर्जीवाड़े का एक मामला सामने आया है। फर्जी दस्तावेज तैयार कर रायपुरा रिंग रोड स्थित अग्रोहा कॉलोनी की 48 सौ वर्गफीट रजिस्ट्री जमीन बेच दी। पुलिस आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर पूछताछ में लगी है। फिलहाल आरोपी पकड़ से बाहर है।

पुलिस के मुताबिक वीआईपी रोड मौलीमाता विहार तेलीबांधा की शारदा सिंह की अग्रोहा कॉलोनी रायपुरा में 48 सौ वर्गफीट रजिस्ट्री जमीन हैं, जिसे उन्होंने कुछ समय पहले से खरीदकर रखा है। इस जमीन को एक महिला इंद्रजीत कौर चीमा ने फाफाडीह निवासी जानकी पटेल को बेच दी। इसकी जानकारी भूखंड मालिक को होने पर उसने इसकी शिकायत सीएसपी पुरानी बस्ती से लिखित में करते हुए जांच की मांग की।

बताया गया कि शिकायत के बाद पुलिस ने जमीन बिक्री के संबंध में पूछताछ करते हुए जांच की। इस दौरान फर्जी दस्तावेज से बिक्री सामने आई। डीडी नगर पुलिस ने फर्जीवाड़े की जानकारी पर जमीन बेचने वाली के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि इस मामले में पूछताछ की जा रही है। इसके बाद आगे की जानकारी और मिल पाएगी।

 

 

 

 

 

 

 

 


Date : 19-Jan-2020

पंचायत चुनाव : रमन के भांजे, सिंहदेव के भतीजे, नेताम की पत्नी-पुत्री समेत दिग्गज, नेताओं के नाते-रिश्तेदार मैदान में

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। पंचायत चुनाव में इस बार कांग्रेस और भाजपा के कई दिग्गज नेताओं के नाते-रिश्तेदार अपना भाग्य अजमा रहे हैं। पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के भांजे, पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव के भतीजे के अलावा विधानसभा चुनाव में हारे प्रत्याशी भी जिला पंचायत का चुनाव लड़ रहे हैं।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए 28 तारीख को वोटिंग होगी। करीब  4 सौ जिला पंचायत सदस्य के अलावा जनपद और साढ़े 10 हजार सरपंच व पौने 2 लाख के करीब पंच पद के लिए साढ़े 3 लाख से अधिक प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। पंचायत चुनाव में दिग्गज नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर हैं और वे अपने नजदीकी रिश्तेदारों को जिताने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रहे हैं।

पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के भांजे विक्रांत सिंह राजनांदगांव के जिला पंचायत क्रमांक-3 से चुनाव लड़ रहे हैं। विक्रांत भाजपा के सक्रिय नेता हैं। वैसे तो राजनांदगांव जिला पंचायत का अध्यक्ष पद आरक्षित है, लेकिन उपाध्यक्ष पद की आस में विक्रांत सहित कई बड़े नेता चुनाव मैदान में डटे हैं। गुजरे जमाने के बड़े कांग्रेस नेता पूर्व मंत्री डॉ. टुमनलाल की पुत्री हर्षिता गोस्वामी भी चुनाव मैदान में हैं। उन्हें कांग्रेस का समर्थन है। इसी तरह पूर्व विधायक तेजकुंवर नेताम के पुत्र प्रदुभ्न नेताम भी अंबागढ़-चौकी की जिला पंचायत सीट से चुनाव मैदान में है। उन्हें भी कांग्रेस का समर्थन है।

