छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

28-May-2020 7:03 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 28 मई। लॉकडाउन में महीनों से घरों में फंसे ऑटो और ई-रिक्शा चालक राज्य सरकार से मिली रियायत के बाद गुरुवार को फिर से सडक़ों पर वाहन चलाते नजर आए। करीब ढाई माह बाद सडक़ों पर दौड़ते नजर आई ऑटो और ई-रिक्शा की सवारी से लोगों को भी राहत मिली है। खासतौर पर गरीब तबके के लिए ऑटो और ई-रिक्शा आवागमन के लिहाज से मुख्य साधन रहा है।

 लॉकडाउन शुरू होते ही राजनांदगांव शहर के ढाई सौ से अधिक ऑटो और ई-रिक्शा चालक घरों में बैठ गए थे। ऑटो और ई-रिक्शा के पहिए थमने से चालकों के समक्ष आजीविका की समस्या खड़ी हो गई थी। ऑटो चालकों की शिकायत है कि राज्य सरकार ने हर तबके की सुध ली, लेकिन ऑटो चालकों को दी जाने वाली छूट और आर्थिक मदद को लेकर ठोस योजना नहीं बनाई गई। राजनांदगांव शहर में पेट्रोल और डीजल से रोजाना सैकड़ों ऑटो गली-मोहल्ले में दौड़ते रहे हैं।  लगभग 80 दिन बाद चालकों को वाहन चलाने की अनुमति मिली।

इस संबंध में पेट्रोल ऑटो संघ के अध्यक्ष जितेश सिमनकर ने बताया कि लॉकडाउन के चलते परिवार का भरण पोषण करना मुश्किल हो गया। किसी प्रकार की सरकारी मदद नहीं मिलने से भी दिक्कतें खड़ी हुई। लॉकडाउन का वक्त ऑटो चालकों के लिए मुसीबत का पहाड़ साबित हुआ है। वहीं फाईनेंस होने की वजह से ऑटो का किस्त पटाना भी मुश्किल हो गया। लॉकडाउन में फूटी कौड़ी की कमाई नहीं हुई, लेकिन खर्च बरकरार रहा।

ऑटो चालक विजय सिंह ठाकुर ने कहा कि शादी-ब्याह के सीजन में ही लॉकडाउन शुरू हो गया। यह वक्त कमाई के लिहाज से काफी अनुकूल रहता है। लॉकडाउन के असर से घर चलाना मुश्किल हो गया। विजय का कहना है कि ऑटो चालकों के बारे में सरकार ने ध्यान देने की कोशिश नहीं की। जिसके चलते ऑटो चालकों का परिवार आर्थिक संकट से गुजर रहा है।

इस बीच आज से दौड़ रही ऑटो और ई-रिक्शा में सोशल डिस्टेंसिंग की शर्तें भी शामिल है। वहीं ऑटो और ई-रिक्शा को सैनिटाइज करने का भी निर्देश दिया गया है। ऑटो चालकों का मानना है कि भले ही काम करने की छूट मिली है, लेकिन बीते दिनों की तकलीफ से उबरने में वक्त लगेगा।

 

 


28-May-2020 7:02 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 28 मई। मवेशी तस्करी के मामले में लालबाग पुलिस ने चार मवेशी तस्करों पर कार्रवाई की है। पुलिस ने आरोपियों के पास से दो बोलेरो और 19 नग मवेशी बरामद की है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 27 मई को मुखबीर से सूचना मिली कि दो वाहनों में अवैध रूप से मवेशी का परिवहन किया जा रहा है। थाना प्रभारी लालबाग परि. उप पुलिस अधीक्षक मयंक रणसिंह द्वारा तत्काल एक टीम गठित कर ग्राम सुकुलदैहान की ओर रवाना किया गया।

टीम द्वारा ग्राम बम्हनी चंडी मंदिर के पास नाकेबंदी कर बोलेरो पिकअप क्र. एमएच-36-एए-1635 को रोककर चेक किया। वाहन में मवेशियों को बिना चारा-पानी के ठूंस-ठंूस कर भरा गया था। पूछताछ पर वाहन चालक अपना नाम अक्षय रामचंद्र काड़े (22) तथा परिचालक सत्यापाल (28 वर्ष) दोनों निवासी ग्राम लावेश्वर जिला भंडारा (महाराष्ट्र) बताया। आरोपियों से वाहन एवं 9 नग मवेशी को जब्त किया गया।

