छत्तीसगढ़ » बेमेतरा

24-Feb-2021 6:12 PM 10

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बेमेतरा, 24 फरवरी।
राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत एक दिवसीय ‘स्ट्रेस मैनेजमेंट’ (तनाव प्रबंधन) विषय पर मितानिन ट्रेनरों का संवेदीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया। सोमवार को बेमेतरा जिला मुख्यालय के एक होटल में आयोजित तनाव प्रबंधन कार्यशाला में नवागढ व बेमेतरा ब्लॉक की 54 मितानिन ट्रेनरों को प्रशिक्षण दिया गया। 

इस कार्यशाला का उद्देश्य मितानिन ट्रेनरों को तनाव का मानसिक, भावनात्मक और शारीरिक स्वास्थ्य पर दूरगामी प्रभावों को समझाने और तनाव  से निपटने के लिए पहचान व प्रबंधन पर जानकारी दी गई। बलौदाबाजार जिला अस्पताल से पहुंचे मनोचिकित्सक डॉ. राकेश कुमार प्रेमी ने ‘स्ट्रेस मैनेजमेंट’ पर व्याख्यान की शुरुआत मानसिक तनाव का प्रबंधन कर तनाव से बचने के विभिन्न उपायों के बारे में चर्चा से की। डॉ. प्रेमी ने  तनाव को दूर करने के लिए शाररिक सक्रियता बढाने के लिए खेल-खेल के माध्यम से जानकारियां दी। इसी तरह मोटिवेशनल विडियो स्पीच क्लीप को देखने, सकारात्मक सोच, संगीत, चिकन डांस, गहरी सांस लेना, योगा व प्राणायाम सहित जीवन कौशल विकास पर आधारित जानकारियां दी गई।

बलौदाबाजार की एनसीडी जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ. सुजाता पांडेय ने बताया,  चिकन डांस से ब्रेन को रिलेक्सेशन महसूस होता है। इससे शरीर के अंगों में तरंग व शांत मन अचानक से चहक उठता है। तनाव को लेकर मन में आने वाले नकारात्मक सोच गायब हो जाते हैं। नृत्य को एक विकासवादी उपहार के रूप में देखा जा सकता है जो अपनी संज्ञानात्मक दिशा, भावनात्मक प्रभाव और शारीरिक ऊर्जा के माध्यम से, नृत्य तनाव को रोकने, कम करने और भगाने  का एक साधन है। मस्तिष्क, शरीर और स्वयं को एकीकृत करते हुए, नृत्य को व्यायाम के एक रूप में भी देखा जा सकता है।

डॉ. सुजाता पांडेय ने बताया, तनाव के दो प्रकार अच्छा तनाव व बुरा तनाव होते हैं। अच्छा तनाव हमें प्रेरित करता है, ऊर्जा को केंद्रित करता है जो अल्पावधि का होता है। यह रोमांचक लगता है और इससे कार्य बेहतर होते है। जबकि बुरा तनाव चिंता पैदा करने वाला एक नकारात्मक तनाव है जो व्यक्ति की  क्षमताओं को कम करता है जो दीर्घावधि का होता है। और मानसिक और शारीरिक बीमारी को जन्म देता है।

प्रशिक्षक के रुप में स्पर्श क्लीनिक बेमेतरा जिला अस्पताल की मानसिक स्वास्थ्य नर्सिंग ऑफिसर गोपिका जायसवाल ने मितानिन को बताया, मानसिक रोगियों की पहचान कैसे करें एवं साथ ही कार्यक्षेत्र में तनाव को कैसे कम करें। 

