राजपथ - जनपथ

छत्तीसगढ़ की धड़कन और हलचल पर दैनिक कॉलम : राजपथ-जनपथ :  धर्म के नाम पर ही सही...
छत्तीसगढ़ की धड़कन और हलचल पर दैनिक कॉलम : राजपथ-जनपथ : धर्म के नाम पर ही सही...
Date : 04-Aug-2019

 धर्म के नाम पर ही सही...

चाहे धार्मिक भावनाओं से क्यों न सही, कुछ लोग जानवरों के हित की बात करते हैं। अब अभी छत्तीसगढ़ में एक गौरक्षा संघ का बयान आया जिसमें बरसात में हाईवे पर गौमाता की दुर्घटना मौत रोकने के लिए पहल की बात की गई। इसके लिए आज 4 अगस्त को फे्रंडशिप डे पर गौमाता को बेस्टफें्रड बनाकर, रेडियम बेल्ट बांधकर उसे दुर्घटना से बचाया जाएगा। इस संगठन ने सरकार से भी अपील की है कि सड़कों पर बेघर छोड़ दिए गए सभी गौवंश को राजसात किया जाए, और उनके मालिकों पर कार्रवाई की जाए। अब यह बात चाहे महज गाय और गौवंश के लिए की गई हो, यह बाकी जानवरों को भी खतरे से बचाएगी और जानवरों की वजह से होने वाले सड़क हादसों को भी कम करेगी।

सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद अभी तक केवल गांवों में जानवरों के लिए बाड़े बन पाए हैं, लेकिन सड़कों से जानवरों को हटाना नहीं हो पाया है। जो लोग जानवर पालकर उन्हें सड़कों पर छोड़ देते हैं, उनके खिलाफ सचमुच ही कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।

कहानियां झांसा देती हैं...
आज फे्रंडशिप डे पर बहुत से लोग कृष्ण और सुदामा को याद कर रहे हैं कि गरीब और अमीर के बीच भी दोस्ती कैसी गहरी हो सकती है। ऐसी बातों के झांसों में आकर आज अगर सचमुच ही सुदामा कृष्ण के घर चले जाए, तो शायद घर बैठे कृष्ण के किसी सेवक के मुंह से यह सुनने मिलेगा कि कृष्णजी सुबह से ही कहीं चले गए हैं।
(rajpathjanpath@gmail.com)

Related Post

Comments