जान्जगीर-चाम्पा

मकान ढहने पर बाल-बाल बचा परिवार
01-Oct-2021 4:53 PM (48)
मकान ढहने पर बाल-बाल बचा परिवार

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सक्ती, 1 अक्टूबर।
सक्ती विकासखंड अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत टेमर में एक कच्चा मकान धराशायी हो गया। घटना के दौरान परिवार के सदस्य बाहर गए हुए थे जिससे बड़ा हादसा टल गया। परिवार द्वारा मुआवजे की मांग की गई है। एसडीएम रेना जमील ने उन्हें उचित आश्वासन देते हुए राहत दिलाने का भरोसा दिलाया है।

वार्ड क्रमांक 16 भाटापारा निवासी लक्ष्मीन बाई पटेल पति रवि पटेल अपने दो छोटे बच्चों के साथ निवासरत थी, वही भारी बारिश के कारण उनका मकान पूरी तरह से जमींदोज हो गया। कहते हैं कि जाको राखे साइयां मार सके ना कोय लक्ष्मी पटेल अपने पूरे परिवार के साथ अपने घर के ही समीप अपने रिश्तेदार के यहां दसकर्म कार्यक्रम के आयोजन में गए हुए थे। उसी समय उनका कच्चे का बना मकान देखते ही देखते भरभरा कर गिर गया। अगर उस समय यह परिवार घर के अंदर रहता, तो निश्चित ही बड़ी दुर्घटना घट सकती थी। 
इसी नुकसान के एवज में मुआवजा प्राप्त करने के लिए लक्ष्मीन पटेल ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कार्यालय पहुंचकर गुहार लगाते हुए मुआवजा दिलाने की मांग की है। 

उन्होंने मुआवजा के लिए दिए आवेदन में बताया है कि उनका कच्चा मकान भारी बारिश के कारण ढह गया। वही कमरे में रखे सामान टीवी, अलमारी, बाजबट, पलंग, साइकल कूलर, सीलिंग फैन, सिलाई मशीन बर्तन एवं राशन वगैरह सभी सामग्री का नुकसान हुआ है। उन्होंने इसकी सूचना सरपंच एवं पटवारी को पहले से दे दी है। जहां लक्ष्मी पटेल के द्वारा मुआवजे की मांग की गई है। वहीं अनुविभागीय अधिकारी राजस्व रेना जमील ने उन्हें उचित आश्वासन देते हुए राहत दिलाने का भरोसा दिलाया है।

चार सदस्यों के परिवार में लक्ष्मीन पटेल मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। वहीं शासन की कई योजनाएं हैं। जिनका लाभ उन्हें नहीं मिलता वर्तमान समय में इनका मकान पूरी तरह से जमींदोज हो जाने के कारण इनके सामने रहने के लिए छत की व्यवस्था नहीं है। वही इन्हें प्रधानमंत्री आवास का लाभ भी नहीं मिला है।
 

अन्य पोस्ट

Comments