वहीं कुछ समय पश्चात उसी स्थान पर बोलेरो पिकअप क्र. एमएच-36-एए-2012 को रोककर चेक करने पर वाहन में 10 नग मवेशियों को बिना चारा पानी के ठूंस-ठंूस कर भरा हुआ पाया गया। पूछताछ पर वाहन चालक अपना नाम विशाल गजानन सेलोकर (27) तथा परिचालक आतिश किशोर बंसोड़ (20) दोनों निवासी ग्राम लावेश्वर थाना बरठी जिला भंडारा (महाराष्ट्र) बताया। आरोपियों से वाहन एवं 10 नग मवेशी को जब्त किया गया।

पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि मवेशियों को वाहन में भरकर अंदरूनी रास्तों से महाराष्ट्र बार्डर में ले जाकर पुलिस के नाकेबंदी से बचने के लिए मवेशियों को वाहन से उतारकर जंगल के रास्ते पैदल कत्लखाने ले जाने वाले थे। दोनों मामलों में थाना लालबाग में पृथक-पृथक अपराध कायम कर चार आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया।

जब्त मवेशियों को पशु चिकित्सक से मुलाहिजा एवं उपचापर पश्चात सुरक्षित रखने हेतु संचालक मां बंजारी गौशाला पिंजरापोल बरगाही थाना घुमका के सुपुर्द किया गया।

 

 


28-May-2020 7:01 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 28 मई। नाबालिग से छेड़छाड़ कर फरार होने वाले आरोपी को पुलिस ने घेराबंदी कर गिरफ्तार कर कार्रवाई की है। बताया गया कि शौच करने गई नाबालिग के साथ युवक ने छेड़छाड़ किया था और मामले में अपराध पंजीबद्ध होने के बाद माहभर से युवक फरार हो गया था।

पुलिस के अनुसार प्रार्थी ने लालबाग पुलिस में 4 अप्रैल को लिखित में आवेदन प्रस्तुत कर रिपोर्ट दर्ज कराया था कि उसकी नाबालिग लडक़ी 3 अप्रैल को रात्रि करीबन 7 बजे शौच के लिए घर से बाहर गई थी, जो रोते हुए घर वापस आकर जानकारी दी कि पेमस निषाद द्वारा पीछे से आकर छेड़छाड़ किया।  रिपोर्ट पर थाना लालबाग में धारा 354 भादंवि 8 पाक्सो एक्ट कायम कर विवेचना में लिया गया। मामले की गंभीरता को देखते एसपी जितेन्द्र शुक्ला, एएसपी ग्रामीण जीएन  बघेल, अतिरक्त पुलिस अधीक्षक (आईयूसीएडब्ल्यू) सुरेशा चौबे एवं नगर पुलिस अधीक्षक एमएस चंद्रा के नेतृत्व में थाना प्रभारी लालबाग परि. उप पुलिस अधीक्षक मयंक रणसिंह के साथ एक विशेष टीम गठित कर आरोपी की पतासाजी की जा रही थी।

पुलिस ने बताया कि 26 मई को मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपी पेमस अपने घर पर मौजूद है। सूचना पर तत्काल टीम रवाना कर आरोपी पेमस को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया। न्यायालय के आदेशानुसार आरोपी को जिला जेल राजनांदगांव में दाखिल किया गया।


28-May-2020 6:58 PM

राजनांदगांव, 28 मई। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य की अपील पर कोविड-19 के कारण लॉकडाउन के दौरान जिले के दानदाताओं ने आगे आकर एक करोड़ 24 लाख रुपए का दान किया। इसके लिए कलेक्टर श्री मौर्य ने सभी दानदाताओं एवं समाजसेवियों को हृदय से धन्यवाद देते कहा कि दान का रूपया जनता का है और इस राशि का उपयोग कोविड-19 हॉस्पिटल में मरीजों के इलाज के लिए किया जाएगा। विपत्ति की इस घड़ी में हमें नागरिकों एवं दानदाताओं का बहुत अधिक सहयोग मिला।


27-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
राजनांदगांव, 27 मई।
शहर के पुराने बस स्टैंड में बुधवार दोपहर को एक निजी फाईनेंस कंपनी के मालिक द्वारा आवेश में आकर अपने ही कर्मी पर उस्तरे से हमला करने का मामला सामने आया है। हमले में युवक घायल हो गया है। उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है। बसंतपुर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 शहर के शंकरपुर वार्ड का पिन्टू श्रीवास (29) आकाश जैन के द्वारा संचालित निजी फाईनेंस कपंनी में काम करता था। पिछले कुछ महीनों से युवक का अपने मालिक के साथ वेतन को लेकर विवाद चल रहा था। 

