छत्तीसगढ़ » रायपुर

Posted Date : 22-May-2019
  • अन्तरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम में ओडिशा ने यूपी को 3-1 हराया
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 22 मई।
    अन्तरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम में 11 मई से चल रहे 9वीं राष्ट्रीय सब जूनियर हॉकी चैंपियनशिप के तहत बुधवार सुबह तीसरे स्थान के लिए झारखंड और साई के बीच मुकाबला हुआ जिसमें झारखंड 3-0 से विजेता रही। 

    बुधवार शाम को ओडिशा और उत्तर प्रदेश के बीच खिताबी मुकाबला हुआ। संघर्षपूर्ण रोमांचक मुकाबले में कांटे की टक्कर रही। चौथे क्वाटर तक दोनों ही टीम बराबरी पर रही। कांटे की टक्कर में दोनों ही टीमें 2-2 की बराबरी पर रही। इसके बाद ट्राइबे्रेकर दिया गया। जिसमें 3-1 से ओडिसा की टीम विजयी रही।

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • मतगणना की तैयारी पूरी, सैकड़ों जवान तैनात में
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 22 मई।
    सेजबहार स्थित सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज में गुरुवार को होने वाली मतगणना के लिए चुनाव आयोग और जिला पुलिस प्रशासन ने अपनी लगभग पूरी तैयारी कर ली है। मतगणना के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए करीब 5 सौ जवान तैनात किए जा रहे हैं। दूसरी ओर यातायात व्यवस्था को दुरुस्त रखने मतगणना स्थल के आसपास से लेकर शहर तक चुस्त व्यवस्था की जा रही हैं। वोटों की गिनती कल सुबह से शुरू होगी। 

    बताया गया कि मतगणना स्थल पर जिला पुलिस बल को करीब ढाई सौ जवान लगाए गए हैंं। ये सभी जवान मतगणना स्थल पर सेक्टरवार  ड्यूटी पर तैनात रहेंगे। इसके अलावा पुलिस के बड़े अफसर-निरीक्षक भी तैनात होकर वहां व्यवस्था संभालेंगे। दूसरी ओर दो से ढ़ाई सौ जवान अलग-अलग थाना क्षेत्र में तैनात रहेंगे। यातायात पुलिस की ओर से शहर से लेकर इंजीनियरिंग कॉलेज सेजबहार से लेकर आवाजाही, पार्किंग की अलग-अलग व्यवस्था की गई है। 

    मोबाइल, बीड़ी-सिगरेट पर प्रतिबंध 
    मतगणना स्थल पर बीड़ी, सिगरेट, गुटखा, तम्बाखू, लाइटर, चाकू, माचिस, पटाखा, लाठी-डंडा, तलवार, लैपटॉप, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, मोबाइल फोन, बैनर-पोस्टर एवं ध्वनि विस्तारक यंत्र ले जाने पर प्रतिबंधित किया गया है। चुनाव आयोग ने सुरक्षा को देखने हुए वहां यह प्रतिबंध लगाया है। इससे संबंधित नोटिस कॉलेज गेट पर भी चस्पा किया गया है। चुनाव आयोग व पुलिस प्रशासन से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि मतगणना को लेकर उनकी तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। 

     

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • पंचायत व नगरीय निकाय चुनाव में मतदान और मतगणना की तारीख अलग-अलग हो

    शिक्षकों की चुनाव आयोग से मांग
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
     रायपुर, 22 मई।
    प्रदेश के नगरीय निकाय शिक्षकों ने दिसंबर 2019 से जनवरी 2020 के बीच होने वाले पंचायत एवं नगरीय निकाय चुनाव में मतदान और मतगणना की तारीख अलग-अलग तय करने की मांग चुनाव आयोग से की है। उनका कहना है कि वे सभी मतदान के दिन सुबह 7 से शाम 6 बजे तक वहां ड्यूटी पर तैनात रहते हैं। 11 घंटे की ड्यूटी के बाद वहां पुनर्मतगणना की स्थिति बनती है, तो उनके लिए आगे की ड्यूटी कठिन हो जाती है। 

    शिक्षक नेता संजय शर्मा के नेतृत्व में शिक्षकों पर एक प्रतिनिधि मंडल आज दोपहर यहां चुनाव आयोग पहुंचा। प्रतिनिधि मंडल ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू से मिलकर चुनाव में होने वाली समस्याओं  के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव में प्रत्याशी व मतदाता स्थानीय रहते है। ऐसे में एक वोट से हार-जीत में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ मतदान दलों पर मतगणना के दौरान अपने पक्ष में कार्य करने के लिए दबाव बनाने का प्रयास करते है, जिससे कई बार विवाद की स्थिति बनती है। कई बार मतदान दलों पर पथराव, हमले की नौबत भी आ जाती है। ऐसे में मतदान और मतगणना की तारीख अलग-अलग तय की जाए। 

    उनका यह भी कहना है कि मतगणना का काम जनपद पंचायत या विकासखंड स्तर पर केंद्र बनाकर किया जाए, ताकि वहां उन्हें पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था मिल सके। शिक्षकों का यह भी कहना है कि 6 सौ से अधिक मतदाता होने पर वहां सहायक मतदान केंद्र बनाया जाए। दूसरी ओर पंचायत व नगरीय निकाय चुनाव में प्रत्येक मतदान केंद्र को अतिसंवेदनशील मानते हुए सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया जाए, क्योंकि  दोनों चुनाव में सभी प्रत्याशी स्थानीय होते हैं, तथा एक-एक वोट का वहां हार-जीत में महत्वपूर्ण योगदान होता है। कई बार इन मतदान केंद्रों  में छोटी सी बात पर बड़ी घटना घटित होने की ज्यादा संभावना रहती है। चुनाव आयोग ने शिक्षकों की समस्याएं सुनने के बाद उनकी मांगों पर विचार कर आश्वासन दिया है। 

     

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • आईडीबीआई बैंक में बंधक मकान बेचा, सौदे की रकम भी वापस नहीं, आरोपी हिरासत में 
    यूपी से ट्रांजिट रिमांड पर लेकर आई पुलिस 
     छत्तीसगढ़ संवाददाता
     रायपुर, 22 मई।
    बैंक में बंधक मकान को बिक्री कर लाखों की ठगी का आरोपी उत्तरप्रदेश में पकड़ा गया। पुलिस ने उसे ट्रांजिट रिमांड लेकर रायपुर लाया। यहां उसे बारीकी से पूछताछ चल रही है। 