उन्होंने बताया, तनाव प्रबंधन से पहले रोगी की पहचान करना जरुरी पहलू है। तनाव से पीडि़त व्यक्ति में अचानक चिड़चिड़ापन का बढना, जरुरत से ज्यादा बोलना, रहन-सहन में बदलाव, दैनिक दिनचर्या को पूर्ण नहीं करना, मन किसी और तरफ भटकना, परिवार व दोस्तों से अलग-थलग रहना तनाव के प्रमुख लक्षण हैं। उन्होंने बताया मानसिक तनाव के बारे में जैसे ही पता चले इसके प्रबंधन के लिए प्रशिक्षित मनोरोग चिकित्सक से मरीज का काउंसलिंग कर थोड़ा समझाने की कोशिश करना जरुरी है। मरीज को तनाव से उबारने के लिए फैमली थैरेपी व ग्रुप थैरेपी, म्यूजिक थैरेपी व बातचीत के जरिये समस्या का निराकरण करना है।

कार्यशाला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस.के. शर्मा, सिविल सर्जन डॉ. वंदना भेले, जिला एनसीसी नोडल अधिकारी डॉ. दीपक मिरे, डीपीएम अनुपमा तिवारी व सागर शर्मा सहित अन्य स्टाफ भी उपस्थित थे। 


07-Feb-2021 9:04 PM 15

  बिलासपुर से नांदगांव जा रही थी  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बेमेतरा, 7 फरवरी। बीती रात बेमेतरा थाना क्षेत्र के देवरबीजा में लाखों का राजश्री गुटखा भरी 2 ट्रकों के ड्राइवरों को बंधक बनाकर लूट लिया गया। दोनों ट्रक बिलासपुर से नांदगांव जा रही थी। दोनों ड्राईवरों से पूछताछ की जा रही है।

पुलिस के अनुसार 6 फरवरी की रात को बिलासपुर से राजनांदगांव जा रही राजश्री पान मसाला से लोड ट्रकों देवरबीजा बस स्टैंड से निकला, तभी अज्ञात लोगों ने ड्राइवरों को बंधक बना लिया और उसमें रखे करीब 30 लाख का गुटखा लूट ले गए।

जानकारी मिलने के बाद बेमेतरा एसपी दिव्यांग पटेल, एएसपी विमल बैस, साजा टीआई हर्ष प्रसाद पांडे, बेमेतरा टीआई राजेश मिश्रा पुलिस टीम के साथ पहुंचे। एसपी ने आसपास के क्षेत्रों का मुआयना किया। दोनों ट्रक को देवकर चौकी में खड़े किये हंै और ड्राईवरों से कड़ी पूछताछ कर रहे हंै।


30-Jan-2021 6:14 PM 28

पढ़ाई-लिखाई का खर्चा वहन करेंगे 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बेमेतरा, 30 जनवरी।
गरीबों को सीधी मदद के राज्य सरकार के दावे खोखले नजर आ रहे है । प्रशासनिक संवेदनहीनता का खामियाजा गरीबों को भुगतना पड़ रहा है। सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिलने पर बेरला ब्लॉक के अकोला गांव रहवासी दम्पति ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। 

ये बातें किसान नेता योगेश तिवारी ने पीडि़त परिवार से चर्चा के दौरान कही। किसान नेता ने बताया कि यह मामला प्रशासन की संवेदनहीनता का प्रत्यक्ष उदाहरण है। योगेश तिवारी प्रशासन से मदद नहीं मिलने पर पीडि़त परिवार को आर्थिक मदद के लिए गांव गए थे। बेरला पुलिस के अनुसार 22 जनवरी सुबह करीब 11 बजे ग्राम अकोली निवासी दम्पति देवधर व उसकी पत्नी केवरी निषाद ने पारिवारिक विवाद के कारण जहर खा लिया। इलाज के लिए अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 

किसान नेता योगेश तिवारी ने परिवार से चर्चा के बाद बताया कि मृतक आर्थिक तंगी से गुजर रहा था। मृतक दम्पत्ति के दो बच्चे हैं। आधार कार्ड में त्रुटि के कारण सरकारी योजना का लाभ नहीं मिल रहा था। नतीजतन तंगी से गुजर रहे परिवार को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। अकोली में शोक संतप्त परिवार से मिलकर किसान नेता ने ढांढस बंधाया और उन्होंने परिवार को आर्थिक मदद करने के साथ दोनों बच्चों की पढ़ाई का बीड़ा उठाया। प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की संवेदनहीनता पर नराजगी जाहिर करते हुए कहा कि घटना के बाद से अब तक कोई भी अधिकारी व जनप्रतिनिधि पीडि़त परिवार से मिलने नहीं पहुंचा है। 

