छत्तीसगढ़ » रायपुर

Date : 12-Nov-2019

छत्तीसगढ़ टेबल टेनिस टीम घोषित, टीम को स्टेग इंटरनेशनल द्वारा प्रायोजित स्पोर्ट्स किट का वितरण भी किया गया

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवंबर। भारतीय टेबल टेनिस महासंघ के तत्वावधान में हिमाचल प्रदेश टेबल टेनिस संघ द्वारा धर्मशाला में 16  से 22 नवंबर  तक 81वीं कैडेट एवं सब जुनियर राष्ट्रीय एवं अंतर राज्यीय टेबल टेनिस  प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। उक्त प्रतियोगिता हेतु छत्तीसगढ़  टेबल टेनिस संघ के अध्यक्ष श्री शरद शुक्ला द्वारा मंगलवार को छत्तीसगढ़ राज्य के कैडेट एवं सब जुनियर (बालक एवं बालिका) टीम की घोषणा की गयी।

छत्तीसगढ़ राज्य के  कैडेट एवं सब जुनियर (बालक एवं बालिका) टीम को स्व. सरोजनी देवी पटनायक (बिलासपुर) स्मृति में विपिन पटनायक के सौजन्य से ट्रेक सुट का वितरण किया गया तथा टीम को स्टेग इंटरनेशनल द्वारा प्रायोजित स्पोर्ट्स किट का वितरण भी किया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष किशोर जादवानी, सचिव विनय बैसवाड़े, सह सचिव प्रेमराज जाचक सहित सभी पदाधिकारियो ने टीम को शुभकामनाए दी एवं अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जतायी। प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु छत्तीसगढ़ राज्य कि कैडेट एवं सब जुनियर (बालक एवं बालिका) टीम दिनाक 13 नवंबर को रवाना होगी।  टीम के कोच अभिनव शर्मा (रायपुर) एवं मेनेजर  जे. कटारिया (रायपुर) है। छत्तीसगढ़ से प्रतियोगिता में अंपायरिंग के लिए अंतर्राष्ट्रीय अंपायर प्रवीण निरापुरे (रायपुर) को चुना गया है ।

टेबल टेनिस संघ के सचिव विनय बैसवाड़े द्वारा प्राप्त जानकारी अनुसार टीम में शामिल खिलाडिय़ों के नाम इस प्रकार हैं-कैडेट बालक-अर्जुन मल्होत्रा (रायपुर), करण मल्होत्रा (रायपुर), मयंक मजुमदार (बिलासपुर), दीपांश सिंह (धमतरी)कैडेट बालिका-चहक कटारिया (रायपुर), अंजना सोनी (दुर्ग), हरीतिमा अग्रवाल (रायपुर), अनुष्का बडग़े (राजनांदगांव) सब जुनियर बालक-रामजी कुमार (रायपुर), अमन वर्मा (दुर्ग), ओम गौतम (बिलासपुर), गर्वित सुराना (रायपुर)सब जुनियर बालिका-अभिज्ञा कन्नौजे (राजनांदगांव), सुष्मिता सोम (बिलासपुर), विनिशा सिहानी (रायपुर), पल कटारिया (रायपुर)

                    


Date : 12-Nov-2019

मोहन वल्र्यानी को ग्रीन रत्न अवार्ड,  इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हम आने वाली पीढ़ी को प्लास्टिक से होने वाले प्रदूषण से बचाएं यह हम सभी का कर्तव्य बनता है

रायपुर, 12 नवंबर। पूज्य सिविल लाइन सिंधी पंचायत के दीपावली  मिलन समारोह एवं प्रतिभा सम्मान समारोह में समाजसेवी, पर्यावरण प्रेमी मोहन वल्र्यानी को ग्रीन रत्न अवार्ड से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हम आने वाली पीढ़ी को प्लास्टिक से होने वाले प्रदूषण से बचाएं यह हम सभी का कर्तव्य बनता है। अभी नहीं जागे तो कब तब देर हो चुकी होगी।


Date : 12-Nov-2019

कान्यकुब्ज ब्राह्मण समाज सम्मेलन में प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया

रायपुर, 12 नवंबर। कान्यकुब्ज ब्राह्मण समाज द्वारा आशीर्वाद भवन में विगत दिवस छतीसगढ़ स्तर पर सामाजिक सम्मेलन तथा दीपावली मिलन कार्यक्रम के तहत समाज की प्रतिभाओं का सम्मान किया गया। इस कार्यक्रम में गुजरात विधान सभा के अध्यक्ष पंडित राजेंद्र त्रिवेदी बतौर मुख्य अतिथि शामिल रहे।

इस आयोजन में विद्यालयीन स्तर से लेकर उच्च शिक्षा और कला, संगीत, साहित्य में नाम रोशन करने वाले युवाओं का सम्मान किया गया तथा विविध सांस्कृतिक कार्यक्रम महिला मंडल द्वारा कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।  इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार शंकर पांडे, आशुतोष मिश्र, किशोर त्रिवेदी, विजयकान्त दीक्षित तथा समाज में उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रवीण दीक्षित और डॉ. उत्कर्ष त्रिवेदी का सम्मान किया गया। इस सम्मेलन में अधिवक्ता अंजनेश शुक्ल और आयुषी शुक्ल ने समाज के सदस्यों को निशुल्क विधिक सहायता देने की घोषणा की।