भाजयुमो के अध्यक्ष विजय शर्मा भी जिला पंचायत का चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंनेे विधानसभा और लोकसभा टिकट की दावेदारी की थी।  सरगुजा के बड़े नेता और पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव के भतीजे आदितेश्वर शरण सिंहदेव भी अंबिकापुर के जिला पंचायत क्रमांक-2 से चुनाव मैदान में हैं। आदितेश्वर एआईसीसी के सदस्य भी हैं। उन्हें जिताने के लिए खुद टीएस सिंहदेव मेहनत कर रहे हैं। इसके अलावा विधायक खेलसाय सिंह की पुत्र वधु उषा सिंह सूरजपुर की जिला पंचायत क्रमांक-15 से चुनाव मैदान में हैं। उषा सिंह को कांग्रेस का समर्थन है। इसी तरह  दिवंगत पूर्व मंत्री स्व. तुलेश्वर सिंह की पुत्री शशि सिंह भी चुनाव मैदान में है। वे जिला पंचायत क्रमांक-14 से चुनाव लड़ रही हैं।

भाजपा के आदिवासी प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम की पत्नी पुष्पा नेताम और उनकी पुत्री नीता नेताम चुनाव मैदान में हैं। पुष्पा जिला पंचायत अध्यक्ष रही हैं। वे दोबारा चुनाव मैदान में हैं। नीता पहली बार जिला पंचायत का चुनाव लड़ रही हैं। दोनों ही बलरामपुर-रामानुजगंज की जिला पंचायत सीट से चुनाव लड़ रही हैं। दोनों को भाजपा का समर्थन हासिल है। पूर्व गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के पुत्र लवकेश पैकरा प्रतापपुर की जिला पंचायत सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। रामसेवक को विधानसभा चुनाव में प्रतापपुर से करारी हार का सामना करना पड़ा था। उनके पुत्र पिछली बार भी जिला पंचायत का चुनाव लड़े थे, लेकिन रामसेवक पैकरा के गृहमंत्री रहने के बावजूद वे चुनाव हार गए थे। इसी तरह पूर्व मंत्री भैय्यालाल राजवाड़े के पुत्र विजय राजवाड़े भी बैकुण्ठपुर के जिला पंचायत सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। इसके अलावा भरतपुर सोनहत के विधायक गुलाब कमरो की रिश्तेदार उषा अयाम भी चुनाव मैदान में हैं।

बस्तर से पूर्व सांसद दिनेश कश्यप की पुत्री वेदवती कश्यप का चुनाव लड़ रही है। उनके खिलाफ कांग्रेस विधायक चंदन कश्यप की बहु मैदान में है। बस्तर के कांग्रेस सांसद दीपक बैज की भाभी मालती बैज पहले ही निर्वाचित हो चुकी है। इसके अलावा मौजूदा जिला पंचायत अध्यक्ष जविता मंडावी भी चुनाव मैदान में हैं। रायपुर से कांग्रेस नेत्री डॉ. किरणमयी नायक की देवरानी मंजू चंद्रहास नायक भी जिला पंचायत का चुनाव लड़ रही हैं। बेमेतरा से पूर्व मंत्री डीपी धृतलहरे की पुत्री शशिप्रभा गायकवाड़ चुनाव मैदान में हैं। भाजपा नेत्री पूर्व संसदीय सचिव रूपकुमार चौधरी के पति ओमप्रकाश चौधरी भी चुनाव मैदान में डटे हैं।

पहले विधानसभा में हारे अब पंचायत चुनाव में...

सराईपाली विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी श्याम तांडी जिला पंचायत का चुनाव लड़ रहे हैं। श्याम को विधानसभा चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा था। इसी तरह विजयनाथ भी विधानसभा का चुनाव हार चुके हैं, लेकिन वे अब भटगांव क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं। इसी तरह दो बार विधानसभा चुनाव लड़ चुके वेदांती तिवारी भी जिला पंचायत का चुनाव लड़ रहे हैं। पूर्व वित्तमंत्री डॉ. रामचंद्र सिंहदेव ने सबसे पहले अपनी सीट से वेदांती को चुनाव लड़ाया था, लेकिन वे मामूली वोटों से हार गए थे।

 


Date : 19-Jan-2020

मदनवाड़ा नक्सल-मुठभेड़, अब न्यायिक जांच आदेश, रिटायर जज की अध्यक्षता में आयोग, जानकारी के मुताबिक 12 जुलाई 2009 को मानपुर थाना क्षेत्र के कोरकोट्टी में तत्कालीन एसपी वीके चौबे सहित 29 पुलिस जवान नक्सलियों के एम्बुश में फंसकर शहीद हो गए थे

