कोरिया

बैकुण्ठपुर और मनेन्द्रगढ़ के लिए एक ही मुक्तांजली वाहन, शव ले जाने के लिए घंटों इंतजार
28-Nov-2020 6:59 PM 36
  बैकुण्ठपुर और मनेन्द्रगढ़ के लिए एक ही मुक्तांजली वाहन, शव ले जाने के लिए घंटों इंतजार

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर, 28 नवंबर। कोरिया जिले में मुक्तांजली वाहन बैकुंठपुर और मनेन्द्रगढ़ का काम देख रही है, बीते एक माह से जिला अस्पताल बैकुंठपुर में रात के समय होने वाली मौत पर शव ले जाना मुश्किल हो गया, वहीं सुबह होने पर शव को ले जाने के लिए काफी इंतजार करना पड़ता है, ऐसे में गरीब लोगों को शव ले जाने में काफी परेशानी हो रही है, शव के लिए वे घंटों इंतजार करते देखे जाते है।

इस संबंध में जिला अस्पताल के सीएस डॉ एसके गुप्ता का कहना है कि मुक्तांजली बिगड़ी हुई है, कब तक वो सुधर जाएगी, इसकी जानकारी सीएमएचओ दे पाएंगें, परन्तु एक ही वाहन मनेन्द्रगढ़ और बैकुंठपुर में काम कर रहा है। जल्द सुधरवाने की कोशिश की जाएगी।

कोरिया जिलामुख्यालय स्थित जिला अस्पताल के मेल वार्ड में शुक्रवार की रात 3 मरीजों ने दम तोड़ दिया, एक मरीज लकवा से पीडि़त था दूसरा हार्ट अटैक और तीसरा अन्य कारण से इलाज के दौरान मौत हो गई, वहीं कोडा निवासी शिवनंदन (65) की मौत रात 9 बजे बजे हुई, जिसके बाद परिजनों ने मुक्तांजली वाहन बुलाने कॉल लगाया, तो उन्हें सुबह तक इंतजार करने को कहा गया, पता लगाने पर मालूम पडा कि रात के समय में जिला अस्पताल से मुक्तांजली वाहन नहीं मिल पाती है, क्योंकि एक वाहन की मनेन्द्रगढ़ और बैकुंठपुर में अस्पताल में होने वाली मौत के शवों को छोडऩे जाती है, जिसके बाद शनिवार को सुबह मृतक के परिजनों ने स्वयं का वाहन करके शव को लेकर गए।

 इधर, जिला अस्पताल में हर दिन इलाज के दौरान कोई ना कोई मरीज की मौत होती है, जिसके बाद जो आर्थिक रूप से मजबूत है वो शव को निजी वाहन में ले जाते है। जबकि गरीब लोगों को मनेन्द्रगढ़ से आने वाली मुक्तांजली वाहन का लंबा इंतजार करना पड़ता है। 

गौरतलब है कि मौत होने पर शव का घर तक पहुंचाने के उद्देश्य से भाजपा सरकार ने मुक्तांजली वाहन की शुरूआत की, इस वाहन से शव को ले जाने के लिए परेशन परिजनोंं को काफी राहत मिला करती है। परन्तु बीते एक माह से जिला अस्पताल बैकुंठपुर की मुक्तांजली वाहन खराब हो जाने के कारण मनेन्द्रगढ़ के वाहन को दोनों स्थानों का काम देखना पड़ रहा है।

खड़ी हाईड्रा जा घुसी थी मुक्तांजली

बीते एक माह पूर्व ओडग़ी नाका पर सडक़ किनारे खड़ी हाईड्रा वाहन में मुक्तांजली वाहन जा घुसी थी, जिसके बाद उसे दुरूस्त करने का काम बैकुंठपुर के एक गैरेज में जारी है, दुर्घटना के समय चालक को काफी चोंटे भी आई थी। तब से मनेन्द्रगढ़ की मुक्तांजली वाहन बैकुंठपुर को भी काम देख रही है, बताया जा रहा है कि एक हफ्ते में उक्त वाहन ठीक हो जाएगी।

अन्य पोस्ट

Comments