Date : 12-Nov-2019

310 तीर्थयात्रियों ने किए कामाख्या देवी के दर्शन, तीर्थयात्रियों का जत्था 29 अक्टूबर को रवाना हुआ था

रायपुर, 12 नवंबर। बढ़ते कदम संस्था ने विगत दिनों 310 तीर्थयात्रियों के जत्थे को कामाख्या देवी और गोवाहाटी की यात्रा कराई। जत्थे में कोपलवाणी श्रवण बाधित स्कूल सुंदर नगर के 25 बच्चे, संजीवनी वृद्धाश्रम के 16 बुर्जुग सहित नगर के 234 बुर्जुगों की भागीदारी रही। बढ़ते कदम प्रवक्ता किशोर पंजवानी एवं बंटी जुमनानी ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि तीर्थयात्रियों का जत्था 29 अक्टूबर को रवाना हुआ था। जिसकी वापसी 4 नवंबर को हुई। संस्था द्वारा रिर्जवेशन खान-पान सहित आकस्मिक चिकित्सा हेतु 2 डॉक्टर की व्यवस्था भी की गई थी।

 

 


Date : 12-Nov-2019

भारत नेट परियोजना में देरी, टाटा प्रोजेक्टस पर पौने 2 सौ करोड़ जुर्माना

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवम्बर। भारत नेट परियोजना के क्रियान्वयन में देरी के लिए जिम्मेदार टाटा प्रोजेक्टस लिमिटेड पर करीब पौने 2 सौ करोड़ से अधिक जुर्माना वसूलने की कार्रवाई की जा रही है। बताया गया कि कंपनी का वसूली से अधिक की राशि चिप्स के पास जमा है। इसमें से ही जुर्माने की राशि कटौती की जाएगी।

हालांकि कंपनी ने सफाई दी है कि उन्हें काम देरी से आबंटित किया गया जिसकी वजह से काम समय पर पूरा नहीं हो पाया। बताया गया कि प्रधानमंत्री की महत्वकांक्षी भारत में परियोजना का ठेका टाटा प्रोजेक्टस लिमिटेड को दिया गया था। बताया गया कि परियोजना के अंतर्गत प्रदेश के दूरस्थ ग्राम पंचायतों में कनेक्टिविटी उपलब्ध कराने के लिए भारत नेट परियोजना के क्रियान्वयन के लिए छत्तीसगढ़ सरकार, चिप्स और भारत सरकार व बीबीएनएल के बीच एमओयू हुआ था। जिसमें चिप्स ने भारत नेट परियोजना के सफल क्रियान्वयन के लिए टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड को टेंडर दे दिया।

26 सौ करोड़ के टेंडर में टाटा को प्रदेश में एक साल में काम को पूरा करना था लेकिन टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड एक साल में काम पूरा नहीं कर सकी। परियोजना के कार्यों में तेजी लाने के लिए प्रमुख सचिव (आईटी) गौरव द्विवेदी ने चिप्स के सीईओ केसी देव सेनापति और अन्य अफसरों के अलावा टाटा प्रोजेक्ट के अफसरों के साथ बैठक की थी। यह कहा गया कि परियोजना के काम में तेजी आई है। मगर देरी के लिए कंपनी से जुर्माने की वसूली की जाएगी। इसके लिए नोटिस पहले ही दिया जा चुका है और कंपनी की राशि चिप्स के पास जमा भी है।


Date : 12-Nov-2019

गुरु दीक्षा के साथ शिविर का समापन, गुरुदेव अरविन्द श्रीमाली ने कहा कि गुरु ‘देह’ नहीं बल्कि ‘ज्ञान’ है

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवंबर। अंतरराष्ट्रीय सिद्धाश्रम साधक परिवार छत्तीसगढ़ के तत्वावधान में इंडोर स्टेडियम में आयोजित तीन दिवसीय संन्यास दिवस महोत्सव के दूसरे दिन गुरुदेव अरविन्द श्रीमाली ने कहा कि गुरु ‘देह’ नहीं बल्कि ‘ज्ञान’ है। इसी तरह गु का अर्थ अंधकार और रु का अर्थ प्रकाश होता है। कार्तिक पूर्णिमा पर होने वाले शिविर को देव दिवाली शिविर कहा जाता है।

इस शिविर में गुरु दीक्षा,विशेष शक्तिपाद दीक्षा दी जाती है। उन्होंने बताया कि यह सिद्धाश्रम में प्रयुक्त विशेष, प्रयोग विधि है, जो केवल गुरु पूर्णिमा के दिन संपन्न हो जाती है। कार्यक्रम का समापन मंगलवार रात्रि को होगा।

 


Date : 12-Nov-2019

बॉडी बिल्डर दूध, दही अंडे, फल, सोयाबीन, पनीर, मौसमी सब्जियां, सलाद का उपयोग करे-संजय श्र्मा