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। राजनांदगांव के मदनवाड़ा में करीब 10 साल पहले हुई नक्सल घटना की अब न्यायिक जांच होगी। राज्य सरकार ने घटना की जांच का आदेश देते हुए एक सदस्यीय न्यायिक जांच आयोग का गठन किया है। प्रदेश के पूर्व लोकायुक्त, हाईकोर्ट के रिटायर जस्टिस शंभूनाथ श्रीवास्तव की अध्यक्षता में घटना की जांच होगी। माना जा रहा है कि न्यायिक जांच के बाद नक्सल घटना की असलियत सामने आ पाएगी।

जानकारी के मुताबिक 12 जुलाई 2009 को मानपुर थाना क्षेत्र के कोरकोट्टी में तत्कालीन एसपी वीके चौबे सहित 29 पुलिस जवान नक्सलियों के एम्बुश में फंसकर शहीद हो गए थे। घटना के बाद पुलिस की अलग-अलग टीम उस पूरे क्षेत्र में तैनात कर दी गई, लेकिन नक्सलियों का पता नहीं चल पाया। इस बड़ी घटना के बाद प्रदेशभर के लोगों में नक्सलियों के प्रति आक्रोश रहा। उस समय लोगों को इस नक्सल घटना की कोई बड़ी जांच की उम्मीद थी, लेकिन नहीं हो पाई थी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बीते शनिवार को नक्सल घटना में शहीद तत्कालीन एसपी विनोद चौबे की प्रतिमा अनावरण करने बिलासपुर गए थे। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव व शहीद विनोद चौबे की पत्नी के आवेदन पर न्यायिक जांच के आदेश दिए। श्री बघेल ने कार्यक्रम में कहा था कि हमारे 29 जवान और अधिकारी शहीद हो गए और हम जांच भी नहीं करा पाए। जब आईपीएस चौबे के शहीद होने की खबर आई तो मैं खुद घटना स्थल पर दो बार गया। जानकारी मिली कि हमले की खबर के बाद भी कोई बैकअप पार्टी नहीं पहुंची थी, जबकि घटना स्थल तीन प्रमुख सेंटरों के बीच में था।

उल्लेखनीय है कि राजनांदगांव जिले में यह अब तक की सबसे बड़ी नक्सली वारदात है और इस नक्सल घटना में अफसरों की भूमिका पर सवाल उठते रहे हैं।


Date : 19-Jan-2020

इनकी कला देख खुश हो गया था पाक, संत गरीबदास ने बनवाई थीं 5 हजार मूर्तियां, विनोद मूर्ति के अलावा स्केचिंग में भी कमाल दिखा चुके हैं उन्होंने अमिताभ बच्चन के पर्सनल फोटोग्राफर बीके तांबे का स्केच बनाकर दिया तो वे काफी खुश हुए थे

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। राजधानी के तेलीबांधा निवासी विनोद पांडा धामेजानी। वे एक मूर्तिकार हैं और पिछले साल उनकी बनाई मूर्ति को पाकिस्तान के सिंध प्रांत में आर्डर करके मंगाया गया है। यही नहीं उन्होंने संत गरीबदास की 5 हजार मूर्तियां बनाकर पाक को भेजी हैं।

6 महीनों में हुई तैयार

विनोद ने बताया कि उनकी कलाकृति को एक कार्यक्रम में रखा गया था जहां पाकिस्तान से एक व्यक्ति कार्यक्रम में शिरकत करने आये थे जब उन्होंने मेरी कला को देखा तो उससे प्रभावित हुए और संत गरीबदास की मूर्तियों  को बनाने कहा।

 मैंने 6 इंच से लेकर 3 फीट की 5 हजार मूर्तियों को बनाया जो 6 महीनों में तैयार हुई। पाकिस्तान से 3 आदमी आये और कोरियर के माध्यम से मूर्तियां ले गए।