यहां प्रशासन की संवेदनहीनता साफ दिखाई दे रही है। क्षेत्र के कुछ जनप्रतिनिधि फोटो खिंचाकर वाहवाही लूटने में लगे हैं, लेकिन गरीब परिवार के मदद के नाम पर वो सक्रियता नजर नहीं आती है। इसलिए जनसरोकार को प्राथमिकता देते हुए आर्थिक मदद करने के साथ बच्चों की आगे की पढ़ाई में मदद की जिम्मेदारी उठाई है। इस दौरान पूर्व सरपंच राजू परगनिहा, लखन चक्रधारी, हरीश निषाद, कुलेश्वर कुर्रे, दिनेश सारंग आदि उपस्थित थे।
 


01-Jan-2021 6:45 PM 30

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

थानखम्हरिया, 1 जनवरी। कोरोनकाल के अवसादग्रस्त माहौल के बीच एक लंबे अंतराल के बाद नगर में साहित्य व संगीत से ओतप्रोत सफल कार्यक्रम का कल शाम आयोजन हुआ। प्रदेश की प्रतिष्ठित संस्था श्री साईनाथ फाउंडेशन द्वारा नगर में स्थित साईनाथ पब्लिक स्कूल के प्रांगण में आयोजित जुरमिल कार्यक्रम के अंतर्गत स्थानीय साहित्यकारों सहित बेमेतरा, कवर्धा, मुंगेली, लोरमी व आसपास क्षेत्र के अनेक साहित्य व संगीतप्रेमीयों का देर रात तक जमावड़ा बना रहा।

 आयोजन प्रमुख युवा गज़़लगो आशीष राज सिंघानिया के सधे हुए संचालन के साथ नववर्ष के आगमन की पूर्व संध्या पर आयोजित इस कार्यक्रम में युवा गायक शंकर्षण मिश्रा, शिवम सोनी व रजत सिंह चौहान ने अपनी सुमधुर गायकी से सबका दिल जीत लिया।

 नगर के वरिष्ठ साहित्यप्रेमी महेंद्र सिंह विरदी व अंचल के वरिष्ठ साहित्यकार विनोद शर्मा के आतिथ्य में आयोजित काव्य संध्या में नगर के ढाल सिंह राजपूत, कमल शर्मा, इंद्रपाल सिंह पसरिजा, बेमेतरा के प्रतुल कुमार वैष्णव, लोरमी के संस्कार साहू, कवर्धा के प्रेमिश शर्मा, पारसमणि शर्मा व अभिषेक पाण्डेय कृष्णम ने अपनी उत्कृष्ट रचनाओं की प्रस्तुति देकर सभी की प्रशंसा व खूब वाहवाही बटोरी।

 प्रदेश के सुप्रसिद्ध हास्य कलाकरद्वय कौशल साहू व अनूप श्रीवास्तव ने हास्य-व्यंग्य-मिमिक्री से श्रोताओं का मनोरंजन करते हुए पूरे कार्यक्रम को बेहद यादगार बना दिया। आयोजन समिति की ओर से वीरेंद्र जोशी, रुद्रेश अग्रवाल, विकास सिंघानिया, प्रतीक सिंघानिया, मृणाल परिहार, हर्ष बिंदल, आयुष बंसल, दीपक केडिया व शिव केडिया ने आगंतुकों का स्वागत व सम्मान किया। गीत, गज़़ल, मुक्तक व मधुर सांगीतिक प्रस्तुतियों का आनंद लेने ठिठुरती ठंड के बीच भी नगर के श्रोतागण देर रात तक कार्यक्रम स्थल पर जमे रहे।