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवंबर। अंतराष्ट्रीय बॉडी बिल्डर एवं निर्णायक संजय शर्मा के अनुसार खिलाड़ी एवं ट्रेनर द्वारा स्टेरॉईड उपयोग किए जाने जैसी घटना से खेल जगत में लोगों के बीच नकारात्मक संदेश जाता है। विगत दिनों इस संबंध में घटी घटना को लेकर चिंता जाहिर करते हुए संजय शर्मा ने कहा कि जिम तथा जिम में चलने वाले सप्लीमेंट को जांच के दायरे में लाकर मापदंड निश्चित करना चाहिए। बॉडी बिल्डिंग एवं वेट ट्रेनिंग का कोई मान्यता संबंधी कोर्स किसी यूनिवर्सिटी में नहीं है और न ही इसका कोई आईएनएस कोच है।

कोई भी खिलाड़ी शॉर्टकट में पदक पाने राष्ट्रीय, अंतराष्ट्रीय स्तर पर  प्रसिद्धि पाने का प्रयास न करे। खिलाड़ी को चाहिए कि वह दूध, दही अंडे, फल, सोयाबीन, पनीर, मौसमी सब्जियां एवं सलाद का उपयोग करे। देर से सही, लेकिन लंबे समय तक शरीर में इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। जिम करने वाले युवाओं को किसी अच्छे डायटिशियन से सलाह लेना चाहिए। साथ ही वाडा, नाडा एजेंसी के बीच इस संबंध में जागरूकता बरतनी चाहिए। समय-समय पर स्पर्धा के दौरान जांच की जानी चाहिए। संजय शर्मा ने बताया कि खिलाड़ी जीवन के 40 वर्षों में उन्होंने प्राकृतिक स्त्रोतों से प्राप्त भोजन एवं सोयाबीन की बदलौत राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त की।


Date : 12-Nov-2019

पीसीसीएफ के दो अतिरिक्त पद केन्द्र से मंजूर, संजय-सिन्हा पदोन्नत होंगे

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवम्बर। केन्द्र सरकार ने प्रधान मुख्य वन संरक्षक के दो अतिरिक्त पदों की स्वीकृति दे दी है। केन्द्र से मंजूरी मिलने के बाद हफ्तेभर के भीतर डीपीसी हो सकती है और एपीसीसीएफ संजय शुक्ला और आरबीपी सिन्हा, पीसीसीएफ के पद पर पदोन्नत हो जाएंगे।

पिछले दिनों कैबिनेट ने पीसीसीएफ के दो अतिरिक्त पद को स्वीकृति दी थी। वर्तमान में पीसीसीएफ के चार पद हैं। दो अतिरिक्त पद बनाने के बाद कुल छह पद हो जाएंगे। कैबिनेट की मंजूरी के बाद सरकार ने केन्द्र को प्रस्ताव भेजा था। केन्द्र सरकार ने भी इस पर सहमति दे दी है। दो दिन पहले ही केन्द्र से सहमति का पत्र आ गया है। अब सरकार जल्द ही विभागीय पदोन्नति समिति की बैठक बुलाएगी।

बताया गया कि डीपीसी के लिए केन्द्र से प्रतिनिधि आने की जरूरत नहीं है। मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित समिति पदोन्नति प्रस्ताव पर मुहर लगाएगी। इसमें प्रमुख सचिव वन के साथ-साथ पीसीसीएफ सदस्य हैं। सूत्रों के मुताबिक आईएफएस के 87 बैच के अफसर संजय शुक्ला और आरबीपी सिन्हा को पदोन्नति दी जाएगी। संजय शुक्ला वर्तमान में लघुवनोपज संघ में एडिशनल एमडी हैं, जो कि पदोन्नति के बाद एमडी बनाए जा सकते हैं। वर्तमान में पीसीसीएफ (मुख्यालय) राकेश चतुर्वेदी

लघुवनोपज के एमडी का अतिरिक्त दायित्व संभाल रहे हैं। वे लघुवनोपज संघ के दायित्व से मुक्त हो जाएंगे। इसी तरह आरबीपी सिन्हा इसी माह रिटायर हो रहे हैं। उनके रिटायरमेंट के बाद नरसिम्ह राव पीसीसीएफ हो जाएंगे।


Date : 12-Nov-2019

पुन्नी स्नान, सीएम सहित हजारों महादेवघाट पर, सुबह से ही बड़ी संख्या में श्रद्धालु कार्तिक स्नान के लिए पहुंचे 

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवम्बर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार को कार्तिक पुन्नी के अवसर पर तडक़े महादेव घाट पहुंचकर खारून नदी में कार्तिक पूर्णिमा स्नान कर प्रदेशवासियों की सुख-समृद्धि की कामना की।

