बलौदा बाजार

भाजपा घडिय़ाली आंसू बहा रही है-डॉ. गोपाल
22-Nov-2021 5:09 PM (47)
भाजपा घडिय़ाली आंसू बहा रही है-डॉ. गोपाल

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भाटापारा, 22 नवंबर।
किसान कांग्रेस के जिलाध्यक्ष डॉ. गोपाल प्रसाद साहू ने भाजपा नेताओं को आड़े हाथ लेते हुये कहा है कि कुछ लोग सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिये इतने नीचे गिर रहे हैं कि अब उनके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता जो लोग गला फाड़ फाड़ कर यह चिल्लाते, कहते नहीं थकते थे की 200 रूपये भी यदि पेट्रोल, डीजल की कीमत हो जाये तब भी हम वोट केवल मोदी सरकार को ही देंगे वही लोग आज गली, चौक-चौराहे, नुक्कड़ पर पुतला दहन, धरना प्रदर्शन कर रहे हैं भाजपा के लोगों की राजनीति समझ से परे है।

उन्होंने जारी विज्ञप्ति में आगे कहा कि हमारे प्रबुद्ध प्रदेश वासियों, लोगों को यह क्या बताना चाहते हैं, यदि छत्तीसगढ़ सरकार वेट टैक्स लगा रही है। हां छत्तीसगढ़ सरकार ने उससे कई गुना अपने प्रदेश की जनता के लिये काम किया है। भलाई के लिये काम किया, जनहित के लिये काम किया है। सर्वांगीण विकास किया है। इसी बात को उसी मंच से वह नेता यह कहता कि मोदी आप यूपीए के शासन काल से कू्रड आयल सस्ता होने के बावजूद इतने महंगे दामों पर पेट्रोल डीजल क्यों पूरे देश में बेचवा रहे हैं, तो हम मान जाये कि हां आपने लोगों के लिये यह आंदोलन, धरना, प्रदर्शन किया है। अन्यथा यह आपका केवल एक प्रोपेगेंडा ही माना जायेगा जिस तरह से 700 किसानों की बलि लेने के बाद कुंभकरण की नींद से जागी है केंद्र सरकार और यह कह रहा है कि हमने तीनों काले कानून वापस ले लिए हैं।

यह एक छलावा मात्र है क्योंकि उनके शीर्ष मंत्री गण कहते हैं कि यह तो सब जुमलेबाजी है। हमने ऐसे ही कह दिया, तो यह कैसे मान लिया जाये की तीनों काले कानून वापस ही होंगे जब तक संसद में बिल पेश नहीं होता और संसद के बाद राष्ट्रपति की मंजूरी नहीं मिलती तब तक यह नहीं कहा जा सकता कि उन्होंने तीनों काले कानून वापस ले लिये हैं, यह तो यूं ही बात हो गई कि चुनाव के डर से लोगों को गुमराह करने के मकसद से प्रोपेगेंडा फैलाया जा रहा है।

लोगों को दिग्भ्रमित कर उनसे फिर से धोखा दिया जा रहा है और उनका मानसिक दोहन किया जा रहा है। सस्ती लोकप्रियता हासिल करने वाले तथाकथित हमारे क्षेत्र के नेताओं से कहना चाहता हूं कि आप विपक्ष में हो या सत्ता पक्ष में हो लोगों के मुद्दे को जनहित के मुद्दे को ऐसे उठाये कि हां लगेगी वह आपके लिये ही काम कर रहे हैं ना कि धरना, प्रदर्शन या पुतला दहन कर किसी अच्छे कार्य कर रहे सरकार के खिलाफ बेवजह लोगों बरगलाने का काम करें।

अन्य पोस्ट

Comments