29-Dec-2020 5:30 PM 33

भाजपा का धरना-प्रदर्शन, ज्ञापन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
साजा, 29 दिसंबर।
किसानों की समस्या को लेकर सोमवार को किसान मोर्चा के तत्वाधान में भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मूलचंद शर्मा, ईश्वर पटेल, प्रेमलाल वर्मा, रोहित सिंह ठाकुर, चंद्रशेखर साहू, सहित क्षेत्र के वरिष्ठ भाजपा नेताओं के उपस्थति में मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

ज्ञापन में कहा गया है कि अगर किसानों के साथ अन्याय बंद नहीं किया गया तो किसान मोर्चा आने वाले समय में प्रदर्शन करेगा। आवश्यकता पडऩे पर चक्का जाम भी किया जा सकता है। 
इस संबंध में प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य मूलचंद शर्मा ने बताया कि वर्तमान में जो धान खरीदी जारी है उसमें किसानों को  50 प्रतिशत  बोरा लाने को कहा जा रहा है। बोरे के अभाव में किसानों का धान निकल नहीं पा रहा है और किसान अपना धान नहीं बेच पा रहे हैं। जो वर्तमान में सरकार की ओर से दिए गए निर्देश है जिसमें प्रति बोरा 35 के हिसाब से  बाजारों में खरीदने को किसान मजबूर हो गए हैं। वहीं सरकार ने 15 रुपये प्रति बोरा देना निर्धारित कर दिया है। इस आधार पर प्रत्येक किसान को लगभग  20 का अंतर और बाहर आ रहा है। इसी तरह  प्रदेश में सरकार के द्वारा किसानों के  धान के रकबे को पूर्व में काट दिया गया। मौका निरीक्षण के बाद भी गिरदावरी में अनियमितता बरती गई। राजस्व निरीक्षकों तथा पटवारियों ने मौके का निरीक्षण नहीं कर मात्र पूछताछ के आधार पर रकबे की कटाई कर दी जिससे किसान काफी प्रभावित हुआ है। 

आगे कहा कि इसके पूर्व उन किसानों को जिनका रकबा ठीक था और पूर्व में जो धान बेचा गया था उस सर्वे में भी काफी कटौती कर दी गई है इसके बावजूद सरकार द्वारा  पूरा धान खरीदने की दुहाई दी जा रही है जबकि  जिन रकबों का अंतर आया है उसमें राजस्व अधिकारी  आवेदन जरूर ले रहे हैं लेकिन उसकी बिक्री की अनुमति की गारंटी नहीं ले रहे हैं। 

इसी तरह सरकार ने अतिवृष्टि के मामले को लेकर किसानों के खाते में पैसा डालने की बात कही है लेकिन साजा क्षेत्र के अनेक गांव से शिकायतें निरंतर आ रही हैं। आरोप है कि क्षतिपूर्ति की राशि में भेदभाव किया जा रहा है और अनेक गांव को छोड़ दिया गया है। किसानों की पिछली सरकार के 2 वर्ष का बोनस भी पूरा नहीं आया है  किसानों का कर्जा माफ करने का वादा अधूरा है। बेरोजगारों को 2500 रूपये भत्ता देने की बात कही गई थी लेकिन आज तक इस संबंध में कारगर उपाय नहीं किए गए हैं और न ही भत्ता देने की कार्रवाई की जा रही है। प्रदेश में दस लाख युवाओं को ेरोजगार देने की बात भी झूठी साबित हुई। इसी तरह प्रदेश में किसानों के हित में जो निर्णय लिए गए थे और जो वादा सरकार ने किया था उसे पूरा करने में सरकार विफल रही है। 

प्रदेश में शराबबंदी का वादा भी नहीं निभाया गया है बल्कि घर बैठे शराब बेचने की और भेजने की व्यवस्था कर दी गई है। सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ किसान मोर्चा  शीघ्र ही व्यापक धरना-प्रदर्शन की तैयारी की जा रही है।  उन्होंने साजा क्षेत्र में प्रदेश की सरकार में प्रतिनिधित्व कर रहे कृषि कैबिनेट मंत्री से भी आग्रह किया गया है कि क्षेत्र में आकर किसानों की समस्या का जायजा लेवें और उन्हें राहत प्रदान करें। किसानों के साथ हो रहे अन्याय की भी सुधि लें। ज्ञापन सौंपने के दौरान  पूरण साहू, लालाराम साहू, झगन कन्नौजे, नरपत सिंह, ज्वाला सिंह ठाकुर, मुकेश वैष्णव, बुलाक साहू, सोनऊ निषाद तथा अनेकों लोग मौजूद रहे।
 