मुख्यमंत्री ने खारून नदी में कार्तिक स्नान करने के उपरांत नदीतट पर स्थित ऐतिहासिक हटकेश्वर महादेव मंदिर में महादेव का जलाभिषेक कर पूजा-अर्चना की और प्रदेश के विकास के लिए प्रार्थना की। मुख्यमंत्री परंपरागत गंगा आरती कार्यक्रम में सम्मिलित हुए व दीपदान किया। उन्होंने कार्तिक पूर्णिमा की सभी को बधाई व शुभकामनाएं दी। सुबह से ही बड़ी संख्या में श्रद्धालु कार्तिक स्नान के लिए पहुंचे थे। हजारों की संख्या में लोगों ने स्नान किया।

महादेवघाट के पास में ही मंच लगाया गया था। इसमें लोक कलाकार दिलीप षडंगी द्वारा राज्यगीत अरपा पैरी के धार की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में विधायक रायपुर पश्चिम विकास उपाध्याय, विधायक रायपुर ग्रामीण सत्यनारायण शर्मा, महापौर प्रमोद दुबे, रामसुंदर दास, प्रदीप शर्मा, विनोद वर्मा सहित अन्य गणमान्य नागरिक और बड़ी संख्या में श्रद्धालुगण उपस्थित थे।


Date : 12-Nov-2019

केरल में पकड़ाया बस्तर का माओवादी ट्रेनर, बस्तर के माओवादी कैम्पों में यह मुख्य ट्रेनर के रूप में काम कर चुका है

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवंबर। बस्तर के माओवादी ट्रेनर को तमिलनाडु एसटीएफ ने केरल-तमिलनाडु बॉर्डर के पास आनाकट्टी इलाके से गिरफ्तार कर लिया है। केरल के मनचाकंडी इलाके में नक्सलियों को ट्रेनिंग देने पहुंचे डीकेएसजेडसी सदस्य दीपक को तमिलनाडु एसटीएफ की टीम ने केरल-तमिलनाडु बॉर्डर के पास आनाकट्टी इलाके से गिरफ्तार किया है।

बस्तर के माओवादी कैम्पों में यह मुख्य ट्रेनर के रूप में काम कर चुका है। इसकी लंबे समय से छग पुलिस को तलाश थी। इसकी जानकारी छग पुलिस ने तमिलनाडु एसटीएफ को दे दी है। दीपक की गिरफ्तारी को पुलिस माओवादियों के संगठन को बड़े झटके के रूप में देख रही है।


Date : 12-Nov-2019

डब्ल्यूएचओ टीम पहुंची,एचआईवी टीबी नियंत्रण कार्यक्रमों का जायजा

कालीबाड़ी, अंबेडकर, पंडरी अस्पताल में रोगियों से चर्चा भी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवंबर। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) व केंद्र की 30 सदस्यीय टीम बीती शाम-रात रायपुर पहुंची। यह टीम आज सुबह से यहां कालीबाड़ी टीबी अस्पताल, अंबेडकर अस्पताल पहुंचकर प्रदेश में संचालित एचआईवी व टीबी नियंत्रण कार्यक्रमों का जायजा लेती रही। स्वास्थ्य विभाग के अफसर उन्हें प्रदेश में दोनों रोगों की स्थिति की जानकारी देते रहे। टीम ने वहां आने वाले कुछ रोगियों से भी चर्चा कर सरकारी इलाज सुविधा की जानकारी ली।

बताया गया कि डब्ल्यूएचओ और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की 15-15 सदस्यीय टीम  चार दिनी छत्तीसगढ़ दौरे पर आई है और यह रायपुर, बिलासपुर जिले में एचआईवी, टीबी नियंत्रण के लिए संचालित अलग-अलग  जांच-इलाज केंद्रों तक पहुंचकर वहां दवा, स्टाफ आदि की जानकारी लेगी। सभी जगहों पर रोगियों और उनके परिजनों से चर्चा करेगी। इसके अलावा नए मरीजों की खोज करेगी।

 राज्य एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के परियोजना संचालक डॉ. एसके बिंझवार ने बताया कि ज्वाइंट मॉनिटरिंग मिशन टीम में केंद्र व डब्ल्यूएचओ के राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय संगठन के अफसर शामिल हैं। उन्होंने बताया कि रायपुर, बिलासपुर में जायजा लेने के लिए दो अलग-अलग टीम बनाई गई है। पहली टीम रायपुर के कालीबाड़ी अस्पताल, अंबेडकर  अस्पताल, पंडरी जिला अस्पताल समेत अलग-अलग केंद्रों तक पहुंच रही है। टीम वहां स्वास्थ्य अफसरों से मिलकर वहां की स्थिति के बारे में पूछ रही है।

उन्होंने बताया कि दूसरी टीम बिलासपुर के लिए रवाना हो गई है। दोनों जगहों पर यह टीम 14 नवंबर तक रहकर वहां एड्स व टीबी कार्यक्रमों को लेकर फिल्ड स्तर पर मिलने वाली खामियों व उपलब्धियों की पूरी रिपोर्ट तैयार करेगी। आखिर में यह रिपोर्ट कलेक्टरों को सौंपी जाएगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और डब्लूएचओ को भी प्रदेश में एचआईव्ही, टीबी के नियंत्रण के लिए इलाज व बचाव में संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन की रिपोर्ट देगी।