    पुलिस के मुताबिक आरोपी विनोद पटेल ने अपने हाउसिंग बोर्ड सड्डू स्थित बैंक में बंधक मकान का सौदा 22 अगस्त 2017 को अश्वन कुमार साहू सड्डू से 22 लाख 40 हजार में किया। बतौर बयाना 2 लाख रुपये चेक से दिया। और शेष राशि पंजीयन के समय देने की बात तय हुई। इस दौरान यह भी बात हुई कि यह मकान न कहीं गिरवी है न विवादित है। बाद में पता चला कि यह मकान आईडीबीआई बैंक में बंधक है एवं हाउसिंग फायनेंस पर है। विक्रेता बैंक का 19 लाख रूपये का देनदार है। जबकि इसके पहले विके्रेता खरीददार से 13 लाख 91 हजार 170 रूपये की धोखाधड़ी कर चुका था। 

    खरीददार को इसकी जानकारी उस समय हुई जब वह एनओसी लेने हाउसिंग बोर्ड पहुंचा। उसने मकान मालिक को धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए उसे दी हुई रकम की मांग की, लेकिन उसने बार-बार कहने के बाद भी उसका रकम वापस नहीं किया। अंत में खरीददार ने इसकी लिखित शिकायत विधानसभा पुलिस में की। पुलिस ने मकान मालिक को पूछताछ के लिए खबर दी, पर वह नहीं आया। पुलिस की एक टीम ने फिर उसे रेनुकोट उत्तरप्रदेश से गिरफ्तार कर रायपुर लाया। वह खास  हिरावनपुर प्रतापपुर, थाना सरायममरेज, इलाहाबाद उत्तर प्रदेश का रहने वाला है। पुलिस ने उसके खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है। 

     

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • वन अधिकार अधिनियम का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए-बघेल
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 22 मई।
    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि प्रदेश में वन अधिकार अधिनियम के प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने आज मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित समीक्षा बैठक में इसकेे लिए सरगुजा, रायपुर और बस्तर में कार्यशाला आयोजित करने के निर्देश दिए। 

    बैठक में निर्णय लिया गया कि सरगुजा संभाग के मुख्यालय अम्बिकापुर में 28 मई को, रायपुर में 29 मई को और बस्तर संभाग के मुख्यालय जगदलपुर में 30 मई को इस कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। मुख्यमंत्री स्वयं, वन मंत्री, मुख्य सचिव तथा क्षेत्र के मंत्रीगण, विधायक, कलेक्टर, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, वन मंडलाधिकारी, वन और राजस्व विभाग के अनुविभागीय अधिकारी, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, सहायक आयुक्त, आदिवासी विकास कार्यशाला में उपस्थित रहेंगे।

    मुख्यमंत्री ने समीक्षा के दौरान कहा कि कार्यशाला में वन अधिकार अधिनियम के प्रावधानों की विस्तृत और स्पष्ट जानकारी दी जाए, जिससे इस अधिनियम का क्रियान्वयन प्रभावी ढंग से हो सके। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि अधिनियम के अनुसार सभी पात्र व्यक्तियों को वन अधिकार पट्टे दिए जाएं। उन्होंने सामुदायिक वन अधिकार पट्टे देने के निर्देश भी बैठक में दिए।

    श्री बघेल ने वन अधिकार अधिनियम के क्रियान्वयन के लिए ग्राम पंचायत, जनपद और जिला स्तर पर गठित समितियों का पुनर्गठन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वन अधिकार पट्टे के लिए निरस्त किए गए आवेदनों पर फिर से विचार किया जाए।

    उन्होंने मानसून के पहले वन क्षेत्रों के गांवों में ग्राम वन समितियों के माध्यम से सब्जी और फलों के बीज वितरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने अचानकमार अभ्यारण्य और कांगेर वेेली में फलदार वृक्षों की प्रजातियों के बीज का हवाई छिड़काव करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वनों में मानसून के पहले बीजों का छिड़काव किया जाए, जिससे आने वाले समय में बंदर, भालू, शूकर जैसे पशुओं के लिए जंगल में ही आसानी से भोजन उपलब्ध हो सके।

    मुख्यमंत्री ने राजस्व सचिव को निर्देश दिए कि सीमांकन, नामांतरण, बंटवारा के प्रकरणों का निपटारा लोक सेवा गांरटी अधिनियम में निर्धारित की गई समय-सीमा में निराकरण तथा तहसीलदार, राजस्व निरीक्षक, पटवारी की मुख्यालय में उपस्थिति सुनिश्चित की जाए।

    बैठक में मुख्य सचिव सुनील कुमार कुजूर, वन विभाग के अपर मुख्य सचिव सी.के.खेतान, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी, आदिम जाति विकास विभाग के सचिव डी.डी.सिंह, मुख्यमंत्री के संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी, मुख्यमंत्री के ग्रामीण विकास के सलाहकार प्रदीप शर्मा तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

     

     

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • मी टू में फंसे कौशिक को कांग्रेस की सलाह, एमजे अकबर का करे अनुसरण 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 22 मई।
    छेड़छाड़ के आरोपों में घिरे नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक पर कांग्रेस ने पलटवार किया है। साथ ही उन्हें केन्द्रीय मंत्री एमजे अकबर का अनुसरण करने की सलाह दी है। कांग्रेस ने कहा कि कौशिक जिस एजेंसी से चाहे, प्रकरण की जांच उससे कराई जा सकती है। 

    कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि कांग्रेस व्यक्तिगत प्रतिशोध की राजनीति में विश्वास ही नहीं करती है। धरमलाल कौशिक जी के खिलाफ शिकायत की गई है उस शिकायत से कांग्रेस का कोई संबंध नहीं है। धरमलाल कौशिक एक जिम्मेदार सम्मानित नेता हैं और उन्हें मंत्री का दर्जा प्राप्त है। अभी तो सरकार ने या पुलिस ने कोई कार्यवाही ही कौशिकजी के विरुद्ध नहीं की है। ऐसी स्थिति में धरमलाल कौशिक मामले में सरकार और कांग्रेस के खिलाफ बयान बेहद गैर जिम्मेदाराना है। अगर धरमलाल कौशिक जी के खिलाफ कोई षड्यंत्र हो रहा है तो उन्हें स्वयं सामने आकर षडय़ंत्र के बारे में पुलिस को बताना चाहिए। महिला ने गंभीर शिकायत की है। धरमलाल कौशिक को तो स्वयं इस शिकायत की जांच की मांग करनी चाहिये। जिस एजेंसी से धरमलाल कौशिक चाहे उसी एजेंसी से इस प्रकरण की जांच के लिये हम तैयार है। धरमलाल कौशिकजी को अपनी सरकार मंत्री एमजे अकबर का अनुसरण करना चाहिये, जिन्होने ऐसी ही शिकायतों पर पद छोडक़र स्वयं जांच की मांग की और जांच का सामना भी किया है। 