पिन्टू श्रीवास का आरोप है कि आज वेतन को लेकर चर्चा करने के लिए वह आकाश जैन के लालबाग के मकान में पहुंचा। जिससे आकाश सीधे मारपीट पर उतर आया, वहीं थोड़ी देर में आकाश का भाई भी युवक की पिटाई करने लगा। इसी बीच युवक पर आरोपियों ने उस्तरे से हमला कर दिया। घायल युवक किसी तरह अस्पताल पहुंचा।युवक का आरोप है कि काम करने के बाद भी उसे तनख्वाह नहीं दिया गया। इसी बात को लेकर वह आकाश के पास गया था।

 


27-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 27 मई। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा किसान न्याय योजना की शुरूआत की सराहना करते हुए राजनांदगांव के कांग्रेसी नेताओं ने इस योजना की खूबियों की जानकारी देते बताया कि मुख्यमंत्री बघेल द्वारा किसानों को किए गए चुनावी वायदों की एक प्रमुख कड़ी है। इस योजना से किसानों को कोरोना वायरस संक्रमण के चलते उपजी विपरीत परिस्थिति से उबरने में सहायता मिलेगी।

शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कुलबीर सिंह छाबड़ा और जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण अध्यक्ष पदम कोठारी समेत अन्य नेताओं की उपस्थिति में आयोजित पत्रकारवार्ता में योजना की भूरि-भूरि प्रशंसा करते पार्टी नेताओं ने कहा कि बघेल सरकार ने किसानों के वादों को पूरा कर किसानों का कर्ज माफ किया। धान की कीमत 2500 रुपए दिए और सिंचाई कर माफ सहित 11 हजार करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया। कांग्रेसियों ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विक्रम उसेंडी पर योजना को लेकर किसानों को बरगलाने का भी आरोप लगाया है।

वहीं कांग्रेसियों ने केंद्र सरकार की किसान सम्मान निधि योजना की राशि को एकमुश्त दिए जाने की मांग करते कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल किसानों के सच्चे हितैषी है। जबकि मोदी सरकार 6 हजार रुपए सम्मान निधि को किस्तों में दे रही है। जबकि अगले कुछ दिनों में कृषि कार्य के लिए किसानों को रकम की सख्त जरूरत है।

कांग्रेसियों ने कहा कि मोदी सरकार के जुमलेबाजी से 2022 तक कैसे किसानों की आय दोगुनी होगी? रमन सिंह के कार्यकाल में किसानों के साथ हुई वादाखिलाफी का भाजपा प्रायश्चित करें। किसानों के साथ 15 साल से भाजपा शासन में लगातार धोखाधड़ी हुई है। कोरोना महामारी संकटकाल में मोदी सरकार से स्पेशल पैकेज मांग कर किसानों का भाजपा शासनकाल का बकाया 2 साल की बोनस राशि दिलाएं?

कांग्रेसियों ने कहा कि विक्रम उसेंडी कोरोना महामारी में मोदी सरकार से किसानों के खाते में किसान सम्मान निधि की राशि 6 हजार से बढ़ाकर 12 हजार एकमुश्त जमा कराने की मांग करें? छत्तीसगढ़ के लाखों किसानों को अभी तक सम्मान निधि नहीं मिला है। पत्रकारवार्ता में सुदेश देशमुख, कमलजीत सिंह पिंटू, रूपेश दुबे, रोशनी सिन्हा, शशिकांत अवस्थी शामिल थे।


27-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 27 मई। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण राजनांदगांव के पैरालीगल वालिंटियर्स द्वारा 24 मई को जिले के कोरोना वॉरियर्स को रक्षक बंधन बांधकर फूलों से सम्मान किया।

पूर्व में प्राधिकरण के पैरालीगल वालिंटियर्स द्वारा राजनांदगांव जिले के मेडिकल स्टाफ  का सम्मान किया गया था।

इस अवसर पर पैरालीगल वालंटियर रेणु चंद्राकर द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेशा चौबे के हाथ पर रक्षक बंधन बांधा गया और उन पर पुष्प की वर्षा की गई। उनके द्वारा राजनांदगांव जिले की जनता से यह अपील की गई कि कोरोना वॉरियस का सम्मान तथा सहयोग करें, क्योंकि वे सब हमारी रक्षा के लिए काम कर रहे है।

सुरेशा चौबे ने कार्यक्रम के दौरान प्राधिकरण के पैरालीगल वॉलिंटियर्स का आभार प्रकट किया। उन्होंने अपनी वक्ता में कहा कि वह राष्ट्र की सेवा के लिए अपने कर्तव्यों का निर्वहन इसी तरह करते रहेंगे।

 


27-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 27 मई। हॉकी के लीजेंड और देश को ओलंपिक में स्वर्ण पदक दिलाने वाले बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर छत्तीसगढ़ हॉकी परिवार ने गहरा दुख एवं शोक व्यक्त किया। उनके निधन पर छत्तीसगढ़ हॉकी ने मंगलवार को स्थानीय कार्यालय में एक शोकसभा आयोजित कर बलबीर सिंह सीनियर को श्रद्धाजंलि अर्पित की और ईश्वर से उनके परिवार को दुख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की।