Date : 12-Nov-2019

प्रदेश में शीघ्र लागू होगा पत्रकार सुरक्षा कानून, प्रारूप पर सुझाव लेने समिति, 16 से प्रदेश के दौरे पर

रायपुर, 12 नवम्बर। छत्तीसगढ़ में पत्रकार सुरक्षा के लिए शीघ्र पत्रकार सुरक्षा कानून लागू होगा। इस संबंध में न्यायमूर्ति आफताब आलम सेवानिवृत्त न्यायाधीश उच्चतम न्यायालय की अध्यक्षता में गठित समिति ने प्रस्तावित कानून का प्रारूप तैयार कर लिया है और इस पर पत्रकारों, पत्रकार संगठनों तथा आमजनों से चर्चा कर सुझाव प्राप्त करने के लिए समिति 16 से 18 नवम्बर तक राज्य के विभिन्न अंचलों का दौरा करेगी।

समिति 16 नवम्बर को रायपुर के विशिष्ठ अतिथि विश्राम गृह पहुना में दोपहर 12.30 बजे से 2 बजे तक पत्रकार एवं पत्रकार संगठनों से तथा अपरान्ह 3.30 से शाम 5 बजे तक आमजनों से चर्चा कर सुझाव लेगी। इसी प्रकार समिति 17 नवम्बर को सर्किट हाऊस जगदलपुर में पूर्वान्ह 11.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक पत्रकार और पत्रकार संगठनों से तथा अपरान्ह 3 से 4 बजे तक आम नागरिकों से सुझाव लेगी। समिति 18 नवम्बर को अम्बिकापुर पहुंचेगी और दोपहर 12.30 बजे से 1.30 बजे तक पत्रकार और पत्रकार संगठनों से तथा दोपहर 2.30 बजे से 3.30 बजे तक आम नागरिकों से चर्चा कर सुझाव प्राप्त करेगी। प्रस्तावित छत्तीसगढ़ पत्रकार सुरक्षा कानून का हिन्दी और अंग्रेजी प्रारूप जनसम्पर्क संचालनालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है। किसी शंका की दशा में अंग्रेजी रूपांतरण मान्य होगा।

ज्ञातव्य है कि प्रदेश में पत्रकार निर्भीकता से स्वतंत्र लेखन कर सकें, इसके लिए राज्य सरकार ने पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने का निर्णय लिया है। जिसके परिपालन में मार्च 2019 में पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने के लिए उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश, न्यायमूर्ति आफताब आलम की अध्यक्षता में एक समिति गठित की गई है। समिति में न्यायमूर्ति अंजना प्रकाश सेवानिवृत्त न्यायाधीश उच्च न्यायालय, राजूराम चन्द्रन वरिष्ठ अधिवक्ता उच्चतम न्यायालय, महाधिवक्ता छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय, पुलिस महानिदेशक, प्रमुख सचिव विधि विभाग, रूचिर गर्ग मीडिया सलाहकार मुख्यमंत्री, ललित सुरजन, प्रधान संपादक दैनिक देशबंधु और प्रकाश दुबे वरिष्ठ पत्रकार नागपुर समिति के सदस्य हैं।


Date : 12-Nov-2019

दो वार्डों से वान्दरे दंपत्ति ने पेश की पार्षद की दावेदारी, निर्णय दोनों ने पार्टी पर छोड़ दिया है

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवम्बर। बाबू जगजीवनराम वार्ड की वर्तमान भाजपा पार्षद शालिनी वान्दरे ने इस बार अनुसूचित जाति आरक्षित सिविल लाइन वार्ड से अपनी दावेदारी पेश की है। टिकट का फैसला उन्होंने पार्टी पर छोड़ रखा है।

शालिनी वान्दरे ने ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा के दौरान बताया कि वार्ड परिसीमन के बाद बाबू जगजीवनराम वार्ड विलोपित होकर मौलाना अब्दुल रऊफ वार्ड के साथ जुड़ गया है ऐसे में 15 साल पार्षद रह चुके उनके पति मौलाना अब्दुल रऊफ वार्ड से दावेदारी पेश की है। निर्णय दोनों ने पार्टी पर छोड़ दिया है।

उन्होंने बताया पहली बार पार्षद के रूप में 5 साल के कार्यकाल में उन्होंने वार्ड के विकास के लिए हरसंभव प्रयास किया। लाल गंगा शॉपिंग मॉल के पीछे झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले निवासियों के लिए राजीव आवास के तहत 300 घर बनवाए। पार्षद और घर की जिम्मेदारियां के बीच समन्वय स्थापित कर उन्होंने वार्डवासियों की मदद से विकास कार्य किए।

पार्षद पति का उन्हें हमेशा सहयोग मिला लेकिन नगर निगम की बैठकों से लेकर अन्य काम में वह खुद सक्रिय रहीं। शालिनी का मानना है कि महापौर विपक्ष का होना चाहिए क्योंकि सत्ता पक्ष का महापौर जनता के हित में काम करने में ज्यादा सक्षम होगा।

 


Date : 12-Nov-2019

काम के आधार पर पार्षद टिकट की उम्मीद, शारदा पटेल ने बताया कि उन्होंने अपने पार्षद कार्यकाल में वार्ड में चार सुलभ शौचालय बनवाने के अलावा पानी की टंकी बनवाई