    श्री त्रिवेदी ने कहा कि भीमा मंडावी के मामले में छत्तीसगढ़ सरकार ने कहा था कि हम हर तरह की जांच के लिए तैयार हैं।एनआईए की जांच की घोषणा जिस तरीके से आदर्श आचार संहिता लागू होने के बावजूद की गयी और राज्य सरकार की अनुशंसा तक नहीं होने की मूलभूत जरूरत को अनदेखी किया गया है, यह भाजपा की नीयत को दर्शाता है। हमने भी अपने नेताओं की एक पूरी पीढ़ी को माओवादी हमले में गंवाया है। भीषण हत्याकांड में गंवाया है। हम शहीदों के परिजनों के दर्द को जानते हैं, समझते हैं। जीरम मामले में भी एनआईए की जांच की घोषणा की गई थी। 

    उन्होंने कहा कि एनआईए ने क्या किया था? इस बेहद गंभीर मामले में जिन गवाहों की सूची एनआईए ने स्वयं न्यायालय को दी थी, उन सभी गवाहों से पूछताछ नहीं की। जीरम मामले में षडय़ंत्र की जांच तक नहीं की। जीरम मामले में एनआईए बार-बार मांगने के बावजूद छत्तीसगढ़ सरकार को एनआईए जीरम मामले की जांच की फाइल तक क्यों नहीं दे रही है? छत्तीसगढ़ में बीजेपी की रमन सिंह सरकार ने भी जीरम मामले में क्या किया था? शहीदों के परिजनों ने मांग की थी कि हमें गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलाया जायें, शहीदों के परिजनों को मिलाया तक नहीं। भाजपा सरकार ने जीरम मामले की सीबीआई जांच विधानसभा के पटल में घोषणा करने के बावजूद नहीं कराई और रमन सिंह सरकार के नोडल ऑफिसरों ने एनआईए की जांच में उस समय बाधा डालने की कोशिश की। छत्तीसगढ़ के लोगों को यह जानने का अधिकार है कि रमन सिंह सरकार जीरम मामले में क्या छुपाने में लगी है। 

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • लोकसभा चुनाव, मतगणना कल

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 22 मई।
    लोकसभा चुनाव के गुरूवार नतीजे घोषित किए जाएंगे। मतों की गिनती सभी जिला मुख्यालयों में सुबह 8 बजे से शुरू होगी। ईवीएम की गणना साढ़े 8 बजे से की जाएगी। मतगणना के बाद वीवीपेट की पर्ची का मिलान किया जाएगा। प्रदेश की 11 सीटों में उतरे कुल 166 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होगा। शाम तक सारी तस्वीर साफ होने की उम्मीद जताई जा रही है। 

    मतगणना प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में एक साथ शुरू होगी। इसकी प्रशासनिक तैयारियां पूरी हो चुकी है। प्रदेश की सभी 11 लोकसभा सीटों के लिए मतों की गिनती की जाएगी। कांग्रेस और भाजपा ने अपनी-अपनी जीत के दावे किए हैं। भाजपा को विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद लोकसभा चुनाव में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है। जबकि कांग्रेस राज्य सरकार के तीन महीने के कामकाज के आधार पर सभी सीटों पर जीत का दावा कर रही है। पिछले चुनाव में भाजपा को 10 सीटेें मिली थी, जबकि कांग्रेस को एकमात्र दुर्ग सीट पर ही सफलता मिल पाई थी। 

    इस लोकसभा चुनाव में तस्वीर कुछ हद तक बदली हुई है। एग्जिट पोल के मुताबिक कांग्रेस को पिछले चुनाव की तुलना में फायदा हो सकता है। जबकि भाजपा को नुकसान की संभावना है। इससे परे रायपुर लोकसभा क्षेत्र की होने वाली मतगणना के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने चार केन्द्रीय प्रेक्षकों की नियुक्ति की है। इनमें विधानसभा क्षेत्र 45-भाटापारा और 46-बलौदाबाजार के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी चन्द्रशेखर को, 47-धरसींवा, 48-रायपुर ग्रामीण व 52-आरंग के लिए आंध्रप्रदेश के प्रशासनिक सेवा के अधिकारी के. चन्द्रशेखर राव को, 49-रायपुर पश्चिम, 50-रायपुर नगर उत्तर के लिए भाप्रसे  के अधिकारी के केशव कुमार पाठक को तथा 51-रायपुर दक्षिण, 53-अभनपुर के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी एस. गोपालन आर. की नियुक्ति की गई है।

     भाटापारा और बलौदाबाजार विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना बलौदाबाजार में होगी तथा हर राऊंड के गणना के बाद उसकी जानकारी रायपुर के मतगणना केन्द्र शासकीय इंजीनियरिंग कालेज सेजबहार जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर डॉ. बसवराजु एस. को भेजी जाएगी। इसके बाद सभी विधानसभा क्षेत्रों की गणना को जोडक़र हर राऊंड के बाद प्राप्त मतों की घोषणा जिला निर्वाचन अधिकारी व्दारा की जाएगी। उल्लेखनीय है कि 23 मई को सबसे पहले प्रात: 8 बजे से डाक मतपत्रों की मतगणना शुरु होगी। इसके साथ ही प्रात: 8.30 बजे से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में डाले गए मतों की गणना की जाएगी। रायपुर इंजीनियरिंग कालेज सेजबहार में मतगणना की तैयारी लगभग पूरी हो गई है।  

    मतगणना स्थल पर मीडिया सेन्टर
    प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधियों के लिए शासकीय इंजीनियरिंग कालेज सेजबहार मतगणना स्थल के आडिटोरिम में मीडिया सेन्टर की स्थापना की है। जहां इंटरनेट, टेलीफोन, फैक्स, टीवी तथा फोटोकापी आदि की व्यवस्था की गई है। यहीं से सभी मीडिया प्रतिनिधि मतगणना स्थल में जा कर मतगणना प्रक्रिया का अवलोकन कर सकेंगे। मीडियाप्रतिनिधि मतगणना स्थल में बनाए गए मीडिया सेंटर तक अपने मोबाईल फोन ले जा सकेंगे। 