जय हो फिल्म में किया है काम

विनोद ने सलमान खान स्टारर फील्म जय हो में असिस्टेन्ट के तौर पर काम किया है जिसमे उन्होंने सेट की डिजायन का निर्माण किया था जो सीन गोआ में शूट किया गया था। साथ ही छोलीवुड कि 150 से अधिक मूवी के सेट बना चुके हैं।

अमिताभ के फोटोग्राफर हुए थे खुश

विनोद मूर्ति के अलावा स्केचिंग में भी कमाल दिखा चुके हैं उन्होंने अमिताभ बच्चन के पर्सनल फोटोग्राफर बीके तांबे का स्केच बनाकर दिया तो वे काफी खुश हुए थे।

 


Date : 19-Jan-2020

सीएए पर भ्रम फैलाने में लगा है विपक्ष-कुलस्ते, दो दिनी दौरे पर केंद्रीय राज्यमंत्री, भाजपा की सीएए समर्थन रैलियों में होंगे शामिल

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने सीएए से जुड़े एक सवाल पर कहा है कि देश में जाति-धर्म को लेकर अनावश्यक भ्रम फैलाया जा रहा है। कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल इस बहाने अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने में लगे हैं, जबकि प्रत्येक व्यक्ति को देश को विकसित करने में अपना सहयोग देना चाहिए। सीएए से देश की सुरक्षा को बल मिलेगा। भारत और ज्यादा शक्तिशाली देश बनकर विश्व में अपना कीर्तिमान रचेगा।

केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री श्री कुलस्ते आज अपने दो दिनी छत्तीसगढ़ दौरे पर रायपुर पहुंचे। वे यहां से कांकेर पहुंचकर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विक्रम उसेंडी के साथ सीएए व एनआरसी के समर्थन में प्रदेश के अलग-अलग 9 शहरों में निकलने वाली रैली में शामिल होंगे। कांकेर रवाना होने के पहले राज्य मंत्री श्री कुलस्ते ने यहां माना एयरपोर्ट पर मीडिया से चर्चा में कहा कि कहा कि केंद्र की मोदी सरकार विकासशील भारत को विकसित गणराज्य बनाने की दिशा में आगे बढ़ा रही है, लेकिन कांग्रेस के लोग भारत को विकसित नहीं होने देना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि बीते 70 वर्षों में कांग्रेस इसी रणनीति के तहत राजनीति करती आ रही हैं। ऐसा कर कांग्रेस एक परिवार के समर्थन में खड़ी है, जबकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश के बारे में सोचते हैं। वे भारत को और ज्यादा ताकतवर बनाने के संकल्प पर काम कर रहे हैं। सीएए कानून भी इनमें से एक है। इससे देश की सुरक्षा को और ज्यादा बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि देश में कोई भी जाति, धर्म का क्यों न हो, वह हिन्दुस्तानी है। इन कानूनों के लागू होने के बाद देश के लोगों को किसी तरह की समस्या नहीं आएगी।

केंद्रीय राज्य मंत्री श्री कुलस्ते ने कहा कि दूसरे देशों से भारत आकर नागरिकता लेने वालों को पूरी कार्रवाई से गुजरना होगा, तब जाकर उन्हें नागरिकता मिल पाएगी। इसमें एक पक्ष को बेहद स्पष्ट कर दिया गया है कि विदेशी मुस्लिमों को इस कानून के आने के बाद भारत में नागरिकता नहीं मिलेगी। इस बात को प्रत्येक भारतीय को समझने की जरूरत है, चाहे वह हिन्दू हो या फिर मुस्लमान। भारत का मुस्लिम, भारतीय है। उसे चिंता करने की आवश्यकता नहीं है कि आने वाले समय में उन्हें देश से बेदखल कर दिया जाएगा।

 