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवम्बर। महर्षि वाल्मीकि वार्ड शारदा पटेल को पार्षद काल में किए गए काम के आधार पर भाजपा से पार्षद टिकट मिलने की उम्मीद है। वार्ड अध्यक्ष, मंडल अध्यक्ष और फिर पार्षद रहने वाली शारदा पटेल ने बताया कि उन्होंने अपने पार्षद कार्यकाल में वार्ड में चार सुलभ शौचालय बनवाने के अलावा पानी की टंकी बनवाई।

पार्षद की जिम्मेदारियों को पूरा करने में उन्हें पति का पूरा सहयोग मिला। शारदा पटेल कहती हैं वार्ड परिसीमन के बाद उनके वार्ड की आबादी 35 हजार से घटकर 12 हजार हो गई है इसलिए पार्षद के रूप में पुन: चुने जाने पर उन्हें काम करने में ज्यादा आसानी होगी। वार्ड परिसीमन के बाद उनके वार्ड में हॉस्पिटल नहीं रह गया है जिसके लिए वह प्रयास करेगी और अपने ही वार्ड से चुनाव लडऩा चाहेगी।


Date : 12-Nov-2019

बघेल ने राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत से मुलाकात की, श्री गहलोत ने राजस्थान सरकार द्वारा चलाई जा रही योजना और विकास कार्यक्रमों के बारे में उन्हें विस्तार से जानकारी दी

रायपुर, 12 नवम्बर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जयपुर के प्रवास के दौरान वहां राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से उनके कार्यालय में सौजन्य मुलाकात की। राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री गहलोत ने राजस्थान सरकार द्वारा चलाई जा रही योजना और विकास कार्यक्रमों के बारे में उन्हें विस्तार से जानकारी दी।

श्री बघेल ने राजस्थान सरकार के कार्यों की सराहना करते हुए छत्तीसगढ़ में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए संचालित किए जा रहे सुराजी गांव योजना और राज्य के पिछड़े क्षेत्रों के विकास के लिए उठाए गए कदमों और निर्णयों की विस्तार से जानकारी दी। राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री गहलोत ने छत्तीसगढ़ में ग्रामीण व शहरीय विकास, किसानों सहित सभी वर्गों के कल्याण के लिए किये जा रहे कार्यों की प्रशंसा की।

 


Date : 12-Nov-2019

परसदा स्टेडियम के सुरक्षा गार्ड की गला दबाकर हत्या हुई थी, पीएम रिपोर्ट से खुलासा, आरोपी पकड़ से बाहर

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवंबर। करीब डेढ़ महीने पहले परसदा नया रायपुर के एक तालाब में जिस सुरक्षा गार्ड का शव बरामद हुआ था, उसकी गला दबाकर और किसी ठोस वस्तु से मारकर हत्या की गई थी। पुलिस अज्ञात आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज जांच में लगी है। फिलहाल आरोपी पकड़ से बाहर है।

पुलिस के मुताबिक नया रायपुर के परसदा गांव का रहने वाला देवेश जांगड़े (27) वहां अंतराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में सुरक्षा गार्ड की नौकरी करता था। 30 सितंबर 2019 की शाम उसका शव वहीं के पनखटिया तालाब किनारे बरामद किया गया। शुरूआत में पुलिस खुदखुशी का मामला मानकर चल रही थी, लेकिन डेढ़ महीने बाद आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट से युवक की हत्या का खुलासा हुआ है।

मंदिर हसौद पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक सुरक्षा गार्ड की हत्या गला दबाकर और किसी ठोस वस्तु से मारकर की गई है। पुलिस अब हत्या का मामला दर्ज कर जांच में लगी है। मृतक के  परिवार वालों के अलावा उसके साथ काम करने वाले लोगों से पूछताछ की जा रही है। फिलहाल कोई संदेही पकड़ में नहीं आए हंै। उनका मानना है कि हत्या का आरोपी जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।


Date : 12-Nov-2019

धान खरीदी, किसान पंजीयन का कार्य पूरा, कलेक्टर ने सभी धान उपार्जन केन्द्रों का निरीक्षण कर जांच करने के निर्देश दिए

रायपुर, 12 नवम्बर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने जिला रेडक्रॉस सोसायटी सभाकक्ष में विभिन्न विभागों को अधिकारियों की बैठक लेकर जिले में संचालित योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा की।

बैठक में खाद्य विभाग, जिला सहकारी बैंक तथा सहकारिता विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिले में धान खरीदी के लिए किसान पंजीयन का कार्य पूरा हो गया है। जिले के सभी 125 धान उपार्जन केन्द्रों के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की जा चुकी है और इनमें से चेकलिस्ट के अनुसार 82 समितियों की जांच का कार्य पूरा हो गया है। कलेक्टर ने जिले के हर एक धान उपार्जन केन्द्रों का निरीक्षण कर जांच करने के निर्देश दिए और कहा कि किसी भी प्रकार की कमी पाए जाने पर उसे तत्काल सुधारा जाये।