इस अवसर पर छत्तीसगढ़ हॉकी के अध्यक्ष फिरोज अंसारी, महासचिव मनीष श्रीवास्तव, वरिष्ठ हॉकी खिलाड़ी कुतबुद्दीन सोलंकी, रमेश डाकलिया, नरेश डाकलिया पूर्व महापौर, नीलम जैन अध्यक्ष जिला हॉकी संघ, नंदकिशोर शर्मा, गणेश प्रसाद, दौलत चंदेल, भूषण सॉव, बसंत बहेकर, अशोक यादव, अनुराज श्रीवास्तव, अब्दुल कादिर, राजू रंगारी, प्रिंस भाटिया, शब्बीर सोलंकी, आशा थॉमस, अशोक मेहरा सहित अन्य पदाधिकारी एवं हॉकी खिलाड़ी उपास्थित थे।

 

 


27-May-2020

राजनांदगांव, 27 मई। गत 25 मई को रात्रि 8.30 बजे क्वॉरंटीन सेंटर में प्रवासी मजदूर मृत अवस्था में मिला। क्वॉरंटीन के दौरान संबंधित को कोरोना के कोई भी लक्षण नहीं था।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी मिथलेश चौधरी बताया कि छुरिया विकासखंड के ग्राम गहिराभेड़ी में 25 मई को सायं 6.36 बजे रांची से पहुंचे प्रवासी मजदूर को क्वॉरंटीन सेंटर प्राथमिक शाला गहिराभेड़ी में क्वॉरंटीन किया गया था। क्वॉरंटीन के दौरान संबंधित को कोरोना के कोई भी लक्षण सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ नहीं था। क्वॉरंटीन परिसर में गिरा पड़ा देख गांव की एक महिला द्वारा ग्राम पंचायत एवं स्वास्थ्य विभाग के स्वास्थ्य कार्यकर्ता को सूचना दी गई। गहिराभेड़ी के सरपंच द्वारा प्राप्त प्रतिवेदन अनुसार 25 मई को रात्रि 8.30 बजे घटना की सूचना प्राप्त होते ही तत्काल सरपंच ग्राम पंचायत गहिराभेड़ी, स्वास्थ्य विभाग के स्वास्थ्य कार्यकर्ता, मितानिन एवं ग्रामीणजन घटना स्थल पहुंचे, जहां प्रवासी मजदूर मृत अवस्था में पाया गया। तत्पश्चात मृतक को मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के मरच्युरी में रखवाया गया। चूंकि मृतक अन्य राज्य से आया था, इस कारण आरटी पीसीआर सेंपल लेकर जांच के लिए भिजवाया जाएगा।

 


27-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 27 मई। पूर्व सांसद अभिषेक सिंह मंगलवार को राजनांदगांव विधानसभा के क्वॉरंटीन सेंटरों में रह रहे प्रवासी मजदूरों का हालचाल जानने एवं उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा दिए जाने वाले सूखा राशन का वितरण करने पहुंचे।

श्री सिंह ने लिटिया, सुकुलदैहान एवं इंदामरा क्वॉरंटीन सेंटरों में रह रहे मजदूरों को सूखा राशन का वितरण किया। पंचायतों में क्वॉरंटीन किए गए प्रवासी मजदूरों की स्थिति और राज्य सरकार द्वारा उनके प्रति बेरूखी को देखकर अभिषेक सिंह ने कहा कि राज्य सरकार को इन प्रवासी मजदूरों की देखरेख में लगी पंचायतों को सहयोग देकर संवेदनशीलता का परिचय देना चाहिए, क्योंकि यह श्रमवीर मजदूर देश की ताकत है।

आज इनके साथ राज्य सरकार इस तरह से रूखा व्यवहार कर रही है। इस कारण पंचायत प्रतिनिधियों में भी नाराजगी है। दौरे में जिला भाजपा अध्यक्ष मधुसूदन यादव,  सौरभ कोठारी, तरूण लहरवानी सहित ग्रामीण कार्यकर्ता शामिल थे।


27-May-2020

राजनांदगांव, 27 मई। प्रदेश महिला कांग्रेस छत्तीसगढ़ की सचिव कुसुम दुबे ने केंद्र सरकार द्वारा हवाई यात्रा चालू करने पर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते कहा कि राहुल गांधी द्वारा सचेत करने के बाद भी एक बार कोरोना के मामले में हवाई हवाई यात्रा को लेकर जो लापरवाही बरती गई, जिसके चलते पूरा देश-प्रदेश कोरोना की चपेट में है।

