छत्तीसगढ़ » रायपुर

02-Jul-2020 7:04 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। सार्वजनिक क्षेत्र की एल आई सी के आईपीओ की बोली जारी करने के पूर्व लेन देन  सलाहकार नियुक्त करने निर्माण निमंत्रण प्रक्रिया का विरोध करते हुए बीमा कर्मचारी कल देश भर में विल्ला धारण कर विरोध दर्ज करेंगे।

संगठन के अखिल भारतीय सहसचिव धर्मराज महापात्र ने प्रेस वक्तव्य में उक्त जानकारी देते हुए कहा कि एल एल आई सी ने देश के औद्योगिक विकास और राष्ट्र निर्माण में अतुलनीय भूमिका अदा की है जो आज भी जारी है । पलिसिधरको की संख्या के मामले में देश के सबसे बड़े बीमाकर्ताओं के रूप में उभरने और विकास करना पूरी तरह से आंतरिक संसाधनों को पैदा करने के माध्यम से किया गया है । 1956 में केवल 5 करोड़ की प्रारम्भिक पूंजी से यह संस्था बनी इसे सरकार ने  बढ़ाकर 2011 में 100 करोड़ कर दिया लेकिन उसके लिए कोई अतिरिक्त पूंजी नहीं दी गई  बावजूद इसके इस अल्प पूंजी पर एल आई सी ने आज 32 लाख करोड़ रुपए की संपत्ति का निर्माण किया है ।यह विस्तार बीमा धारक के पैसे से हुए है  अर्थात एल आई सी ने आपसी लाभ वाले समाज की तरह काम किया है , जिसकी एल आई सी के एक हिस्से को बाजार में बेचने का निर्णय लेते समय अनदेखी की जा रही है ।

महापात्र ने कहा कि 245 निजी बीमा कंपनियों को समाहित कर जब जीवन बीमा व्यवसाय का राष्ट्रीयकरण किया गया तो उसका उद्देश्य था जनता की छोटी बचत को एकत्र कर देश के विकास के लिए दीर्धकाल निवेश जुटाना और आम जनता के वंचित तबके तक बीमा कनविस्तर कर  बीमा धारक को जोखिम की सुरक्षा के साथ उनके निवेश पर एक अच्छा लाभांश उपलब्ध कराना। एल आई सी ने इसे बखूबी निभाया। जनता का पैसा जनता के लिए की अवधारणा पर उसने काम किया।

लेकिन सरकार द्वारा इसके हिस्से को बाजार में बेचने जो अंतत: निजीकरण को जन्म दे सकती है इससे यह उद्देश्य ही खत्म हो जाएगा । उसका सामाजिक उद्देश्य बदलकर निजी शेयर धारकों को अधिकतम लाभ पहुंचाना होंजाएगा जो 40 करोड़ बीमा धारक या राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था के लिए नुकसानदायक होगा ।

महापात्र ने कहा कि यह व्यापक रूप से स्वीकृत तथ्य है कि घरेलू बचत राष्ट्रीय अर्थव्यवस्थाओं में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और दुनिया भर में बड़े अर्थशास्त्रियों का यही मानना है कि विदेशी पुजी घरेलू बचत का खराब विकल्प है । ऐसी स्थिति में जहां देश के विकास के लिए भारी संसाधन की आवश्यकता है यह और अधिक महत्वपूर्ण हों जाता है कि घरेलू बचत पर सरकार का पूर्ण नियंत्रण हो । प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत की जो परिकल्पना  दी है वह भी तभी सफल होगी जब हर साल अत्यधिक निवेश योग्य अधिशेष उत्पन करने वालीं संस्था पर सौ प्रतिशत सरकारी नियंत्रण हो । एल आई सी की इक्विटी को बेचने का कदम भारतीय अर्थव्यवस्था और समाज के कमजोर वर्गो के हितों को बुरी तरह से प्रभावित करेगा । कमजोर वर्गो तक बीमा की पहुंच का सामाजिक उद्देश्य पीछे चला जाएगा और लाभहीन ग्रामीण क्षेत्रों में बीमा का विस्तार का लक्ष्य बाधित होगा । एल आई सी के मूल स्वरूप को छेडऩे से देश की गरीब आबादी और गरीब तबके के हितों का अकल्पनीय नुकसान होगा । संगठन ने केंद्र सरकार से इसे रोकने की मांग करते हुए वित्त मंत्री को भी अन्य यूनियनों के साथ पत्र लिखा है । कल देशव्यपी प्रदर्शन के जरिए बीमा कर्मी कोयला सहित सार्वजनिक उद्योग का निजीकरण रोकने, ढ्ढक्कह्र का फैसला वापस लेने, साधारण बीमा कंपनियों में विनिवेश रोकने, बीमा क्षेत्र में एफ डी आई वृद्धि वापस लेने, बीमा प्रीमियम पर जी एस टी समाप्त करने, पेंशन क्षेत्र में एफ डी आई रोकने, शर्म कानून में परिवर्तन वापस लेने की मांग करते हुए सभी कार्यालयों में बिल्ला धारण कर कार्य करेंगे और कोवीड नियमों का पालन कर विरोध प्रदर्शन आयोजित करेंगे । संगठन ने ट्रेड यूनियनों के देशव्यापी विरोध और कोयला मजदूरों के हड़ताल के साथ भी एकजुटता व्यक्त की है ।