बैठक में कलेक्टर ने नगरीय निकाय क्षेत्रों में आबादी पट्टे के सर्वेक्षण कार्य की जानकारी ली और इस सूची का प्रकाशन कर दावा-आपत्ति आमंत्रित करने को कहा। अधिकारियों ने बताया कि अभनपुर, माना, खरोरा आदि नगरीय क्षेत्रों में सर्वेक्षण का कार्य पूरा हो गया है। कलेक्टर ने शहरी क्षेत्रों में आबादी/नजूल पट्टों की भूमि को फ्री होल्ड करने की योजना का भी व्यापक प्रचार-प्रसार करने को कहा। उन्होंने मुख्यमंत्री सुपोषण योजना और लक्ष्य सुपोषण योजना की जानकारी ली और इसके तहत अति गंभीर कुपोषण से प्रभावित एक-एक बच्चे की मानिटरिंग करने को कहा।

कलेक्टर ने मुख्यमंत्री हॉट बाजार क्लिनिक योजना और मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत भी ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचकर चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराने को कहा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री हॉट बाजार क्लिनिक योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों के 84 हॉट बाजारों में 3 हजार 6 सौ 16 मरीजों की जांच की गई है। इसके अलावा नगर पंचायतों में 23 शिविर पृथक से आयोजित कर 870 मरीजों की जांच की गई है। मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत रायपुर और विरगांव में अब तक 182 शिविर लगाये जा चुके है, जिसमें से 13 हजार 3 सौ 90 मरीजों की जांच की जा चुकी है। इनमें से 192 मरीजों की टी.बी., 2875 की रक्त अल्पता, 111 कुष्ठ रोगियों, 4872 रक्तचाप, 2341 मधुमेह, 374 गर्भवती महिलाओं की जांच, 243 नेत्र विकारों की जांच और 597 मरीजों के डायरिया आदि की जांच की गई है। निगम आयुक्त ने बताया कि 25 वार्ड कार्यालय प्रारंभ हो चुके है और इनमें साफ-सफाई, बिजली -पानी, टैक्स आदि संबंधी आवेदन लिये जा रहे है और उनका समाधान किया जा रहा है। 

 

 


Date : 12-Nov-2019

नेशनल जूनियर स्क्वैश चैंपियनशिप में उपविजेता, वंश चंद्राकर ने प्रदेश का मान बढ़ाया

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 12 नवंबर। स्क्वैश रैकेट फेडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा 9-11 अक्टूबर को कोलकाता में आयोजित फाइव स्टार ईस्टर्न स्लैम नेशनल जूनियर स्क्वैश चैंपियनशिप 2019 में बालक अंडर-13 मेें छत्तीसगढ़ के स्क्वैश खिलाड़ी वंश चंद्राकर ने उपविजेता बनकर प्रदेश का मान बढ़ाया।

वंश ने स्क्वैश खेल की शुरूआत 2016 से की। चार वर्षों में अपनी मेहनत व प्रशिक्षकों के मार्गदर्शन से पहले बालक अंडर-11 वर्ग में इंडिया टॉप-10 में उसने जगह बनाई उसके बाद स्प्रिटो नेशनल स्क्वैश चैंपियनशिप ठाणे बालक अंडर-13 वर्ग में ब्रॉन्ज मैडल प्राप्त कर राज्य को गौरवान्वित किया। वर्तमान में वंश चंद्राकर की ऑल इंडिया रैंकिंग-20 है, इस प्रतियोगिता में उपविजेता रहने के बाद इंडिया बालक अंडर 13 वर्ग इंडिया नंबर-1 बनने की संभावना प्रबल हो गई है।

वंश के इस उपलब्धि पर छत्तीसगढ़ स्क्वैश एसोसिएशन के उपाध्यक्ष व रायपुर डिस्ट्रिक्ट स्क्वैश एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोज कुमार अग्रवाल ने बधाई देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की है। छत्तीसगढ़ स्क्वैश एसोसिएशन के सचिव डॉ. विष्णु कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि वंश पिछले चार से स्क्वैश कॉम्प्लेक्स नगर निगम में उनके मार्गदर्शन में अभ्यास कर रहा है। भविष्य में वंश से उन्हें बेहतर परिणाम की उम्मीद है।


Date : 12-Nov-2019

मुख्य सचिव 14 को कमिश्नरों-कलेक्टरों की बैठक लेंगे, शासन की विभिन्न योजनाओं तथा कार्यक्रमों की समीक्षा करेंगे

रायपुर, 12 नवम्बर। मुख्य सचिव आर.पी. मंडल आगामी 14 नवम्बर को सवेरे 10 बजे से राजधानी रायपुर के सिविल लाईन स्थित नवीन विश्राम गृह में प्रदेश के समस्त संभागायुक्त, कलेक्टर और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों की बैठक लेकर शासन की विभिन्न योजनाओं तथा कार्यक्रमों की समीक्षा करेंगे।

