गरियाबंद

कला और संस्कृति के विकास में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की विशेष भूमिका-चंद्रशेखर
14-Oct-2021 5:14 PM (31)
कला और संस्कृति के विकास में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की विशेष भूमिका-चंद्रशेखर

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 14 अक्टूबर।
नवरात्रि पर संस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम मची है। क्षेत्र के ग्राम पंचायत लोहरसी में भी माँ नवदुर्गा महालक्ष्मी परिवार द्वारा बजरंग चौक में राज्य स्तरीय सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि जिला पंचायत सदस्य चंद्रशेखर साहू एवं अध्यक्षता जनपद सदस्य दीपक साहू ने की। विशिष्ट अतिथि करारोपण अधिकारी नूतन साहू, पूर्व सरपंच घनश्याम पटेल, सरपँच प्रतिनिधि शिवकुमार धु्रव शामिल हुए।

 सांस्कृतिक संध्या में उपस्थित विशाल जनमानस को संबोधित करते हुए चंद्रशेखर साहू ने कहा कि दिन प्रतिदिन निरंतर सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन से लोक कलाकारों को बेहतर मंच मिल रहा है, जिससे उनकी छिपी हुई प्रतिभा का विकास होता है। हमारे अंचल में प्रतिभा की कमी नहीं है, हमारे युवा साथियों के अनुपम प्रयासों से अब प्रतिभागियों को स्थान मिल रहा है। छत्तीसगढ़ की कला और संस्कृति के उत्थान के लिए ऐसे सांस्कृतिक आयोजनों ने विशेष भूमिका निभाई है। ऐसे निरंतर कार्यक्रमों और नवाचारों के लिए युवा साथियों और ग्रामवासियों का प्रयास सराहनीय है।

कार्यक्रम को सफल बनाने में गिरवर लाल यादव, रिपुसूदन निर्मलकर, देवेंद्र साहू, उपेंद्र धु्रव, गोविंदा निर्मलकर, नेतराम पटेल, नूतन पटेल, लिखन साहू, संतोष साहू, हेमंत साहू, गोपाल यादव, योगेश साहू, मनोज देवदास, धर्मेंद्र यादव, विजय पटेल, लक्ष्मीनारायण तिवारी, देवलाल साहू, हलधर पटेल के साथ समिति के सभी सदस्यों का सराहनीय योगदान रहा।

निर्णायक मंडल में धर्मेंद्र कुमार यादव, कोमल ठाकुर, कमलेश कौशिक, पुष्कर प्रसाद तिवारी, हलधर पटेल के द्वारा विभिन्न विधाओं में प्रतिभागियों का चयन किया गया।
प्रतियोगिता में एकल प्रथम अंजली दीवान रायपुर, द्वितीय बजरंगी दुलना, तृतीय प्रेम सुमन कचना तथा समूह नृत्य याराना डांस ग्रुप बोडरा, युवा साथी पोड, साई ग्रुप किरवई एवं युगल नृत्य में मौली माता फिंगेश्वर, सावरिया डांस चारामा, राजू नंदनी दुगली रही। तत्पश्चात पुरस्कार वितरण किया गया साथ ही सभी प्रतिभागी को प्रशस्ति पत्र एवं मेडल प्रदान किया गया।
 

अन्य पोस्ट

Comments