19-Dec-2020 8:49 PM 39

जगदलपुर, 19 दिसम्बर। युवक कांग्रेस के प्रदेश संयुक्त सचिव एवं छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी खेलकूद प्रकोष्ठ के जगदलपुर शहर जिला अध्यक्ष जावेद खान ने जगदलपुर नगर निगम के भाजपा पार्षद गण के दलपत सागर  सफाई अभियान में मील का पत्थर साबित होने वाली आधुनिक तकनीक की मशीनरी के अवलोकन के बाद दिए गए बयानों को बेबुनियाद एवं हास्यास्पद, ढकोसला और कुछ तो विपक्षी कहेंगे विपक्षियों का काम है कहना बताते हुए तीखा पलटवार किया है।

जावेद ने जारी विज्ञप्ति के माध्यम से भाजपा पार्षद दल से पूछा है क्यों शहर में हो रहे चहुमुखी विकास से उनके पेट में मरोड़ उठ रही है। बरसों पुरानी लंबित शहरवासियों की मांगों को एक एक करके पूरा होता देख भाजपा बेचैन है फिर चाहे बात वर्षों पुरानी लंबित गीदम रोड के जीर्णोद्धार की हो या फिर दलपत सागर सौंदर्य करण की हो या फिर महारानी अस्पताल के नए स्वरूप की हो और या फिर नए कलेवर में शहर का गौरव बनने वाली इमारत लाला जगदलपुरी ग्रंथालय एवं या फिर बात टाउन क्लब की हो।

छत्तीसगढ़ के यशस्वी मुख्यमंत्री भुपेश बघेल के देखे हुए सपने को साकार करते हुए जगदलपुर विधायक एवं  महापौर के आपसी तालमेल से गड़बो नया जगदलपुर की परिकल्पना को साकार किया जा रहा है,जिससे भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारियों एवं पार्षदों के अंदर भय का वातावरण है। होते हुए विकास कार्यों को देख उनके अंदर की बेचैनी को आज पूरा शहर देख रहा है। विकास कार्यों में रोड़ा बनकर बेबुनियाद आरोप लगाकर बची कुची साख भी यह स्वयं अपने हाथों से गंवा रहे हैं।

प्रदेश में जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार थी एवं जगदलपुर में भी भारतीय जनता पार्टी के विधायक थे उस दौर में जगदलपुर विधायक पर्यटन मंडल के अध्यक्ष हुआ करते थे पर्यटन को बढ़ावा देने के नाम पर दलपत सागर में म्यूजिकल फाउंटेन उनके द्वारा लगाया गया था जो कुछ ही दिनों में ठप पड़ गया उस समय यह भारतीय जनता पार्टी के पार्षद गण इस तरह का अवलोकन करने पहुंचे होते तो शायद आज दलपत सागर आईलैंड में म्यूजिकल फाउंटेन भी होता और म्यूजिकल फाउंटेन में हुए भ्रष्टाचार का भी खुलासा होता।

दलपत सागर सफाई अभियान में लाई गई आधुनिक मशीन दलपत सागर की सफाई के लिए मील का पत्थर साबित होगी शहर के प्रकृति प्रेमियों एवं समाजसेवियों जिन्होंने दलपत सागर को स्वच्छ एवं सुंदर देखने का जो सपना देखा था वह कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार जल्द साकार करके दिखाएगी, अच्छे कार्यों के लिए विपक्षियों को बड़ा दिल रखते हुए सत्ता पक्ष की सराहना करनी चाहिए एवं जनहित के कार्यों का स्वागत करना चाहिए ना कि उसमें रोड़ा बनना चाहिए।