उन्होंने जारी विज्ञप्ति में कहा कि फंसे लोगों के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी की पहल पर कांग्रेसजन व राज्य सरकार ने ट्रेन किराया भुगतान कर श्रमिक एवं फंसे लोगों को ट्रेनों से लाना प्रारंभ कराया तो इस संक्रमण काल में केंद्र सरकार रेलवे कर्मचारियों को पीपीई किट व अन्य आवश्यक सामग्री तक उपलब्ध नहीं करा पाई। केंद्र सरकार सुविधा के नाम पर राज्य सरकार को बोझ दे रही है।


27-May-2020

राजनांदगांव, 27 मई। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने छत्तीसगढ़ शासन वाणिज्यिक कर (आबकारी) विभाग के निर्देश एवं नियमानुसार देशी एवं विदेशी मदिरा दुकान बाघनदी एवं विदेशी मदिरा दुकान बेलगांव को सुचारू रूप से संचालन के लिए अनुमति प्रदान की है।

कोरोना वायरस कोविड-19 की महामारी बढ़ते प्रकरण को देखते जिला स्तर पर गतिविधियां संपादित करने के लिए कन्टेंटमेंट जोन एवं सर्वेलेंस की तैयारी के लिए पॉजिटिव केस के निवास से सभी दिशाओं में लगभग एक किलोमीटर की दूरी तक कन्टेंटमेंट जोन होगा। जिले की वृत्त घुमका क्षेत्र के देशी-विदेशी मदिरा दुकान सोमनी, सांकरा, वृत्त डोंगरगांव क्षेत्र की देशी-विदेशी मदिरा दुकान डोंगरगांव, वृत्त चिचोला क्षेत्र के देशी-विदेशी मदिरा दुकान बागनदी, वृत्त डोंगरगढ़ क्षेत्र के विदेशी मदिरा दुकान बेलगांव कन्टेंटमेंट जोन से एक किमी की दूरी से अधिक होने से मदिरा दुकान को सुचारू रूप से संचालन किया जाना है।


27-May-2020

तहसीलों में भी की गई बाढ़ नियंत्रण कक्ष की स्थापना

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 27 मई।
राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के निर्देश के परिपालन में संयुक्त जिला कार्यालय भवन के कक्ष क्रमांक 11 में जिला स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष की स्थापना कर दी गई है। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। 

आगामी बरसात के मौसम में प्राकृतिक आपदा, बाढ़, अतिवृष्टि की स्थिति में बचाव एवं राहत व्यवस्था के सुचारू संचालन के लिए जिला स्तर पर बाढ़ नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। डिप्टी कलेक्टर एवं राहत शाखा की प्रभारी लता युगल उर्वशा (मो.नं. 99811-85311) को जिला स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष का नोडल अधिकारी बनाया गया है। 

नियंत्रण कक्ष एक जून 2020 से 15 अक्टूबर 2020 तक 24 घंटे चालू रहेगा। यहां पर दूरभाष क्रमांक 07744-220557 लगा है। इसके अतिरिक्त कार्यालयीन समय में भू-अभिलेख शाखा के दूरभाष क्रमांक 07744-227028 पर भी बाढ़ या प्राकृतिक आपदा की सूचना दी जा सकती है।

आदेश के अनुसार जिले की सभी तहसील कार्यालयों में तहसील स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। तहसील स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्षों के प्रभारी अधिकारियों की नियुक्ति की गई है।

