महासमुन्द

होम आइसोलेशन मरीज कांटेक्ट ट्रेसिंग के दौरान सही जानकारी दें-कलेक्टर
23-Apr-2021 8:00 PM (30)
 होम आइसोलेशन मरीज कांटेक्ट ट्रेसिंग  के दौरान सही जानकारी दें-कलेक्टर

होम आइसोलेशन में कोविड पॉजिटिव मरीजों की जा रही है मॉनिटरिंग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 22 अप्रैल।
होम आइसोलेशन में रह रहें मरीज कांटेक्ट ट्रेसिंग के दौरान सही जानकारी दें। होम आइसोलेशन में कोविड पॉजिटिव मरीजों की प्रॉपर मॉनिटरिंग कांटेक्ट ट्रेसिंग बेहद महत्वपूर्ण कार्य है। यह सबसे प्रथम स्टेज होता है जब किसी को भी पॉजिटिव मरीज से दूरभाष के माध्यम से प्रथम बार संपर्क किया जाता है। इस दौरान मरीजों द्वारा सही.सही जानकारी देना बहुत आवश्यक है। इसी के आधार पर मरीजों को दवाइयां एवं इनकी मॉनिटरिंग होम आइसोलेशन के दौरान की जाती है।

 कांटेक्ट ट्रेसिंग में पॉजिटिव व्यक्ति का नाम, उम्र, संपर्क नंबरए पिता का नाम, मोबाइल नंबर, पूर्ण पता, वार्ड, जिला, व्यवसाय, सर्दी, खांसी, बुखार, सिर दर्द या अन्य कोविड.19 के लक्षण, यदि महिला है तो क्या वह गर्भवती है, इसका विवरण देना आवश्यक है। कोविड सैंपल के प्रकार जैसे एंटीजनए आरटीपीसीआर, ट्रूनॉटए सैंपल एवं इसका दिनांक, परिणाम आने की तिथि, अन्य गंभीर बीमारी जैसे बीपी,शुगर, गर्भवती, कैंसर, लकवा, टीबी, सिकलिंग, हृदय रोग इत्यादि के बारे में जानकारी एकत्र की जाती है। 

परिवार में 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले व्यक्तियों की संख्या, परिवार में 10 वर्ष के उम्र वाले व्यक्तियों की संख्या, परिवार में गर्भवती महिला की संख्या, यात्रा का विवरण, क्या विगत 15 दिनों में कहीं यात्रा किया गया है? यदि किया गया है तो उसका संपूर्ण विवरण। एक ही घर या परिवार में रहने वाले व्यक्तियों का विवरण, घर में बाहर से आने वाले व्यक्तियों का विवरण की जानकारी कांटेक्ट ट्रेसिंग के दौरान ली जा रही है। पॉजिटीव मरीजों द्वारा सही जानकारी देने पर होम आइसोलेशन की काउंसलिंग के दौरान मरीजों को घर पर ही देखरेख में मदद मिलती है। होम आइसोलेशन के गंभीर मरीजों को एंबुलेंस के माध्यम से अस्पताल भी पहुंचाया जाता है। 

काउंसलिंग के दौरान सही सही जानकारी देने की सलाह भी दी जाती है। कांटेक्ट ट्रेसिंग के दौरान मरीज घर पर है या अस्पताल में इसकी भी जानकारी ली जाती है। इसके लिए जो भी कर्मचारी तैनात हैं, वो पॉजिटिव की सूची प्राप्त होते ही कांटेक्ट ट्रेसिंग का महत्वपूर्ण कार्य करते हैं। इस दौरान पॉजिटिव व्यक्ति से सही जानकारी मिलने पर उनका उपचार होम आइसोलेशन के दौरान सही तरीके से किया जा सकता है। इसलिए सैंपल देते वक्त अपना सही मोबाइल नंबर देना अति आवश्यक है।
 

अन्य पोस्ट

Comments