Date : 19-Jan-2020

हजारों बच्चों को पोलियो ड्रॉप, छूटे बच्चों के लिए कल-परसों घर-घर जाएगी टीम

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रदेश में आज पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान चलाया गया। इस दौरान शून्य से पांच वर्ष तक के हजारों बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई गई। टीकाकरण के लिए प्रदेशभर में 14 हजार 396 बूथ बनाए गए हैं। छूटे हुए बच्चों को कल-परसों घर-घर पहुंचकर यह टीके लगाए जाएंगे।

बताया गया कि तीन दिनी इस अभियान के लिए 28 हजार 792 टीमें गठित की गई हैं। अभियान के दौरान प्रदेश के करीब 36 लाख बच्चों को पोलियो दवा पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। अभियान के दौरान मेलों, सामूहिक उत्सवों और प्रमुख रेलवे स्टेशनों में भी बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाने की व्यवस्था रही। नवजात व पांच वर्ष तक का कोई भी बच्चा पोलियो की दवा पीने से छूट न जाए, इसके लिए टीकाकरण दलों द्वारा घर-घर भ्रमण किया जाएगा। प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों, जिला चिकित्सालयों, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों और प्रसूति गृहों के मुख्य द्वार के पास भी पोलियो ड्रॉप पिलाने स्वास्थ्य विभाग की टीम तैनात रही। अभियान के लिए दो हजार 879 पर्यवेक्षक तैनात रहे।

स्वास्थ्य अफसरों का कहना है कि प्रदेश में पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान लंबे समय से चलाया जा रहा है और यह प्रयास किया जा रहा है कि पोलियो की खुराक लेने से कोई बच्चा न छूटे। उनका कहना है कि स्वास्थ्य विभाग की टीम आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, मितानिनो समेत अन्य विभाग के कर्मियों के साथ टीकाकरण में लगी है। शाम तक अधिकांश बच्चों को टीके लगा दिए जाएंगे। बचे हुए बच्चों को कल-परसों में घर-घर जाकर दवा पिलाई जाएगी।

महापौर एजाज ढेबर ने रायपुर के छत्तीसगढ़ क्लब में कुछ बच्चों को पोलियो की दवा पिलाकर अभियान की शुरूआत की। इस दौरान कुछ स्वास्थ्य अफसर भी मौजूद रहे।


Date : 19-Jan-2020

पंचायत चुनाव में वही होगा जो म्युनिसिपल चुनाव में हुआ-कांग्रेस, श्री त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह और धरमलाल कौशिक की जोड़ी ने भाजपा को 15 सीटों तक पहुंचा दिया

कौशिक के बयान पर पलटवार

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। प्रदेश कांग्रेस संचार प्रमुख शैलेष नितिन त्रिवेदी ने पंचायत चुनाव में कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों की जीत का दावा दोहराते हुए कहा है कि पंचायत चुनाव में वही होगा, जो चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव में दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव में और नगरीय निकाय चुनावों में हुआ है।

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए श्री त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह और धरमलाल कौशिक की जोड़ी ने भाजपा को 15 सीटों तक पहुंचा दिया। कौशिक ऐसे बयान देकर भाजपा की बची स्थिति को भी खराब करने में जुटे हैं। दंतेवाड़ा उपचुनाव के बाद कौशिक ने चित्रकूट उपचुनाव में जीत का दावा किया था। चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव में हार के बाद कौशिक ने नगरीय निकाय चुनाव में जीत का दावा किया था, जो गलत निकला।10 में से 10 नगर निगम हार जाने के बाद अब नेता प्रतिपक्ष कौशिक पंचायत चुनाव में भी जीत का दावा कर रहे हैं।

कांग्रेस संचार प्रमुख श्री त्रिवेदी ने कहा है कि कौशिक के जीत दावों के साथ भाजपा का किसान-मजदूर और गरीब विरोधी चरित्र पंचायत चुनाव में हार का बड़ा कारण बनेगा। केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ के किसानों को ढाई हजार रुपए प्रति क्विंटल धान का दाम देने से कांग्रेस सरकार को रोकने के कारण कोई भी मजदूर-किसान भाजपा उम्मीदवारों को पंचायत चुनाव में न समर्थन देगा ना वोट करेगा।