02-Jul-2020 7:00 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। राजधानी रायपुर के आरडीए कालोनी राजेन्द्र नगर में बीती देर रात मामूली विवाद पर सब्जी बेचने वाले एक नाबालिग युवक की चाकू मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस 2 नाबालिग समेत 5 युवकों को गिरफ्तार कर जांच में लगी है। आरोपियों के कब्जे से चाकू एवं हॉकी स्टीक जब्त की गई है। पुलिस का कहना है कि घटना में शामिल बाकी आरोपी भी जल्द पकड़ लिए जाएंगे।

पुलिस के मुताबिक गुरुमुख नगर संध्या गोस्वामी ने न्यू राजेन्द्र नगर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह आरडी बिल्डिंग न्यू राजेन्द्र नगर के पास सब्जी ठेला लगाती है।  कल दोपहर 1 बजे राजू साहू के बेटे डोमन साहू के साथ उसकी मां मोंगरा गोस्वामी का सब्जी ठेला लगाने की बात पर से विवाद हुआ था। रात करीब साढ़े 9 बजे संध्या तथा उसका भाई संजू गोस्वामी ठेले पर सब्जी बेच रहे थे, उसी समय राजू साहू के परिवार के रीतेश, आकाश, सागर, दीपक, अभिषेक समेत 4-5 अन्य लोग अपने हाथ में डंडा ,स्टीक व चाकू लेकर आए तथा एक राय होकर जान से मारने की नीयत से मारपीट करने लगे।

संजू गोस्वामी को चाकू मार डंडा, स्टीक  व हाथ मुक्का से उसकी जमकर पिटाई की गई। इससे संजू के सिर ,सीने व शरीर में गंभीर चोटें आई थी। घटना के समय संध्या एवं उसकी बहन क्षमता गोस्वामी व आसपास के लोग मौजूद थे। एंबुलेंस बुलाकर संजू को पास के एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। दूसरी तरफ घटना के बाद आरोपी युवक फरार है। न्यू राजेन्द्र नगर पुलिस मामला दर्जकर आरोपियों की तलाशी लगी रही। इस दौरान शाम तक 5 आरोपी पकड़ लिए गए।

पकड़े गए आरोपियों में सागर साहू, आकाश साहू, दीपक साहू व दो अन्य नाबालिग बालक शामिल हैं। पुलिस इन चारों से पूछताछ करते हुए घटना की जांच में लगी है।


02-Jul-2020 6:59 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। स्थानीय आवक में कमी और डीजल पेट्रोल के बढ़ हुए दाम के कारण सब्जी के भावों में इन दिनों जबरदस्त इजाफा हुआ है। सब्जी कारोबारियों के अनुसार वर्तमान में किसान बाडिय़ों में सब्जी लगाने की जगह धान की खेती में व्यस्त है जिसका असर भी सब्जी की कीमतों पर पड़ा है।

डुमरतराई थोक बाजार संघ के अध्यक्ष टी श्रीनिवास रेड्डी ने बताया कि वर्तमान में 80 प्रतिशत सब्जियां दूसरे प्रदेशों में से आ रही हैं जिसके कारण सब्जी के भाव में खासी बढ़ोत्तरी हुई है। डीजल और पेट्रोल के  दाम बढऩे का असर भी सब्जी की कीमतों पर पड़ा है। टमाटर फिलहाल बैंगलुरू से आ रहा है। 11 सौ कैरेट के भाव से थोक में टमाटर 35 रूपए किलो पड़ रहा है। चिल्हर में यह 50 रूपए किलो बिक रहा है।

श्रीनिवास रेड्डी कहते हैं हफ्तेभर पहले टमाटर 6 सौ रूपए कैरेट बिक रहा था, लेकिन हाल में आवक में आई कमी के कारण इसके रेट में तेजी आ गई है। सब्जी की कीमतें पेट्रोल-डीजल के महंगे होने के कारण भी बढ़ी है। टमाटर के भाव में हमेशा ही भारी मात्रा में उतार-चढ़ाव बना रहता है। इसका कारण राज्य में प्रसंस्करण केन्द्र की कमी है। हर पार्टी के बजट में इसके लिए प्रावधान रखा जाता है लेकिन कार्य रूप में यह परिणत नहीं हो पाता है।

वर्तमान में फूल गोभी, पत्ता गोभी छिंदवाड़ा से आ रही है। पहले 5 से 7 रुपए भाव से थोक में बिकने वाली पत्ता गोली थोक में 15 रुपए पड़ रही है। इसी तरह बैंगन, कुंदरू थोक में 15 रुपए किलो पड़ रही है। चिल्हर में 30 से 40 रुपए किलो के भाव से बिक रही है। हरी मिर्च थोक में 15 से 20 रुपए चिल्हर में 40 रुपए किलो बिक रही है। फिलहाल सब्जियां पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान और मध्यप्रदेश से आ रही है। लहसुन कोटा से आ रहा है।

शास्त्री बाजार चिल्हर सब्जी विक्रेता सुशील सोनकर कहते हैं अभी किसान सब्जी बाड़ी की जगल धान की खेती में जुटे हुए हैं। जिसके कारण सब्जी की स्थानीय आपूर्ति नहीं हो पा रही है। ट्रांसपोर्टिंग चार्ज बढऩे का असर भी सब्जी के भाव पर बढ़ा है। फिलहाल टमाटर बाहर से आ रहा है जिसके कारण इसके भाव में तेजी आई हुई है। हफ्ते दिन पहले 20 रुपए किलो के भाव से बिकने वाला टमाटर 50 रुपए के भाव से बिक रहा है।