तहसील कार्यालय छुईखदान के बाढ़ नियंत्रण कक्ष (दूरभाष क्र. 07743-263503) के प्रभारी अधिकारी तहसीलदार छुईखदान प्रीतम साहू (मो.नं.99074-19970), तहसील कार्यालय खैरागढ़ के बाढ़ नियंत्रण (दूरभाष क्र. 07820-234230) के प्रभारी अधिकारी तहसीलदार खैरागढ़ आनंद कुमार बंजारे (मो.नं.94060-63343), तहसील कार्यालय डोंगरगढ़ के बाढ़ नियंत्रण कक्ष (दूरभाष क्र. 07823-232244) के प्रभारी अधिकारी तहसीलदार डोंगरगढ़ अविनाश ठाकुर (मो.नं. 94076-20657), तहसील कार्यालय राजनांदगांव के बाढ़ नियंत्रण कक्ष (दूरभाष क्र. 07744-225403) के प्रभारी अधिकारी तहसीलदार राजनांदगांव रमेश कुमार मोर (मो.नं. 84588-56716), तहसील कार्यालय डोंगरगांव के बाढ़ नियंत्रण कक्ष (दूरभाष क्र. 07745-271756) के प्रभारी अधिकारी तहसीलदार डोंगरगांव शिव कुमार कंवर (मो.नं. 90981-66347), तहसील कार्यालय छुरिया के बाढ़ नियंत्रण कक्ष (दूरभाष क्र. 07745-264400) के प्रभारी अधिकारी तहसीलदार छुरिया नेहा धु्रव (मो.नं. 94242-41765), तहसील कार्यालय अंबागढ़ चौकी के बाढ़ नियंत्रण कक्ष (दूरभाष क्र. 07747-248100) के प्रभारी अधिकारी तहसीलदार अंबागढ़ चौकी मधु हर्ष (मो.नं. 94254-47233), तहसील कार्यालय मोहला के बाढ़ नियंत्रण कक्ष (दूरभाष क्र. 07747-249280) के प्रभारी अधिकारी अतिरिक्त तहसीलदार मोहला कुलदीप ठाकुर (मो.नं. 70006-57703) तथा तहसील कार्यालय मानपुर के बाढ़ नियंत्रण कक्ष (दूरभाष क्र. 07746-298682) के प्रभारी अधिकारी तहसीलदार मानपुर सुरेन्द्र कुमार उर्वशा (मो.नं. 75872-10195, 98261-41112) बनाए गए हैं। 
 


27-May-2020

राजनांदगांव, 27 मई। जिला कांग्रेस ग्रामीण के अध्यक्ष पदम सिंह कोठारी ने बताया कि कोविड-19 संकट के कारण लॉकडाउन में आवागमन बंद होने के कारण प्रदेश से लोग अपने दिवंगत परिजनों का अस्थि विसर्जन प्रयागराज संगम में विसर्जित नहीं कर पा रहे है। जिसमें उनकी भावनाएं आहत होने से इंकार नहीं किया जा सकता, उनकी भावनाओं का सम्मान करते मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सहमति से प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने इनकी मदद करने का निर्णय लिया है।

जिला कांग्रेस ग्रामीण के प्रवक्ता रूपेश दुबे ने कहा कि जो छग राज्य के लोग अपने-अपने परिजनों का अस्थि विसर्जन करने के लिए अस्थि-कलश प्रयागराज भेजना चाहते हैं, इसके लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी छग श्रद्धांजलि वाहन उपलब्ध कराएगी। जिसमें पंडित भी साथ रहेंगे। लोगों से अस्थि-कलश प्राप्त कर पंडितगण पूर्ण विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर पुण्यात्माओं की अस्थियों को गंगाजी में प्रवाहित करेंगे।

इस कार्य के लिए प्रदेश अध्यक्ष की सोच व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति कांग्रेसियों ने साधुवाद ज्ञापित किया है। 
श्रद्धांजलि वाहन दुर्ग से व्हाया रायपुर, बिलासपुर होकर प्रयागराज रवाना होगी।
 


27-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 27 मई।
कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने जिले में टिड्डी दल के प्रकोप से बचाव के लिए जिला स्तरीय दल का गठन किया है। जिले में लाखों की संख्या में टिड्डियों का समूह दो दिन बाद आने की संभावना व्यक्त की जा रही है। वर्तमान में अमरावती (महाराष्ट्र) व मंडला (मध्यप्रदेश) में टिड्डी दलों की आमद दर्ज हो गई है। 

उल्लेखनीय है कि टिड्डी दल के संभावित हमले को लेकर प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। किसानों के फसलों को टिड्डी दल के हमले से बचाने का उपाय भी बताए जा रहे हंै। शाम को टिड्डी दल के हमले से बचाने के लिए कृषि वैज्ञानिक सलाह दे रहे है। 

टिड्डी दल के प्रकोप से बचाव के लिए जिला स्तरीय दल का गठन किया गया है। इसमें सहायक संचालक कृषि श्री टीकम सिंह ठाकुर, आरएल अंबादे एवं एके गुप्ता सहायक संचालक कृषि रहेंगे। जिले के सभी वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारियों को टिड्डी दल की जानकारी दी गई है। उन्हें निर्देश दिए गए है कि जिला स्तरीय गठित दल को सूचना प्राप्त होने पर प्रभावित क्षेत्रों में भ्रमण कर रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए आवश्यक कार्रवाई कर प्रतिवेदन तत्काल उप संचालक कृषि कार्यालय को प्रस्तुत करेंगे।

