धमतरी

गोबरा के गौठान में कृषि बिल का विरोध
28-Sep-2020 10:20 PM 8
 गोबरा के गौठान में कृषि बिल का विरोध

कुरूद, 28 सितंबर। संसद में संविधान का गला घोंटकर केन्द्र सरकार ने कृषि सुधार के नाम पर जो तीन काले कानून पास कराया है, उससे देश के किसान, मजदूर और छोटे दुकानदारों के हितों को रौंद कर सारे अधिकार बड़ी कंपनी को दे दिया जाएगा उक्त बातें जिलापंचायत सभापति तारिणी चन्द्राकार ने अपने निर्वाचन क्षेत्र के किसानों से कही।

कुरुद विधानसभा अंतर्गत ग्राम पंचायत गोबरा में गौठान निर्माण के भूमिपूजन कार्यक्रम में पहुंचे किसानों को संबोधित करते हुए धमतरी जिला पंचायत में कृषि विभाग की सभापति तारिणी चंद्राकर ने बताया कि देश नहीं बिकने दूंगा का नारा देने वाले गुपचुप तरीके से देश की नवरात्र कंपनियों को अपने मित्र उद्योगपतियों को बेच रहे हैं । इतने में भी उनका मन नहीं भरा तो अब वे किसानों के पीछे लग गये हैं। कांग्रेस नेत्री ने कहा कि कॉर्पोरेट हित और किसान-विरोधी तीन काले कानून ला कर मोदी सरकार कृषि मंडी, समर्थन मूल्य, एवं सार्वजनिक वितरण प्रणाली को खत्म करना चाहती है। जिसका विरोध कांग्रेस के साथ साथ देश भर के किसान आंदोलन कर रहे हैं।

पूर्व जिला पंचायत सदस्य एवं कांग्रेसी नेता नीलम चंद्राकर ने इस मौके पर कहा कि नरुवा,गरुवा,घुरुवा,बारी जैसी शानदार योजना लागू कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कृषि एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था को साधने का काम किया है । केंद्र सरकार के विरोध के बावजूद प्रदेश सरकार ने राजिव न्याय योजना लागू कर किसानों को धान की बढ़ी कीमत और बोनस दिया है। 

इस अवसर पर कुरूद ब्लाक सरपंच संघ अध्यक्ष डीलन चंद्राकर, जनपद उपाध्यक्ष जानसिंग यादव,सदस्य धनेश्वरी बाई, सरपंच सावित्री बेनीराम साहू, पूर्व सरपंच लकेश्वर साहू, पुष्कर यादव, उपसरपंच बेनीराम साहू, पंच डोमार साहू, कुम्भकरण, हिरामन, शिवनारायण, कुलेश्वर, चेतन बाई, मीना, शांति बाई, मोतिम, हेमीन बाई, गौठान समिति अध्यक्ष भुनेश्वर साहू, सुन्दरलाल, कमलसिंग,राजेंद्र कुमार, गिरधर यादव, शिव यादव, ग्रामीण अध्यक्ष सतोष चंद्राकर, पोखनलाल, रामलाल, हेमुराम, मनोहर, शत्रुहन, कल्याण, रोहित सहित ग्रामवासी उपस्थित थे।

अन्य पोस्ट

Comments