02-Jul-2020 6:57 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 जुलाई। प्रदेश के सखी सेंटरों के काम-काज को और अधिक कुशलता और पारदर्शिता से करने की कवायद शुरू कर दी गई है। इसके तहत सखी सेंटरों में काम-काज को पूरी तरह डिजिटल किया जाएगा। महिला हेल्प लाइन 181 और सखी सेंटरों के कामकाज को समन्वित किया जाएगा, जिससे अधिक प्रभावी तरीके से महिलाओं को सहायता पहुंचाई जा सके। इसके लिए महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव श्री प्रसन्ना ने राजधानी के कालीबाड़ी स्थित सखी वन स्टॉप सेंटर के निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने सखी सेंटर परिसर के समीप स्थित मातृ शिशु अस्पताल में पोषण पुनर्वास केन्द्र पहुंचकर बच्चों के पोषण संबंधी जानकारी भी ली। इस अवसर पर महिला बाल विकास विभाग की संचालक दिव्या उमेश मिश्रा, सिविल सर्जन डॉ, रवि तिवारी सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

श्री प्रसन्ना ने वन स्टॉप सेंटर में रह रहीं पीडि़त महिलाओं से बात की और उनकी परेशानियों के बारे में जाना। उन्होंने सखी सेंटर में महिलाओं के रजिस्ट्रेशन, विभिन्न सेवाओं, भोजन व्यवस्था और मामलों के निराकरण की भी जानकारी ली। उन्होंने कर्मचारियों से काम-काज में आने वाली समस्याओं और कार्यप्रणाली में सुधार लाकर अधिक दक्ष बनाने संबंधी सुझाव लिए और सखी सेंटरों में कामकाज को पूरी तरह डिजिटल बनाने पर जोर दिया। इसके लिए उन्होंने सॉफ्टवेयर को भारत सरकार और एनआईसी के माध्यम से अपग्रेड कर जानकारी सुलभ बनाने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही सेंटर में आने वाली घरेलू हिंसा पीडि़त महिलाओं से संबंधित कार्यवाही त्वरित और आसान बनाने के लिए उन्होंने सभी जिलों के प्रोटेक्शन अधिकारियों की बैठक व्यवस्था एक हफ्ते में सखी सेंटरों में करने के निर्देश दिए हैं। काम-काज में कसावट के लिए उन्होंने अधिकारियों को हर महीने सखी और महिला हेल्पलाइन 181 के कामकाज की समीक्षा सुनिश्चित करने कहा है।


01-Jul-2020 8:01 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 1 जुलाई।
आम आदमी पार्टी ने पेट्रोल-डीजल दामों में लगातार वृद्धि का विरोध करते हुए आज यहां बूढ़ापारा धरना स्थल पर जमकर प्रदर्शन किया। उनका कहना है कि पेट्रोल और डीजल के बढ़े दामों से आम जनता बढ़ी महंगाई से त्रस्त है। ऐसे में मोदी सरकार पेट्रोल- डीजल के बढ़े दामों को वापस लें। 

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कहा कि केंद्र सरकार को राजस्व के अन्य स्त्रोत देखना चाहिए। अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेलों की कम हुए कीमत का फायदा इस मंदी के दौर में देश के आम नागरिकों को मिलना चाहिए, इसलिए मोदी सरकार को तुरंत पेट्रोल - डीजल के बढ़े दामों को वापस लेना चाहिए।

मीडिया प्रभारी अजीम खान ने कहा कि आज पेट्रोल और डीजल के बढ़े दामों से आम जनता बढ़ी महंगाई से त्रस्त है। केंद्र सरकार की नीतियां किस हद तक दोहरी और जनता विरोधी हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जब बीजेपी विपक्ष में थी, तो पेट्रोल-डीजल के दाम बढऩे पर वह आसमान सिर पर उठा लेती थी। आज स्थिति यह है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत गिरकर 40 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर आ गई है लेकिन मोदी सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम नहीं कर रही है।


01-Jul-2020 8:00 PM

राज्यपाल ने अग्रवाल समाज द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 1 जुलाई।
राज्यपाल अनुसुईया उइके से आज राजभवन में छत्तीसगढ़ प्रांतीय अग्रवाल संगठन के प्रांतीय महामंत्री अशोक अग्रवाल के नेतृत्व में अग्रवाल समाज के प्रतिनिधिमंडल ने सौजन्य मुलाकात की। 

राज्यपाल ने कहा कि जो सकारात्मक सोच रखता है वह अच्छा कार्य करता है। जो व्यक्ति-संस्था कल्याणकारी कार्य करती है उसे ही पीढिय़ां याद रखती है। अग्रवाल समाज द्वारा देश सहित प्रदेश में वर्षो से अनेकों अच्छे कार्य किए जाते रहे है, जिससे कई लोग लांभान्वित हुए है। इसके लिए मैं अग्रवाल समाज को धन्यवाद देती हूं। इस अवसर पर राज्यपाल ने समाज की प्रमुख विभूतियों की चित्र वाली नेमप्लेट युक्त पोस्टर का विमोचन किया। राज्यपाल ने कहा कि ऐसे नेम प्लेट से बच्चों को राष्ट्र के महापुरूषों की जानकारी मिलेगी और उन्हें देश प्रेम की प्रेरणा मिलेगी।