उप संचालक कृषि राजनांदगांव ने बताया कि टिड्डी दल नियंत्रण के लिए किसान दो प्रकार के साधन अपना सकते है। इसमें भौतिक साधन द्वारा किसान टोली बनाकर विभिन्न प्रकार के परंपरागत उपयोग शोर मचाकर, ध्यनि वाले यंत्रों को बजाकर, डराकर भगाया जा सकता है। इसके लिए ढोलक, ट्रैक्टर, मोटर साइकल का साईलेंसर, खाली टीन डब्बे, थाली इत्यादि से ध्वनि की जा सकती है। टिड्डी दल के उपचार के लिए ट्रेक्टर स्प्रेयर धारक किसानों से चर्चा कर 20 ट्रेक्टर स्प्रेयर की व्यवस्था की जा रही है। 

इसके अतिरिक्त सभी छोटे स्प्रेयर वाले किसानों को फसलों के बचाव करने के लिए सभी किसानों को तैयार रहने की जानकारी दी गई है। राजनांदगांव जिले में टिड्डी दल के प्रवेश की संभावित चेतावनी के अनुसार पेस्टीसाइड एवं स्प्रेयर की व्यवस्था को लेकर जिले में समन्वय स्थापित करने के लिए निर्देश दिए गए हैं।


27-May-2020

आयुक्त को ज्ञापन सौंपकर शिकायत

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 27 मई।
शहर के वार्ड नं. 41 की एक महिला ने बुधवार को नगर निगम आयुक्त को शिकायत ज्ञापन सौंपते सप्लाई टेंडर फार्म दिलाने की मांग की। 
चौखडिय़ापारा वार्ड नं. 41 निवासी मीना यादव ने निगम आयुक्त को ज्ञापन सांैपते कहा कि नगर निगम स्वास्थ्य विभाग से विभिन्न सामग्री सप्लाई टेंडर निकाला गया है। टेंडर फार्म लेना चाहती हूं, लेकिन फार्म देने के लिए साफ मना कर रहे हैं। तीन दिन छुट्टी होने के कारण फार्म नहीं ले पाए हैं। टेंडर में भाग लेने का सभी को अधिकार है। उन्होंने कहा कि 27 मई को अंतिम तिथि है। बुधवार को सुबह 10 बजे से फार्म लेने निगम पहुंची हूं, लेकिन यहां कोई फार्म देने को तैयार ही नहीं है।
 


27-May-2020

शहर भाजपा ने जताया विरोध

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 27 मई।
शहर भाजपा के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को लगातार बिजली गुल होने की शिकायत को लेकर विरोध जताते छत्तीसगढ़ स्टेट इलेक्ट्रीसिटी बोर्ड के कार्यपालन अभियंता को ज्ञापन सौंपा। 

भाजपाईयों ने ज्ञापन में बताया कि शहर में इन दिनों बिजली गुल होने की शिकायत व्यापक स्तर पर मिल रही है। कभी दिन में तो कभी रात में घंओ बिजली गुल रहती है। कोविड-19 कोरोना संक्रमण के चलते लगभग सभी लोग अपने घरों में है। भीषण गर्मी में बिना पंखे व कूलर के रह पाना असंभव है। शहरवासियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते बिजली कंपनी केा यह सुनिश्चित करना चाहिए कि शहर के सभी क्षेत्रों में बिजली पहुंचे, लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा है। दिन या रात कभी भी बिजली गुल हो रही है। 

भाजपाईयों ने कहा कि सालभर बिजली कंपनी मेन्टेनेंस के नाम पर घंटों बिजली की सप्लाई बंद रखती है, ताकि शहरवासियों को पर्याप्त मात्रा में बिजली मिल सके। इसके बाद भी जब शहरवासी भीषण गर्मी से हलाकात है, तब भी अगर शहरवासियों को पर्याप्त बिजली न मिल पाए तो उनका आक्रोशित होना अनुचित नहीं है या फिर कंपनी साफ-साफ बता दे कि वह बिजली की पूर्ति कर पाने में असक्षम है। बारिश, आंधी-तूफान न होने के बाद भी शहर में बिजली गुल की शिकायतें क्यों आ रही है? कंपनी इस बात का भी जवाब दे और बिजली के नाम से मोटी रकम वसूलना बंद करे। जल्द से जल्द इस समस्या के निराकरण की मांग भाजपा करती है। 

भाजपाईयों ने कहा कि बीते दिनों भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने बिजली गुल की शिकायत को लेकर देर रात कैलाश नगर स्थित कार्यालय पहुंचे थे, जहां तक भी जिम्मेदार अधिकारी मौजूद नहीं थे। शहरवासियों  को बिजली गुल होने से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। भाजपाईयों ने बिजली सप्लाई होने में आ रही शिकायतों का त्वरित निराकरण करने की मांग की है। भाजपाईयों ने कहा कि शहरवासियों को दिक्कतों को ध्यान में रखते भाजपा आंदोलन करने को बाध्य रहेगी। जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी बिजली कंपनी की होगी। ज्ञापन सौंपने के दौरान भाजपा शहर अध्यक्ष अतुल रायजादा, उपाध्यक्ष तरूण लहरवानी समेत प्रखर श्रीवास्तव, सुमीत भाटिया, आकाश चोपड़ा समेत अन्य भाजपाई शामिल थे।
 