 

 


Date : 19-Jan-2020

गौरी-गौरा पूजा में सभी विघ्नों के नाश तथा मंगलकामना के लिए सीएम को सोंटा लगाने वाले भरोसा राम का निधन, भूपेश ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया,  कहा-उनसे मेरे वर्षों पुराने आत्मीय संबंध रहे हैं, वे हमारे सम्मानीय बुजुर्ग थे

छत्तीसगढ़ संवाददाता

भिलाईनगर, 19 जनवरी। सोंटा लगाने वाले दुर्ग जिले के ग्राम जंजगिरी निवासी भरोसा राम ठाकुर का निधन हो गया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि, मैं प्रत्येक वर्ष दीपावली के दूसरे दिन ग्राम जंजगिरी में गौरी गौरा पूजा में हिस्सा लेता हूं, जहां परंपरा अनुसार सभी विघ्नों के नाश तथा मंगल कामना के लिए भरोसा राम ठाकुर मुझे सोंटा लगाते थे। आज भरोसाराम जी के निधन का समाचार प्राप्त हुआ।

उनसे मेरे वर्षों पुराने आत्मीय संबंध रहे हैं, वे हमारे सम्मानीय बुजुर्ग थे। उनका निधन मेरे लिए पारिवारिक क्षति है। मैं ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति एवं परिवारजनों को संबल प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं। भरोसा राम ठाकुर अक्टूबर 2019 में तब चर्चा में आए जब उन्होंने गौरा गौरी पूजा के दौरान सीएम भूपेश बघेल को सोंटा लगाया था।

 

 


Date : 19-Jan-2020

राजपथ पर प्रदेश की झांकी करेगी नेतृत्व, गणतंत्र दिवस पर सांस्कृतिक दल करेंगे ककसार नृत्य का प्रदर्शन भी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। गणतंत्र दिवस पर राजपथ पर विभिन्न राज्यों व विभागों की ओर से निकलने वाली झांकियों में इस बार छत्तीसगढ़ की झांकी नेतृत्व करेगी। शनिवार को राष्ट्रीय रंगशाला कैम्प में जनसंपर्क विभाग के आयुक्त तारन प्रकाश सिन्हा ने झांकी निर्माण का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने सांस्कृतिक दलों से भी मुलाकात की और उनका उत्साह वर्धन किया छत्तीसगढ़ के दूरस्थ आदिवासी अंचल नारायणपुर से आए आदिवासी कलाकारों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी जा रही हे ।

गौरतलब है कि नई दिल्ली के राजपथ पर इस बार छत्तीसगढ़ की झांकी भी निकलेगी, राजपथ पर निकलने वाली विभिन्न राज्यों की झांकियों के क्रम में छत्तीसगढ़ राज्य की झांकी का क्रम सबसे पहले होगा। छत्तीसगढ़ की झांकी जिसमें प्रदेश की कला और आभूषण का प्रदर्शन किया जाएगा। झांकी का निर्माण राष्ट्रीय रंगशाला कैम्प नई दिल्ली में किया जा रहा, जिसके निरीक्षण के लिए आज छत्तीसगढ़ से जनसंपर्क विभाग के आयुक्त श्री तारन प्रकाश सिन्हा भी पहुँचे। झांकी के अवलोकन के साथ ही उन्होंने छत्तीसगढ़ से झांकी में शामिल होने पहुँचे सांस्कृतिक दल के कलाकारों से मुलाकात कर उनका उत्साह वर्धन किया। राजपथ पर झांकी के साथ छत्तीसगढ़ के नृतक दल ककसार नृत्य का प्रदर्शन करेंगे।

 

 


Date : 19-Jan-2020

ये हैं शहर की पैडलेडी, आदिवासी क्षेत्र की महिलाओं को कर रहीं अवेयर, बांट रहीं मुफ्त सैनेटरी नेपकिन