श्री अग्रवाल ने बताया कि समाज के द्वारा छत्तीसगढ़ में समाज सेवा के अनेक कार्य किए जा रहे है। लॉकडाउन के दौरान उनके द्वारा करीब 36 हजार लोगों को सूखा राशन और मास्क का वितरण किया गया। समाज द्वारा निर्धन लोगों को मोहल्ला क्लिनिक के माध्यम से नि:शुल्क चिकित्सा सहायता दी जाती है। साथ ही न्यूनतम दरों पर सभी चिकित्सकीय परीक्षण उपलब्ध कराएं जा रहे है। उन्होंने बताया कि समाज के द्वारा निर्धन विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा के लिए स्कूल व छात्रावास भी संचालित किए जा रहे है। अग्रवाल समाज के द्वारा राज्यपाल को शॉल-श्रीफल, महाराजा अग्रसेन का दुपट्टा व माला पहनाकर आभार व्यक्त किया तथा भगवान श्री अग्रसेन एवं माता माधवी का चित्र भेंट की गई। इस अवसर पर राज्यपाल के विधिक सलाहकार आर.के. अग्रवाल, अखिल भारतीय अग्रवाल समाज के अध्यक्ष  सियाराम अग्रवाल, प्रांतीय अध्यक्ष रामदास अग्रवाल,  चतुर्भुज अग्रवाल, सुनील अग्रवाल उपस्थित थे।
 


01-Jul-2020 7:59 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 1 जुलाई।
छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच के प्रदेश अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता राजकुमार गुप्ता ने मोदी सरकार को निशाने में लेते हुए कहा है कि जब वर्तमान बाजार मूल्य के हिसाब से योजना में 60 हजार करोड़ से अधिक खर्च नहीं होगा, तब 30 हजार करोड़ अधिक खर्च करने के पीछे क्या गोलमाल है सरकार बताएं?

उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत मुफ्त खाद्यान्न बांटने के कार्यक्रम को अगले पांच माह अर्थात नवंबर 20 तक बढ़ाने का ऐलान किया है। उनकी घोषणा के अनुसार 80 करोड़ लोगों को प्रति व्यक्ति 5 किलो चांवल/गेंहूं और प्रति परिवार एक किलो चना मुफ्त में दिया जाएगा। केंद्र सरकार ने इसके लिए 90 हजार करोड़ रू. खर्च होने की बात कही है।
 


01-Jul-2020 7:59 PM

रायपुर, 1 जुलाई। राज्यपाल  अनुसुईया उइके से आज राजभवन में  नवनियुक्त वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार यादव ने सौजन्य मुलाकात की। राज्यपाल ने उन्हें दायित्व ग्रहण करने पर शुभकामनाएं दी।
 


01-Jul-2020 7:58 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 1 जुलाई।
साईं की पालकी में एक गाय इन दिनों राजधानी रायपुर की गली-सडक़ों पर देखे जा रहे हैं। पालकी में सवार लोग, साईं मूर्ति के साथ देवी-देवताओं की तस्वीर तथा गाय के एक अतिरिक्त छोटे पैर का दर्शन करा लोगों से पैसे मांगते हुए पाखंड का प्रचार कर रहे हैं, जबकि साईं खुद पाखंड के खिलाफ लड़ते रहे। 

‘छत्तीसगढ़’ फोटोग्राफर को यह पालकी सज-धजकर आज शहर के अंबेडकर अस्पताल के पास मिल गई। पालकी में और भी कुछ देवी-देवताओं की छोटी-छोटी मूर्तियां रखी हुई थीं। पालकी में सवार लोग इस पालकी को लेकर पास के एक मोहल्ले में जा रहे थे। आसपास के लोगों का कहना था कि यह पालकी शहर के गली-मोहल्लों में पिछले कुछ दिनों से घूम रही है। साईं मूर्ति के साथ देवी-देवताओं की तस्वीर तथा एक अतिरिक्त पैर निकले गाय को दिखाकर लोगों से पैसे मांगे जा रहे हैं। 

लोगों का कहना है कि घंटी बजाते हुए तीन-चार लोग पालकी लेकर गली-गली में पहुंच रहे हैं। मोहल्लों में लोगों को इसका दर्शन करा चावल-दाल, पैसे आदि लिए जा रहे हैं। इस तरह पालकी में सवार लोग राजधानी रायपुर के गली-कूचों में घूम-घूमकर पाखंड का प्रचार कर रहे हैं। जबकि  साईं खुद पाखंड के खिलाफ थे। उन्होंने साईं और देवी-देवताओं के दर्शन के नाम पर पैसे वसूलने वालों पर कार्रवाई की मांग की है। 
 


01-Jul-2020 7:56 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर. 1 जुलाई। मनरेगा  कार्यों में छत्तीसगढ़ का उत्कृष्ट प्रदर्शन लगातार जारी है। चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में मनरेगा जॉबकॉर्डधारी परिवारों को 100 दिनों का रोजगार देने में छत्तीसगढ़ देश में प्रथम स्थान पर है। अप्रैल, मई और जून में कुल 55 हजार 981 परिवारों को 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराया गया है। देश में 100 दिनों का रोजगार हासिल करने वाले कुल परिवारों में अकेले छत्तीसगढ़ की हिस्सेदारी करीब 41 प्रतिशत है।