26-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 26 मई। राज्य सरकार की बड़ी प्रशासनिक सर्जरी में मंगलवार को दंतेवाड़ा कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा को राजनांदगांव का नया कलेक्टर बनाया गया है, वहीं जिले के मौजूदा कलेक्टर जेपी मौर्य को धमतरी पदस्थ किया गया है।

वर्ष 2005 बैच के आईएएस श्री वर्मा का राजनांदगांव प्रशासन से पुराना नाता रहा है। वे जिले में जिला पंचायत सीईओ के अलावा अपर कलेक्टर और प्रभारी कलेक्टर भी रहे हैं। श्री वर्मा का बतौर कलेक्टर यह तीसरा जिला होगा। वे वर्तमान में दंतेवाड़ा के साथ ही नारायणपुर के कलेक्टर रह चुके हैं।

‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा करते श्री वर्मा ने कहा कि पुराने प्रशासनिक अनुभव के आधार और राज्य सरकार की योजनाओं की साझा कोशिश से जिले को विकास की ओर ले जाने का प्रयास किया जाएगा।

 इधर जिले के मौजूदा कलेक्टर जेपी मौर्य को धमतरी पदस्थ किया गया है। 2010 बैच के श्री मौर्य ने करीब डेढ़ साल के कार्यकाल में जिले के विकास को यथासंभव गति  देने के लिए भरपूर जोर लगाया। हालांकि कांग्रेस के स्थानीय नेताओं के साथ खटपट होने से वे सुर्खियों में थे। उनके तबादले की वजहों में इसे प्रमुख कारण माना जा रहा है।


26-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 26 मई। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति से जुड़े देश के 300 से अधिक संगठनों ने 27 मई को गांव, गरीबों, किसानों और प्रवासी मजदूरों को राहत और सामाजिक सुरक्षा देने के मुद्दे पर देशव्यापी प्रदर्शन का आह्वान किया है। किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर जिलेभर में भी किसान 27 मई को प्रदर्शन करेंगे। जिला किसान संघ ने किसानों से आह्वान किया है कि किसान अपने-अपने गांव में मांगों की तख्ती लेकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते नारेबाजी करेंगे।

जिला किसान संघ इस दौरान धान खरीदी अंतर की राशि एकमुश्त देने एवं सभी किसानों से समर्थन मूल्य पर मक्का खरीदने की मांग को प्रमुखता से उठाएगा। वहीं समन्वय समिति द्वारा उठाए सभी मांगों का भी समर्थन किया जाएगा। जिसमें फसलों का समर्थन मूल्य स्वामीनाथन कमीशन की

सिफारिश सी-2 लागत का डेढ़ गुणा करने, किसान सम्मान निधि को बढ़ाकर कम से कम 18 हजार करने, मनरेगा को कृषि कार्य से जोडऩे प्रवासी मजदूरों को प्रति व्यक्ति 5 हजार रुपए प्रवास राहत राशि देने की मांगें शामिल हैं।


26-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 26 मई। मानपुर ब्लॉक के नक्सलग्रस्त बोडेगांव स्थित क्वारंटीन सेंटर में जहरीले कीड़े के काटने से क्वारंटीन एक शिक्षक और एक मजदूर के चेहरे और आंख बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं। दोनों के चेहरे और आंख में सूजन आ गया है। बताया गया है कि क्वारंटीन सेंटर में रहते हुए शिक्षक और मजदूर पर जहरीले कीड़े ने डंक मारा है। जिसके चलते उनका शरीर संक्रमित हो गया है।

बताया जा रहा है कि कीड़े के काटने से शरीर में इन्फेक्शन तेजी से फैल रहा है। जिसके कारण शिक्षक और मजदूर सहमे हुए हैं। बताया जा रहा है कि इसकी सूचना जिम्मेदार अधिकारियों और स्वास्थ्य अमले को दी गई है, लेकिन उनकी अब तक सुध नहीं ली गई। 

मिली जानकारी के मुताबिक बोडेगांव सरपंच ने भी अब तक क्वारंटीन सेंटर का रूख नहीं किया गया है। बताया जा रहा है कि पंचायतों में फंड नहीं होने के कारण क्वारंटीन सेंटर भगवान भरोसे चल रहे हैं। वहीं आर्थिक तंगी को देखते हुए जनप्रतिनिधियों ने भी मदद से हाथ खींच लिया है।