बैठक में धान खरीदी, लोक सेवा गारंटी अधिनियम का क्रियान्वयन और राजस्व विभाग के अंतर्गत शासकीय भूमि का आबंटन, आबादी तथा नजूल पट्टों की भूमि को फ्री-होल्ड करना, नये आबादी पट्टों का वितरण, डायवर्सन प्रकरणों का निपटारण, गिरदावरी एवं फसल उत्पादन तथा राजस्व प्रकरणों का त्वरित निराकरण के संबंध में समीक्षा की जाएगी। साथ ही राज्य के 10 आकांक्षी जिलों, यूथ फेस्टिवल तथा नेशनल ट्राईबल फेस्टिवल की तैयारी की भी समीक्षा की जाएगी। सुपोषण अभियान, हाट-बाजार स्वास्थ्य योजना, शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना, वार्ड कार्यालय, स्लम पट्टों का नवीनीकरण तथा वितरण नरवा, गरूवा, घुरवा, बारी योजना, शासकीय कर्मचारियों के मुख्यालय में निवास तथा कार्यालय में उपलब्धता और आम जनता से मिलने के दिवस का निर्धारण आदि विषयों पर विस्तार से समीक्षा की जाएगी।


Date : 11-Nov-2019

अवैध फोन टैपिंग की शिकायतों पर सरकार गंभीर, सीएम ने बनाई तीन सदस्यीय जांच समिति

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 11 नवम्बर। सरकार ने अवैध फोन टैपिंग की शिकायतों को गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इन शिकायतों की जांच के लिए गृह विभाग के प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है।

मुख्यमंत्री ने स्मार्ट फोन टेप करने संबंधी शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए इसे नागरिकों की स्वतंत्रता के हनन से जुड़ा प्रश्न बताया है।  उन्होंने इन शिकायतों की जांच के लिए प्रमुख सचिव गृह की अध्यक्षता में समिति गठित करने के निर्देश दिए हैं। समिति के अन्य सदस्यों में पुलिस महानिरीक्षक रायपुर एवं संचालक जनसम्पर्क होंगे। समिति सम्पूर्ण घटना की विस्तृत जांच कर एक माह में तथ्यात्मक प्रतिवेदन प्रस्तुत करेगी। पुलिस महानिदेशक समिति को जांच केे लिए सभी आवश्यक सहयोग प्रदान करेंगे।

बताया गया कि सामाजिक कार्यकर्ता आलोक शुक्ला सहित कई अन्य लोगों ने अवैध रूप से फोन टैपिंग की आशंका जाहिर की थी। यह आशंका तब जाहिर की गई, जब सरकार ने अवैध फोन टैपिंग को लेकर सख्त हिदायत दे रखी है। शपथ लेने के बाद खुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि राज्य में अवैध रूप से किसी के फोन टैप नहीं होंगे, जबकि पिछली सरकार में अवैध टैपिंग की शिकायतें चर्चा में रही है। उल्लेखनीय है कि  देश भर में जिस इजरायली सॉफ्टवेयर, पेगासस के जरिए टैपिंग की चर्चा सुर्खियों में है।  यह सॉफ्टवेयर वॉट्सऐप जैसे सुरक्षित माने जाने वाले मैसेंजर को भी टैप कर सकता है, और इसकी मदद से दुनिया के कई देशों में सरकारों ने ऐसा किया भी।

कंपनी यह दावा भी करती है कि वह इसे सरकारों और सरकारी एजेंसियों के अलावा किसी को नहीं बेचती है। पेगासस बनाने वाली इजरायली साइबर इंटेलीजेंस कंपनी, एनएसओ, ने 2017 में छत्तीसगढ़ पुलिस के बड़े अफसरों के सामने राज्य के पुलिस मुख्यालय में इसका प्रदर्शन किया था। ‘छत्तीसगढ़’ ने अपने दैनिक कॉलम राजपथ-जनपथ में इस आशय की खबर को प्रकाशित किया था।

संडे गार्डियन ने यह भी लिखा है कि 2017 में रायपुर पुलिस मुख्यालय में यह प्रजेंटेशन 20-25 मिनट चला, लेकिन कंपनी ने उसके 60 करोड़ दाम बताए जिसे बहुत अधिक मानते हुए बात उसी समय खत्म हो गई। इस अखबार की पूछताछ पर इस कंपनी एनएसओ ने कहा कि वे इस बात से इंकार नहीं करते कि हिन्दुस्तान में उनके इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया गया है, लेकिन वे यह नहीं बता सकते कि उन्होंने इसे किस एजेंसी या सरकार को बेचा था।

राज्य के पुलिस अफसर इजरायली कंपनी के प्रेजेंटेशन से भी इंकार कर रहे हैं। मगर हल्ला यह भी है कि इस तरह के साफ्टवेयर की खरीदी के लिए मैन्यूअल टेंडर हुए थे और खरीदी भी हुई थी। ईओडब्ल्यू की एक महिला कर्मचारी को इजरायल प्रशिक्षण के लिए भेजे जाने की भी खबर सुर्खियों में रही है।

ऐसे में जांच होने के बाद साफ्टवेयर की खरीदी और फोन टैपिंग से जुड़े तमाम बिंदुओं पर स्थिति साफ हो सकती है।