चालू वित्तीय वर्ष में लक्ष्य के विरूद्ध रोजगार सृजन के मामले में छत्तीसगढ़ देश में दूसरे स्थान पर है। शुरूआती तीन महीनों में ही यहां सालभर के लक्ष्य का 66 प्रतिशत काम पूर्ण कर लिया गया है। इस दौरान आठ करोड़ 84 लाख 50 हजार मानव दिवस रोजगार का सृजन किया गया है। ग्रामीणों को रोजगार देने में नक्सल प्रभावित जिलों ने अच्छा काम किया है। प्रदेश में लक्ष्य के विरूद्ध सर्वाधिक रोजगार देने वाले पहले पांच जिले बस्तर संभाग के हैं। प्रदेश के दस जिलों ने इस वर्ष के लिए स्वीकृत लेबर बजट का 70 प्रतिशत से अधिक काम पूर्ण कर लिया है।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल और पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने मनरेगा में लगातार अच्छे प्रदर्शन के लिए विभागीय अधिकारियों-कर्मचारियों तथा पंचायत प्रतिनिधियों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के चलते लाक-डाउन के बावजूद मनरेगा के अंतर्गत तत्परता से शुरू हुए कार्यों से ग्रामीणों को बड़ी संख्या में सीधे रोजगार मिला। मनरेगा कार्यों ने विपरीत परिस्थितियों में भी ग्रामीण अर्थव्यवस्था को गतिशील रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने उम्मीद जताई कि पंचायत प्रतिनिधियों की जागरूकता और मनरेगा टीम की सक्रियता से प्रदेश में आगे भी मनरेगा के तहत बेहतरीन कार्य होंगे।

भारत सरकार ने चालू वित्तीय वर्ष में छत्तीसगढ़ के लिए कुल 13 करोड़ 50 लाख मानव दिवस का लेबर बजट स्वीकृत किया है। वर्ष के प्रथम तीन महीनों में ही प्रदेश ने आठ करोड़ 84 लाख 50 हजार मानव दिवस रोजगार का सृजन कर 66 प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर लिया है। पहली तिमाही में रोजगार सृजन का राष्ट्रीय औसत 39 प्रतिशत है। प्रदेश में लक्ष्य के विरूद्ध रोजगार देने में नारायणपुर जिला सबसे आगे है। 

वहां 84 प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण कर लिया गया है। प्रदेश के नौ अन्य जिलों ने भी 70 प्रतिशत से अधिक काम पूर्ण कर लिया है। सुकमा 78 प्रतिशत, बीजापुर 77 प्रतिशत, बस्तर 74 प्रतिशत, कोंडागांव और रायगढ़ 73-73 प्रतिशत, कांकेर और दंतेवाड़ा 72-72 प्रतिशत, कोरबा और गरियाबंद 71-71 प्रतिशत ने भी इस साल के लक्ष्य का 70 प्रतिशत से अधिक हासिल कर लिया है। शेष 18 जिलों ने भी 60 प्रतिशत से अधिक रोजगार सृजन कर लिया है। 

जरूरतमंद परिवारों को मनरेगा के तहत 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराने में भी प्रदेश में अच्छा काम हुआ है। देश में 100 दिनों का रोजगार प्राप्त करने वाले परिवारों की कुल संख्या एक लाख 37 हजार 365 है। इनमें से 40.75 प्रतिशत यानि 55 हजार 981 परिवार अकेले छत्तीसगढ़ के हैं। प्रदेश में कबीरधाम जिले में सर्वाधिक 6139 परिवारों को 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराया गया है। इस साल अब तक बिलासपुर में 4410 परिवारों, राजनांदगांव में 3804, धमतरी में 3261, बलौदाबाजार-भाटापारा में 3240, और मुंगेली में 3037 परिवारों को 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराया जा चुका है।
 


01-Jul-2020 7:53 PM

रायपुर, 1 जुलाई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भारत रत्न डॉ. विधानचंद्र राय की स्मृति में मनाए जाने वाले ‘डॉक्टर्स डे’ के अवसर पर देश और प्रदेश के सभी चिकित्सकों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। श्री बघेल ने अपने संदेश में कहा है कि चिकित्सकों की सेवा, समर्पण के प्रति सम्मान प्रगट करने के लिए हम हर साल एक जुलाई को नेशनल डॉक्टर्स डे मनाते हैं। मरीजों को नया जीवनदान देने के कारण डॉक्टरों को धरती के भगवान की संज्ञा गई है। समाज में उनका प्रतिष्ठित और सम्मानजनक स्थान रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना से लड़ाई में डॉक्टर्स सैनिक के रूप में आगे आए हैं। आज पूरे विश्व में अपनी जान की परवाह न कर डॉक्टर्स हजारों लोगों की जान बचाने में लगे हुए हैं। श्री बघेल ने डॉक्टर्स को उनकी अतुल्य सेवाओं के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि कोरोना वारियर्स के रूप में अपनी सेवा और भूमिका से डॉक्टर्स ने एक चिरस्थायी स्वर्णिम अध्याय लिख दिया है।
 


01-Jul-2020 7:52 PM

रायपुर, 1 जुलाई। राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक 1 जून से अब तक 283.4 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में आज सुबह रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार सरगुजा में 0.9 मिमी, सूरजपुर में 1.7 मिमी, बलरामपुर में 1.1 मिमी, जशपुर में 0.3 मिमी, कोरिया में 2.6 मिमी, रायपुर में 19.6 मिमी, बलौदाबाजार में 30.9 मिमी, गरियाबंद में 36.9 मिमी, महासमुन्द में 17.9 मिमी, धमतरी में 25.1 मिमी, बिलासपुर में 0.9 मिमी, रायगढ़ में 1.0 मिमी, जांजगीर-चांपा में 2.3 मिमी और कोरबा में  2.0 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है।