     

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • विकास ने कहा-नहीं मिली नोटिस, मिलने पर जवाब देंगे

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 22 मई।
    पूर्व प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह ने कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी के खिलाफ भोपाल कोर्ट में मानहानि का मुकदमा दायर किया है। अमन सिंह ने कहा कि छवि धूमिल करने की नीयत से   झूठी और निराधार शिकायत की गई है। 

    हालांकि कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा में कहा कि उन्हें नोटिस नहीं मिला है। नोटिस मिलने पर जवाब दे दिया जाएगा। पूर्व प्रमुख सचिव अमन सिंह और उनकी पत्नी श्रीमती यास्मीन  सिंह ने न्यायिक मजिस्टे्रट भोपाल के समक्ष कांग्रेस प्रवक्ता के खिलाफ राज सक्सेना के माध्यम से धारा 499,500 भादवि के अन्तर्गत प्रस्तुत किया है। परिवाद दायर किया है।

    परिवाद में कहा गया कि विकास तिवारी द्वारा राजनैतिक लाभ प्राप्त  करने के उद्देश्य से अमन कुमार सिंह एवं श्रीमती यास्मीन सिंह के विरूद्ध एक झूठी, निराधार, मानहानिकारक शिकायत  मुख्य सचिव, छत्तीसगढ के समक्ष 10 अप्रैल को प्रेषित की थी। उन्होंने कहा कि जिसका अवैधानिक लाभ प्राप्त करने  की नीयत सेे अमन कुमार सिंह एवं श्रीमती यास्मीन सिंह की छवि धूमिल करने के उददेश्य से झूठी और निराधार शिकायत को विकास तिवारी द्वारा सोशल मीडिया में भी प्रसारित किया गया, तथा ग्रैंड न्यूज चेनल द्वारा आयोजित इंटरव्यू में हिस्सा लेकर झूठे आरोपों को नेशनल टीवी पर भी अमन कुमार सिंह एवं श्रीमती यास्मीन सिंह पर लगाया, जिसका प्रसारण देश के हर कोने में हुआ है। जिससे अमन कुमार सिंह एवं श्रीमती यास्मीन सिंह को मान की हानि हो और उनकी मेहनत से बनाई छवि खराब हो। 

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका, चुनाव आयोग से शिकायत 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 22 मई।
    महासमुंद से कांग्रेस प्रत्याशी धनेंद्र साहू ने ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका जताते हुए इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की है। 
    श्री साहू के नेतृत्व में चुनाव आयोग पहुंचे कांग्रेस के एक प्रतिनिधि मंडल ने वहां मुख्य चुनाव पदाधिकारी सुब्रत साहू से अपनी शिकायत में कहा है कि उनके संसदीय क्षेत्र में होने वाली मतगणना में गड़बड़ी हो सकती है। उन्हें इस बात की भी जानकारी मिली है कुछ लोग ईवीएम को हैक करने में लगे हैं।

    उनका कहना है कि जियो मोबाइल टॉवर के नीचे कुछ लोगों को लैपटॉप के साथ देखा गया है। उन्होंने मांग की है कि इस मामले में आयोग संज्ञान लेकर कार्रवाई करें। ईवीएम मशीन की विश्वसनीयता को लेकर पूरे देश में बवाल मचा हुआ है। ऐसे में यहां भी गड़बड़ी हो सकती है।

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • विद्युत प्रणाली में आये फाल्ट की होगी जल्द जानकारी 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 22 मई। 
    छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर कंपनी को आरएपीडीआरपी योजना के अन्तर्गत विद्युत उपभोक्ताओं को प्रदत्त सेवाओं में सतत सुधार करने की दिषा में एक बड़ी कामयाबी मिली है। पॉवर कंपनी द्वारा गुढिय़ारी में मध्य भारत की सबसे बड़ी विद्युत डिस्ट्रीब्यूशन आटोमेशन हेतु स्काडा, डीएमएस सेन्टर की स्थापना-क्रियाशील कर सफलतापूर्वक संचालित की जा रही है। इससे रायपुर शहर की विद्युत प्रणाली में आये किसी भी प्रकार की गड़बड़ी की तत्काल जानकारी मिनटों में स्काडा सेन्टर के माध्यम से मिल जायेगी। स्काडा कंट्रोल सेंटर स्थापित होने से पहले उक्त कार्य हेतु लगभग एक से दो घण्टे का समय लग जाता था। इस दृष्टि से उपभोक्ता सेवा सुधार में यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। 

    पॉवर कंपनीज के अध्यक्ष शैलेन्द्र शुक्ला ने बताया कि उपभोक्ताओं को चौबीस घण्टे क्वालिटी पॉवर की सप्लाई हो सके इस हेतु पॉवर कंपनी अत्याधुनिक प्रणालियों के क्रियान्यवन में जुटी हैं। सेवा भावी संस्थान होने के कारण पॉवर कंपनी ‘क्वालिटी पॉवर फार कन्ज्यूमर्स’ का टारगेट बनाये हुए पॉवर जनरेशन, ट्रांसमिशन एवं डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम के अपगे्रडेशन का कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता से कर रही है। गुढिय़ारी में संचालित स्काडा कंट्रोल सेंटर से रायपुर षहर में क्रियाषील 33/11 के.व्ही. उपकेन्द्रों से निर्गमित 11 के.व्ही. के 300 फीडर्स को रिंग मेन यूनिट (आरएमयू) की सहायता से एक दूसरे से जोडक़र रिंग में लाया गया है जिससे किसी भी फीडर में फाल्ट आने की स्थिति में समीप के अन्य दूसरे फीडर से विद्युत की पूर्ववत आपूर्ति न्यूनतम समय में की जा सकेगी। इससे विद्युत बाधित अधिकांश क्षेत्रों को लम्बे समय तक अंधेरे में डूबने से बचाया जा सकेगा। 