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 19 जनवरी। कुछ साल पहले बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने पैडमेन फिल्म के माध्यम से जागरूकता फैलाई है। इसी से प्रेरित होकर राजधानी की ममता रायकोपण्ड ने समाज की गल्र्स को पीरियड्स के बारे में जागरूक करते हुए उन्हें सैनेटरी नेपकिन नि:शुल्क में बांट रही हैं।

कर चुकी हैं 20 हजार गल्र्स को जागरूक

ममता ने बताया कि पीरियड्स नेचुरल है और हर एक महिला में ये हार्मोन्स स्त्रावित होते हैं। फिर भी हमारे प्रदेश की बच्चियां इससे अंजान होती है और इन दिनों स्वास्थ्य की देखरेख नहीं करती। वहीं पीरियड्स की अनदेखी की वजह से देश मे कई महिलाओं की मौत हो जाती है। इन सब समस्यों को देखकर मैंने तय किया कि गर्ल्स को पीरियड्स के बारे में अवेयर किया जाए ताकि इसे छुपाने की वजह छोडक़र स्वास्थ्य की ओर ध्यान देकर हेल्दी समाज की स्थापना हो सके। ममता ने प्रदेश के कई स्कूलों में जाकर गल्र्स को जागरूक किया है। जिसमे करीब 20 हजार महिलाएं शामिल हैं।

मुफ्त बांटती हैं नेपकिन

ममता शहर व गांव में जाकर महिलाओं और स्कूली बच्चियों के लिए वर्कशॉप आयोजित करती हैं और स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता देती है। इस दौरान वे मुफ्त में सेनेटरी नेपकिन बांटती हैं। साथ ही कॉलेज में जाकर वर्कशॉप भी करती हैं। ममता कहती हैं कि जब तक पीरियड्स पर खुलकर चर्चा नहीं होगी तब तक हम देश की महिलाओं को स्वस्थ्य नहीं रख सकते।

 

 


Date : 19-Jan-2020

सीएम ने स्वतंत्रता सेनानी पाण्डेय के स्वास्थ्य की जानकारी ली

रायपुर, 19 जनवरी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार रात रायपुर के  रामकृष्ण अस्पताल जाकर वहां इलाज के लिए भर्ती स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और रायपुर निवासी 92 वर्षीय महादेव प्रसाद पाण्डेय से मुलाकात की और उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। श्री बघेल ने श्री पाण्डेय को जल्द स्वास्थ्य लाभ के लिए शुभकामनाएं दी। उन्होंने चिकित्सकों से श्री पाण्डेय को बेहतर से बेहतर इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कहा। 

 


Date : 19-Jan-2020

प्रधानमंत्री आवास योजना साढ़े 9 लाख परिवार लाभान्वित, मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल ने योजना के तहत गठित राज्य स्तरीय समिति की बैठक में विभागीय अधिकारियों को प्रदेश के सभी पात्र हितग्राहियों को आवास उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं

रायपुर, 19 जनवरी। छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत स्थायी प्रतीक्षा सूची में कुल पात्र परिवार 18 लाख 74 हजार 334 है। इनमें से 9 लाख 39 हजार 335 परिवारों को लाभान्वित किया जा चुका है। मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल ने योजना के तहत गठित राज्य स्तरीय समिति की बैठक में विभागीय अधिकारियों को प्रदेश के सभी पात्र हितग्राहियों को आवास उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

बैठक में संचालक प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण ने बताया कि वर्ष 2022 तक सभी पात्र परिवारों को आवास प्रदाय किया जाना है। इसके लिए वित्तीय वर्ष 2020-21 में 4 लाख 67 हजार और वित्तीय वर्ष 2021-22 में 4 लाख 67 हजार आवास प्रस्तावित है। इन आवासों के लिए 11 हजार 657 करोड़ रूपए की आवश्यकता होगी।

इस राशि में लगभग 7 हजार करोड़ केन्द्र का और 4 हजार 600 करोड़ राज्य का अंश है। मुख्य सचिव ने बैठक में वित्त विभाग से चर्चा कर राशि उपलब्ध कराने की सहमति प्रदान की।