इसी प्रकार गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 9.6 मिमी, दुर्ग में 47.1 मिमी, कबीरधाम में 5.4 मिमी, राजनांदगांव में 4.7 मिमी, बालोद में 22.7 मिमी, बेमेतरा में 7.0 मिमी, बस्तर में 5.5 मिमी, कांकेर में 4.9 मिमी, नारायणपुर में 20.7 मिमी, दंतेवाड़ा में 14.6 मिमी और बीजापुर में 11.6 मिमी, औसत वर्षा आज रिकार्ड की गई।


01-Jul-2020 7:52 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 1 जुलाई। प्रदेश के अधिकारियों-कर्मचारियों ने आज यहां वार्षिक वेतन वृद्धि बहाल करने की मांग को लेकर यहां धरना-प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा है कि अधिकारियों-कर्मचारियों ने अपने एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में देकर संवेदनशीलता का परिचय दिया है। ऐसे में उनकी वार्षिक वेतन वृद्धि बहाल किया जाए। अधिकारी-कर्मचारी फेडरेशन के बैनर पर आज प्रदेश के दर्जनों अधिकारी-कर्मचारी यहां बूढ़ापारा धरना स्थल पर एकजुट हुए। इसके बाद वे सभी अपने मांगों को लेकर नारेबाजी, प्रदर्शन करते रहे। उनकी मांगों में कोरोना कार्य से जुड़े अधिकारियों-कर्मचारियों का 50 लाख का बीमा, मेडिकल व पैरामेडिकल स्टाफ को जोखिम भत्ता एवं राज्य के कर्मचारियों एवं पेंशनरों को जुलाई एवं जनवरी 2020 से देय कुल 9 प्रतिशत महंगाई भत्ते का शीघ्र भुगतान किया जाए। उन्होंने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर आशा व्यक्त की है कि मुख्यमंत्री उनकी इन मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक निर्णय लेंगे। 


01-Jul-2020 7:50 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 1 जुलाई।
पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार वृद्धि का विरोध करते हुए कांग्रेस सेवादल ने आज यहां राजीव गांधी चौक पर धरना-प्रदर्शन किया। इसके बाद एक बंद टै्रक्टर को खींचते हुए रैली के तौर पर राजभवन की ओर निकले। इस दौरान पुलिस ने उन्हें बेरीकेड्स लगाकर आकाशवाणी तिराहा के पास रोक लिया। कांग्रेस सेवादल कार्यकर्ताओं ने इस बीच नारेबाजी करते हुए जमकर प्रदर्शन किया। 

पेट्रोल-डीजल के दाम में वृद्धि का विरोध करते हुए कांग्रेस सेवादल के दर्जनों कार्यकर्ता बैनर-पोस्टर के साथ सुबह राजीव गांधी चौक पर एकजुट हुए। इसके बाद ये सभी यहां केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने की मांग करते रहे। उनका कहना है कि फिछले करीब तीन हफ्ते से पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ाए जा रहे हैं, जिससे जरूरी सामानों के दाम बढ़ते जा रहे हैं। महंगाई का असर आम जनता पर देखे जा रहे हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि पेट्रोल-डीजल के दाम कम ना करने पर वे सभी सडक़ पर उतरकर उग्र प्रदर्शन करेंगे। 
 


01-Jul-2020 7:50 PM

कांग्रेस का धरना प्रदर्शन जारी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 1 जुलाई।
पूरे देश में पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामो के विरोध में मोदी सरकार की आर्थिक लूट पर तंज कसते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में जिला कांग्रेस के प्रदर्शन के बाद ब्लाको में पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के खिलाफ कांग्रेस का धरना प्रदर्शन जारी है जो 4 जुलाई तक चलेगा। पेट्रोल-डीजल के महंगे दामों की मार गरीब आदमी और मध्यम वर्ग झेल रहा है। 

डीजल का उपयोग सिंचाई पंपों में और ट्रेक्टर से खेतों की जुताई में होता है। डीजल महंगा होने के कारण खेती की लागत बढ़ गयी है। किसान के धान का दाम केन्द्र सरकार ठीक से बढ़ाती  नहीं और महंगाई बढ़ाती जा रही है। डीजल महंगा होने से परिवहन की लागत बढ़ गयी है। किसान अनाज सब्जी हर वस्तु के दाम बढ़े है। आम उपभोक्ता महंगाई से त्रस्त है। गृहणियों के घर का बजट बिगड़ गया है। आज से रसोई गैस सिलेंडर भी महंगे हो गये।

मोहन मरकाम ने कहा है कि आज देश का हर एक व्यक्ति कोरोना की महामारी से लड़ रहा है। साथ-साथ बेरोजगारी से लड़ रहा है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमईआई) यह दावा करती है कि अप्रैल के तीसरे हफ्ते में देश में बेरोजगारी दर 26.2 प्रतिशत पहुंच गई है। आकलन है कि अब तक देश में 14 करोड़ लोग अपना काम गंवा चुके हैं। देश के युवाओं को 2 करोड़ रोजगार हर साल के अनुसार 6 साल में 12 करोड़ रोजगार मिलने थे। लेकिन हुआ ठीक उल्टा बेरोजगारी 45 साल में सर्वाधिक 27 प्रतिशत तक पहुंच गयी।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि 130 करोड़ भारतीय कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। रोजी-रोटी की मार झेल रहे हैं। आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं और संकट के इस समय में भी जनविरोधी केंद्र की भाजपा सरकार देशवासियों की खून पसीने की कमाई डीजल-पेट्रोल का दमा बढ़ाकर लूटने में लगी है। आज कच्चे तेल की कीमतें पूरी दुनिया में अपने न्यूनतम स्तर पर हैं। उनका लाभ 130 करोड़ देशवासियों को देने की बजाए मोदी सरकार पेट्रोल और डीज़ल पर निर्दयी तरीके से टैक्स लगाकर मुनाफाखोरी कर रही है। विपदा के समय इस प्रकार पेट्रोल-डीज़ल पर टैक्स लगाकर देशवासियों की गाढ़ी कमाई को लूटना ‘आर्थिक अराजकता’ है। 