     स्काडा कंट्रोल सिस्टम को कंपनी के ऊर्जा प्रौद्योगिकी केन्द्र के सेप सिस्टम से भी कनेक्ट किया गया है जिससे फीडरों में होने वाले व्यवधान की सूचना उस क्षेत्र के प्रभावित उपभोक्ताओं को आटोमेटिकली मिल सके। इस सेंटर के माध्यम से रायपुर में स्थापित संपूर्ण 33/11 के.व्ही. उपकेन्द्रों एवं उनसे निर्गमित होने वाले 11 के.वी फीडरों, वितरण ट्रांसफार्मरों  एवं आरएमयू को एक साथ एक स्क्रीन पर देखा जा सकता है जो कि पूर्णत: जी.आई.एस. (जियोग्राफिक इन्फारमेशन सिस्टम) पर आधारित है। इस वजह से किसी भी क्षेत्र की विद्युत प्रणाली में फाल्ट होने की जानकारी स्काडा सेंटर को प्राप्त हो जाती है जिससे संबंधित क्षेत्र के अधिकारी से समन्वय स्थापित कर अत्यंत कम समय में विद्युत आपूर्ति बहाल कर ली जाती है। 

    स्काडा सेंटर की सहायता से यह भी संभव हो पाया है कि रायपुर क्षेत्र के अंतर्गत स्थापित समस्त उपकेन्द्रों एवं 11 के.वी. फीडरों के जंक्षन पांइट पर स्थपित आर.एम.यू (रिंग मेन यूनिट) के बंद या चालू होने की जानकारी तत्काल कंट्रोल सेंटर में अर्लाम सिस्टम के माध्यम से पहुंचती है जिससे संबंधित क्षेत्रों की सप्लाई व्यवस्था को बहाल करने में सहायता मिलती है।
     इसके अलावा रायपुर शहर स्थित उपकेन्द्रों में स्थापित उपकरणों की समस्त तकनीकी जानकारियां जैसे कि लोड, फीडरों का चालू-बंद होना, ट्रांसफार्मर का तापमान आदि का रिकार्ड स्काडा कंट्रोल सेंटर में दिन-रात किया जाता है जिससे लोड फ्लो एनालिसिस कर भविष्य में बढ़ले वाले लोड इन्हेन्स का अनुमान करके सुदृढ़ विद्युत अधोसंरचना के निर्माण करने में सहायता मिलती है। यह सेंटर स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर से भी इंटर सेंटर कंट्रोल सेंटर (आईसीसीपी) के माध्यम से जुड़ा हुआ है जो कि ग्रिड में उपलब्ध पॉवर एवं शहरी क्षेत्र में वितरण हेतु उपलब्ध पॉवर की समानता को दर्षाता है। इस योजना से उरला, सिलतरा औद्योगिक क्षेत्र को जोडऩे का कार्य अगले दो वर्षों में प्रस्तावित है। स्काडा सेंटर का संचालन कार्यपालन अभियंता एन.बिम्बिसार द्वारा किया जा रहा है। 

     

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • शहरी क्षेत्रों के भवनों में मिशन मोड में लगाए जाएंगे रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम 

    रायपुर, 22 मई। नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा प्रदेश के सभी नगरीय निकायों को शासकीय, अर्धशासकीय कार्यालयों एवं भवनों में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग का कार्य अविलंब कराये जाने के निर्देश जारी किए गए हैं। इस संबंध में सभी कलेक्टरों को वर्षा ऋतु प्रारंभ होने के पूर्व नगरीय क्षेत्र में मिशन मोड में रेनवाटर हार्वेस्टिंग लगाने की कार्रवाई कराने कहा गया है। 

    उल्लेखनीय है कि प्रदेश के नगरीय निकायों में ग्रीष्म ऋतु में प्रतिवर्ष भू-गर्भ पेयजल स्तर अपेक्षाकृत नीचे जा रहा है, जिससे कई स्थानों पर पेयजल की समस्या उत्पन्न हो रही है, भू-गर्भ जल की रिचार्जिंग के मद्देनजर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने समीक्षा बैठक में नगरीय निकायों में स्थित शासकीय, अर्द्धशासकीय और निजी भवनों में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग का कार्य अनिवार्य रूप से किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। 

    नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा जारी निर्देशानुसार प्रदेश के सभी जिलों के नगरीय निकायों में स्थित सभी शासकीय एवं अर्द्धशासकीय भवनों में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग कार्य पूर्ण कराना अनिवार्य किया गया है। सभी निजी संस्थानों के स्कूलों, अस्पताल, वाणिज्यिक भवन, रिहायसी कालोनियां, टॉउनशिप और औद्योगिक इकाईयों में भी हार्वेस्टिंग का कार्य अनिवार्य किया गया है। नगरीय क्षेत्रों में आयुक्तों व मुख्य नगर पालिका अधिकारियों द्वारा सभी संबंधित शासकीय भवनों व निजी भवनों में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की स्थापना का प्रमाण-पत्र प्राप्त कर कलेक्टर को प्रस्तुत करेंगे। जिन भवनों में पूर्व से स्थापित वॉटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था का भी स्थापित सिस्टम कार्यशील प्रमाण-पत्र प्राप्त करने के निर्देश हैं। 
    समस्त नए निजी भवनों, संस्थानों, कॉलोनियों एवं संरचानाओं की भवन अनुज्ञा प्रदान करने में विभाग द्वारा जारी निर्देशों के अनुरूप अनिवार्य सुरक्षा राशि जमा करवायी जाएगी और भवन पूर्णता प्रमाण-पत्र जारी करने से पहले रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम का फोटोग्राफ्स प्राप्त कर निकाय के अभियंता द्वारा स्थल निरीक्षण कर सत्यापन कराया जाना अनिवार्य होगा। जिन संरचानाओं की भवन अनुज्ञा अवधि समाप्त हो चुकी है उनके द्वारा रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम स्थापित किए जाने की जानकारी निकाय को अप्राप्त है। ऐसे प्रकरणों में निकाय में आवेदन द्वारा रेन वॉटर हेतु सुरक्षा निधि की राशि राजसात कर निकाय द्वारा स्वंय की एजेंसी से रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम स्थापित किया जाएगा। 

    रेन वॉटर हार्वेस्टिंग हेतु संचालनालय स्तर पर भागीरथी वर्मा प्रभारी मुख्य अभियंता, यांत्रिकी प्रकोष्ठ को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। रेन वाटर हार्वेस्टिंग के

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • नक्सल प्रभावित पहुंचविहीन गांवों मेें सौर ऊर्जा से पहुंची बिजली

