कांकेर

राम मंदिर भारतवासियों की आस्था का प्रतीक-संत बालक दास
19-Jan-2021 9:29 PM 35
 राम मंदिर भारतवासियों की आस्था का प्रतीक-संत बालक दास

  निधि समर्पण अभियान को लेकर जुटे लोग  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भानुप्रतापुर, 19 जनवरी। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए निधि समर्पण अभियान को लेकर आज जामड़ी पाटेश्वर धाम  बालोद के संत बालक दास का नगर आगमन हुआ।  मेन चौक भानुप्रतापपुर में महाराज का भव्य स्वागत किया गया। इसके बाद अंतागढ़ रोड सांई मंदिर में इनका व्याख्यान हुआ।

उन्होंने कहा कि ये मंदिर नहीं भारत का नव निर्माण हो रहा है। इसके लिए कई सदियां बीत गई। कई साधु संत बलिदान हो गए। मंदिर बनाने के लिए साधु संतों ने यह निर्णय लिया कि 50 करोड़ लोगों की सहभागिता होनी चाहिए। छत्तीसगढ़वासियों को गर्व हैं कि कौशल्या माता का मायका प्रभु श्रीराम का ननिहाल छत्तीसगढ़ है। वनवास के समय प्रभु  श्रीराम के वनवास के दौरान छत्तीसगढ़ की पावन धरा से होते हुए लंका की ओर सीता माता की खोज के लिए गए थे। राम मंदिर समस्त भारतवासियों की आस्था का प्रतीक है। संत बालक दासजी के समक्ष बड़ी निधि समर्पण राशि देने वाले दान दाताओं को कूपन काट कर दिया गया। इस अवसर पर सर्व हिन्दू समाज राम भक्तजन उपस्थित थे।

अन्य पोस्ट

Comments