कोरोना महामारी व गंभीर संकट के इस काल में पूरी दुनिया की सरकारें जनता की जेब में पैसा डाल रही हैं, पर इसके विपरीत केंद्र की भाजपा सरकार देशवासियों से मुनाफाखोरी व जबरन वसूली की हर रोज नई मिसाल पेश कर रही है। देश की जनता का खून चूसकर अपना खजाना भरना कहां तक सही या तर्कसंगत है। मोदी सरकार जबरन वसूली की सब हदें पार कर गई। कड़वा सच तो यह  है कि आज भारत में तेल पर 70 प्रतिशत टैक्स। जबकि अमेरिका में 19 प्रतिशत, जापान में 47 प्रतिशत, ब्रिटेन में 62 प्रतिशत, फ्रांस में 63 प्रतिशत, और जर्मनी में 65 प्रतिशत टैक्स है। पूरी दुनिया में भारत पेट्रोल-डीजल में सबसे ज्यादा टैक्स वसूलने वाला देश बन चुका है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि आज अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल का रेट 40 डॉलर प्रति बैरल मतलब 20 रुपए लीटर है, यह रिफाइन होने के बाद पेट्रोल 24.62 पैसे, और डीजल 26 रुपए पड़ रहा है। लेकिन मोदी की सरकार ने आज पेट्रोल 80.53 पैसे और डीजल का दाम 80.83 पैसे है। गौर करने वाली बात यह है कि इन 23 दिनों में 22 बार रेट बढ़े है। ऐसे ही क्रूड आइल के दाम 2004 में हुआ था तब यूपीए की सरकार ने डीजल 24.16 पैसे और पेट्रोल 36.81 पैसे बेचा था।
 


01-Jul-2020 6:38 PM

रायपुर, 1 जुलाई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत मुफ्त खाद्यान्न बांटने के कार्यक्रम को अगले पांच माह अर्थात नवंबर 20 तक बढ़ाने का ऐलान किया है, उनकी घोषणा के अनुसार 80 करोड़ लोगों को प्रति व्यक्ति 5 किलो चांवल/गेंहूं और प्रति परिवार एक किलो चना मुफ्त में दिया जाएगा। केंद्र सरकार ने इसके लिये 90 हजार करोड़ रू. खर्च होने की बात कही है। चांवल/गेहूं/चना का वर्तमान बाजार मूल्य 25 रुपये प्रति किलो है, चना प्रति व्यक्ति सिर्फ 200 ग्राम ही मिलेगा। इस प्रकार सरकार द्वारा प्रति माह प्रति व्यक्ति मात्र 130 रुपये ही खर्च किए जाएंगे। यदि इसे 150 भी मान लिया जाए तो 80 करोड़ लोगों के लिए सरकार 12 हजार करोड़ ही खर्च करेगी, जो पांच माह में कुल 60 हजार करोड़ ही होते हैं जबकि केंद्र सरकार ने 90 हजार करोड़ खर्च होने की बात कही है।

 


01-Jul-2020 6:37 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 1 जुलाई। छत्तीसगढ़ में लोकल टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के प्रमुख बांधों और वाटर बॉडी में वाटर स्पोर्ट, कैफेटेरिया सहित विभिन्न सुविधाएं विकसित की जाएगी। स्थानीय युवाओं को पर्यटन से जोडऩे के लिए भी इस सत्र से नवा रायपुर स्थित होटल मेनेजमेंट संस्थान में पाठ्यक्रम शुरू करने का निर्णय लिया गया। पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू छत्तीसगढ़ पर्यटन मण्डल के संचालक मंडल की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने बैठक में कहा कि कोरोना संकट काल में राज्य के पर्यटन स्थलों में स्थानीय पर्यटकों को आकर्षित करने की रणनित बनायी जाए। पर्यटन स्थलों में बेहतर सुविधाएं विकसित की जाए। उन्होंने कहा कि पहले चरण में धमतरी जिले के माडम सिल्ली बांध में वाटर टूरिज्म के लिए शीघ्र कार्ययोजना तैयार की जाए।

बैठक में श्री साहू ने रायपुर स्थित जोहार छत्तीसगढ़ होटल में साज सज्जा कर इसे नया रूपरूप देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस होटल के परिसर में कामर्शियल दृष्टिकोण से पर्यटन भवन का निर्माण किया जाए ताकि इसका बहुउद्देशीय उपयोग हो सके। उन्होंने अधिकारियों को इस सबंध में जल्द प्रस्तार तैयार करने भी कहा।

श्री साहू ने राजधानी के निकट स्थित माना-तूता में पर्यटक सुविधाओं के विकास के लिए योजना बनाने के निर्देश दिए।

छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के संचालक मंडल की बैठक में पर्यटन विकास से संबंधित कार्यों को त्वरित गति से संपन्न करने के लिए प्रदेश के सभी पर्यटन क्षेत्रों को दो या तीन जोन में विभाजित करने के संबंध में भी विचार-विमर्श किया गया। इस दौरान पर्यटन से संबंधित विभिन्न होटल, मोटल, रिसॉर्ट के संचालन, पर्यटन की पोस्ट कोविड तैयारियों, पर्यटन के प्रचार प्रसार, वॉटर टूरिज्म, एडवेंचर टूरिज्म, राम वन पाथ गमन के विकास कार्य सहित विभिन्न बिन्दुओं पर चर्चा की गई।


01-Jul-2020 6:37 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 1 जुलाई। सीएम हाऊस के समीप आत्मदाह की कोशिश करने वाले हरदेव सिन्हा की हालत खतरे से बाहर है। उन्हें देखने के लिए जोगी पार्टी के अध्यक्ष अमित जोगी पहुंचे और उनके पिता को एक लाख रूपए का चेक दिया।

सिन्हा का अंबेडकर अस्पताल में इलाज चल रहा है। दो दिन पहले उन्होंने सीएम हाऊस के समीप आग लगाकर जान देने की कोशिश की थी। पूर्व विधायक अमित जोगी ने अस्पताल में उनका हाल जाना और परिवार के सदस्यों से चर्चा की।

अमित जोगी ने अपने बयान में हरदेव सिन्हा के स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। उन्होंने कहा कि हरदेव का शरीर 65 फीसदी से अधिक जल गया है। उनकी स्थिति गंभीर है। हरदेव की जीवटता देखने को मिली।  वह लगातार अपनी जिंदगी से संघर्ष कर रहा है।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के सारे नौजवान सेना परिवार के साथ हैं। पुलिस भर्ती और शिक्षक भर्ती की पूरी प्रक्रिया हो चुकी है लेकिन अब तक भर्ती नहीं हुई। जिला पुलिस बल और शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी भी साथ आए हैं। इस मामले में लगा लगातार लीपापोती की कोशिश की जा रही है। जोगी पार्टी की तरफ से हरदेव सिन्हा के पिता को प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने एक लाख का चेक सौंपा।

 


01-Jul-2020 6:36 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 1 जुलाई। प्रदेश की राजधानी समेत कई बड़े जिलों में जिस तरह से कोरोना मरीज सामने आ रहे हैं, इसकी तुलना में बस्तर के जिलों में कम मरीज देखे जा रहे हैं और इसकी वजह मलेरिया दवा का असर माना जा रहा है।

जारी आंकड़ों के मुताबिक करीब साढ़े तीन महीने में बस्तर के कांकेर जिले में सबसे अधिक 51 कोरोना मरीज मिले हैं। नारायणपुर में 11, जगदलपुर में 7, दंतेवाड़ा में 6, सुकमा में 5, कोंडागांव में 3 व बीजापुर में 1 मरीज दर्ज हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम इन मरीजों के संपर्क में आने वालों की पहचान और सैंपल में लगी है।

स्वास्थ्य अफसरों का कहना है कि बस्तर में समय-समय पर मच्छररोधी अभियान चलाया जाता है। यहां के लोगों को मलेरिया की मुफ्त दवा दी जाती है। जिस तरह से कोरोना मरीजों के आंकड़े अब तक सामने आए हैं, उससे ऐसा माना जा रहा है कि इस दवा का असर हो सकता है। लेकिन आगे मरीजों के आंकड़े कम ही रहेंगे या बढ़ जाएंगे, यह कहना मुश्किल है।


01-Jul-2020 6:36 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 1 जुलाई। न्यू राजेंद्र नगर में ब्याज वसूली के नाम पर प्रताडऩा, मारपीट के चलते यहीं की सब्जी बेचने वाली एक महिला ने हफ्तेभर पहले जहर खाकर अपनी जान दे दी। यह आरोप लगाते हुए महिला के पति और वार्ड के पूर्व पार्षद समेत कुछ लोगों ने एसपी रायपुर से मिलकर मामले की जांच और गिरफ्तारी की मांग की है।

मृतिका के पति चेतन साहू, पूर्व पार्षद गोविंद मिश्रा व न्यू राजेंद्र नगर वार्ड के कुछ लोग आज सुबह यहां एसपी दफ्तर पहुंचे। उन्होंने एसपी रायपुर को एक आवेदन सौंपकर उन्हें बताया कि उनके वार्ड का एक व्यक्ति कमल बंशीवाल ब्याज में पैसा देने का काम करता है। इसी से वार्ड की सब्जी बेचने वाली जानकी साहू ने भी तीन-चार महीने पहले उससे 60 हजार रुपये लिया था। इसका ब्याज वह हर रोज 8 सौ रुपये देती थी। लॉकडाउन में सब्जी कारोबार बंद होने से वह ब्याज नहीं दे पाई।

उनका आरोप है कि लॉकडाउन में ब्याज की रकम नहीं देने पर संबंधित व्यक्ति ने महिला को प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। महिला ने घर की एक बाइक को बेचकर उसे 20 हजार रुपये दिया, फिर भी प्रताडऩा जारी रहा। फिर अपने घर में बंधक बनाकर धमकी देते हुए उसके साथ मारपीट की। इसी के चलते 25 जून को उसने जहर खाकर अपनी जान दे दी। प्रताडऩा की शिकायत राजेंद्र नगर पुलिस में की गई, लेकिन एफआईआर दर्ज नहीं की गई। कोई कार्रवाई भी नहीं हुई। उनकी मांग है कि प्रताडि़त करने वाले के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे जल्द गिरफ्तार किया जाए।