     रायपुर, 22 मई। छत्तीसगढ़ के दूरस्थ, पहुंचविहीन एवं नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के ग्यारह हजार 886 घरों में बीते साल के अंतिम महीने तक बिजली नहीं पहुंची थी। क्षेत्र में निवासरत् ग्रामीण एवं आदिवासी परिवार अंधेरे में जीवन यापन करने के लिए मजबूर थे। 

    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में संवेदनशीलता का परिचय देते हुए इन सभी परिवारों को सौर ऊर्जा से विद्युत प्रदाय हेतु क्रेडा को जिम्मेदारी सौंपीं क्रेडा ने सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों पर अमल करते हुए विगत 03 माह में ही लगभग 11886 घरों को सौर ऊर्जा के माध्यम से विद्युतीकृत किया है। इनमें से अधिकांश अविद्युतीकृत घर एल.डब्ल्यू.ई. जिलों के  है, जहां यह कार्य करना बहुत चुनौती भरा था। इन गांवों में परम्परागत विद्युत ग्रिड से बिजली पहुंचाना संभव ही नहीं था। क्रेडा की तत्परता और नई सरकार की पहल से इन अंधेरे घरों में रोशनी आई और गांव वालों का कहना है ‘अंजोर आया तो खुशियां आई’।

    क्रेडा को प्रदेश सरकार द्वारा वन बाधित एवं नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में निवासरत् एवं विद्युत व्यवस्था से वंचित परिवारों को सौर संयंत्र के माध्यम से बिजली प्रदान करने के निर्देश दिए एवं क्रेडा की तत्परता से महज माह जनवरी से मार्च में ही 11886 घरों में बिजली पहुचा दी गई। 

    वर्तमान में केवल अतिसंवेदनशील नक्सल प्रभावित क्षेत्रों का कार्य शेष बचा है, जिसे बहुत शीघ्र पूर्ण करने के प्रयास किए जा रहे है।

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • वरिष्ठ अधिकारी करेंगे आकस्मिक निरीक्षण

    रायपुर, 22 मई। मदिरा दुकानों में ओवर रेटिंग पर प्रभावी नियंत्रण और राजस्व लक्ष्य सुनिश्चित करने के लिए आबकारी आयुक्त तथा वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा फुटकर मदिरा दुकानों का आकस्मिक निरीक्षण किया जाएगा। मदिरा दुकानों में सेल्स काउटरों की संख्या बढ़ाई जाएगी। 

    मदिरा दुकानों में ओवर रेटिंग तथा अन्य प्रकार की गंभीर अनियमितता पाए जाने पर संबंधित छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कार्पोरेशन लिमिटेड के जिला प्रबंधक पर उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुए कठोर अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कार्पोरेशन लिमिटेड के प्रबंध संचालक ए.पी.त्रिपाठी ने कार्पोरेशन के सभी महाप्रबंधकों, उप महाप्रबंधकों को इस संबंध में पत्र लिखकर ओवर रेटिंग पर प्रभावी नियंत्रण करने और मदिरा दुकानों का सुचारू संचालन करने को कहा है। 

    प्रबंध संचालक द्वारा लिखे गए पत्र में कहा गया है कि प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से नियुकत समस्त सुपरवाईजर एवं सेल्समेन को यूनिफार्म में ड्यूटी करनी होगी, उनके नाम का बैच तथा सीएसएमसीएल मोनो उनके यूनिफार्म में अनिवार्य रूप से लगा होना चाहिए। यदि सुपरवाईजर या सेल्स मेन बिना यूनिफार्म के पाए जाते हैं तो प्लेसमेंट एजेंसी पर वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। पत्र में मदिरा दुकानों में नियुक्त सुपरवाईजर तथा सेल्समैन का नाम तथा फोटो लेमिनेट करा कर ग्राहकों को प्रदर्शित करने के निर्देश दिए गए हैं। पत्र में यह भी कहा गया है कि मदिरा दुकानों में जितनी संख्या में सेल्समैन नियुक्त किए गए हैं (एक रिलीवर को छोडक़र) उतनी संख्या में विक्रय काउंटर होने चाहिए तथा सभी काउंटर शाम 5 बजे से रात्रि दुकान बंद होने तक आवश्यक रूप से संचालित रहने चाहिए। 

    पत्र में कहा गया है कि जिला प्रबंधक एवं उनके अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा शाम 5 बजे से रात्रि दुकान बंद होने तक अपने प्रभार क्षेत्र की दुकानों का सतत रूप से निरीक्षण किया जाना सुनिश्चित किया जाए, साथ किसी भी ओवर रेटिंग तथा अन्य प्रकार की अनियमितता पाए जाने पर तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। जिला प्रबंधकों को निरीक्षण से संबंधित प्रतिवेदन प्रति माह प्रबंध संचालक को भेजना होगा। पत्र में यह भी उल्लेख किया गया है कि प्राय: देखा जा रहा है कि अधिकांश मदिरा दुकानों में केवल एक या दो काउंटर संचालित हैं, जबकि तीन से ज्यादा सेल्समैन वहां नियुक्त हैं। दुकानों में शाम 5 बजे से रात्रि दुकान बंद होने तक अनावश्यक भीड़ की स्थिति रहती है। 

     

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • छुटकू टेस्ट मैच का मंचन 24 को

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 22 मई। कच्ची माटी छत्तीसगढ़ बाल्य नाट्य समूह के ग्रीष्मकालीन 30 दिवसीय नाट्य कार्यशाला के समापन अवसर पर 24 मई को शाम 6.30 बजे उन्मुख अकादमी, सेक्टर-1 देवेंद्र नगर में कार्यशाला में तैयार किए गए नाटक का मंचन किया जाएगा।  नाट्य कार्यशाला समापन अवसर पर प्रतिभागी बच्चों द्वारा ज्ञान चतुर्वेदी लिखित एवं पल्लवी शिल्पी द्वारा निर्देशित नाटक छुटकू टेस्ट मैच का मंचन किया जाएगा। इस अवसर पर साकेत साहू के निर्देशन में प्रतिभागी कविता का दृश्य पाठ और स्वरचित कहानी की प्रस्तुति देंगे।  विदित हो कि कच्ची माटी द्वारा आयोजित बाल्य नाट्य कार्यशाला में रंग निर्देशक रंजन मोडक़, अरूण भांगे एवं पल्लवी शिल्पी के मार्गदर्शन में प्रशिक्षु बच्चों को अभिनय, मास्क मेकिंग, थियेटर मेकअप सहित अन्य विधाओं में प्रशिक्षण दिया गया। 

     

  •  

Posted Date : 22-May-2019
  • प्रशिक्षित कबूतर उड़ान स्पर्धा में दे रहे हैं प्रतिद्वंदी को टक्कर  

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 22 मई। छत्तीसगढ़ फ्लाईंग क्लब की ओर से हर साल की तरह इस वर्ष भी कबूतर उड़ान प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। 5 मई से शुरू हुई श्रृखंलाबद्ध प्रतियोगिता 26 मई को संपन्न होगी। विदित हो कि राजधानी में आयोजित कबूतर उड़ान प्रतियोगिता में प्रदेशभर के प्रतिभागी शामिल रहते हैं। प्रतिभागी को कबूतर उड़ान स्पर्धा के नियमों का पालन करना पड़ता है। कबूतर उड़ान स्पर्धा में हैदराबादी कबूतर के अलावा खास नस्ल के प्रशिक्षित कबूतर भाग लेते हैं। 

    कबूतर उड़ान के संयोजक तन्नु भाई ने बताया कि इस वर्ष 5 मई से कबूतर उड़ान स्पर्धा शुरू हुई। पहले चरण में 30 कबूतरबाज शामिल रहे। इन्हें 11-11 कबूतर उड़ाने थे। स्पर्धा में भिलाई, राजनांदगांव, दुर्ग, रायपुर के कबूतरबाज शामिल रहे। कबूतर उड़ान के विजेता कुबेर उपविजेता विनोद तथा शेख रियाज ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। 

    12 मई को आयोजित स्पर्धा में प्रतिभागियों को 6 कबूतर उड़ाने थे। स्पर्धा में 80 कबूतरबाज शामिल रहे। स्पर्धा में कनवर विजेता, शाहिद उपविजेता रहे। 19 मई को प्रतिभागियों को 4, 4 कबूतर उड़ाने थे। प्रतियोगिता में 80 प्रतिभागी शामिल रहे। स्पर्धा में भिलाई के अमित विजेता तथा कवरेज उपविजेता रहे। तीसरा स्थान निक्कू ने प्राप्त किया। अख्तर, गोलू, संतोष, अतुल टॉप 7 में जगह बनाने में कामयाब रहे। 

    26 मई को कबूतर उड़ान की अंतिम चरण की राज्य स्तरीय कबूतर उड़ान स्पर्धा आयोजित की जाएगी। स्पर्धा में प्रतिभागियों को 4, 4 कबूतर उड़ाने होंगे। स्पर्धा पश्चात कबूतर उड़ान प्रतियोगिता की विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा। 

     

     

  •  

Posted Date : 21-May-2019
  • पुष्पांजलि, स्व. गांधी के बताए रास्तों पर चलने का संकल्प
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 21 मई।
    पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस भवन व राजीव गांधी चौक पर एक कार्यक्रम आयोजित कर उन्हें पुष्पांजलि दी गई। कांग्रेस भवन में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, मंत्री शिव डहरिया, विधायक सत्यनारायण शर्मा, महापौर प्रमोद दुबे समेत कई नेताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. गांधी के कार्यों की सराहना करते हुए उनके बताए रास्तों पर चलने का संकल्प लिया। दूसरी ओर निगम संस्कृति विभाग द्वारा पुराना फायर ब्रिगेड ऑफिस चौक  के समीप स्थित राजीव गांधी चौक पर एक कार्यक्रम रखा गया। इस दौरान कांग्रेस के छोटे-बड़े नेताओं ने स्व. गांधी की प्रतिमा पर माल्र्यापण करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी। 

    कार्यक्रम में महापौर श्री दुबे, निगम संस्कृति विभागाध्यक्ष राधेश्याम विभार समेत निगम के पदाधिकारी प्रमुख रूप से मौजूद रहे। 

     

  •  

Posted Date : 21-May-2019
  • संजय नगर, टिकरापारा के लोगों ने तालाब, श्मशान घाट की जमीन का कलेक्टर से सीमांकन कराने की मांग

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 21 मई
    । संजय नगर टिकरापारा के लोगों ने सार्वजनिक सरजूबांधा नया तालाब और सरजूबांधा श्मशान घाट की जमीन का सीमांकन कराने की मांग कलेक्टर से की है। उनका कहना है कि चारदीवारी के अभाव में श्मशान घाट की जमीन को एक व्यक्ति खरीदने की बात कर रहा है। वहीं तालाब किनारे कब्जा के साथ प्लाटिंग की तैयारी है। ऐसे में दोनों जगहों की जमीन को बचाना जरूरी है। 

    सरजूबांधा नया तालाब श्मशान घाट विकास समिति के अध्यक्ष माधव लाल यादव, सचिव सतनाम पनाग व अन्य पदाधिकारी मंगलवार सुबह मोहल्लेवासियों के साथ यहां कलेक्टोरेट पहुंचे। उन्होंने वहां जिला प्रशासन से मिलकर संजय नगर के सरजूबांधा नया तालाब और सरजूबांधा श्मशान घाट की जमीन को बचाने की मांग की। उन्होंने अफसरों को ज्ञापन सौंपकर कहा कि यह तालाब बहुत पुराना है और कब्जा के चलते उसका रकबा सिकुड़ता जा रहा है। तालाब किनारे लगातार घर बनते जा रहे हैं। तालाब को पाटकर वहां प्लाटिंग की योजना बनाई जा रही है। 

    पदाधिकारियों ने बताया कि श्मशान घाट के लिए शासन से 85 लाख रुपये मंजूर किए जा रहे हैं, जिससे वहां चौकीदार कमरा, उद्यान, वृक्षारोपण, गेट, चार दीवारी आदि के काम पूरे कराए जाएंगे। दूसरी ओर  श्मशान घाट में 26 हजार वर्गफीट जमीन को एक व्यक्ति खरीद लेेने पर जोर दे रहा है, जिसका वहां विरोध शुरू हो गया है। उन्होंने जिला प्रशासन से तालाब व श्मशान घाट को बचाने जमीन का सीमांकन जल्द कराने की मांग की है। 

     

  •  

Posted Date : 21-May-2019
  • योग शिविर में दिव्यांग बालिकाएं कर रही हैं आसन, प्राणायाम
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 21 मई।
    महाराष्ट्र मंडल द्वारा स्वास्थ्य लाभ के उद्देश्य से दिव्यांग विकास गृह में इन दिनों योग का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 5 मई से 22 जून तक आयोजित योग प्रशिक्षण शिविर में सुबह 6 से7 बजे तक प्रशिक्षण दिया जा रहा है। शिविर में दिव्यांग बालिकाओं के अलावा सभी आयु वर्ग के प्रशिक्षु लाभ उठा रहे हैं। 

    प्रशिक्षिका आस्था काले ने बताया कि आधुनिक युग में बदलती जीवन शैली के कारण लोग तनावग्रस्त और बीमार हो रहे हैं। इस समस्या का निराकरण योग, आसन और प्राणायाम से संभव है। महाराष्ट्र मंडल द्वारा संचालित योग प्रशिक्षण शिविर में दिव्यांग बालिकाएं मनोयोग से योग के विविध आसनों को सीख रही हैं। बालिकाओं के अलावा हर आयु वर्ग की शिविर में भागीदारी है। शिविर में महाराष्ट्र मंडल उपाध्यक्ष श्याम सुंदर खगंन की सक्रिय सहभागिता बनी हुई है। 

     

  •  

Posted Date : 21-May-2019
  • छत्तीसगढ़ में मानसून 15 जून तक आने की संभावना
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 21 मई।
    प्रदेश में मानसून 15 जून और केरल में एक जून तक आने की संभावना है। फिलहाल मानसून अंडबान-निकोबार द्वीपसमूह  के आसपास स्थित है और वहां मानसूनी गतिविधियां तेज हो गई। मौसम विभाग का कहना है कि फिलहाल प्रदेश में भीषण गर्मी जारी रहेगी और कहीं-कहीं लू की स्थिति बनी रहेगी। गर्मी ज्यादा पडऩे पर हल्के बादल के साथ तेज हवा-बूंदाबांदी की संभावना भी बनी रहेगी। 

    प्रदेश में करीब महीने भर से भारी गर्मी पड़ रही है और रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, राजनांदगांव में तापमान करीब 44-45 डिग्री के आसपास दर्ज किए जा रहे हैं। यह तापमान सामान्य से अधिक होने के कारण कई जगहों पर लू की स्थिति बनी हुई है। राजस्थान की ओर से आ रही गर्म हवा यहां दिन के साथ रात में भी लोगों को झुलसा रही है। दोपहर में सड़कों पर वीरानी छाने लगी है। लोग घर-दफ्तर में एसी, कूलर के सामने बैठना ज्यादा पसंद कर रहे हैं। 

    मौसम विभाग के मुताबिक कल रायपुर का तापमान 43.5 डिग्री रहा। बिलासपुर-43.0, पेंड्रारोड-39.7, अंबिकापुर-40.0, जगदलपुर-39.5, दुर्ग-44.4 व राजनांदगांव-43.5 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग में चेतावनी दी है कि उत्तरी छत्तीसगढ़ में भीषण गर्मी के साथ कहीं-कहीं लू चलने की संभावना है। वहीं दक्षिण छत्तीसगढ़ में अंधड़ के साथ कहीं-कहीं हल्की बारिश हो सकती है। 

    मौसम वैज्ञानिक पीएल देवांगन का कहना है कि प्रदेश में भीषण गर्मी के साथ कहीं-कहीं लू के हालात बने हुए हैं। मानसून फिलहाल अंडबान-निकोबार द्वीपसमूह के आसपास स्थित है। मानसून के 1 जून तक केरल एवं 15 जून तक छत्तीसगढ़ आने की संभावना है। इसके पहले तक प्रदेश में गर्मी बनी रहेगी। पश्चिमी हवाओं के चलते यहां के तापमान में और वृद्धि होगी। 

     

  •  

Posted Date : 21-May-2019
  • छोटे-छोटे नालों के पानी का उपयोग रिचार्जिंग के जरिए भू-जल स्तर को ऊंचा उठाने में हो- मुख्यमंत्री बघेल 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 21 मई।
    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ राज्य के छोटे-छोटे नालों के माध्यम से बहने वाले पानी को उपयोग रिचार्जिंग के माध्यम से भू-जल स्तर को ऊंचा उठाने के लिए वन, जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, कृषि विभाग सहित संबंधित विभिन्न विभागों के अधिकारियों तथा विशेषज्ञों के साथ गहन विचार-विमर्श किया। बैठक में मुख्यमंत्री ने स्वयं वन विभाग, जल संसाधन विभाग तथा विशेषज्ञों द्वारा वॉटर रिचार्जिंग, जल संवर्धन और जल संचयन हेतु बनायें गये डिटेल प्रोजेक्ट मॉडलों को आडियो-वीडियो प्रस्तुतिकरण के माध्यम से देखा। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में सतही जल और जमीन की नमी बढ़ाने विशेष करके भू-जल स्तर को ऊंचा उठाने के लिए वैज्ञानिक ढंग से प्रयास किए जाए। उन्होंने इसके लिए मॉडल एवं प्रस्ताव बनाने के लिए वन विभाग, जल संसाधन विभाग तथा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग मिल जुलकर समन्वित प्रयास करने को कहा। उन्होंने कहा कि पूरे देश सहित छत्तीसगढ़ में भू-जल स्तर में लगातार गिरावट आ रही है और अनेक बार जल संकट की स्थिति बनती है। ऐसे में छत्तीसगढ़ राज्य जल संरक्षण एवं संवर्धन की दृष्टि से देश में अग्रणी भूमिका निभायें और मॉडल प्रोजेक्ट प्रस्तुत करें।  

    इस अवसर पर सहकारिता मंत्री  प्रेमसाय सिंह, नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया, महिला एवं बल विकास मंत्री अनिला भेडिय़ा, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, मुख्य सचिव सुनील कुजूर, अपर मुख्य सचिव  सी.के. खेतान, प्रमुख सचिव आर.पी. मंडल, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव  गौरव द्विवेदी, मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

    बैठक में अपर मुख्य सचिव सी.के. खेतान और जल संसाधन विभाग से सचिव अविनाश चम्पावत ने ऑडियो-वीडियो प्रस्तुतिकरण किया। इसी तरह लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के पूर्व प्रमुख अभियंता  एच.के. हिंगोरानी ने भी ऑडियो-वीडियो प्रस्तुतिकरण किया। मुख्यमंत्री ने स्वंय इन सभी प्रोजेक्ट का अवलोकन किया तथा अधिकारियों, सलाहकारों और विशेषज्ञों के साथ सभी प्रोजेक्ट पर विचार-विमर्श किया।

     

  •